सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) 2019 : सभी सरकारी नौकरी के लिए एक परीक्षा

सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) 2019 : सभी सरकारी नौकरी के लिए एक परीक्षा- विभिन्न सरकारी नौकरी भर्ती परीक्षा में पारदर्शिता सरकार अब सामान्य चयन परीक्षा (CET) के आयोजन पर विचार कर रही है। जिससे परीक्षा का समुचित और उचित रीती से संचालन हो और उम्मीदवार परीक्षा के पश्चात जिन परेशानियों का सामना करते हैं उनसे बच सकें।

जैसा कि सभी परीक्षा उम्मीदवार जानते हैं कि भारत सरकार ने सरकारी परीक्षा में पारदर्शिता बरतने को लेकर 14 मार्च, 2018 को राज्य सभा में एक बिल का गठन किया है। भारत सरकार में ग्रुप ‘बी’ (गैर-राजपत्रित) और नीचे के स्तर के पदों की रिक्तियों के लिए उम्मीदवारों को चुनने के लिए सभी प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए अब एक सामान्य चयन परीक्षा  अर्थात सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) आयोजित की जाएगी।

 

सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) 2019 : सभी सरकारी नौकरी के लिए एक परीक्षा

सरकार ने परीक्षा के समुचित संचालन में विफलता और भविष्य में परीक्षा के लिए बढ़ते उम्मीदवारों की संख्या को निर्दिष्ट करते हुए उम्मीदवारों को परीक्षा संचालन में होने वाली अनियमितताओं और अव्यवस्था से निजात दिलाने के लिए 14 मार्च 2018 को राज्यसभा में सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) का विचार प्रस्तुत किया। जिसके जरिए सरकारी परीक्षाओं जैसे एसएससी, बैंकिंग, रेलवे और अन्य परीक्षाओं के लिए 2019  से सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) आयोजित आयोजित करने का विचार रखा।

हालांकि अभी भी सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) की आधिकारिक अधिसूचना जारी नहीं की गई है और जब तक इसे आधिकारिक रूप से घोषित नहीं किया जाता, तब तक इसे सिर्फ एक अनुमान के रूप में समस्त उम्मीदवारों द्वारा लिया जाना चाहिए।

यहां हम आज प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी में जुटे अभ्यर्थियों को सीईटी (CET) के विषय में  जानकारी प्रदान करेंगे। जैसे कि सरकार द्वारा सीईटी (CET) परीक्षा के आयोजन को लेकर क्या मंशा है, इसके तहत चयन प्रक्रिया क्या होगी और परीक्षा के स्तर क्या होंगे आदि।

सीईटी (CET) आयोजित करने का कारण

  • कर्मचारी आयोग द्वारा प्रदान किए गए विवरण के अनुसार आयोग को पिछले पांच वर्षों में  9 परीक्षा आंशिक या पूर्णरूप से रद्द करनी पड़ी हैं।

विगत पांच वर्षों में SSC की रद्द हुई परीक्षा 

क्रम संख्या 

रद्द हुई परीक्षा का नाम 

कारण 

1.

संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा (CGLE), 2013 विभिन्न अनियमिताएं और अव्यवस्था

2.

संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर परीक्षा (CHSLE), 2013

कुल संख्या में प्रवेश पत्र का गैर-मुद्दा 432 उम्मीदवारों का प्रवेश पत्र ही निर्गत न करना

3.

संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा (CGLE), 2014

परीक्षा के पश्चात की सामग्री की क्षति

4.

संयुक्त उच्च माध्यमिक स्तर परीक्षा (CHSLE), 2014

रायपुर, चंडीगढ़, इलाहाबाद और दिल्ली में अव्यवस्था और कदाचार (नक़ल) के मामले

5.

कॉन्स्टेबल(GD) परीक्षा, 2015

कदाचार (नक़ल) के मामले

6

SI / CAPF परीक्षा, 2016

प्रश्न पत्रों का लीक होना (OMR मोड)

7

मल्टी टास्किंग स्टाफ परीक्षा (गैर तकनीकी) [MTSE (NT)], 2016

प्रश्न पत्रों का लीक होना (OMR मोड)

8

संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2016 (CBE – टियर I)

प्रश्न पत्र का लीक होना

9

संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा, 2016 (CBE – टियर II)

तकनीकी (सर्वर) त्रुटी के कारण 9571 उम्मीदवारों का प्रभावित होना
  • परीक्षा रद्द करना आयोग की खराब छवि, उम्मीदवारों के साथ-साथ आयोग के समय / धन की बर्बादी और प्रयासों जैसी कई अन्य समस्याओं को स्पष्ट करती है।

इसलिए, समिति ने अनुशंसा की है कि पिछले अनुभवों से सीखना चाहिए, आयोग को अनियमिताएं, अव्यवस्था और तकनीकी त्रुटी से सबक लेकर सुधारात्मक प्रयास होना चाहिए। इसके अलावा, परीक्षाओं को आसान बनाने के लिए सरकारी एजेंसियों द्वारा हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर की नियमित लेखा परीक्षा की जानी चाहिए।

क्यों ज़रूरी है  सीईटी (CET) का आयोजन

अब जानते हैं कि क्यों सामान्य पात्रता परीक्षा आयोजित की जाने की बात की जा रही है? क्या इस सीईटी (सामान्य पात्रता परीक्षण) की शुरुआत के लिए कोई ठोस कारण है?

सरकार द्वारा 14 मार्च, 2018 को राज्यसभा में प्रस्तुत रिपोर्ट में सीईटी (सामान्य पात्रता परीक्षा) आयोजित कराए जाने के निम्न कारण दिए-

  • विभिन्न भर्ती प्रक्रियाओं में पारदर्शिता लाने के लिए
  • परीक्षा के समुचित संचालन में विफलता और भविष्य में परीक्षा के लिए बढ़ते उम्मीदवारों की संख्या को निर्दिष्ट करते हुए उम्मीदवारों को परीक्षा संचालन में होने वाली अनियमितताओं और अव्यवस्था से निजात दिलाने के लिए, और
  • संचालन कार्यभार और कम जनशक्ति के साथ चुनौतियों से निपटने  के लिए
  • भारत सरकार ने 4 नवंबर 1975 को अधीनस्थ सेवा आयोग का गठन किया, जिसे बाद में कर्मचारी चयन आयोग के रूप में पुनः नामित किया गया। कर्मचारी चयन आयोग भारत में विभिन्न पदों के लिए आवेदन करने वाले आवेदकों की संख्या के अनुसार देश में सबसे बड़ी भर्ती एजेंसियों में से एक है। समिति को आगे आयोग द्वारा सूचित किया गया है कि 31.12.2017 के अनुसार, विभिन्न न्यायालयों में 2220 कोर्ट के मामले लंबित हैं जिसमें SSC एक पार्टी है।

आयोग के द्वारा सीईटी (CET) का आयोजन 

भारत सरकार ने भारत सरकार में ग्रुप ‘बी’ (गैर-राजपत्रित) और स्नातक स्तर की पदों की रिक्तियों के लिए उम्मीदवारों को चुनने के लिए एक सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) पेश करने का प्रस्ताव दिया है। इस अभ्यास के माध्यम से, पूरे भर्ती प्रणाली को दो अलग-अलग चरणों में परीक्षा को आयोजित कराने के लिए और युक्तिसंगत बनाया जाएगा।

सीईटी (CET) की चयन प्रक्रिया

परीक्षा की चयन प्रक्रिया मुख्यतः दो चरणों में विभाजित की गई है:

(i) टीयर -1 : भारत सरकार की सभी भर्ती एजेंसियों द्वारा आयोजित प्रारंभिक टीयर -1 परीक्षाओं में शामिल एक आम स्क्रीनिंग टेस्ट, अर्थात एसएससी, रेलवे, बैंकिंग, आदि; तथा
(ii) टियर -2 : मुख्य भर्ती संबंधित भर्ती एजेंसियों द्वारा आयोजित होने वाली मुख्य परीक्षाएं

सीईटी (CET) के लिए पंजीकरण

संशोधित व्यवस्था के तहत प्रक्रिया शुरू करने के लिए, श्रम और रोजगार मंत्रालय के नेशनल कैरियर सर्विसेज (NCS)द्वारा विकसित एक समर्पित पोर्टल पर उम्मीदवारों को अनिवार्य रूप से खुद को पंजीकृत करना होगा, जो प्रत्येक उम्मीदवार के लिए एक यूनिक आईडी प्रदान करेगा।

परीक्षा के स्तर: सीईटी निम्न स्तरों पर तीन स्तर पर आयोजित किए जाएंगे:
(i) मैट्रिक्यूलेशन स्तर
(ii) उच्च माध्यमिक (10 + 2) स्तर
(iii) स्नातक स्तर
नोट: यह प्रस्तावित किया गया है कि वित्तीय वर्ष 2018-19 में, केवल सीईटी का एक स्तर, अर्थात स्नातक स्तर पर, फरवरी 2019 में आयोजित किया जाएगा। लगातार वर्ष (ओं) में, परीक्षा के सभी तीन स्तरों का आयोजन किया जाएगा।

सीईटी (CET) परीक्षा की वैधता

सरकार को सीईटी स्कोर दो साल की अवधि के लिए वैध बनाने का प्रस्ताव है। उम्मीदवार टीयर -2 परीक्षाओं में भाग लेने के लिए अपने स्कोर का उपयोग करेंगे, जो संबंधित भर्ती एजेंसियों द्वारा स्वतंत्र रूप से आयोजित किया जाएगा। राज्य सरकारों / सार्वजनिक क्षेत्र अंडरटेकिंग / निजी क्षेत्र द्वारा कर्मचारियों की भर्ती के लिए सीईटी स्कोर का उपयोग करने के लिए अवसर भी उपलब्ध है।

सामान्य पात्रता परीक्षा (CET) आधिकारिक अधिसूचना : यहाँ क्लिक करें !

सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) के लाभ 

 अगले साल (2019) से आयोजित होने वाले सामान्य पात्रता परीक्षा (सीईटी) के तहत आयोग का एक महत्वाकांक्षी प्रयास है जिससे  दीर्घकालिक में सरकार और नौकरी उम्मीदवार दोनों को लाभ होगा। उम्मीदवारों और सरकार को बहुत सारे फायदे हैं, जिनका उल्लेख नीचे दिया गया है-

  • सीईटी सरकार की विभिन्न एजेंसियों द्वारा आयोजित परीक्षाओं की संख्या को कम कर देगा और विभिन्न भर्ती एजेंसियों द्वारा इन परीक्षाओं को आयोजित करने में खर्च किए जाने वाले महत्वपूर्ण धन की बचत होगी।
  • भविष्य में, सीईटी स्कोर का इस्तेमाल राज्य सरकारों द्वारा किया जा सकता है, यदि वे इतनी इच्छा रखते हैं और यहां तक ​​कि निजी कंपनियां भी उनको रोजगार के लिए शॉर्ट-लिस्टेड उम्मीदवारों के लिए इस्तेमाल कर सकती हैं।
  • सीईटी स्कोर 2 साल के लिए वैध होगा।
  • यह सीईटी स्कोर उम्मीदवारों को टीयर द्वितीय परीक्षाओं के लिए प्रवेश करने में मदद करेगा, जो एसएससी, बैंक, रेलवे और अन्य परीक्षाओं जैसे स्वतंत्र भर्ती एजेंसियों द्वारा स्वतंत्र रूप से आयोजित किया जाएगा।
  • एक संभावना यह भी हो सकती है कि राज्य सरकार / पीएसयू / निजी क्षेत्र द्वारा सीईटी स्कोर पर भी विचार कर कर्मचारियों की भर्ती हेतु प्रयोग किया जाए।

सीईटी (CET) परीक्षा का नुकसान

समिति के नोट के तहत शुरू में सरकार सीईटी केवल अंग्रेजी और हिंदी माध्यम में आयोजित करेगी। सीईटी परीक्षा क्षेत्रीय भाषाओं में आयोजित नहीं की जाएगी। यह क्षेत्रीय भाषाओं में लोक सेवा आयोग की परीक्षाओं के लिए तैयारी कर रहे उम्मीदवारों के लिए एक बड़ी दुश्वारी होगी।

नोट: सीईटी के एक स्तर, अर्थात स्नातक स्तर पर फरवरी 2019 में  परीक्षा आयोजित की जाएगी। अन्य सीईटी स्तर की परीक्षा आयोजित तब आयोजित की जाएगी जब आयोग 8 वीं अनुसूची भाषाओं में परीक्षा आयोजित करने के लिए आवश्यक क्षमता प्राप्त कर लेगा। वर्ष में, परीक्षा के सभी तीन स्तर आयोजित किए जाएंगे।

सीईटी के सभी तीन स्तरों के लिए लगभग 5 करोड़ उम्मीदवारों का पंजीकरण होने का अनुमान है, जिससे यह दुनिया की सबसे बड़ी परीक्षा बनती है।

क्या आप रेलवे ग्रुप डी परीक्षा में सफल होना चाहते हैं ?
OnlineTyari का अल्टीमेट पैकेज सटीक परीक्षा सामग्री है : रेलवे परीक्षा विशेषज्ञ के द्वारा संकलित अध्ययन परीक्षा टेस्ट के साथ उचित रणनीति के तहत तैयारी करें, सफलता अवश्य मिलेगी !!!!

अभी खरीदें और कूपन कोड BLOG20 का प्रयोग कर पाएं 20% की छूट 

रेलवे ग्रुप डी : अल्टीमेट पैकेज

सरकारी नौकरी की तैयारी कर रहे छात्र इस लेख को अपने दोस्तों को भी शेयर करें जिससे उन्हें भी आवश्यक जानकारी प्राप्त हो सके। परीक्षा सम्बन्धी समस्त जानकारी को बिना किसी बाधा के लगातार पाते रहने के लिए ब्लॉग को सब्सक्राइब करना न भूलें 

सरकारी नौकरी भर्ती परीक्षा 2018 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। सरकारी नौकरी परीक्षा में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ नौकरी तैयारी परीक्षा एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

11 REPLIES

  1. rohit

    I had visited many website pretends to be will in SSC Coaching, but Onlinetyari is best, as my brother is preparing for SSC Exam, quite helpful website

    Reply
  2. arun

    Preparing from coaching classes is the best model nowadays, as it give good insight how exam will be conducted and all. Onlinetyari is quite popular in this..:)

    Reply
  3. Seema Devi

    that is very good step taken by indian govt. …..it will help to for students who are preparing for SSC exam..Thanks to you sir for given complete detail about the cet 2019

    Reply
  4. Priya Sharma

    वहुत ही अद्भुत जानकारी, मैं बहुत ही उत्साहित हू मैने भी हिन्दी में एम ए किया है।

    Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.