बैंक परीक्षा में उम्मीदवार असफल क्यों होते हैं ?

0
4257
बैंक परीक्षा में उम्मीदवार असफल क्यों होते हैं

बैंक परीक्षा में उम्मीदवार असफल क्यों होते हैं – बैंकिंग सेक्टर फिलहाल सरकारी और प्राइवेट जॉब देने में आगे है। बैंकिंग सेक्टर में बड़े स्तर पर युवाओं को नौकरी प्रदान कर रहा है। बैंक में नौकरी पाने के लिए आईबीपीएस (IBPS), आरबीआई (RBI) और एसबीआई (SBI) की परीक्षाएं ज्यादा लोकप्रिय हैं। बैंक में ज्यादातर भर्तियां अभी आईबीपीएस (IBPS) कराता है।

लाखों छात्रों द्वारा प्रति वर्ष बैंकिंग क्षेत्र को अपने करियर विकल्प के रूप में चुना जाता है। कुछेक उम्मीदवार पहले-दूसरे प्रयास में सफलता प्राप्त कर लेते हैं। जबकि कुछ उम्मीदवार कई प्रयास के पश्चात भी सफल नहीं हो पाते। आज हम सफलता और असफलता के बीच के फासले को जानेंगे।

 

बैंक परीक्षा में उम्मीदवार असफल क्यों होते हैं ?

हालांकि सफलता और असफलता के मध्य ज्यादा फासला नहीं होता और उम्मीदवारों को इस फासले को जानना चाहिए। अगर उम्मीदवारों ने इसे जान लिया तो वह निश्चित रूप से परीक्षा में सफलता प्राप्त कर लेंगे।

कड़ी प्रतिस्पर्धा 

बैंकिंग क्षेत्र तेजी से विकसित होने वाला क्षेत्र हैं। जैसे-जैसे देश की विकास दर बढ़ेगी और बैंकिंग क्षेत्र का महत्त्व भी बढ़ेगा।बैंकिंग क्षेत्र के बढ़ते महत्त्व और संभावनाओं को देखते हुए इस परीक्षा के लिए प्रतिस्पर्धा भी बढ़ती जाएगी। इस बात का अनुमान आप इस बात से लगा सकते हैं कि गत वर्ष बैंकिंग परीक्षा के लिए 30 लाख से अधिक लोग ने आवेदन किया था। इस प्रतिस्पर्धा को नेगेटिव मार्किंग और भी चुनौतीपूर्ण बना देती है। इसीलिए इस परीक्षा को हल्के में लेकर तैयारी करने वालों को इसका खामियाजा भुगतना पड़ता है। और वह अपने सपने को सच करने से वंचित रह जाते हैं।

कड़ी प्रतिस्पर्धा से कैसे बचे-
i) वास्तविक परीक्षा में बैठने से पहले ऑल इंडिया टेस्ट जैसे प्रतिस्पर्धी अभ्यास परीक्षाओं में अवश्य सम्मिलित हों और अपनी ऑल इंडिया रैंक प्राप्त करें और प्रतियोगिता के कठिनाई स्तर और प्रतिस्पर्धा से रूबरू हों।
ii) ऑल इंडिया परीक्षा के माध्यम से अपनी रैंकिंग जानें और विश्लेषण के तहत सुझाएँ गए सुझावों पर अमल करें। अनुभागवारिय पकड़ को मजबूत करने के लिए अनुभागवार मॉक टेस्ट में सम्मिलित हों। अनुभागवारिय मॉक टेस्ट से प्रश्नों को हल करने की अपनी स्पीड बढायें।
iii) अधिक-से-अधिक प्रश्न बैंकों के साथ अभ्यास करें। इससे आपको प्रश्नों की पहचान होगी और उसे कैसे हल करना है , इसकी भी समझ विकसित होगी। जो प्रश्नों को सटीकता और गति से हल करने में आपकी मदद करेंगे।

परीक्षा की बुनियादी समझ का अभाव

बैंकिंग क्षेत्र की परीक्षा अन्य एकदिवसीय परीक्षाओं से अलग हैं, यह सभी छात्रों को समझना होगा। प्रत्येक परीक्षा कुछ बुनियादी अवधारणाओं को समझने की मांग करती है। जैसे उसमें कैसे प्रश्न पूछे जाएंगे? प्रश्नों का कठिनाई स्तर क्या होगा? प्रति प्रश्न कितना समय मिलेगा और सेक्शनल कटऑफ होगा या नहीं? परीक्षा पैटर्न में हुए प्रत्येक बदलाव की जानकारी न  होने से और जॉब प्रोफाइल की समझ न होने से उम्मीदवारों को साक्षात्कार में प्रश्नों के उत्तर देने में भी कठिनाई होती है।

परीक्षा की बुनियादी समझ कैसे विकसित करें
i) आधिकारिक अधिसूचना को ध्यान से पढ़ें और परीक्षा के लिए जारी पाठ्यक्रम को नोट कर लें या प्रिंटआउट ले लें। फिर उसके अनुसार अपनी तैयारी शुरू करें। परीक्षा में क्या पूछा जाना है किन टॉपिक में आप सहज हैं और किन टॉपिक में आप असहज हैं उसे देखें और अपनी तैयारी शुरू करें। पहले सरल प्रश्न लगाएं और फिर कठिन प्रश्नों की तरफ बढ़ें। जिससे आपमें प्रश्न की बुनियादी समझ विकसित हो सकें।
ii) नि: शुल्क मॉक टेस्ट (ऑनलाइन और ऑफलाइन) दोनों में सम्मिलित हों जिससे आप दोनों विधि से अपनी स्पीड जांच सकें। बेसिक जानकारी के बाद सेट प्रैक्टिस तैयारी के लिहाज से परीक्षा में काफी मददगार साबित हो सकता है।
iii)ऑनलाइन क्विज़ और प्रतियोगिता का उपयोग अपनी बैंकिंग जागरूकता को जानने के लिए करें। इससे आप यह चेक कर सकें कि आपने जो पढ़ा है क्या आप उससे सम्बंधित प्रश्न हल कर पा रहे हैं या नहीं।

परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम

अधिकांश छात्र कई परीक्षाओं की तैयारी एक साथ करते हैं और वह सब परीक्षाओं के लिए एक ही तैयारी को फॉलो करते हैं। वह परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम को भी नहीं देखते और समझते हैं की तैयारी तो पूरी हो रखी है पर जब परीक्षा में बैठेते हैं तो वह कम प्रश्नों के उत्तर दे पाते हैं और तैयारी करके भी असफल रह जाते हैं।

  • इस प्रकार की तैयारी से बचे और सर्वप्रथम आप अपनी तैयारी प्राथमिकता तय कर लें। किसी एक परीक्षा पर फोकस कर उसके परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम के अनुसार तैयारी शुरू करें।
  • परीक्षा पाठ्यक्रम के अनुसार प्रत्येक टॉपिक को एक-एक करके ख़त्म करें और जब तक उस टॉपिक को ख़त्म न कर लें तब तक दूसरे टॉपिक पर न बढ़ें। प्रत्येक टॉपिक को कितने समय में ख़त्म करना है इसका भी समय निश्चित कर लें।
  • प्रत्येक टॉपिक को ख़त्म कर उस टॉपिक पर आधारित परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों या मॉक टेस्ट अवश्य हल करें। यदि आप इसे तयशुदा समय पर ख़त्म कर पा रहे हैं या नहीं।
  • अभ्यर्थियों के पास हो तैयारी का प्रारूप और पता हो उसे पूरा करने का फार्मूला तो न केवल मेहनत आधी हो सकती है, बल्कि सफलता काफी हद तक सुनिश्चित की जा सकती है। लाखों उम्मीदवारों में सफलता वही पाते हैं जो रणनीति बनाकर तैयारी शुरू करते हैं।

शॉर्टकट्स तकनीक का उपयोग 

परीक्षा में बेहद ज़रूरी है की उम्मीदवार शॉर्ट कट्स विधि का प्रयोग कर परीक्षा को हल करें। जो उम्मीदवार इस विधि से प्रश्न हल करना नहीं सिख पाते वें परीक्षा में अन्य उम्मीदवारों के मुकाबले नियत परीक्षा समय में कम प्रश्न हल कर पाते हैं। इसके कारण वह अपना स्थान मेरिट लिस्ट में बनाने में असफल रह जाते हैं।

  • प्रत्येक टॉपिक को हल करने की बुनियादी समझ विकसित कर लेने के बाद उम्मीदवारों को टॉपिक से सम्बंधित प्रश्नों को शॉर्ट कट्स विधि से हल करने की विधि से परिचिय प्राप्त करना चाहिए और सबसे सरल विधि का पालन करना चाहिए। पर उम्मीदवारों को उस विधि से कौन से प्रश्न नहीं हल होंगे उसे भी अवश्य जानना चाहिए।
  •  सवाल को देखकर यह परखना सीखें कि इसमें कितना समय लगने वाला है। और इसे किस शॉर्ट कट्स विधि से हल करने पर सबसे कम समय लगेगा और उसका उत्तर प्राप्त हो जाएगा।
  • सेट की प्रैक्टिस में ज्यादा-से-ज्यादा शॉर्ट कट्स, ट्रिक्स का इस्तेमाल करें और उन्हें याद भी रखें।

ऑनलाइन परीक्षा 

बहुत से उम्मीदवार कंप्यूटर पर परीक्षा देने में सहज नहीं होते और घबराए हुए होते हैं जिसका असर उनकी परीक्षा पर  पड़ता है। उनका हाथ कंप्यूटर से परीक्षा देने के लिए सेट नहीं होता।

  • इसके लिए उम्मीदवार OnlineTyari द्वारा आयोजित होने वाले फ्री ऑल इंडिया टेस्ट और ऑनलाइन मॉक टेस्ट में सम्मिलित हों। इससे आप कंप्यूटर पर अपने हाथों को सेट करना सीख जाएंगे और अपनी स्पीड भी बरकरार रख पाएंगे सीखें, ताकि आपकी स्पीड अच्छी हो जाए।
  • बैंकिंग परीक्षाओं के टेस्ट ऑनलाइन देने पर छात्रों में विश्वास भी जगता है कि आप इसे क्वॉलिफाई कर सकते हैं।

सफल तैयारी रणनीति के लिए निम्न मंत्र को याद रखें:

बुनियादी समझ विकसित करें > प्रतिदिन अभ्यास करें > हर तीसरे दिन इसे दोहराएं > सम्बंधित 1 माॅक टेस्ट/सप्ताह दें > विश्लेषण पर आत्ममंथन करें > अपने कमजोर पक्ष को सुधारें > क्रम फिर से दोहराएँ !

SBI Clerk Prelims 2018 (हिंदी माध्यम)

OnlineTyari ने SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018 की तैयारी कर रहे छात्रों की तैयारी में सहायता करने और उनकी तैयारी के स्तर को जांचने के लिए SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा से संबंधित इस रेगुलर पैकेज का संकलन किया है। यह पैकेज विषय के अनुभवी विशेषज्ञों द्वारा परीक्षा के पाठ्यक्रम और परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाई स्तर के अनुरूप निर्मित किया गया। इस संपूर्ण पैकेज में 26 टेस्ट हैं। अनुभवी टीम द्वारा तैयार यह मॉक सीरीज SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी कर रहे हर उम्मीदवारों के लिए बहुत उपयोगी है।

अभ्यास करने के लिए यहाँ क्लिक करें !

प्रश्नों को हल करने की स्पीड

सवाल को देखकर यह परखना सीखें कि इसमें कितना समय लगने वाला है. ऐसा करने से आपको एग्जाम के समय सवालों को हल करने में परेशानी नहीं होगी।

  • बैंकिंग की परीक्षा के लिए सबसे अधिक जरूरी है कि आपकी स्पीड तेज हो। इसके लिए जरूरी है कि आप अगर सेट प्रैक्टिस में 2 घंटे लगाते हैं तो सॉल्यूशन देखने में 4 घंटे लगाएं ताकि अपनी कमियों को दूर करें।
  • ज्यादातर एक्सपर्ट्स कहते हैं कि पुराने पेपर को हल करने से बेहतर कोई दूसरा विकल्प नहीं हो सकता। स्टूडेंट्स के लिए यह जरूरी है कि वह सेट प्रैक्टिस करें। खासकर पिछले सालों में पूछे हुए प्रश्नों को जरूर बनाएं पर इसके लिए जरूरी है कि आपका कॉन्सेप्ट जरूर क्लियर हो।
  • बैंकिंग की तैयारी के लिए कोचिंग भी कर सकते हैं। पर इसके लिए यह जरूरी है कि आपकी खुद की तैयारी अच्छी हो ताकि जब कोचिंग में जाएं तो फायदा हो। अपनी तैयारी नहीं होने से कोचिंग में आप कई बातों को समझ नहीं पाएंगे और कोचिंग की गति से चल नहीं पाएंगे। वैसे यह ध्यान रहे कि कई बच्चे बगैर कोचिंग के भी पास होते हैं।

समय प्रबंधन 

वह बच्चे तो परीक्षा में समय प्रबंधन नहीं कर पाते वह परीक्षा में अच्छा स्कोर करने से चूक जाते हैं। किसी भी परीक्षा की तरह बैंकिंग परीक्षा में भी समय प्रबंधन महत्त्वपूर्ण भूमिका निभाता है। अगर आप सेक्शनल और सम्पूर्ण परीक्षा का समय प्रबंधन नहीं कर सकें या किसी एक सेक्शन में अधिक समय देने के कारण दूसरे सेक्शन में कम प्रश्न हल कर सकें तो यह आपकी असफलता का कारण बन सकता है।

  • एक्सपर्ट्स कहते हैं कि परीक्षा कक्ष में पहले उस सेक्शन को बनाएं जिसमें कम वक्त लगता हो और गलती होने की गुंजाइश कम-से-कम रहती है।
  • आपके लिए सवाल सॉल्व करना जितना अहम है, उतना ही जरूरी टाइम टेकिंग सावलों को छोडऩा। तभी आप कम समय में अधिक सवाल हल कर पाएंगे।
  • समय प्रबंधन के लिए अभ्यास बहुत आवश्यक है। यदि आपने मॉडल प्रश्न पत्र से परीक्षा के लिए अभ्यास किया है और आपने उसे निर्धारित समय में समाप्त किया है तो यह समय प्रबंधन को जानने का सही तरीका है। यदि आप निर्धारित ससमय में परीक्षा को ख़त्म नाही कर पाएं तो आपको और अभ्यास और शॉर्ट कट्स विधि से प्रश्न हल करने की जरुरत हैं।

अन्य महत्त्वपूर्ण बातें-

गणित और रीजनिंग को पढ़ना

काफी छात्र गणित और रीजनिंग को पढ़कर समझने की कोशिश करते हैं पर उसका अभ्यास/प्रश्न हल कर नहीं देखते। ऐसा करने पर परीक्षा में सम्बंधित प्रश्न पूछे जाने पर अधिकाँश सम्भावना बनती है कि आप प्रश्न को हल न कर पाएं। अतः छात्र गणित और रीजनिंग के प्रश्नों का अभ्यास करें, न की उन्हें पढ़कर समझें।

बैंकिंग सचेतता और अंग्रेजी पर प्रतिदिन ध्यान न देना

बैंकिंग सचेतता और अंग्रेजी एक महीने में आप पढ़ कर उतना नहीं तैयार कर सकते जितना एक सजग छात्र प्रतिदिन की तैयारी द्वारा नोट्स बना कर सकता है। अंत समय में अंग्रेजी और बैंकिंग सचेतता की तैयारी करते समय छात्र सिर्फ तथ्यों को रटते हैं जो एक स्थाई प्रक्रिया नहीं है। अतः परीक्षा कक्ष में वह प्रश्न के उत्तर देते समय कंफ्यूज हो जाते हैं और गलत उत्तर दे देते हैं।
इससे बचने के लिए सभी छात्रों को प्रतिदिन अंग्रेजी और बैंकिंग सम्बंधित तथ्यों को देखना चाहिए और उसे समझने की कोशिश करते हुए याद करना चाहिए। अंग्रेजी में छात्रों को अपनी शब्दावली और व्याकरण अधिक जोर देना चाहिए। बीच-बीच में इसे दोहराते और सम्बंधित मॉक टेस्ट भी देते रहना चाहिए।

परीक्षा में छात्रों को पहले कंप्यूटर, इसके बाद ही इंग्लिश, मैथ्स, रीजनिंग आदि को हल करना चाहिए। और छात्रों का प्रयास कम से कम 90% एक्यूरेसी से प्रश्नों को हल करने का होना चाहिए।

SBI Clerk Prelims 2018 : Free package

SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018: फ्री पैक (हिंदी माध्यम)

OnlineTyari ने SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018 की तैयारी कर रहे छात्रों की तैयारी में सहायता करने और उनकी तैयारी के स्तर को जांचने के लिए SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा से संबंधित इस फ्री पैकेज का संकलन किया है। यह पैकेज विषय के अनुभवी विशेषज्ञों द्वारा परीक्षा के पाठ्यक्रम और परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाई स्तर के अनुरूप निर्मित किया गया। इस संपूर्ण पैकेज में 4 टेस्ट हैं। अनुभवी टीम द्वारा तैयार यह मॉक सीरीज SBI क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा की तैयारी कर रहे हर उम्मीदवारों के लिए बहुत उपयोगी है।

अभ्यास करने के लिए यहाँ क्लिक करें !

बैंकिंग भर्ती परीक्षा 2018 के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। बैंकिंग परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ बैंकिंग परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

NO COMMENTS

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.