बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) 2017 : परीक्षा पैटर्न एवं सिलेबस

BTET 2017 : परीक्षा पैटर्न एवं  पाठ्यक्रम- बिहार विद्यालय परीक्षा समिति बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) आयोजित करता है। बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) भी अन्‍य टीईटी (TET) परीक्षाओं की तरह ही है। हाल ही में बिहार स्‍कूल परीक्षा बोर्ड ने योग्‍य उम्‍मीदवारों हेतु बिहार टीईटी अधिसूचना 2017 जारी की थी और 11 जून 2017 को बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) का आयोजन किया जाना अधिसूचित किया गया है।

जिन अभ्यर्थियों ने बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) के लिए आवेदन किया है, उन्हें सर्वप्रथम पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न से भी अवगत होना चाहिए। क्योंकि परीक्षा पाठ्यक्रम और पैटर्न के अनुरूप तैयारी किए बिना अभ्यर्थियों को सफलता प्राप्त नहीं होगी। अतः अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए हम आज आपसे बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा (BTET) का पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न  2017 साझा कर रहे हैं।

 

 BTET 2017 : परीक्षा पैटर्न एवं  पाठ्यक्रम

बिहार के प्रारंभिक विद्यालयों में कक्षा I-V तक एवं कक्षा VI-VIII तक के लिए “बिहार प्रारम्भिक शिक्षक (प्रशिक्षित) पात्रता परीक्षा-2017” का आयोजन बिहार विद्यालय परीक्षा समिति, पटना के तत्वाधान में किया जा रहा है। योग्य शिक्षकों के चयन प्रक्रिया में यह एक प्रभावी कदम होगा।

हमें आशा है कि अधिकांश उम्मीदवार अब तक BTET के परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम से परिचित हो गए होंगे। यदि नहीं, तो हम यहाँ आपको कुछ महत्वपूर्ण जानकारी दे रहे हैं, जिससे आपको परिचित होना चाहिए।

परीक्षा पैटर्न

इस परीक्षा में दो पत्र होंगेः-

    • प्रथम पत्र वर्ग I-V तक के शिक्षक बनने की पात्रता के लिए
    • द्वितीय पत्र वर्ग VI-VIII तक के शिक्षक बनने की पात्रता के लिए
    • प्रथम पत्र एवं द्वितीय पत्र – वैसे व्यक्ति जो वर्ग I-VIII तक के दोनों स्तर में शिक्षक बनने की पात्रता हासिल करना चाहते हों उन्हें दोनों पत्रों में उत्तीर्णता प्राप्त करनी होगी।

कृपया BTET पेपर 1 और 2 दोनों में विभिन्न सेक्शन (अनुभागों) के बारे में जानने के लिए नीचे दी गई तालिका देखें-

प्रथम पत्र के अन्तर्गत प्रश्न एवं अंक

क्रमांक विषय प्रश्न अंक
1 बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र 30 प्रश्न 30

परीक्षा की अवधि 2 घंटा 30 मिनट

2 भाषा I   (हिन्दी /उर्दू / बंगला / मैथिली / अंग्रेजी में से कोई एक) 30 प्रश्न 30
3 भाषा II  (हिन्दी /उर्दू / बंगला / मैथिली / अंग्रेजी में से कोई एक) 30 प्रश्न 30
4 गणित 30 प्रश्न 30
5 पर्यावरण अध्ययन 30 प्रश्न 30
  कुल प्रश्नों/अंकों का योग 150 प्रश्न 150 अंक

नोट : भाषा I में जिस भाषा का चयन किया जाएगा भाषा II में उस भाषा का चयन नहीं किया जाये।

द्वितीय पत्र के अन्तर्गत प्रश्न एवं अंक

क्रमांक विषय प्रश्न अंक
1 बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र 30 प्रश्न 30

परीक्षा की अवधि 2 घंटा 30 मिनट

2 भाषा I   (हिन्दी /उर्दू / बंगला / मैथिली / भोजपुरी / संस्कृत / अरबी / फ़ारसी /अंग्रेजी में से कोई एक) 30 प्रश्न 30
3 भाषा II (हिन्दी /उर्दू / बंगला / मैथिली / भोजपुरी / संस्कृत / अरबी / फ़ारसी /अंग्रेजी में से कोई एक ) 30 प्रश्न 30
4 गणित एवं विज्ञान अथवा समाज विज्ञान 60 प्रश्न 60
  कुल प्रश्नों/अंकों का योग 150 प्रश्न 150 अंक

नोट : भाषा I में जिस भाषा का चयन किया जाएगा भाषा II में उस भाषा का चयन नहीं किया जाये।

प्रथम पत्र के प्रश्न राज्य सरकार के द्वारा अनुमोदित कक्षा I-V तक के पाठ्यक्रम के आधार पर होंगे परन्तु प्रश्नों का कठिनाई स्तर एवं लगाव (Linkage) माध्यमिक स्तर का हो सकता है। इसी प्रकार द्वितीय पत्र के प्रश्न राज्य सरकार द्वारा अनुमोदित कक्षा VI-VIII तक के पाठ्यक्रम के आधार पर होंगे परन्तु प्रश्नों का कठिनाई स्तर एवं लगाव (Linkage) उच्चतर माध्यमिक स्तर का हो सकता है।

BTET (बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा) गणित और विज्ञान (VI-VIII): ऑनलाइन मॉक टेस्ट सीरीज                                         

शिक्षक बनने हेतु प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए इस मॉक टेस्ट का अभ्यास करें। इस मॉक टेस्ट से आप वास्तविक परीक्षा के लिए बेहतर तैयारी कर सकेंगे। इसके अलावा इस मॉक टेस्ट का अभ्यास नियमित तौर पर करना आपके लिए परीक्षा में सफलता के लिए आपका मार्ग प्रशस्त करेगा। प्रत्येक प्रश्न का व्याख्यात्मक हल प्रदान किया गया है।

अभी ख़रीदे

BTET (बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा) गणित और पर्यावरण अध्ययन (VI-VIII): मॉक टेस्ट सीरीज           

शिक्षक बनने हेतु प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए इस मॉक टेस्ट का अभ्यास करें। इस मॉक टेस्ट से आप वास्तविक परीक्षा के लिए बेहतर तैयारी कर सकेंगे। इसके अलावा इस मॉक टेस्ट का अभ्यास नियमित तौर पर करना आपके लिए परीक्षा में सफलता के लिए आपका मार्ग प्रशस्त करेगा। प्रत्येक प्रश्न का व्याख्यात्मक हल प्रदान किया गया है।

अभी ख़रीदे

BTET (बिहार शिक्षक पात्रता परीक्षा) सामाजिक अध्ययन एवं सामाजिक विज्ञान (VI-VIII): मॉक टेस्ट सीरीज            

शिक्षक बनने हेतु प्रतियोगी परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए इस मॉक टेस्ट का अभ्यास करें। इस मॉक टेस्ट से आप वास्तविक परीक्षा के लिए बेहतर तैयारी कर सकेंगे। इसके अलावा इस मॉक टेस्ट का अभ्यास नियमित तौर पर करना आपके लिए परीक्षा में सफलता के लिए आपका मार्ग प्रशस्त करेगा। प्रत्येक प्रश्न का व्याख्यात्मक हल प्रदान किया गया है।

अभी ख़रीदे

उत्तीर्णता मापदण्ड

परीक्षा में उत्तीर्ण होने के लिए कोटिवार उत्तीर्णता निम्नवत् है-

क्र0 सं0

वर्ग/कोटि

उत्तीर्णांक

1-

सामान्य पुरुष

90

2-

पिछड़ा वर्ग/अति पिछड़ा वर्ग/महिला/निःशक्त

83

3-

अनुसूचित जाति/अनुसूचित जनजाति

75

दोनों पत्र (पेपर) में शामिल होने वाले अभ्यर्थी को अलग-अलग हर पत्र/पेपर में निर्धारित उत्तीर्णांक प्राप्त करना अनिवार्य है।

 

बिहार टीईटी (बीटीईटी) परीक्षा पाठ्यक्रम  2017

प्रश्न पत्र – I (कक्षा I-V तक के पाठ्यक्रम)

बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र (30 प्रश्न) 

विषय-वस्तु – 15 प्रश्न

  • विकास की अवधारणा (Concept of Development) एवं अधिगम से उसका संबंध
  • बाल विकास के सिद्धांत एवं अवस्थाएँ (6-11 वर्ष)
  • अनुवांशिकता एवं पर्यावरण का प्रभाव
  • सामाजिकरण की प्रक्रिया
  • पियाजे एवं वाइगास्की का निर्माणवाद एवं समीक्षात्मक परिप्रेक्ष्य
  • बाल केन्द्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा
  • बहुआयामी बुद्धि (Multidimensional Intelligence)
  • सृजनात्मकता
  • भाषा एवं विचार (Language and Thought)
  • वैयक्तिक विभिन्नता
  • सतत् व्यापक मूल्यांकन

विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का शिक्षणः – 5 प्रश्न

  • शारीरिक निःशक्त, अधिगम निःशक्त
  • दृष्टि-बाधित, श्रवण-बाधित, वाचन-बाधित, प्रतिभाशाली बच्चे

अधिगम एवं शिक्षा शास्त्रः- 10 प्रश्न

  • बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं?
  • बच्चे विद्यालयी उपलब्धी में क्यों और कैसे असफल होते हैं?
  • शिक्षण-अधिगम की मूल प्रक्रियाएँ
  • सीखना एक सामाजिक गतिविधि है कैसे?
  • बच्चा समस्या समाधान कर्ता एवं वैज्ञानिक अन्वेषक है।
  • वैकल्पिक अधिगम की अवधारणा।
  • संज्ञान और संवेग (Cognition and Emotion)
  • अभिप्रेरण और सीखना (Motivation and Learning)

भाषा- I (30 प्रश्न) 

विषय-वस्तु (15 प्रश्न)

  • भाषायी समझ एवं निष्कर्ष-अपठित उद्धरण (Unseen Passage) – गद्यांश, पद्यांश, यात्रा-वृतांत, एकांकी पर आधारित प्रश्नों की समझ (गद्यांश साहित्यिक, वैज्ञानिक, विवरणात्मक या अप्रासंगिक पहलू से हो सकते हैं। )
  • व्याकरण- शब्दार्थ, संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, लिंग, वचन, कारक, काल, विलोम, पर्यायवाची, मुहावरे, लोकोक्ति, शब्द-युग्म इत्यादि व्यवहारिक व्याकरणं

शिक्षा शास्त्री आयाम 15 प्रश्न

  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत एवं विधियाँ
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समझ और सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना, भाषा कौशलों की समझ एवं मूल्यांकन
  • सम्प्रेषण कौशल का विकास
  • व्यवहारिक व्याकरण की समझ
  • भाषा शिक्षण में उत्पन्न कठिनाईयों/विसंगतियों का निराकरण
  • शिक्षण-उपादान
  • उपचारात्मक शिक्षण (Remedial Teaching)

भाषा – II (30 प्रश्न) 

(क) भाषा की समझ 15 प्रश्न
अपठित गद्यांश (Prose) के उद्धरण (Unseen Passage) पर आधारित प्रश्नों की समझ । अपठित गद्यांश (Prose), अप्रासंगिक, साहित्यक, विवरणात्मक या वैज्ञानिक (Discursive, Literary, Narrative or Scientific) हो सकते हैं। व्यवहारिक व्याकरण यथा शब्दार्थ, संज्ञा (Noun), सर्वनाम (Pronoun), विशेषण (Adjective), लिंग (Gender), वचन (Number), कारक (Case), काल (Tense), विलोम (Opposite), पर्यायवाची, मुहावरे (Phrase) और शब्द-युग्म आदि की समझ एवं शाब्दिक योग्यता (Verbal Ability)

(ख) शिक्षा शास्त्रीय आयाम 15 प्रश्न

  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत एवं विधियाँ
  • भाषा कौशल (Language Skill)
  • भाषा की समझ और सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना, भाषा कौशलों की समझ एवं मूल्यांकन
  • सम्प्रेषण कौशल का विकास
  • भाषा-अधिगम में व्याकरण की भूमिका-सम्प्रेषण, शाब्दिक योग्यता एवं लेखन कौशल के संदर्भ में
  • विभिन्न परिस्थितियों में भाषा शिक्षण की चुनौतियाँ
  • व्यवहारिक व्याकरण की समझ
  • भाषा शिक्षण में उत्पन्न कठिनाईयों/विसंगतियों का निराकरण
  • शिक्षण अधिगम सामग्री-पुस्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, द्विभाषीय सामग्री
  • उपचारात्मक शिक्षण

गणित (30 प्रश्न)

विषय-वस्तु 15 प्रश्न

  • ज्यामिति – आकृतियाँ एवं उनकी स्थानिक समझ
  • संख्याएँ – संख्याएँ एवं संक्रियाएँ
  • मुद्रा – मुद्रा से संबंधित समस्याओं का हल
  • माप – लम्बाई (Length), मात्रा (Mass), भार (Weight), आयतन (Volume) समय (Time)
  • आँकड़ों का खेल
  • मानसिक गणित (Mental Math)
  • ढ़ाँचा (Pattern)

शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे – 15 प्रश्न

  • गणित की प्रकृति एवं स्वरूप
  • गणित शिक्षण का महत्व
  • गणित शिक्षण की विधियाँ
  • गणित की भाषा
  • पाठ्यचर्या में गणित का स्थान
  • गणित शिक्षण की समस्याएँ
  • निदानात्मक एवं उपचारात्मक शिक्षण तथा मूल्यांकन
  • त्रुटियों का विश्लेषण
  • शिक्षण- अधिगम से संबंधित आयाम

पर्यावरण अध्ययन (30 प्रश्न)

विषय-वस्तु 15 प्रश्न

  • परिवार और मित्र (Family and Friends)- रिश्ते-नाते, जन्तु, पौधे, कार्य और खेल
  • भोजन (Food)- पौधे और जन्तुओं से प्राप्त भोजन, पशु आहार, भोजन पकाना, परिवार में भोजन करना, जन्तुओं के आहार
  • आवास (Shelter)- आवास और उसके प्रकार, पास-पड़ोस और इसका मानचित्रण, गृह-सज्जा और सफाई, अपना परिवार और घरेलू जीव-जन्तु
  • जल (Water)- जल के श्रोत, परिवार के लिए जल, जल भंडारण, हमारा जीवन और जल, जल का अभाव, जल का बहाव, पौधे एवं जंतु के लिए जल की आवश्यकता
  • यात्रा- गंतव्य स्थान (स्थान, जल, अंतरिक्ष), यात्रा के साधन, सांकेतिक-सम्प्रेषण, पत्र-सम्प्रेषण
  • वस्तुओं का स्वनिर्माण और व्यवहार- मिट्टी से बनने वाली वास्तुएँ
  • वस्त्र

शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे- 15 प्रश्न

  • पर्यावरण अध्ययन का स्वरूप
  • पर्यावरण अध्ययन का महत्व
  • पर्यावरण के बारे में शिक्षा
  • पर्यावरण के माध्यम से शिक्षा
  • पर्यावरण के सम्वर्द्धन-संरक्षण के लिए शिक्षा
  • पर्यावरण से विज्ञान और समाज विज्ञान का संबंध
  • सीखने के तरीके
  • गतिविधियाँ/व्यवहारिक कार्य
  • सत्त व्यापक मूल्यांकन
  • शिक्षण- उपादान
  • समस्याएँ

प्रश्न पत्र – II (कक्षा VI – VIII तक के पाठ्यक्रम)

बाल विकास एवं शिक्षा शास्त्र 30 प्रश्न

विषय-वस्तु -15 प्रश्न
(क) बाल विकास

  • विकास की अवधारणा एवं अधिगम से उसका संबंध
  • बालविकास के सिद्धांत एवं अवस्थाएँ 12.16 वर्ष
  • आनुवंशिकता एवं पर्यावरण का प्रभाव
  • सामाजिकरण की प्रक्रिया
  • पियाजे एवं वाइगास्की का निर्माणवाद एवं समीक्षात्मक परिप्रेक्ष्य
  • बाल केन्द्रित एवं प्रगतिशील शिक्षा
  • बहुआयामी बुद्धि (Multidimensional Intelligence)
  • सृजनात्मकता (Creativity)
  • भाषा एवं विचार (Language and Thought)
  • वैयक्तिक विभिन्नता (Individual Differences)
  • सतत् व्यापक मूल्यांकन (Continuous and Comprehensive Evaluation)

(ख) विशेष आवश्यकता वाले बच्चों का शिक्षण – 5 प्रश्न

  • शारीरिक निःशक्त, अधिगम निःशक्त
  • दृष्टि-बाधित, श्रवण-बाधित, प्रतिभाशाली बच्चे।

(ग) अधिगम एवं शिक्षा शास्त्र – 10 प्रश्न

  • बच्चे कैसे सोचते और सीखते हैं?
  • बच्चे विद्यालयी उपलब्धि में क्यों और कैसे असफल होते हैं?
  • शिक्षण-अधिगम की मूल प्रक्रियाएँ
  • सीखना एक सामाजिक गतिविधि है कैसे?
  • बच्चा समस्या समाधान कत्र्ता एवं वैज्ञानिक अन्वेषक है।
  • वैकल्पिक अधिगम की अवधारणा।
  • संज्ञान और संवेग (Cognition and Emotion)
  • अभिप्रेरण और सीखना (Motivation and Learning)

भाषा – I   (30 प्रश्न)
(क) भाषा की समझ 15 प्रश्न

  • भाषायी समझ एवं निष्कर्ष – अपठित उद्धरण (Unseen Passage) – गद्यांश, पद्यांश यात्रा-वृत्तांत, एकांकी पर आधारित प्रश्नों की समझ (गद्यांश, साहित्यिक, वैज्ञानिक, विवरणात्मक या अप्रासंगिक पहलू से ही सकते हैं।)
  • व्याकरण- शब्दार्थ, संज्ञा, सर्वनाम, विशेषण, लिंग, वचन, कारक, काल, विलोम, पर्यायवाची, मुहावरे, लोकोक्ति, शब्द-युग्म इत्यादि व्यवहारिक व्याकरण।

(ख) शिक्षा शास्त्रीय आयाम 15 प्रश्न

  • भाषा शिक्षण के सिद्धान्त एवं विधियाँ
  • भाषा कौशल
  • भाषा की समझ और सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना, भाषा कौशलों की समझ एवं मूल्यांकन
  • सम्प्रेषण कौशल का विकास
  • व्यवहारिक व्याकरण की समझ
  • भाषा शिक्षण में उत्पन्न कठिनाईयों/विसंगतियों का निराकरण
  • शिक्षण-उपादान
  • उपचारात्मक शिक्षण

भाषा – II (30 प्रश्न)

(क) भाषा की समझ 15 प्रश्न
अपठित गद्यांश (Prose) के उद्धरण (Unseen Passage) पर आधारित प्रश्नों की समझ । अपठित गद्यांश (Prose), अप्रासंगिक, साहित्यक, विवरणात्मक या वैज्ञानिक (Discursive, Literary, Narrative or Scientific) हो सकते हैं। व्यवहारिक व्याकरण यथा शब्दार्थ, संज्ञा (Noun), सर्वनाम (Pronoun), विशेषण (Adjective), लिंग (Gender), वचन (Number), कारक (Case), काल (Tense), विलोम (Opposite), पर्यायवाची, मुहावरे (Phrase) और शब्द-युग्म आदि की समझ एवं शाब्दिक योग्यता (Verbal Ability)

(ख) शिक्षा शास्त्रीय आयाम 15 प्रश्न

  • भाषा शिक्षण के सिद्धांत एवं विधियाँ
  • भाषा कौशल (Language Skill)
  • भाषा की समझ औश्र सुनना, बोलना, पढ़ना, लिखना, भाषा कौशलों की समझ एवं मूल्यांकन
  • सम्प्रेषण कौशल का विकास
  • भाषा- अधिगम में व्याकरण की भूमिका-सम्प्रेषण, शाब्दिक योग्यता एवं लेखन कौशल के संदर्भ में।
  • विभिन्न परिस्थितियों में भाषा शिक्षण की चुनौतियाँ
  • व्यवहारिक व्याकरण की समझ
  • भाषा शिक्षण में उत्पन्न कठिनाईयों/विसंगतियों का निराकरण
  • शिक्षण अधिगम सामग्री – पुस्तक, मल्टी मीडिया सामग्री, द्विभाषीय सामग्री
  • उपचारात्मक शिक्षण (Remedial Teaching)

गणित और विज्ञान (60 प्रश्न)

  • गणित 30 प्रश्न

(क) विषय-वस्तु 20 प्रश्न

संख्या पद्धति – (Number System)

  • संख्या की समझ (Concept of Number)
  • पूर्णांक (Whole Number)
  • परिमेय संख्या (Rational Number)
  • घतांक (Indices)
  • ऋणात्मक संख्या (Negative Number)
  • भिन्न (Fractions)
  • वर्ग, वर्गमूल, घन, घनमूल (Square, Square root, Cube, Cube root)
  • संख्याओं का खेल
  • द्विधारी संख्याएँ (Binary Number)

बीजगणित (Algebra)

  • बीजीय व्यंजक
  • बीजगणितीय व्यंजक

अंक गणित (Arithmetic)

  • अनुपात – समानुपात (Ratio and Proportion)
  • ऐकिक नियम (Unitary Method)
  • शब्द समस्याएँ (Word problems)
  • प्रतिशत (Percentage)
  • लाभ, हानि (Profit and Loss)
  • साधारण ब्याज (Simple Interest)
  • समय एवं दूरी (Time & Distance)
  • समय एवं काम (Time & work) से संबंधित व्यवहारिक गणित

ज्यामिति (Geometry)

  • ज्यामितीय आकृतियों की समझ (Concept of geometrical shape and size)
  • द्विविमीय (2-D)
  • त्रिविमीय (3-D)
  • सममिति (Symmetry)

क्षेत्रमिति (Mensuration)

  • परिमिति एवं क्षेत्रफल की अवधारणा (Concept of Perimeter and Area)

आँकड़ों का प्रयोग

  • आँकड़ों का संग्रह एवं उन्हें व्यवस्थित करना

शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे 10 प्रश्न

  • गणित की प्रकृति
  • पाठ्यक्रम में गणित का स्थान
  • गणित शिक्षण की विधियाँ
  • गणित की भाषा (Language of Mathematics)
  • सामुदायिक गणित (Community Mathematics)
  • मूल्यांकन (Evaluation)
  • उपचारात्मक शिक्षण
  • गणित शिक्षण की समस्याएँ

विज्ञान 30 प्रश्न

  • विषय-वस्तु 20 प्रश्न
  • भोजन : भोजन के स्त्रोत, भोजन के अवयव, स्वास्थ्य और स्वच्छता, फसलों से अन्न की प्राप्ति, पौधों में पोषण, भोजन का उपयोग
  • पदार्थ/वस्तुएँ : दैनिक उपयोग की सामग्री, विभिन्न प्रकार के पदार्थ, गर्मी देने वाली वस्तुएँ
  • सजीव का संसार : आस-पास की वस्तुएँ, सजीवों का वास स्थान, पौधों की संरचना और कार्य, जन्तुओं की संरचना और कार्य, सजीवों पर परिवेश का प्रभाव, जीवों में श्वसन, जैव विविधताओं का संरक्षण, कोशिका, जीवन की निरंतरता
  • गतिमान वस्तुएँ : लोग एवं विचार, बल, घर्षण, ध्वनि
  • वस्तुएँ कैसे कार्य करती है : चुम्बक, विद्युत उपकरण, विद्युत धारा, विद्युत परिपथ
  • प्राकृतिक परिघटनाएँ : वर्षा, बादल, गर्जन, तड़ित, प्रकाश, भूकम्प
  • प्राकृतिक संसाधन : जल औश्र वायु का महत्व, कचड़ा-प्रबन्धन, वन-उत्पाद, वायु-प्रदूषण, जल-प्रदूषण
  • शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे – 10 प्रश्न
  • विज्ञान की प्रकृति और संरचना
  • विज्ञान शिक्षण के उद्देश्य
  • विज्ञान की समझ
  • विज्ञान शिक्षण की विधियाँ – अवलोकन (Observation)

प्रयोग (Experiment)
खोज (Discovery)

नवाचार (Innovation)

  • शिक्षण-अधिगम-सामग्री
  • शिक्षण की समस्याएँ
  • उपचारात्मक शिक्षण

समाज विज्ञान का पाठ्यक्रम (60 प्रश्न)

विषय-वस्तु 40 प्रश्न
इतिहास

  • हमारा अतीत – (700AD-1200AD)
  • क्या, कब, कहाँ और कैसे –
  • अध्ययन काल का निर्धारण
  • इतिहास लेखन के स्त्रोत
  • मध्यकालीन भारत
  • प्रारंभिक समाज
  • कृषक, पशुपालक, नगरीकरण, जीवन के विभिन्न आयाम
  • प्रारंभिक राज्य, प्रथम साम्राज्य सम्राट अशोक, मौर्य प्रशासन
  • तुर्क अफगान शासक
  • मुगल साम्राज्य एवं अफगान
  • शहर, व्यापार और कारीगर
  • सामाजिक संस्कृति का विकास
  • अठारहवीं शताब्दी में नई राजनीतिक संरचनाएँ
  • हमारे इतिहासकार : प्रो0 सैयद हसन असकरी, सर यदुनाथ सरकार, प्रो0 काली किंकर दत्त
  • भारत में कम्पनी शासन की स्थापना
  • उप निवेशवाद
  • जन जातिय समाज
  • 1857 का विद्रोह
  • ब्रिटिश शासन एवं शिक्षा
  • महिलाओं की स्थिति एवं सुधार
  • राष्ट्रीय आन्दोलन 1885 से 1947 तक
  • स्वतंत्रता प्राप्ति के बाद का भारत

भूगोल

  • सौरमंडल
  • वायुमंडल
  • जलमंडल
  • पृथ्वी और उसकी गतियाँ, ग्लोब और मानचित्र
  • पृथ्वी की आंतरिक संरचना
  • पर्यावरण : भौतिक पर्यावरण, मानव पर्यावरण – अंतः क्रिया
  • विभिन्न ऋतुएँ
  • प्राकृतिक संसाधन : भूमि, मिट्टी, खनिज, वनस्पति, जल, वन्य जीव
  • मानव संसाधन
  • कृषि
  • उद्योग : लौह-इस्पात उद्योग, वस्त्र-उद्योग
  • सूचना प्रौद्योगिकी

हमारा राज्य बिहार

  • सामाजिक एवं राजनीतिक जीवन
  • विविधता की समझ
  • जीवन यापन के स्वरूप
  • संविधान
  • राज्य सरकार एवं कानून
  • स्थानीय सरकार
  • लोकतंत्र में समानता
  • संसदीय सरकार
  • न्यायिक व्यवस्था
  • लैंगिक पूर्वाग्रह
  • मीडिया एवं विज्ञापन
  • हमारे आस पास के बाजार
  • आर्थिक उत्थान में सरकार के प्रयास

अर्थशास्त्र

  • जीविका के साधन
  • व्यवसायिक क्रिया
  • मुद्रा एवं विनिमय
  • जनसंख्या वृद्धि – बिहार के संदर्भ में
  • सार्वजनिक वितरण प्रणाली
  • खाद्यान एवं व्यवसायिक फसलें
  • सहकारिता
  • बाजार
  • आर्थिक एवं सामाजिक मूल्य

शिक्षा शास्त्रीय मुद्दे 20 प्रश्न

  • समाज विज्ञान की प्रकृति और अवधारणा
  • कक्षा-कक्ष में चलने वाली प्रक्रियाएँ
  • तार्किक चिन्तन का विकास
  • शिक्षण विधि
  • प्रोजेक्ट वर्क
  • समाज विज्ञान शिक्षण की समस्याएँ
  • मूल्यांकन

हमें आशा है समस्त अभ्यर्थियों को आवश्यक जानकारी प्राप्त हुई होगी और वे BTET के परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम की जानकरी के अनुरूप ही अपनी तैयारी जारी रखेंगे।

BTET भर्ती परीक्षा 2017 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ बने रहिए। बैंक की परीक्षाओं में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए सर्वश्रेष्ठ BTET परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.