6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा का विश्लेषण और संभावित कटऑफ

6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा का विश्लेषण और संभावित कटऑफ: झारखंड लोक सेवा आयोग झारखंड सिविल सेवा में विभिन्न पदों के लिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए JPSC परीक्षा का आयोजन करेगा। यह देश में सबसे प्रतिष्ठित राज्य स्तरीय परीक्षाओं में से एक है। अभी तक, JPSC ने कल पूरे राज्य में विभिन्न परीक्षा केन्द्रों में 6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा आयोजित की।

आइये अब हम 18 दिसंबर को आयोजित JPSC प्रारंभिक परीक्षा का विस्तार से विश्लेषण करते हैं। विश्लेषण के बाद हम एक संभावित कटञफ भी आपसे साझा करेंगे।

6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा: परीक्षा पैटर्न

तो, बिना देरी किए आइये हम परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालते हैं। इस साल परीक्षा के पैटर्न में एक उल्लेखनीय परिवर्तन किया गया है। संशोधित परीक्षा पैटर्न की चर्चा नीचे दी गई तालिका में की गई है:

परीक्षा टाइप विषय अंक अवधि
ऑब्जेक्टिव टाइप जनरल स्टडीज़-I 200 2 घंटे
जनरल स्टडीज़-II 200 2 घंटे

आइये अब हम 6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा की संभावित कटऑफ की ओर अपना रुख करते हैं।

6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा का विश्लेषण और संभावित कटऑफ

झारखंड लोक सेवा आयोग ने 18 दिसंबर 2016 (रविवार) को 6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन किया। JPSC परीक्षा 229 केंद्रों में 10 जिलों में आयोजित की गई। JPSC भर्ती परीक्षा के इस पहले चरण की परीक्षा के बाद मुख्य परीक्षा और साझात्कार दौर का आयोजन किया जाएगा। आपको बता दें कि केवल 4,980 उम्मीदवारों को मुख्य परीक्षा के लिए बुलाया जाएगा। हमने 6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा का विश्लेषण तैयार किया है जिसके अंतर्गत कुछ महत्वपूर्ण बिंदु भी शामिल हैं जो इस प्रकार है।

  • पेपर-1 के अंतर्गत सामान्य अध्ययन के प्रश्न शामिल थे और पेपर-2 के अंतर्गत सभी प्रश्न झारखंड राज्य पर आधारित थे।
  • प्रारंभिक परीक्षा का ओवरऑल कठिनाई स्तर सरल था।
  • जो उम्मीदवार झारखंड राज्य से नहीं थे उन्हें पेपर-2 में चुनौतियों का सामना करना पड़ा होगा क्योंकि पेपर-2 पूरी तरह से झारखंड राज्य पर आधारित
  • पेपर-1 लोक प्रशासन के प्रश्नों पर आधारित था।
  • पेपर-2 झारखंड K के तहत झारखंड की मशहूर हस्तियों और छोटा नागपुर अधिनियम” से प्रश्न किये गए थे।
  • कठिनाई स्तर और प्रश्नों के मिश्रण को देखते हुए, पेपर-1 (सामान्य अध्ययन) के लिए एक संभावित कटऑफ 100 में से 60-65 के आसपास हो सकती है।
  • इसी तरह, पेपर-2 (झारखंड K) के लिए संभावित कटऑफ 100 में से 55-65 के आसपास हो सकती है।
  • कुल मिलाकर, अगर आप उम्मीद कर रहे हैं कि आपके 200 में से 115 अंक आ सकते हैं तो आप मुख्य परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में सक्षम हैं।

हमें उम्मीद है कि 6th JPSC प्रारंभिक परीक्षा के विश्लेषण और संभावित कटऑफ पर आधारित इस लेख के माध्यम से आपको आप अपने स्तर को समझने में मदद मिलेगी।

JPSC भर्ती परीक्षा 2016-17 के संबंध में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। राज्य परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ राज्य परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.