HSSC क्लर्क 2016 के लिए अंतिम मिनट में तैयारी के टिप्स

HSSC क्लर्क अंतिम मिनट में तैयारी टिप्स: हरियाणा सरकार ने हरियाणा कर्मचारी सेवा आयोग यानि HSSC क्लर्क भर्ती परीक्षा के ज़रिए उम्मीदवारों की भर्ती के लिए एक सरकारी अधिसूचना जारी की है। इसमें क्लर्क, उप-मंडल क्लर्क, पटवारी, सब इंस्पेक्टर और इंस्पेक्टर, ग्राम सचिव, मंडी सुपरवाइज़र, अनुरेखक, सहायक राजस्व क्लर्क, ड्राफ़्ट्समैन आदि जैसे पद शामिल हैं। यह परीक्षा जून के अंतिम सप्ताह में निर्धारित की गई है जो कि बहुत ही नज़दीक है और जल्द ही आ रही है।

इसलिए, सभी उम्मीदवार थोड़ा नर्वस होंगे क्योंकि उन्होंने अब तक जो भी पढ़ा है, समय आ गया है कि उसका अंतिम परीक्षण किया जाए जो कि HSSC क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2016 है।

दिमागी तौर पर आपको परीक्षा के लिए तैयार रहना होगा और इसके लिए आपके दिमाग में एक उचित रणनीति का होना बहुत ज़रूरी है ताकि शेष दिनों से आप अधिकतम आउटपुट निकाल सकें। हम यहां तैयारी की कुछ टिप्स और ट्रिक्स पर चर्चा करने जा रहे हैं जो कि आपके प्रदर्शन को बेहतर करने में सहायक होंगी। लेकिन ऐसा करने से पहले, आइये हम HSSC परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालते हैं।

HSSC कलर्क परीक्षा पैटर्न 2016

HSSC क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2016 में लिखित परीक्षा के लिए 3 चरण हैं।

  1. लिखित परीक्षा
  2. साक्षात्कार टेस्ट
  3. दस्तावेज़ सत्यापन / मेडिकल टेस्ट

सबसे पहले तो ये जान लीजिए कि केवल योग्य उम्मीदवार ही लिखित परीक्षा दे सकेंगे। साक्षात्कार देने के लिए, लिखित परीक्षा को पास करना अनिवार्य होगा उसके बाद ही दस्तावेज़ सत्यापन और मेडिकल टेस्ट होगा। हालांकि, लिखित परीक्षा का विवरण नीचे दिया गया है।

सेक्शन का नाम आवंटित अंक
इंग्लिश, गणित, रीज़निंग और विज्ञान 75-80%
सामान्य ज्ञान 20-25%
कुल अंक 200

लिखित परीक्षा प्रकृति में ऑब्जेक्टिव प्रकार की होगी। इंग्लिश सेक्शन को छोड़कर, परीक्षा द्विभाषी होगी। 100 प्रश्नों के आवंटित कुल अंक 200 हैं। ग़लत जवाब के लिए अंकों में कटौती की जाएगी। लिखित परीक्षा के लिए कुल समय सीमा 2 घंटे है।

HSSC क्लर्क अंतिम मिनट तैयारी टिप्स (प्रारंभिक परीक्षा)

अब हम रणनीति पर रौशनी डालेंगे जिसका आप पालन करेंगे ताकि आप HSSC क्लर्क भर्ती परीक्षा में सफल हो सकें। निम्नलिखित बिंदु परीक्षा को पास करने में आपके सहायक होंगे।

1. शांत रहें और व्यवस्थित भी

हम जानते हैं और बहुत अच्छी तरह से समझ सकते हैं कि आपको कितनी चिंता हो रही है क्योंकि परीक्षा की तारीख पास जो आ रही है। लेकिन चिंतित और परेशान होना आपकी मदद नहीं करेगा बल्कि आप पर अधिक दबाव बनाएगा।

हर समय शांत रहने का प्रयास करें। आपको परीक्षा के लिए सकारात्मक सोच रखनी चाहिए। यह आपको वो सब याद रखने में सहायक होगा जिसका अब तक आपने अध्ययन किया है। कुछ विद्यार्थी परीक्षा के डर से दबाव में आ जाते हैं और परीक्षा के समीप आने पर व्याकुल हो जाते हैं। इस तरह का व्यवहार चीज़ें खराब कर देगा क्योंकि आप भ्रमित हो जाएंगे और आपने जिसका अध्ययन किया है उसे याद नहीं रख पाएंगे। इसलिए, सदैव सकारात्मक दृष्टिकोण रखें। एक प्रचलित कहावत है परिश्रम का फल मीठा होता है। इसे सदैव याद रखें और आगे बढ़ते रहें।

साथ ही, स्वस्थ दिनचर्या का पालन करें क्योंकि एक स्वस्थ मन, स्वस्थ शरीर में रहता है। स्वस्थ रहें, अच्छा खाएं और अच्छी नींद लें। यह आपको अच्छे से पढ़ने में सहायक होगा और यदि आप ऐसा करते हैं तो आप निश्चित ही अच्छे अंक हासिल करेंगे।

2. पुनरावृत्ति

यह एक अन्य महत्वपूर्ण कारक है जिस पर आपकी पूरी अध्ययन अवधि और भविष्य के स्कोर निर्भर करते हैं। यदि आप पुनरावृत्ति नहीं करते हैं तो इन महीनों के दौरान जो पढ़ा है उसे याद रखना एक कठिन कार्य बन जाएगा।

  • सभी तथ्यों, आंकड़ों, परिभाषाओं आदि को याद रखें। किसी नए विषय पर रिसर्च करने से अच्छा है कि जो पढ़ा है उसे याद करें। इससे आपका आत्मविश्वास बढ़ेगा।
  • सभी विषयों का सारांश पढ़ें। ऐसा करने से आपको सभी विषयों की बुनियादी बातें जानेंगे और यह भी कि आप क्या जानते हैं और क्या नहीं। ये हमेशा आपके मस्तिष्त में रहेंगी।
  • इतिहास और भूगोल जैसे विषय सैद्धांतिक हैं इसलिए इन्हें नियमित रूप से पढ़ें।
  • आप जो भी पढ़ते हैं उसके नोट्स बनाएं।

आप अंत में उन्हें दोबारा देख सकते हैं। इससे आपको वो सब याद रखने में मदद मिलेगी जो आपने इस दौरान पढ़ा है

3. अभ्यास ही व्यक्ति को परफ़ेक्ट बनाता है।

आप जितना कर सकते हैं उतना अभ्यास करें। रीज़निंग जैसे विषयों पर प्रज्ञता हासिल करने के लिए निरंतर अभ्यास की ज़रूरत होती है।

  • साथ ही, उन सेक्शन का अभ्यास करें जिनमें आप कमज़ोर हैं। अपनी कमज़ोरी को अपनी ताकत में परिवर्तित करने का प्रयास करें।
  • नियमित अभ्यास आपकी गति बढ़ाएगा और समय पर परीक्षा खत्म करने में सहायक होगा क्योंकि समय भी एक महत्वपूर्ण कारक है और याद रहे कि परीक्षा को करने के लिए सीमित समय दिया जाता है।

4. मॉक टेस्ट हल करें।

अपनी परीक्षा के अंतिम कुछ दिनों मेः

  • पिछले वर्षों के अधिक से अधिक प्रश्न पत्र और मॉक टेस्ट हल करें। इससे आपको उन क्षेत्रों को जानने में मदद मिलेगी जहां आप कमज़ोर हैं या जिनमें आपको पारंगत हासिल है।
  • इन्हें ऐसे हल करें जैसे आप अपना फ़ाइनल पेपर दे रहे हों साथ ही समय का भी ख़्याल रखें। ऐसा करने से आपको अपने प्रदर्शन और कुशलता के बारे में पता चलेगा।

 5. समय प्रबंधन

अपने शेड्यूल को व्यवस्थित रखें और अध्ययन का समय बढ़ाएं क्योंकि ये आपकी तैयारी के अंतिम कुछ दिन हैं। इस दौरान अपने सभी संभव प्रयास करें क्योंकि इन्हें ही गिना जाएगा।

  • एक टाइम टेबल बनाएं और प्रत्येक विषय के लिए समय आवंटित करें।
  • प्राथमिकता के अनुसार पढ़ने वाले विषयों को व्यवस्थित करें और पहले महत्वपूर्ण विषयों के रखते हुए अन्य विषयों को प्राथमिकता दें।
  • यदि शॉर्टकट तकनीकों का अभ्यास करते हैं तो कुछ प्रश्नों को हल करने में जो समय लगता है उसे कम किया जा सकता है जिससे आप अपना पेपर समय पर समाप्त कर सकते हैं।

6. स्मार्ट स्टडी

पूरी तैयारी का यह एक महत्वपूर्ण पहलू है। कठिन परिश्रम ज़रूरी है पर यह तभी कार्य करता है जब इसे विवेक से किया जाए।

  • उन विषयों को पढ़ें जिनका वेटेज अधिक है। यह आपको परीक्षा में अधिक अंक प्राप्त करने में सहायक होगा।
  • पेपर को क्रम के अनुसार हल करने की कोशिश न करें। उन विषयों को हल करने की कोशिश करें जो आसान हों और जिन्हें करने में कम समय लगे। पेपर का मुख्य हिस्सा कम समय में पूरा हो जाएगा। इससे आपको अन्य कठिन सेक्शन के लिए समय मिलेगा और यह आपके विश्वास और प्रदर्शन को बढ़ाएगा।

उत्साहित रहें और स्वयं पर विश्वास रखें। भ्रमित ना हों और परीक्षा क्वॉलिफ़ाई करने में ध्यान लगाएं। आगामी HSSC क्लर्क भर्ती परीक्षा 2016 के लिए हम आपको शुभकामनाएं देते हैं।

नीचे दिए गए सेक्शन में अपने सवाल और शंकाएं डालें। बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर पोस्ट करें।

Doubts-Hindi- (1)

 

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.