IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर 4 के 10 महत्त्वपूर्ण टॉपिक्स | संघर्ष ही सफलता की कुंजी है !

IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर 4 के 10 महत्त्वपूर्ण टॉपिक्स | संघर्ष ही सफलता की कुंजी है- UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर-4 के अंतर्गत निम्नलिखित क्षेत्र शामिल होते हैं: एथिक्स, इंटिग्रिटी, और ऐप्टिटूड। इस पेपर में उम्मीदवारों के दृष्टिकोण और अखंडता से संबंधित मुद्दे, सार्वजनिक जीवन में प्रामाणिकता और उनके समक्ष समस्या सुलझाने के दृष्टिकोण और विभिन्न मुद्दों के प्रति दृष्टिकोण व उनके द्वारा सामना करने वाले संघर्षों के परीक्षण से संबंधित प्रश्न शामिल होंगे। इस तरह के प्रश्नों को हल करने के लिए हम आपसे एक केस स्टडी साझा कर रहे हैं जो आपको सटीक उत्तर लिखने में मदद करेगी।

IAS GS पेपर 4 की तैयारी के लिए आपको किसी विशेष अध्ययन सामग्री की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इस पेपर की तैयारी करना आपके हाथ में है। इसके लिए समाचार, सामाजिक मुद्दों के विश्लेषण, और समाज के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के व्यवहार पर आम चर्चाएं करने से इस विशेष पेपर की कुछ अवधारणाओं को समझा जा सकता है और बेहतर तैयारी कर उत्तर लिखने की क्षमता विकसित करने में मदद मिल सकती है।

 

IAS मुख्य परीक्षा के GS पेपर-4 के लिए 10 महत्त्वपूर्ण टॉपिक्स | टॉपिक-10

परीक्षा के डर पर काबू पाने के लिए  IAS मुख्य परीक्षा के GS पेपर-4 के लिए 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स आपसे साझा कर रहे हैं, जिससे आप इन टॉपिक्स पर अपनी पकड़ मजबूत कर पाएं और आप परीक्षा में बेहतर प्रदर्शन कर सकें। आज का टॉपिक ‘संघर्ष ही सफलता की कुंजी है’ के विमर्श से संदर्भित है।

प्रश्न: संघर्ष ही सफलता की कुंजी है? स्पष्ट कीजिए ।  
उत्तर: संघर्ष जीवन को निखारते हैं, संवारते व तराशते हैं और मनुष्य को गढ़कर एक श्रेष्ठ मनुष्य बना देते हैं। संघर्ष जीवन का अनुभव कराते हैं, सतत सक्रिय बनाते हैं और हमें जीवन का महत्त्व बताते हैं। संघर्ष का दामन थामकर न हम प्रगति करते हैं, बल्कि जीवन के सही सुख –आनंद का अनुभव कर पाते हैं। यदि जीवन संघर्ष विहीन है तो वहाँ प्रसन्नता व आनंद टिक नहीं पाता। प्रत्येक जीवन संघर्ष की तपिश से निखरता है, ऊँचाई को प्राप्त करता है, मनोवांछित लक्ष्य को प्राप्त करता है।

स्नातक की उपाधि प्राप्त करने वाली पहली बधिर व दृष्टिहीन अमेरिकी महिला हेलेन केलर जो अपने में एक प्रसिद्ध लेखक और राजनीतिक कार्यकर्ता बनी, उनका कहना था – “संघर्ष हमारे जीवन का सबसे बड़ा वरदान है। वह हमें यह भी सिखाता है कि भले ही यह संसार दुखों से भरा हुआ है, लेकिन उन दुखों पर काबू पाने के तरीके भी यहाँ अनेकों है।” इसी तरह प्रसिद्ध उद्बोधनकर्ता जॉन डी लेमे के अनुसार – “संघर्ष की चाबी जीवन के सभी बंद दरवाज़े खोल देती है और आगे बढ़ने के नए रास्ते भी प्रशस्त करती है। इस दौरान व्यक्ति के अंदर का हौसला उसे हारने नहीं देता और संघर्ष की लगन सतत बनाए रखता है।” इस तरह संघर्ष की तपन मनुष्य के जीवन को चमकाती है।

वैसे तो जीवन में कुछ भी सरल नहीं है। सरलता व आसानी से ऐसा कुछ नहीं मिलता, जो कीमती है, महत्वपूर्ण है। हर किसी व्यक्ति को अपने जीवन में अपनी मंज़िल व लक्ष्य पाने के लिए संघर्ष का सहारा लेना ही पड़ता है, संघर्ष करना ही पड़ता है। यह ज़रुर है कि जब जीवन में बुनियादी समस्याएं हों, ऐसी स्थिति में संघर्ष करने की इच्छाशक्ति को बनाए रखना थोड़ा कठिन हो जाता है; क्योंकि ऐसे में लक्ष्य की प्राप्ति के साथ बुनियादी आवश्यकताओं की पूर्ति के लिए भी संघर्ष करना पड़ता है, इस तरह जीवन का संघर्ष दोगुना हो जाता है। ऐसे में यदि व्यक्ति के अंदर आंतरिक बल है, पर्याप्त शारीरिक व मानसिक क्षमता है तो दोगुना संघर्ष में भी कोई दिक्कत नहीं आती। केवल इसके लिए जीवन के प्रति सकारात्मक रवैया (Positive Thinking) और लक्ष्य को पाने की मन में ललक होनी चाहिए।

सफलता का कोई शॉर्टकट नहीं होता। यही वजह है कि चाहे कितना भी समय बदला हो, युग बदला हो, परिस्थितियां बदल गई हों, फिर भी कड़ी मेहनत व लगन से सफलता  के लिए किया गया प्रयास आपको मंजिल पर पहुंचा ही देता हैं। अभावों का जीवन जीते हुए संघर्ष करके भी अपनी पहचान बनाई जा सकती है, इस बात को आज की नई युवा पीढ़ी प्रमाणित कर रही है। इन दिनों प्रतियोगी परीक्षाओं में ऐसे विधार्थी अव्वल आ रहे हैं, जिनके जीवन में संसाधनों का अभाव था और उनका जीवन भी कई तरह की समस्याओं से घिरा हुआ था। सफलता की इस कड़ी में देश की ऐसी बेटियाँ भी अव्वल आईं, जिनके पिता मजदूरी करते थे और ऐसे बेटे भी चमके, जिनकी परवरिश झुग्गी – झोंपड़ियों में अभावों के बीच हुई। जिनकी माँ घर-घर चौका-बरतन करके पैसे जमा करतीं और पिता रिक्शाचालक बनकर आर्थिक रूप से सहयोग करते।

संघर्ष की लगन ही व्यक्ति की लक्ष्य की और गति को थमने नहीं देती, आशा की किरण को टूटने नहीं देती, बल्कि उत्साह, उमंग को निरंतर बढ़ाती है और यही कारण है कि आज देश में अभावों के अंधेरों के बीच भी सफलता की रोशन राहें निकल रही हैं। जो यह भी बताती हैं कि सहूलियतों के बीच जीवन जीकर सफलता पाना और मुकाम बनाना ही सब कुछ नहीं है, बल्कि जीवन की सही समझ के लिए अभावों के बीच जीवन जीना भी ज़रुरी है, तभी जीवन के सही मर्म व अंदाज़ का पता चलता है।

प्रतिभाएँ अपनी पहचान स्वयं बना लेती हैं। उनका हौसला और इच्छाशक्ति उन्हें शून्य से शिखर तक ले जाने का कार्य करते हैं और कई तरह के संघर्षों व अड़चनों के बावजूद जब वे सफलता प्राप्त करते हैं, तो पूरे समाज के लिए एक उदाहरण बन जाते हैं। साधारण से दिखने वाले व्यक्ति जब असाधारण सफलता पाते हैं तो कोई सोच भी नहीं सकता कि वे अपने जीवन में कितना खपे हैं, उन्होंने कितना संघर्ष किया है, उनके सपनों की बुनियाद के पीछे कितनी मेहनत है। फिर भी अपने हौसलों के दम पर वे निरंतर आगे बढ़ने रहते हैं, प्रयास करते हैं और इस तरह एक दिन वे सफलता के शिखर को छू ही लेते हैं।

जीवन में जब कोई कुछ करने की ठान लेता है और ईमानदारी से उसके लिए प्रयास करता है तो उसे देर-सबेर सफलता अवश्य मिलती है। हालांकि इस यात्रा में उसे बहुत सारी कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है, कई तरह के भटकावे सामने आते हैं, जो उसे लक्ष्य से भटकाते हैं, विचलित करते हैं। कई तरह के विकल्प दीखते हैं, वे भी राह में एक तरह की बाधा होते हैं, लेकिन दृढ़तापूर्वक और ईमानदार कोशिश करने वाले लोग इन विकल्पों व शॉर्टकट मार्गो को नहीं अपनाते और अपनी लगन का सहारा लेते हुए संघर्ष व मेहनत का उचित रास्ता चुनते हैं, अपनी क्षमता-योग्यता व दक्षता को निरंतर निखारने का प्रयास करते हैं। ये ढर्रे पर चलने वाले रास्तों के बजाय अपने लिए नए रास्ते बनाते हैं और इस तरह समाज के लिए एक आदर्श उदाहरण बन जाते हैं। सफलता की इमारत संघर्ष की नींव पर ही खड़ी होती है।

 

OnlineTyari टीम द्वारा दिए जा रहे उत्तर UPSC की सिविल सेवा परीक्षा (IAS परीक्षा) के मानक उत्तर न होकर सिर्फ एक प्रारूप हैं। जिससे अभ्यर्थी उत्तर लेखन की रणनीति से अवगत हो सकेगा। वह उत्तर में निर्धारित समयसीमा में कलेवर को समेटने और समय प्रबंधन की रणनीति से परिचय पा सकेगा। जिससे वह सम्पूर्ण परीक्षा को समयसीमा में हल करने में समर्थ होगा।

फ्री पैकेज : IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : फ्री पैकेज  

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : फ्री पैकेज को परीक्षा की तैयारी में जुटे अभ्यर्थियों के तैयारी स्तर को जांचने के लिए निर्मित किया गया है। यह फ्री पैकेज टेस्ट नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित है और इस टेस्ट के प्रत्येक टेस्ट में 100 प्रश्न सम्मिलित किए गए हैं। यह मॉक टेस्ट सीरीज Online Tyari के मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट दोनों पर उपलब्ध हैं। इस टेस्ट सीरीज में सम्मिलित होकर आप अभी फ्री में अपने तैयारी स्तर को जान सकते हैं और आगामी परीक्षा के लिए खुद में आवश्यक परिवर्तन भी कर सकते हैं।

अभी अभ्यास शुरू करें !

IAS फ्री मॉक टेस्ट : सामान्य अध्ययन पेपर -1

IAS प्रारंभिक परीक्षा : फ्री मॉक टेस्ट, सामान्य अध्ययन पेपर-1 

IAS प्रारंभिक परीक्षा : फ्री मॉक टेस्ट, सामान्य अध्ययन पेपर-1 फ्री मॉक टेस्ट है जिसे IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 में सम्मिलित होने वाले उम्मीदवारों के लिए Orient IAS द्वारा संकलित किया गया है। यह फ्री मॉक टेस्ट नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित है और इस टेस्ट में 100 प्रश्न सम्मिलित किए गए हैं। यह मॉक टेस्ट सीरीज Online Tyari के मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट दोनों पर उपलब्ध हैं। इस टेस्ट सीरीज में सम्मिलित होकर आप अभी फ्री में अपने तैयारी स्तर को जान सकते हैं और आगामी परीक्षा के लिए खुद में आवश्यक परिवर्तन भी कर सकते हैं।

अभी अभ्यास शुरू करें !

IAS प्रारंभिक परीक्षा : स्वमूल्यांकन प्रश्न पत्र

IAS प्रारंभिक परीक्षा : स्वमूल्यांकन प्रश्न पत्र 

Online Tyari  द्वारा आप सभी के लिए स्व्मुल्याकन प्रश्न पत्र IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 को ध्यान में रखकर संकलित किया गया है। इस प्रश्न पत्र का उद्देश्य आपको आपकी तैयारी स्तर से अवगत कराना है। जिसके द्वारा आप अपनी योग्यता को स्वयं परख सकें। स्वमूल्यांकन प्रश्न पत्र के तहत दो पेपर दिए गए हैं – प्रथम सामान्य अध्ययन तथा द्वितीय सी-सैट।
यह मॉक टेस्ट सीरीज OnlineTyari के मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट दोनों पर उपलब्ध हैं। इस ऑनलाइन टेस्ट के माध्यम से आप अपनी योग्यता पारखने के साथ-साथ संपूर्ण भारत के उम्मीदवारों के साथ अपनी रैंक की तुलना कर सकते हैं और उसी के अनुसार सुधार करने की योजना बना सकते हैं।

फ्री में अभ्यास करें !

IAS प्रारम्भिक परीक्षा स्व्मुल्याकन टेस्ट : सामान्य अध्ययन पेपर-1

IAS प्रारंभिक परीक्षा : स्वमूल्यांकन टेस्ट, सामान्य अध्ययन पेपर-1 

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 : स्वमूल्यांकन टेस्ट, सामान्य अध्ययन पेपर-1 फ्री मॉक टेस्ट है जिसे 2018 की प्रारंभिक परीक्षा में सम्मिलित उम्मीदवारों के लिए Orient IAS द्वारा संकलित किया गया है। यह फ्री मॉक टेस्ट नवीनतम पाठ्यक्रम पर आधारित है और इस टेस्ट में 100 प्रश्न सम्मिलित किए गए हैं। यह मॉक टेस्ट सीरीज Online Tyari के मोबाइल एप्लीकेशन और वेबसाइट दोनों पर उपलब्ध हैं। इस टेस्ट सीरीज में सम्मिलित होकर आप अभी फ्री में अपने तैयारी स्तर को जान सकते हैं और आगामी परीक्षा के लिए खुद में आवश्यक परिवर्तन भी कर सकते हैं।

फ्री में अभ्यास करें !

IAS परीक्षा 2017 के बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। IAS परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.