SBI PO मुख्य परीक्षा 2017 के निबंध और पत्र लेखन के लिए टिप्स

SBI PO मुख्य परीक्षा 2017 के लिए निबंध और पत्र लेखन के टिप्स: आधुनिक तकनीक के आने के बावजूद, व्यवसाय और व्यक्तिगत संचार की बहुत सी जानकारी का भार उठा रहे हैं पत्र। यही कारण है कि बैंकिंग परीक्षाओं के वर्णात्मक सेक्शन में पत्र लेखन के साथ साथ निबंध लेखन भी महत्वपूर्ण भाग है।

कई प्रमुख बैंक परीक्षाओं जैसे SBI PO के अंग्रेज़ी सेक्शन में निबंध और पत्र लेखन एक बहुत महत्वपूर्ण अंग होता है। पत्र लेखन आपको पेपर पर कुछ ठोस लिखने का अवसर प्रदान करता है जिससे आप पहले से चर्चित विषय को स्पष्टता से लिख पाते हैं।

एक प्रभावी पत्र और निबंध लिखने में आपकी मुख्य समस्याएं हैं कि SBI PO के वर्णात्मक पेपर में आपके पास सीमित समय है। लेकिन यदि आप मूलभूत नियमों और प्रारूप का पालन करेंगे तो आप आसानी से अच्छी सामग्री तैयार कर सकते हैं। इस लेख में, हम आपको कुछ निबंध और पत्र लेखन के टिप्स देंगे जो परीक्षा में आपके सहायक होंगे। याद रहे, SBI PO साक्षात्कार देने के लिए आपको वर्णात्मक पेपर भी पास करना होगा।

SBI PO 2017 के लिए निबंध और पत्र लेखन के टिप्स

परीक्षा का कोई निर्धारित सिलेबस नहीं है यही कारण है कि ये कई उम्मीदवारों के लिए चिंता का विषय बना रहता है।

ऐसा कोई निश्चित विषय नहीं है जिसपर परीक्षा में उम्मीदवार से निबंध लिखने को कहा जाएगा। इसलिए रटने के विकल्प का सवाल ही पैदा नहीं होता। SBI PO वर्णात्मक पेपर के लिए यही तथ्य चुनौतीपूर्ण है। यहां मुख्य परीक्षा के लिए कुछ निबंध और पत्र लेखन के कुछ टिप्स दिए जा रहे हैं।

SBI PO मुख्य परीक्षा 2017 के लिए पत्र लेखन के टिप्स

आमतौर पर दो प्रकार के पत्र पूछे जाते हैं:

  1. अनौपचारिक पत्र – ये पत्र माता-पिता, दोस्तों, संबंधियों, भाई-बहनों आदि को लिखे जाते हैं
  2. औपचारिक पत्र – ये पत्र सरकारी कर्मचारियों, समाचार सम्पादक, बैंक प्रबंधक, सरकारी विभागों आदि को लिखे जाते हैं।

एक अच्छा पत्र लिखने का अर्थ है कि विषय से संबंधित सबसे अच्छी सामग्री को ठोस रूप में प्रस्तुत करना। यानि आपको विषय से संबंधित सारी महत्वपूर्ण जानकारी लिखनी होगी। आपके लेखन कौशल को अच्छा करने में मदद करने के लिए हम कुछ लेखन टिप्स पर ध्यान देंगे जो कि आगामी वर्णात्मक परीक्षा के लिए लाभकारी होंगे। एक नज़र डालें:

प्रारूप का पालन करें

पत्र लेखन के लिए सबसे महत्वपूर्ण टिप्स में से एक है कि प्रारूप का पालन किया जाए। विषय़ से भटकाव के कारण आपके अंक प्रभावित हो सकते हैं। पत्र का सामान्य प्रारूप नीचे दिया गया है।

  1. शीर्षक – पत्र के शीर्षक के दो भाग होते हैं, एक लेखक का पता और तिथि। शीर्षक पत्र के पहले पन्ने पर बाईं ओर लिखा जा सकता है।
  2. संबोधन – यह पत्र का सबसे महत्वपूर्ण भाग है, इसे भूलने की गलती ना करें। पेज के बाईं ओर संबोधन दें, शीर्षक के नीचे। वैसे भी, संबोधन के पहले और आखिरी शब्दों की शुरूआत बड़े अक्षरों से होती है।
  3. विषय – पत्र लिखने की मंशा को कम शब्दों में स्पष्ट कर दें। विषय बड़े अक्षरों में लिखा जाना चाहिए और बाईं ओर या केंद्र में होना चाहिए।
  4. विषय वस्तु – प्रश्न में जो विषय दिया गया हो, विषयवस्तु में उसकी समग्र जानकारी लिखें। विषयवस्तु 3 पैराग्राफ़ से ज़्यादा नहीं होना चाहिए।
  5. हस्ताक्षर – धन्यवादज्ञापन का सौम्य तरीका अपनाएं। ये सामान्य तौर पर विषयवस्तु के बाद बाईं ओर लिखा जाता है। ये बड़े अक्षर से शुरू होना चाहिए और अल्पविराम यानि कॉमा के साथ अंत होना चाहिए।
  6. पदनाम – हस्ताक्षरण के बाद पदनाम लिखा जाता है।

ना बहुत ज्यादा वर्णात्मक हों ना बहुत संक्षेप में ही लिखें

आप छोटे-छोटे पैराग्राफ़ लिख सकते हैं, 5 पंक्तियों के। हालांकि, आपके वाक्य की लंबाई छोटी-बड़ी हो सकती है। पत्र लिखने का अर्थ होता है कि आप कुछ महत्वपूर्ण साझा करना चाहते हैं और प्रतीक्षा नहीं कर सकते। इसलिए, बिना घुमाए सिर्फ़ महत्वपूर्ण जानकारियां ही लिखें।

दोहराएं नहीं

पत्र में कुछ दोहराया नहीं जाना चाहिए। किसी शब्द को बार बार दोहराने से ये अच्छी अपील नहीं होती। आप शब्दों के लिए समानार्थी शब्दों का प्रयोग करना है यदि आप उन्हें दोबारा प्रयोग करना चाहते हैं।

भाषा को जांचें

औपचारिक और अनौपचारिक लेखन शैली में भिन्नता को समझें। संज्ञा और क्रियाओं का औपचारिक पत्र में सीधा प्रयोग करें। आपको औपचारिक भाषा का प्रयोग करना है जो कि सौम्य हो। अनौपचारिक पत्रों में भी, आपको ऐसे ही विचारों को सौम्य तरीके से प्रस्तुत करना है।

एक फ्लो बनाए रखें

पत्र में एक बहाव होना चाहिए, ताकि इसे पढ़कर समझना आसान हो सके। एक अच्छा परिचय, ठोस विषयवस्तु और निष्कर्ष, पत्र का सबसे वांछनीय प्रारूप होता है। आपको अपने विचारों के बहाव से भटकना नहीं है।

टोन परखें

पैसेज की टोन यानि स्वर जांचना अत्यावश्यक है। आपके पत्र में उद्दंडता से अधिक विश्वास झलकना चाहिए। यदि आप शिकायत पत्र भी लिख रहे हों तो भी आपको प्रासंगिक तथ्य प्रकट करने चाहिए, प्राधिकरण को धमकाएं नहीं। परिस्थितियों का वर्णन करें और सौम्य तरीका अपनाएं।

अभ्यास करें

एक अच्छे पत्र के लिए अभ्यास ही रहस्य है क्योंकि ये आपको पर्फेक्ट बनाता है। प्रारूप से परिचित हो जाएं और यथासंभव अभ्यास करें। आप ऑनलाइन उपलब्ध विभिन्न मॉक टेस्ट और प्रश्न बैंक हल करें।

एडवांस डाटा इंटरप्रिटेशन एंड एनालिसिस  

यह पुस्तक सभी बैंकिंग परीक्षाओं के लिए विशेष उपयोगी है। इसमें विगत वर्ष में पूछे गए प्रश्नों का परीक्षापयोगी अध्यायवार संकलन किया गया है। जिससे यह पुस्तक अभ्यास करने के लिए और टॉपिक वाइज अपने तैयारी स्तर को जांचने के लिए उपयोगी है। वास्तविक परीक्षा में बैठने से पूर्व इस पुस्तक का अध्ययन अवश्य करें, आप पाएंगे की वास्तविक परीक्षा में DI से सम्बंधित प्रश्न आपके लिए आसान हो गए है।

अभी खरीदें

डाटा इंटरप्रिटेशन एंड डाटा सफिशन्सी, अरिहंत प्रकाशन  

यह पुस्तक सभी परीक्षाओं के लिए विशेष उपयोगी है। इसमें डाटा इंटरप्रिटेशन और डाटा सफिशन्सी के सभी टॉपिक को कवर किया गया है। टॉपिक वाइज प्रश्नों का व्याखात्मक उत्तर देने से छात्र इस पुस्तक से अपनी तैयारी कर सकते हैं। इस पुस्तक से अध्ययन कर आप सभी टॉपिक पर अपनी पकड़ बना सकते हैं और तब DI से सम्बंधित प्रश्न आपके लिए आसान हो जाएंगे।

अभी खरीदें

SBI PO 2017 मुख्य परीक्षा के निबंध लेखन के टिप्स

निबंध का प्रारूप जानें

सभी उम्मीदवारों के लिए ये जानना ज़रूरी है कि निबंध लिखने का अर्थ ये नहीं कि मन में आने वाले हम विचार को आप वैसा ही पेपर पर उतार लें। निबंध में एक प्रवाह शामिल होता है जो कि परिचय से शुरू होता है अंत में तर्कों के साथ निष्कर्ष पर आकर समाप्त होता है।

यहां निबंध प्रारूप दिया जा रहा है, एक नज़र डालें

  1. परिचय
  2. पृष्ठभूमि / संबंधित इतिहास
  3. मुख्य कॉन्सेप्ट / सिद्धांत / विषयवस्तु
  4. वर्तमान परिदृश्य
  5. अच्छे पक्ष
  6. नकारात्मक पक्ष
  7. प्रस्तावित सुधार
  8. निष्कर्ष

बातों को गोल-गोल ना घुमाएं

परीक्षक आपके निबंधों में महत्वपूर्ण जानकारी खोजते हैं, तार्किक तथ्य और संवेदनशील निष्कर्ष खोजते हैं। बातों को गोल-गोल घुमाने से परीक्षक परेशान होते हैं और पूरे लिखे पर ध्यान भी नहीं देते। ये नियम बना लें कि प्रत्येक पंक्ति जो आप लिख रहे हों, वो अर्थपूर्ण हो और कुछ भी और कैसे भी विचारों को कागज़ पर नहीं उतार रहे हों।

तर्कपूर्ण सही संरचना

लेखन टिप्स के लिए सबसे महत्वपूर्ण विषय है कि विषयवस्तु को प्रवाहयुक्त प्रारूप में लिखें। विचारों को आगे पीछे लिखने से निबंध की सुंदरता समाप्त होती है। शुरूआत से लेकर अंत तक तार्किक बहाव होना चाहिए। निबंध को सुनियोजित पैराग्राफ़ में लिखना अच्छा विचार है।

दोहराएं नहीं

पेपर में कुछ भी दोहराएं नहीं, ये साधारण नियम है। प्रत्येक पैरा किसी एक बिंदु पर केंद्रित होना चाहिए। जब तक अति महत्वपूर्ण ना हो तब तक कोई भी तथ्य ना दोहराएं।

विषय से भटके नहीं

आप विषय से भटके कि परीक्षक की रुचि समाप्त। इसके अलावा, ये निबंध लिखने का सही तरीका नहीं है इससे आपके अंक जा सकते हैं।

लेखन के स्वर को लेकर सावधान रहें

एक निष्पक्ष नज़रिया और थोड़ा सा मानवीय चिंतन आपके लेखन को पढ़ने योग्य बना सकता है। अभद्र भाषा, बटरी भाषाओं से वाक्यों के अर्थ में अनर्थ हो सकता है और वे भ्रम फैला सकती हैं।

 

बैंकिंग कंप्यूटर नॉलेज क्वेश्चन बैंक (हिंदी माध्यम)

हिंदी माध्यम से परीक्षा की तैयारी कर रहे प्रतियोगी छात्रों के लिए बैंकिंग कंप्यूटर नॉलेज क्वेश्चन बैंक पुस्तक को हिंदी भाषा में लिखा गया है। जिससे हिंदी माध्यम के छात्र भी प्रमाणित पुस्तक से अध्ययन कर सके। इस पुस्तक में पाठ्य सामग्री बैंकिंग परीक्षाओं को ध्यान में रखकर राखी गई हैं। वास्तविक परीक्षा में बैठने से पूर्व इस पुस्तक का अध्ययन अवश्य करें, आप पाएंगे की वास्तविक परीक्षा में बैंकिंग कंप्यूटर नॉलेज से सम्बंधित प्रश्न आपके लिए एकदम आसान हो गए है।

अभी खरीदें

English-language-mock-test-series

English Language Mock Test Series by OnlineTyari

This mock test contains 25 questions. It contains Tests English Reading Comprehension, Synonyms, Antonyms, One Word Substitution and knowledge of English Grammar. Try a few questions to explore.

Attempt for Free

हम उम्मीद करते हैं कि इस लेख ने आपको SBI PO मुख्य परीक्षा के वर्णात्मक पेपर के लिए महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान की होगी।

Banking Exam Papers Mock Test Series in Hindi

कंप्यूटर ज्ञान ऑनलाइन मॉक टेस्ट सीरीज 2017

इस ऑनलाइन मॉक टेस्ट द्वारा आप IBPS, SBI, SSC, RBI, LIC तथा अन्य परीक्षाओं जिसमें कंप्यूटर एक भाग के रूप में हो, की अपनी तैयारी की जांच कर सकते हैं। इस मॉक टेस्ट में भाग लेने से आपके कंप्यूटर ज्ञान में वृद्धि होगी जिससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा और आपकी उम्मीदवारी सुनिश्चित हो जाएगी।

कुछ प्रश्नों का प्रयास करने के लिए यहां क्लिक करें

SBI PO Prelims Mock Test Series Hindi

SBI क्लर्क प्रीलिम्स मॉक टेस्ट सीरीज 2017 (हिंदी माध्यम)

यह मॉक टेस्ट विशेष रूप से SBI क्लर्क प्रीलिम्स परीक्षा की तैयारी को जांचने के लिए बनाया गया है। मॉक टेस्ट बैंकिंग सेक्टर की तैयारी में अग्रणी संस्थान के विशेषज्ञों द्वारा तैयार किया गया है। इस मॉक टेस्ट में प्रतिभाग करते समय अभ्यर्थी वास्तविक परीक्षा सा महसूस करेंगे और वास्तविक परीक्षा के लिए समय नियोजन भी सिख पाएंगे।

कुछ प्रश्नों का प्रयास करने के लिए यहां क्लिक करें

SBI PO भर्ती 2017 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। सरकारी परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ सरकारी परीक्षा तैयारी ऐप  एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.