IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019: विज्ञान एवं तकनीक की तैयारी कैसे करें !

5
4302
IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019: विज्ञान एवं तकनीक की तैयारी कैसे करें !

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019: विज्ञान एवं तकनीक की तैयारी कैसे करें- IAS प्रारंभिक परीक्षा में विज्ञान एवं तकनीक का काफ़ी महत्व होता है। इस सेक्शन में अधिकतर विश्लेषणात्मक (Analytical) प्रश्न पूछे जाते हैं। IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019 के इस सेक्शन को लेकर बहुत से आकांक्षियों के मन में दुविधा रहती है और हम यह बात भली-भांति समझते हैं। लेकिन यह समझना भी ज़रूरी है कि सही दृष्टिकोण और सटीक अध्ययन के साथ आप आसानी से इस सेक्शन में अच्छा स्कोर कर सकते हैं। आपकी सहायता के लिए हम इस लेख में आपको IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019 में विज्ञान एवं तकनीक से संबन्धित अध्ययन की जानकारी देंगे। इसके बाद आप परीक्षा के इस सेक्शन को बेहतर रणनीति के साथ समझ और हल कर पाएंगे।

इस बात का ध्यान रखें कि हम इस लेख में IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 की तैयारी के लिए विभिन्न तरीकों पर चर्चा करने वाले हैं। हम अपने अगले लेखों में IAS मुख्य परीक्षा 2018 की परीक्षा की तैयारी पर भी आपको खास जानकारी उपलब्ध कराते रहेंगे। अभी के लिए, हम अपना ध्यान IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 पर केन्द्रित रखेंगे।

 

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019: विज्ञान एवं तकनीक से परिचय

हमेशा की ही तरह, हम विभिन्न सेक्शन्स के अंक विभाजन के विश्लेषण से शुरुआत करेंगे। इससे हमें पिछले कुछ वर्षों में IAS प्रारंभिक परीक्षा के अलग-अलग सेक्शनों में पूछे गए प्रश्नों के विषय में बेहतर अनुमान हो जाएगा।

यहां पिछले कुछ वर्षों से IAS प्रारंभिक परीक्षा में विज्ञान एवं तकनीक के सेक्शन में पूछे गए प्रश्नों का एक विस्तृत ब्योरा दिया जा रहा है।

  वर्ष   प्रश्नों की संख्या
 2011  18
 2012  9
 2013  13
 2014  5
 2015  6
 2016  9
 2017  10

पिछले कुछ वर्षों में, विज्ञान एवं तकनीक वाले सेक्शन में पूछे जाने वाले प्रश्नों में लगातार कमी आई है, लेकिन फिर भी इसके महत्व को नज़रअंदाज़ नहीं किया जा सकता।

IAS प्रारंभिक परीक्षा की अप्रत्याशित पैटर्न को देखते हुए, ऑनलाइन तैयारी आपको इस सेक्शन को छोड़ देने की सलाह बिलकुल नहीं देता है। ऐसा करना बहुत बड़ा जोख़िम होगा।

 

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2019: विज्ञान एवं तकनीक संबंधी अध्ययन के लिए सुझाव और दिशा-निर्देश

विज्ञान एवं तकनीक की तैयारी बहुत हद तक बाकी सेकशन्स से अलग होती है| इस विषय पर सही स्टडी मटेरियल मिलना अब भी एक मुश्किल का काम है। ऐसे में किताबों और बाकी स्रोतों के बड़े-बड़े ढेर, जो बाज़ारों में उपलब्ध हैं, उन्हें रट लेना परेशानी का हल नहीं है।

IAS प्रारंभिक परीक्षा 2018 के विज्ञान एवं तकनीक सेक्शन की तैयारी की शुरुआत आप UPSC द्वारा पिछले कुछ वर्षों में पूछे गए प्रश्नों के विश्लेषण से शुरू कर सकते हैं। आप पाएंगे कि अधिकतर सवाल वैचारिक और विश्लेषणात्मक प्रकृति के होते हैं। इनमें से बहुत से सवाल समसामायिक मुद्दों से जुड़े होने की वजह से बहुत प्रासंगिक होते हैं। ऐसे में हाल ही में हुई घटनाओं के विषय में आपकी जानकारी, आपकी वैचारिक समझ ही उत्तर का फैसला करेगी| ये दोनों ही पहलू एक दूसरे के साथ तालमेल में रहते हैं।

तो सही दृष्टिकोण क्या है?

हम आपको सबसे पहले बेसिक्स मजबूत करने की सलाह देते हैं।

  • सबसे पहले NCERT की टेक्स्ट बुक्स से खुद को गुजारें। अपना ध्यान विभिन्न प्राकृतिक घटनाओं के पीछे मौजूद विज्ञान पर केन्द्रित करें। ऐसा करते हुए आपकी जानकारी बढ़ने के साथ ही आपको इसमें मज़ा भी आने लगेगा।
  • पहले पूछे गए प्रश्नों को ध्यान से पढ़ें और देखें कि विज्ञान एवं तकनीक वाले सेक्शन में किस तरह के सवाल पूछे जा रहे हैं।
  • अपने अध्ययन के समय की प्राथमिकता को इसी के अनुसार तय करें।
  • अध्ययन के दौरान, इस बात पर विशेष ध्यान दें कि आप बेसिक्स को पूरी तल्लीनता से समझ रहे हैं। यदि आपको NCERT की किताबों से कॉन्सेप्ट्स को समझने में कठिनाई आ रही है, तो ऐसे में आप इंटरनेट की मदद लें।
  • कभी भी किसी कॉन्सेप्ट को बहुत गहराई से समझने में बहुत अधिक समय न लगाएं। याद रहे, परीक्षा से पहले आपको PHD नहीं करनी है। आपको अन्य कई विषयों को भी कवर करना है। अपना समय बिलकुल भी व्यर्थ न जाने दें।

भारत और विश्व में चल रही गतिविधियों का हमेशा ध्यान रखें

यदि आप पिछले वर्षों के प्रश्नपत्रों को गहनता से देखेंगे तो पाएंगे की कुछ आसान सवाल सिर्फ इसलिए पूछ लिए गए थे क्योंकि वो समाचार का हिस्सा थे। उदाहरण के तौर पर हिग्स बोसॉन, ग्रैफीन और न्यूट्रीनो से संबन्धित सवाल पूछे गए थे।

शुरुआत करने का एक अच्छा तरीका है कि आप नोबल पुरस्कार विजेताओं की सूची की ओर नज़र डालें। फिर इनके कार्यक्षेत्र के विषय में जानें। वहां से सीधे प्रश्न पूछे जाने की काफी उम्मीद रहती है।

भारत में होने वाली विज्ञान एवं तकनीक से संबन्धित सभी घटनाओं पर नज़र बनाए रखें। ISRO, DRDO, विज्ञान एवं तकनीकी मंत्रालय आदि से संबन्धित सभी घटनाओं की जानकारी आपको होनी चाहिए। इसके लिए सबसे अच्छा तरीका है कि आप “The Hindu” अखबार के विज्ञान एवं तकनीक वाले हिस्से को पढ़ना अपना धर्म समझें। ऐसा करते हुए आपको यह भी ध्यान रखना है कि मात्र तथ्यों और घटनाओं की जानकारी काफी नहीं। घटना की तह तक जाते हुए, उसकी कठिनाइयों और चुनौतियों के बारे में जानने का प्रयास करें। उनकी उपलब्धियां, किन परिस्थितियों में काम हुआ, इन सारी चीजों को भी जानने का प्रयास करें| अगर आप किसी भी परेशानी का सामना करते हैं, बेझिझक इंटरनेट की सहायता लें।

एक बात हमेशा ध्यान रखें कि आपको बहुत ज़्यादा डीटेल में जाने की ज़रूरत नहीं है।

अभ्यास और जांच

हमेशा की ही तरह, हम अभ्यास और स्वयं को जांचने-परखने की प्रक्रिया को कम नहीं आंक सकते। एक अच्छी टेस्ट सीरीज़ की मदद लें और निरंतर अभ्यास करते रहें। संभव है कि आप उन नए प्रश्नों से अवगत हों, जो अध्ययन के दौरान छूट गए थे। इससे असली परीक्षा में गलती करने की संभावना भी कम हो जाती है। विज्ञान एवं तकनीक की तैयारी के लिए 3 मुख्य बिन्दुओं की रणनीति है:

  • पहला चरण: बेसिक्स पर पकड़
  • दूसरा चरण: अपनी समझ को विश्व में चल रही घटनाओं से जोड़ना
  • तीसरा चरण: खुद को परखना

नोट: साइंस बैकग्राउंड से न आने वाले विद्यार्थियों के लिए विज्ञान एवं तकनीक के पेपर से डरने जैसी कोई बात नहीं है। आप हमेशा इंटरनेट की सहायता ले सकते हैं। लेकिन ध्यान रहे कि आपकी अपनी भाषा में तैयार किए गए नोट्स अति आवश्यक हैं।

TyariPlus जॉइन करें !
अपनी आगामी सभी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अब सिर्फ TyariPlus की सदस्यता लें और वर्ष भर अपनी तैयारी जारी रखें-
TyariPLUS सदस्यता के फायदे

  • विस्तृत परफॉरमेंस रिपोर्ट
  • विशेषज्ञों द्वारा नि: शुल्क परामर्श
  • मुफ्त मासिक करेंट अफेयर डाइजेस्ट
  • विज्ञापन-मुक्त अनुभव और भी बहुत कुछ

परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवार अपनी परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें और मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी को जांचते रहें। अनलिमिटेड मॉक टेस्ट से अभ्यास करने के लिए अभी TyariPLUS जॉइन करें।
TyariPLUS

IAS परीक्षा 2019 के बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। IAS परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

5 COMMENTS

  1. Sir main apna school Hindi medium me aur college English medium electrical engg me kiya hai.yadi main upsc exam Hindi me choose karu aur apna optional subject electrical engineering nahi rak kar koi aur subject me karu to main muje koi problem hogi ki nahi.please is subject ke bare me bataiye ya koi help kare.

  2. सर मैने बीएससी किया है क्या पेपर इंग्लिश में देना होगा या कौन कौन से estep होंगे मेरी इंग्लिश सही नही है तो क्या होगा कैसे होगा

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.