X

UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा उत्तर कुंजी 2019 (सभी सेट) : अभी जांचे अपना उत्तर !


UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा उत्तर कुंजी 2019 : अभी जांचे अपना उत्तर – संघ लोक सेवा आयोग (UPSC) की सिविल सर्विसेस प्रारभिक परीक्षा 2019 कल आयोजित हुई । तीन चरणों में आयोजित होने वाली सिविल सेवा परीक्षा के लिए यह पहले चरण की परीक्षा है। इसमें सफल होने वाले उम्मीदवारों को मेन्स परीक्षा देनी होगी और अंत में साक्षात्कार से गुजरना होगा।

UPSC की इस परीक्षा के जरिए देश में आईएएस, आईपीएस, आईएफएस और अन्य केन्द्रीय सरकारी विभागों के अधिकारी चयनित किए जाते हैं। परीक्षा में सम्मिलित उम्मीदवारों ने प्रश्न पत्र को कठिन बताया। विगत वर्ष की तुलना में इस वर्ष प्रश्न पत्र काफी परेशान करने वाला भी था।

UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा उत्तर कुंजी 2019 : अभी जांचे अपना उत्तर !

IAS प्रारंभिक परीक्षा में उपस्थित समस्त उम्मीदवार OnlineTyari की तरफ से जारी उत्तर कुंजी से अपने द्वारा दिए गए उत्तर का मिलान कर मुख्य परीक्षा के लिए अपनी उम्मीदवारी की जांच कर सकते हैं। प्रश्न पत्र का कठिनाई स्तर मध्यम से कठिन स्तर का था।  सही उत्तरों, अनुमान के अंक, और चयन की संभावनाओं का विश्लेषण करने के लिए उत्तर कुंजी देख सकते हैं-

आयोग ने इस बार सवालों का ट्रेंड बदल दिया था। कठिनाई स्तर के विषय में छात्रों की मिली-जुली प्रतिक्रिया प्राप्त हुई। पेपर में जानकारी आधारित प्रश्नों की संख्या अधिक रही। प्रश्नों को वही हल कर सकता था जिसे विषय की गहन जानकारी हो। सतही जानकारी के आधार पर पेपर हल करना मुमकिन नहीं था।

इस बार बायो टेक्नोलॉजी से कई प्रश्न पूछे गए थे। पूर्व के वर्षों में सामान्य विज्ञान और टेक्नोलॉजी से जुड़े प्रश्नों की संख्या कम होती थी। प्राचीन और मध्यकालीन इतिहास से इस बार 8 सवाल पूछे गए जबकि पहले कम सवाल पूछे जाते थे। आधुनिक इतिहास से भी ठीक-ठाक संख्या में प्रश्न थे। पूर्व के वर्षों में समसामयिक और योजनाओं पर आधारित अधिक प्रश्न रहते थे। अबकी इनकी संख्या कम थी। जिन छात्रों ने समसामयिक और योजनाओं पर आधारित प्रश्नों की अधिक तैयारी की थी, उन्हें थोड़ी परेशानी हुई। कला व संस्कृति से कम सवाल पूछे गए। इतिहास से 15, राजव्यवस्था से 15, अर्थव्यवस्था से 28, भूगोल से 11, विज्ञान से 23 और समसामयिकी से आठ सवाल पूछे गए। आयोग ने पेपर में कुछ नयापन लाने की कोशिश की थी। इतिहास को छोड़ दिया जाए तो सभी विषयों के प्रश्न टेक्स्ट बुक और एनसीईआरटी से पूछा गया था। एनसीईआरटी पर आधारित प्रश्न भी अद्यतन घटनाओं को जोड़कर बनाए गए थे।पेपर में दो-दो नंबर के 100 बहुविकल्पीय प्रश्न थे। अगर प्रश्न पत्र को ध्यान से देखें तो पैटर्न देखकर यह लग रहा कि यूपीएससी ने 2004-05 की तरह ही प्रश्नों का पैटर्न अपनाया है।

110 के आसपास रह सकता है यूपीएससी प्री का कटऑफ

संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) के सिविल सर्विस की प्रारंभिक परीक्षा (पीटी) 2019 के कटऑफ कि बात करें तो बहुत संभावना है कि इस बार सामान्य वर्ग का कटऑफ 110 के आसपास रहेगा। सामान्य वर्ग का कटऑफ 105-110, ओबीसी का 100-105 और एससी-एसटी का कटऑफ 80 -90 रहने की संभावना है।

यदि उम्मीदवार इस वर्ष कटऑफ को प्राप्त कर रहे हों तो उन्हें मुख्य परीक्षा की तैयारी में जुट जाना चाहिए। UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। सिविल सेवा परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Ajay K. Tripathi :
© 2010-2018 Next Door Learning Solutions