IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर-4 के 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स | ग्लास सीलिंग, महिलाओं की प्रगति के लिए एक बैरियर

IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर-4 के 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स | ग्लास सीलिंग, महिलाओं की प्रगति के लिए एक बैरियर : UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन पेपर-4 के अंतर्गत निम्नलिखित क्षेत्र शामिल होते हैं: एथिक्स, इंटिग्रिटी, और एप्टीट्यूड। इस पेपर में उम्मीदवारों के दृष्टिकोण और अखंडता से संबंधित मुद्दे, सार्वजनिक जीवन में प्रामाणिकता और उनके समक्ष समस्या सुलझाने के दृष्टिकोण और विभिन्न मुद्दों के प्रति दृष्टिकोण व उनके द्वारा सामना करने वाले संघर्षों के परीक्षण से संबंधित प्रश्न शामिल होंगे। इस तरह के प्रश्नों को हल करने के लिए हम आपसे एक केस स्टडी साझा कर रहे हैं जो आपको सटीक उत्तर लिखने में मदद करेगी।

इस पेपर की तैयारी के लिए आपको किसी विशेष अध्ययन सामग्री की आवश्यकता नहीं है क्योंकि इस पेपर की तैयारी करना आपके हाथ में है। इसके लिए समाचार, सामाजिक मुद्दों के विश्लेषण, और समाज के विभिन्न क्षेत्रों में लोगों के व्यवहार पर आम चर्चाएं करने से इस विशेष पेपर की कुछ अवधारणाओं को समझा जा सकता है और बेहतर तैयारी कर उत्तर लिखने की क्षमता विकसित करने में मदद मिल सकती है।

How-to-Prepare-for-IAS-Mains-General-Studies-Paper-4

यहां पर हम IAS मुख्य परीक्षा के सामान्य अध्ययन के पेपर से संबंधित 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स आपसे साझा कर रहे हैं जिनके अंतर्गत प्रतिदिन एक विषय पर आपको विस्तृत जानकारी दी जाती है। तो चलिए आगे बढ़ते हैं…

IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर-4 के 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स | ग्लास सीलिंग, महिलाओं की प्रगति के लिए एक बैरियर

ग्लास सीलिंग क्या है ?

ग्लास छत (Glass Ceiling) एक अदृश्य लेकिन असली बाधा है जिसके माध्यम से अगले चरण या उन्नति के स्तर को देखा जा सकता है, लेकिन योग्य और उचित कर्मचारियों के एक सेक्शन तक नहीं पहुंचा जा सकता है। उम्र, जातीयता, राजनीतिक या धार्मिक संबद्धता और / या लिंग के आधार पर अंतर्निहित पूर्वाग्रह के कारण ऐसी बाधाएं मौजूद हैं। आमतौर पर, ज्यादातर देशों में ऐसे व्यवहार प्रचलित हैं।

महिलाओं के बीच अप्रत्याशित करियर की अपेक्षाओं के चक्र को बनाए रखने में, असुरक्षा के अलावा उनमें अवसाद की समस्या भी हो सकती है। यह केवल स्वाभाविक है कि अगर मेरी कड़ी मेहनत का भुगतान नहीं किया जा रहा है तो मैं बेमतलब महसूस करूँगी। यह बेहद परेशान करने वाली बात है और आपको लगता है कि आप इसके लायक नहीं हैं और इसके चलते आप इस्तीफा देना चाहते हैं।”

महिलाओं के लिए बाधाएं

चाहे वे किसी भी नियोक्ता (सरकार, निजी उद्यम या गैर-लाभकारी) के लिए काम करती हों या यहां तक ​​कि अगर वे स्वयं कार्यरत हैं, फिर भी वे ग्लास सीलिंग की समस्या से नहीं उबर सकतीं हैं या यूं कह लीजिए कि कॉर्पोरेट जगत में सफलता की सीढ़ी चढ़ने की प्रक्रिया में ये एक संक्रमण का काम करती है।

महिलाओं की कुछ बाधाएं क्या हैं?

  • समान कार्य का समान वेतन ना मिल पाना महिला और पुरुष के बीच एक बड़ा अंतर उत्पन्न करता है।
  • बच्चे और बच्चे के पालन-पोषण के कारण कार्यबल में कुछ दिक़्कतों का सामना करना पड़ता है- ज्यादातर महिलाएं रोज़गार के उस स्तर पर नहीं पहुंच पाती जिस स्तर पर वो गर्भवती होने से पहले थीं।
  • महिलाओं में अंशकालिक कार्यबल शामिल होता है जिससे उनके कार्य करने की क्षमता में अंतर आ जाता है और इसका सीधा प्रभाव उनके कार्यक्षेत्र पर पड़ता है।
  • महिलाओं के काम के प्रदर्शन का महत्व को इस उदाहरण से समझा जा सकता है कि सामुदायिक सेवाओं में महिलाओं की भूमिका उम्मीद से कम है।

“जितनी जल्दी हम सभी बाधाओं को समझेंगे जिसके कारण ग्लास सीलिंग जैसा समस्याएं उत्पन्न होती है, उतनी जल्दी हम एक-एक कर समस्याओं का समाधान कर सकेंगे और अवसरों के नए मार्ग प्रशस्त करने में कामयाब भी हो सकेंगे।“

फ्री में ‘IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018’ के अभ्यास के लिए मॉक टेस्ट में सम्मिलित हों !

OnlineTyari टीम द्वारा दिए जा रहे उत्तर UPSC की सिविल सेवा परीक्षा (IAS परीक्षा) के मानक उत्तर न होकर सिर्फ एक प्रारूप हैं। जिससे अभ्यर्थी उत्तर लेखन की रणनीति से अवगत हो सकेगा। वह उत्तर में निर्धारित समयसीमा में कलेवर को समेटने और समय प्रबंधन की रणनीति से परिचय पा सकेगा। जिससे वह सम्पूर्ण परीक्षा को समयसीमा में हल करने में समर्थ होगा।

IAS प्रारंभिक पारीक्षा 2018 : फ्री ऑनलाइन मॉक टेस्ट सीरीज़ से करें तैयारी !

IAS परीक्षा 2017 के बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। IAS परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.