X

UGC NET परीक्षा 2019: पेपर-I में कैसे पाएं आसानी से सफलता !

UGC NET परीक्षा 2019: पेपर-I में कैसे पाएं आसानी से सफलता – विश्वविद्यालय अनुदान आयोग (UGC) की ओर से केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) द्वारा वर्ष में दो बार राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा (NET) का आयोजन किया जाता है। राष्ट्रीय स्तर के NET क्वॉलीफाई उम्मीदवार भारतीय विश्वविद्यालयों और कॉलेजों में सहायक प्रोफेसर और जूनियर रिसर्च फैलोशिप (जेआरएफ) के लिए योग्य हो जाते हैं।

UGC NET परीक्षा पूरे भारत में कुछ मुख्य शहरों प्रत्येक वर्ष आयोजित की जाती है। इस लेख में, हम UGC NET पेपर-1 की तैयारी कैसे करें के बारे में विस्तार से बताएंगे। आइये पहले, परीक्षा पैटर्न और सिलेबस पर एक नज़र डालते हैं।

UGC NET परीक्षा पैटर्न 2019

इस परीक्षा में दो प्रश्न-पत्रों का आयोजन एक ही दिन में किया जाता है। सभी प्रश्न-पत्र वस्तुनिष्ठ प्रकार के होते हैं। प्रथम प्रश्न-पत्र का पाठ्यक्रम समस्त विद्यार्थियों हेतु एक समान है, जबकि द्वितीय प्रश्न-पत्र विद्यार्थी के स्नातकोत्तर विषय की विषय वस्तु पर आधारित होते हैं-

पेपर/सेशन अंक प्रश्नों की संख्या अवधि
I 100 50 1 घंटा
II 100 100 2 घंटे

    UGC NET पेपर-I के तहत शिक्षण/अनुसंधान योग्यता के सेक्शन को कवर किया जाएगा।

    • UGC NET पेपर-I मुख्यतः शिक्षण एवं शोध अभिवृत्ति पर आधारित है।
    • साथ ही तर्क एवं गणितीय अभिक्षमता, सूचना प्रौद्योगिकी, पर्यावरण तथा अपठित गद्यांश से संबंधित प्रश्नों का समावेश भी इस प्रश्न-पत्र में होता है।
    • इस प्रश्न-पत्र में कुल 50 प्रश्न पूछे जाते हैं। उम्मीदवारों को 50 प्रश्न को 60 मिनट में हल करना होता है।
    • परीक्षा में ऋणात्मक अंकन नहीं किया जाता है।
    • प्रत्येक प्रश्न के लिए 2 अंक निर्धारित हैं और परीक्षा के लिए अधिकतम अंक 100 है।

    इस प्रश्न-पत्र से संबंधित विषयवस्तु की तैयारी निम्न प्रकार से की जा सकती हैः-

    (1) शिक्षण एवं शोध अभिवृत्ति : इस विषय वस्तु से संबंधित अध्ययन हेतु बीए एवं एमएड की पाठ्य पुस्तकें सहायक सिद्ध हो सकती है। शिक्षा मनोविभाग, शैक्षिक शोध एवं शैक्षिक तकनीकी आदि से संबंधित पाठ्य पुस्तकों के अध्ययन से संबंधित विषय वस्तु के अध्ययन कर शिक्षण एवं शोध अभिवृत्ति के प्रश्न को हल किया जा सकता है।

    (2) तार्किक एवं गणितीय अभिक्षमता : नेट परीक्षा में चित्रात्मक एवं कथनात्मक दोनों प्रकार के तार्किक प्रश्नों के साथ सामान्य गणितीय अभिक्षमता एवं ग्रॉफिय निरूपण के प्रश्नों का समावेश होता है। इस हेतु बैंक प्रतियोगी परीक्षाओं की पुस्तकें एवं कक्षा 5-10 तक की गणित विषय की पाठ्य पुस्तकों को प्रयोग में लाया जा सकता है। साथ ही इस विषय वस्तु हेतु प्रतिदिन अभ्यास की भी आवश्यकता होती है तभी विद्यार्थी गति एवं शुद्धता के मापदंडों तक पहुंच कर इन प्रश्नों का हल करने में सक्षम होगा।

    (3) सूचना प्रौद्योगिकी : इस विषय वस्तु से संबंधित प्रश्न मुख्यतः इंटरनेट, सम्प्रेषण एवं ऑपरेटिंग तंत्र पर आधारित होते है। साथ ही कुछ प्रश्न इस क्षेत्र की नवीनतम जानकारी से भी जुड़े होते है। इस हेतु कम्प्यूटर की आधारभूत पुस्तकों का अध्ययन मददगार साबित हो सकता है। इस क्षेत्र की नवीनतम जानकारियों हेतु कम्प्यूटर से संबंधित प्रकाशित पत्रिकाएं, दैनिक समाचार-पत्रों का अध्ययन कर सफलता प्राप्त की जा सकती है।

    (4) पर्यावरण विज्ञान : नेट के प्रथम प्रश्न-पत्र में पर्यावरण विज्ञान से संबंधित प्रश्नों का समावेश भी होता है। जिसमें पर्यावरणीय समस्याओं, सम्मेलनों व नवीनतम जानकारी से जुड़े प्रश्न होते हैं। इस हेतु विभिन्न प्रकाशनों के पर्यावरण विशेषांक, कक्षा 6-10 तक की पर्यावरण से संबंधित पाठ्य पुस्तकों आदि का अध्ययन कर उक्त प्रश्नों को हल किया जा सकता है।

    UGC NET सिलेबस एवं परीक्षा पैटर्न : अभी जानें !

    UGC NET 2019: पेपर-I  तैयारी टिप्स और ट्रिक्स

    हम इस लेख में कुछ महत्वपूर्ण सुझावों को बताएंगे जो UGC NET परीक्षा पेपर-1 में सफलता दिलाने में आपकी मदद करेंगे-

    • कृपया परीक्षा पैटर्न को अच्छी तरह से समझें।
    • ध्यान रहे कि आपको निर्धारित परीक्षा समय में 50 प्रश्नों को हल करना है। उसके लिए समय रणनीति का ध्यान रखें।
    • CBSE UGC NET पेपर-1 सभी छात्रों के लिए एकसमान है, इसलिए प्रतियोगिता का स्तर कठिन होगा।
    • UGC NET 2019 से संबंधित पेपर-1 का परीक्षा सिलेबस नोट करें।
    • सभी टॉपिक को कवर करने के लिए एक रफ योजना बनाएं।
    • अधिकतम लाभ के लिए अध्ययन के एक व्यवस्थित पैटर्न का पालन करें।
    • विभिन्न विषयों सहित एक अध्ययन योजना तैयार करें।
    • संचार विषय के लिए जन संचार की बुनियादी अवधारणाओं का अध्ययन करें।
    • प्रत्येक टॉपिक की तैयारी करें। कम से कम 5 प्रश्न हर विषय से निश्चित रूप से पूछे जाएंगे।
    • शिक्षण और अनुसंधान सेक्शन की गहराई से तैयारी करें क्योंकि यह परीक्षा का बहुत ही महत्वपूर्ण हिस्सा है।
    • कक्षा 10 वीं से बुनियादी गणित अवधारणाओं को दोहराएं, मुख्य रूप से सेट/पैटर्न और सन्निकटन तकनीक पर ध्यान केंद्रित करें।
    • डेटा इंटरप्रिटेशन आम तौर पर आंकड़ों पर आधारित रहेगा और इसकी तैयारी के लिए कक्षा 10 वीं की किताबों से अध्ययन किया जाना बेहतर रहेगा।
    • समाचार लेख पढ़ें और सारांश पढ़ कर उसे समझने का प्रयास करें और उसके प्वाइंट्स बनाने का अभ्यास करें।
    • लोग और पर्यावरण सेक्शन कक्षा 10 वीं की किताबों से तैयार करें।
    • सूचना एवं संचार प्रौद्योगिकी और उच्च शिक्षा प्रणाली के लिए पर्याप्त समय दिया जाना चाहिए क्योंकि दोनों टॉपिक्स के लिए गहराई से अध्ययन की आवश्यकता है।
    • सूचना और संचार प्रौद्योगिकी विषय के अध्ययन के लिए फ्लैश कार्ड और चार्ट का प्रयोग करें। परिभाषाएं, संक्षिप्त और शब्दावली सूचना व संचार प्रौद्योगिकी सेक्शन के लिए बहुत महत्वपूर्ण हैं।
    • उच्च शिक्षा प्रणाली प्रशासन, राजनीति और प्रशासन विषय के अध्ययन के लिए फ़्लोचार्ट्स प्रयोग करें।
    • पिछले 10-15 वर्षों के प्रश्न पत्र को हल करने का प्रयास करें। ऐसा करने से निश्चित रूप से आपको मदद मिलेगी।
    • UGC NET के लिए मॉक टेस्ट का अध्ययन करें। यह UGC NET पेपर-1 की परीक्षा की तैयारी के लिए सबसे महत्वपूर्ण है।
    • आप जितना अभ्यास कर सकते हैं करें। अभ्यास करने से आपको अवधारणाएं समझने में स्पष्टता प्राप्त होगी।
    • आप सभी सवालों को हल करने का प्रयास करें क्योंकि CBSE UGC NET परीक्षा पेपर-I में किसी प्रकार की नेगेटिव मार्किंग का प्रावधान नहीं है
    • महत्वपूर्ण बिंदुओं और उनके उप-अंक, लॉजिक्स, सूत्र, लघु चाल और विषयों के संक्षिप्त विवरण पर प्रकाश डालते हुए नोट्स तैयार करें।
    • अपना आत्मविश्वास बरक़रार रखें। आप परीक्षा में सफलता प्राप्त करेंगे ऐसा विश्वास अपने अंतर में हमेशा बनाएं रखें।
    • UGC NET परीक्षा पेपर 1 के लिए सबसे अच्छा अध्ययन सामग्री का प्रयोग करें।
    • अगर कोई टॉपिक छूट गया हो तो उसके बारे में अत्यधिक न सोचें और हमेशा अपने लक्ष्य की प्राप्ति की दिशा में प्रयासरत रहें।

    हमें पूरी उम्मीद है कि “UGC NET 2019 पेपर-I : तैयारी हेतु टिप्स और ट्रिक्स” पर आधारित हमारा यह लेख आपकी तैयारी करने में आपकी मदद करेगा और निश्चित रूप से आप सफलता पाप्त करने में सक्षम होंगे। अगर आप को यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करें और कमेंट कर हमें अवश्य बताएं।

    अगर आप एक से अधिक प्रतियोगी परीक्षा या अलग-अलग टीचिंग परीक्षा की तैयारी करते कर रहे हैं और आप अलग-अलग परीक्षा के लिए अलग-अलग मॉक टेस्ट खरीद कर अभ्यास करते हैं। तो अब विभिन्न परीक्षाओं के लिए अलग-अलग मॉक टेस्ट क्यों खरीदना? जब मात्र ₹499 में TyariPLUS की सदस्यता पर 12 महिनों के लिए सभी परीक्षाओं के लिए 1500+ मॉक टेस्ट उपलब्ध हैं। अब मॉक टेस्ट के लिए अधिक पैसे अदा करना छोड़िये और सभी परीक्षाओं की तैयारी के लिए TyariPLUS की सदस्यता लीजिये-

    TyariPLUS सदस्यता के फायदे

    • विस्तृत और मासिक परफॉरमेंस रिपोर्ट
    • 12 माह तक सभी प्रतियोगी परीक्षा के मॉक टेस्ट का एक्सेस
    • टॉपिकवाइज टेस्ट से सुधारें बुनियादी ज्ञान
    • विशेषज्ञों द्वारा नि:शुल्क परामर्श
    • मुफ्त मासिक करेंट अफेयर डाइजेस्ट
    • विज्ञापन-मुक्त अनुभव और अन्य लाभ

    CBSE UGC NET परीक्षा के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। शिक्षण परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ शिक्षण परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

    अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

    OnlineTyari Team :
    © 2010-2018 Next Door Learning Solutions