SSC परीक्षा फ्री मॉक टेस्ट : अभी शुरू करें अभ्यास और सफलता की तरफ बढ़ाएं कदम

SSC परीक्षा फ्री मॉक टेस्ट : अभी करें अभ्यास –पिछले कुछ वर्षों से कर्मचारी चयन आयोग (SSC) , भारत में सर्वाधिक रोजगार देने वाली सरकारी संस्था बनी हुई है। अनुमानतः SSC के द्वारा लगभग 1 लाख लोगों को प्रतिवर्ष रोजगार मिलता है। जिस हिसाब से इसमें रिक्तियाँ निकलती हैं उसी अनुपात में अभ्यर्थियों की बड़ी तादात भी रहती है। इस भीड़ से निकलकर सफल होने के लिए आपको कड़ी मेहनत और सही मार्गदर्शन की आवश्यकता होती है।

आप कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) की तैयारी करने वाले छात्र लगातार घंटों पढ़ते हैं लेकिन फिर भी SSC परीक्षा में सफलता नहीं मिलने का कारण कई बार समय प्रबंधन सही न होना रहता है। यदि आप इन कुछ खास टिप्स को अपनाएं तो आने वाली परीक्षा को आसानी से पास कर सकते हैं।

 

SSC परीक्षा फ्री मॉक टेस्ट

SSC (कर्मचारी चयन आयोग) परीक्षा के प्रथम चरण में सभी खंडों के मुख्य टॉपिक्स की तैयारी, पेपर सॉल्व करने की तेज स्पीड, टाइम मैनेजमेंट और आत्मविश्वास ऐसे हथियार हैं जो आपको यह परीक्षा अच्छे अंकों के साथ पार करा सकते हैं। यह परीक्षा एक से अधिक पारी में आयोजित की जाती है क्योंकि इसमें बड़ी संख्या में छात्र हिस्सा लेते हैं।

सरकारी नौकरी का क्रेज भारत में शुरुआत से ही रहा है। आर्थिक उदारीकरण के बाद निजी क्षेत्रों में युवाओं के पास सरकारी नौकरी की अपेक्षा बेहतर अवसर मिलने के कारण कुछ वर्षों के लिए युवाओं का मोह सरकारी नौकरी की तरफ से हट गया था। लेकिन आर्थिक मंदी की मार और उसके प्रभाव ने सरकारी नौकरी को फिर से हॉट बना दिया है। रही सही कसर छठे वेतन आयोग की सिफारिशों  ने कर दी। अब सरकारी क्षेत्रों में भी सैलरी काफी मिल रही है। यदि आप भी सरकारी नौकरी करना चाहते हैं, तो आपके पास विकल्पों की कमी नहीं है। एसएससी के तहत तमाम पदों के लिए रिक्तियां निकाली जाती हैं जिनमें से प्रमुख रिक्तियां जो प्रतिवर्ष निकलती हैं का नीचे वर्णन किया गया है।

योग्यता और उम्र सीमा
SSC के तहत यदि स्टूडेंट्स किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड या संस्थान से किसी भी विषय में दसवीं से लेकर स्नातक या स्नाकोत्तर पास है तो वह SSC के तहत निकलने वाली गैर तकनीकी और तकनीकी परीक्षाओं में आवेदन कर सकता है। SSC के तहत पदों के लिए आवेदन करने की उम्र सीमा मुख्यतः न्यूनतम 18 और अधिकतम 30 वर्ष तक निर्धारित है। आरक्षण के दायरे में आनेवाले उम्मीदवारों को सरकारी नियमानुसार अधिकतम उम्र सीमा में छूट का प्रावधान होगा।

किस तरह की होगी परीक्षा
ऑब्जेक्टिव अधिकांश परीक्षाओं में बहुविकल्पी परीक्षा जिसमें सामान्यतः रीजनिंग, अंग्रेजी भाषा, सामान्य ज्ञान और क्वांटिटेटिव ऐप्टिटूड (मात्रात्मक योग्यता) से संबंधित प्रश्न होंगे। कुछ परीक्षाओं में लिखित परीक्षा में सफल होने के पश्चात उम्मीदवारों स्किल टेस्ट जिसके तहत डाटा एंट्री ऑपरेटर के लिए कम्प्यूटर टेस्ट और एलडीसी के लिए टाइपिंग टेस्ट होंगे, स्टेनोग्राफर के लिए शॉर्टहैंड, टाइपिंग टेस्ट से गुजरना पड़ता है। काफी परीक्षाओं में उम्मीदवारों को साक्षात्कार परीक्षा से भी गुजरना पड़ता है। सभी परीक्षाओं में सफलता प्राप्त करने के पश्चात उम्मीदवारों का नतिम चयन किया जाता है।

सिलेबस स्कैन
रीजनिंग के अंतर्गत रिलेशनशिप कांसेप्ट, समानता और अंतर, समस्या का समाधान, मूल्यांकन, निर्णय क्षमता, चित्रों का वर्गीकरण जैसे वर्बल और कोडिंग और डिकोडिंग, वाक्य निष्कर्ष इत्यादि जैसे नन-वर्बल तरह के प्रश्न पूछे जाएंगे। सामान्य ज्ञान में करेंट इंवेट के साथ भारत तथा इसके पड़ोसी देशों के खेल, इतिहास, संस्कृति, भूगोल, राजनीति, साइंटिफिक रिसर्च, भारतीय संविधान इत्यादि से संबंधित ज्ञान का परीक्षण किया जाएगा। अंग्रेजी भाषा के अंतर्गत शब्दकोष, व्याकरण, वाक्य निर्माण, पर्यायवाची और विलोम शब्द के अतिरिक्त रीडिंग कॉम्प्रिहेंशन से संबंधित प्रश्न होते हैं।

टाइम मैनेजमेंट से बनेगी बात 
ऑब्जेक्टिव टाइप के प्रश्नों में टाइम मैनेजमेंट अहम होता है। यह एक दिन में संभव नहीं है। यह तभी संभव है, जब आप इसका अभ्यास करते हैं। आपके लिए बेहतर होगा कि निर्धारित समय-सीमा के अंदर प्रश्नों को हल करने का अभ्यास करें। इससे परीक्षा हॉल में किसी तरह की परेशानी नहीं होगी। बेहतर स्ट्रेटेजी यह है कि आप सबसे पहले उन्हीं प्रश्नों को हल करें, जिन्हें अच्छी तरह से जानते हैं। अक्सर देखा जाता है कि स्टूडेंट्स किसी एक प्रश्नों में उलझ जाते हैं। इससे वे बहुमूल्य समय जाया कर देते हैं। परिणामस्वरूप आगे के प्रश्नों को हल करने के क्रम में काफी दबाव में आ जाते हैं और समय के अभाव में प्रश्न जानते हुए भी सॉल्व नहीं कर पाते हैं। इससे बचने के लिए जरूरी है कि आप पहले ही इसके लिए तैयार रहें।

अलग रणनीति जरूरी
किसी भी परीक्षा में आप तभी सफलता प्राप्त कर सकते हैं, जब एक सफल रणनीति बनाते हैं और तैयारी के दौरान उस पर अमल करते हैं। जनरल इंटेलिजेंस एवं न्यूमरिकल एप्टीट्यूड में अंग्रेजी और जनरल अवेयरनेस की अपेक्षा अधिक समय लगते हैं। इस कारण आप कोशिश यह करें कि अंग्रेजी और जनरल अवेयरनेस में कम समय दें और शेष बचे हुए समय का समायोजन अन्य पेपर की तैयारी में करेें, तो आप निर्धारित समय सीमा के अंदर प्रश्नों को हल करने में सफल हो सकते हैं।

रेगुलर पढ़ें करेंट अफेयर्स
अक्सर देखा जाता है कि स्टूडेंट्स करेंट अफेयर्स की तैयारी परीक्षा के कुछ दिनों पहले करते हैं। इस तरह की रणनीति घातक होती है। सफल होने के लिए जरूरी है कि आप सिर्फ एक घंटा करेंट अफेयर्स को रेगुलर दें, तो रोज आप नित्य नवीन घटनाओं या खेलों से अवगत होते रहेंगे और इस क्षेत्र की मुकम्मल तैयारी भी हो जाएगी। आप स्तरीय पत्र-पत्रिकाओं की सहायता से राष्ट्रीय, अंतरराष्ट्रीय, आर्थिक, खेल गतिविधियों एवं पुरस्कार, चर्चित व्यक्ति, स्थल, महत्वपूर्ण तिथियों आदि का नियमित अध्ययन करें।

इसके अलावा, यूनिक गाइड, एनसीईआरटी की पुस्तकों से भारतीय इतिहास, संस्कृति, राज व्यवस्था, भूगोल, अर्थव्यवस्था आदि की जानकारी बढ़ाएं। तर्क शक्ति पर आधारित अभ्यास प्रश्न पत्रों का ज्यादा से ज्यादा हल करने का अभ्यास करें। अभ्यास से प्रश्नों को हल करते समय शॉर्टकट टेक्निक का पता चलता है, जिससे प्रश्नों को तीव्र गति से हल करने की क्षमता में वृद्धि होगा। रीजनिंग की तैयारी के लिए बाजार में संबंधित पुस्तक भी उपलब्ध हैं। आप इनकी सहायता से बेहतर तैयारी कर सकते हैं। अर्थमेटिक की तैयारी के क्रम में दसवीं स्तर की पुस्तक (जैसे आरएस अग्रवाल) की सहायता से विभिन्न टाइप के सवालों को समझें। उन्हें तेजी व शुद्धता के साथ हल करने की तकनीक विकसित करें। आमतौर पर मैट्रिक स्तर के अंकगणित को इसके अंतर्गत पूछा जाता है। इसलिए नियमित तौर पर अंकगणित के प्रश्नों को हल करने का प्रयास करें। इस परीक्षा में निगेटिव मार्किंग भी है।


स्किल टेस्ट

स्किल टेस्ट क्वालीफाइंग नेचर का होगा। इसमें निर्धारित समय-सीमा के अंदर स्टेनोग्राफी स्पीड या कंप्यूटर पर टाइपिंग स्पीड या दोनों को परखा जाएगा। स्पीड बढ़ाने के लिए नियमित अभ्यास करें। संभव हो, तो परीक्षा देने के बाद अधिक से अधिक समय दें। यदि इस तरह की रणनीति अपनाते हैं, तो आप इस परीक्षा में भी बेहतर प्रदर्शन कर पाएंगे।

एसएससी (SSC) परीक्षा में क्या होता है

एसएससी (SSC) एक सिलेक्शन बोर्ड है और हर वर्ष अपनी विभिन्न प्रतियोगी परीक्षा जैसे CGL, CHSL, Steno, JE, CPO, JHT, GD Constable आदि संचालित करता हैं जिसके माध्यम से छात्र अपनी योग्यता अनुसार अपना एग्जाम देकर भारत सरकार के विभिन्न विभागों में नौकरी कर सकता हैं।

SSC CGL परीक्षा : SSC CGL परीक्षा यानि कम्बाइंड ग्रेजुएट लेवेल एग्जामनेशन जो किसी भी वर्ग से स्नातक डिग्री के बाद दी जा सकती हैं। इस परिक्षा को पास करने के बाद आप कुछ इस तरह के पदों पर कार्य कर सकते हैं जैसे खाद्य अधिकारी, आयकर अधिकारी, ऑडिटर आदि। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में तर्कशक्ति परिक्षण, सामान्य ज्ञान, गणितीय अभियोग्यता और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न चार खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 27/30 वर्ष होनी चाहिए। कुछ पदों के लिए कंप्यूटर टाइपिंग का ज्ञान होना आवश्यक है।

SSC CHSL परीक्षाSSC CHSL परीक्षा (कम्बाइंड हायर सेकेंडरी लेवेल एग्जामनेशन) यह परिक्षा उन छात्रों के लिए संचालित की जाती हैं जो 12वी के बाद नौकरी करना चाहते हैं। इस एग्जाम को देने के बाद आप एलडीसी, क्लर्क इस तरह के पद पर कार्य कर सकते हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में तर्कशक्ति परिक्षण, सामान्य ज्ञान, गणितीय अभियोग्यता और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न चार खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 27 वर्ष होनी चाहिए। पदों के लिए कंप्यूटर टाइपिंग का ज्ञान होना आवश्यक है।

SSC MTS परीक्षाSSC MTS परीक्षा (मल्टी टास्किंग स्टाफ एग्जामनेशन) यह परिक्षा उन छात्रों के लिए संचालित की जाती हैं जो 10वी के बाद नौकरी करना चाहते हैं इस एग्जाम को देने के बाद आप एलडीसी, क्लर्क इस तरह के पद पर कार्य कर सकते हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में तर्कशक्ति परिक्षण, सामान्य ज्ञान, गणितीय अभियोग्यता और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न चार खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए।

SSC स्टेनोग्राफर परीक्षास्टेनोग्राफी आशुलिपि (ग्रेड सी व डी) में कैरियर बनाने वाले छात्र यह परिक्षा दे सकते हैं। यह परिक्षा उन छात्रों के लिए संचालित की जाती हैं जो 12वी के बाद नौकरी करना चाहते हैं इस एग्जाम को देने के बाद स्टेनो के पद पर कार्य कर सकते हैं। इसके लिए आपको (आशुलिपिक) के साथ-साथ कंप्यूटर टाइपिंग का भी ज्ञान होना चाहिए। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में तर्कशक्ति परिक्षण, सामान्य ज्ञान, और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न तीन  खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 27 वर्ष होनी चाहिए।

SSC JE परीक्षा : SSC JE परीक्षा यानी SSC जूनियर इंजिनियर परीक्षा। यह परीक्षा के तहत उम्मीदवारों को चयन के पश्चात भारत सरकार के विभिन्न विभागों में जूनियर इंजिनियर की पोस्ट पर काम करने का मौका मिलता है। इस पोस्ट के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता इंजीनियरिंग में डिप्लोमा होता हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में तर्कशक्ति परिक्षण, सामान्य ज्ञान, जनरल इंजीनियरिंग  के प्रश्न तीन खंडों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 27/30/32 वर्ष होनी चाहिए।

SSC CPO परीक्षाSSC CPO परीक्षा (SSC सेंट्रल पुलिस फोर्स) के नाम से ही समझ में आता है की केंद्र सरकार के पुलिस बल में इंस्पेक्टर, सब इंस्पेक्टर आदि के लिए यह एग्जाम क्लियर करना होती हैं। इस पोस्ट के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता स्नातक होता हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में सामान्यतः सामान्य अभियोग्यता, सामान्य ज्ञान, गणितीय अभियोग्यता और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न चार खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त SSC विभिन्न राज्य स्तरीय पुलिस परीक्षाओं का भी आयोजन करती है।

SSC GD कांस्टेबल परीक्षा SSC GD कांस्टेबल परीक्षा तहत केंद्र बलों में कांस्टेबल की नियुक्ति की जाती है। इस पोस्ट के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता 10+2 होता हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में सामान्यतः सामान्य अभियोग्यता, सामान्य ज्ञान, गणितीय अभियोग्यता और अंग्रेजी भाषा के प्रश्न चार खण्डों में पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 25 वर्ष होनी चाहिए। इसके अतिरिक्त SSC विभिन्न राज्य स्तरीय पुलिस परीक्षाओं का भी आयोजन करती है।

SSC JHT परीक्षा : SSC JHT परीक्षा अथार्त जुनियर हिंदी ट्रांसलेशन इस परीक्षा को पास करने के बाद आप हिन्दी अनुवादक के पद पर कार्य करने का मौका पा सकते हैं इसके लिए आपकी हिन्दी और इंग्लिश दोनों पर मजबूत पकड़ होना अनिवार्य हैं। इस पोस्ट के लिए न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता स्नातक/स्नाकोत्तर होता हैं। प्रथम चरण में आयोजित की जाने वाली सभी परीक्षा में हिंदी और अंग्रेजी भाषा से प्रश्न पूछे जाते हैं। इसके अलावा इस परीक्षा में भाग लेने के लिए उम्मीदवार की आयु कम से कम 18 वर्ष और अधिकतम आयु 30 वर्ष होनी चाहिए।

TyariPLUS जॉइन करें !
अपनी आगामी सभी SSC परीक्षाओं की तैयारी के लिए अब सिर्फ TyariPLUS की सदस्यता लें और वर्ष भर अपनी तैयारी जारी रखें-
TyariPLUS सदस्यता के फायदे

  • विस्तृत और मासिक परफॉरमेंस रिपोर्ट
  • 1500+ मॉक टेस्ट से करें प्रैक्टिस
  • टॉपिकवाइज टेस्ट से बढ़ाएं टॉपिक विशेष की समझ
  • विशेषज्ञों द्वारा नि: शुल्क परामर्श
  • मुफ्त मासिक करेंट अफेयर डाइजेस्ट
  • विज्ञापन-मुक्त अनुभव और भी बहुत कुछ

परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवार अपनी परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें और मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी को जांचते रहें। अनलिमिटेड मॉक टेस्ट से अभ्यास करने के लिए अभी TyariPLUS जॉइन करें।
TyariPLUS

अगर आप को यह लेख पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करें और कमेंट करना न भूलें। 

SSC परीक्षा 2018 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। SSC परीक्षाओं में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ SSC भर्ती परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

1 REPLY

  1. Raj devda

    Sir,
    Mujhe JE ki tyari krni he
    Mene Diploma engineeing se kr rkha he
    To ssc me coullifide kitne mark se hota he.
    Kitni exam hoti he
    Kya isme computer typing bhi mangte he
    Plz sir
    I need help u

    I

    Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.