Ajay Mishra

सोचती हूं क्यों न हम थोड़ा-थोड़ा-सा बदल जाएं बांट लें एक दूसरे को वैसे भी प्रिय एक रथ के ही हम पहिये हैं दो आओ मिल कर साथ चलें! कवयित्री?

Asked By

Ajay Mishra, 2 months ago ago

Category

Other

0 0
Follow

Be the first to answer this question..