IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 मुख्य परीक्षा : 15 दिवसीय स्टडी प्लान

IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 मुख्य परीक्षा : 15 दिवसीय स्टडी प्लान- बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (IBPS) ने IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 प्रारंभिक परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। प्रारंभिक परीक्षा में सफल रहने वाले सभी उम्मीदवार अब मुख्य परीक्षा की तैयारी में जुट गए होंगे। IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 मुख्य परीक्षा 30 सितंबर से आयोजित होने जा रहा है।

ऐसे में यह समय अपनी तैयारी को और तेज करने का है और सबसे ज्यादा जरुरत इस बात की है कि अभी तक जो भी आपने अध्ययन किया उसे जांचते चला जाए। यह समय अब रिविजन और मॉक टेस्ट एटेम्पट करने का है, पूर्ण परीक्षा को तयशुदा समय में समाप्त करने की रणनीति पर कार्य करने का है।

 

IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 मुख्य परीक्षा : 15 दिवसीय स्टडी प्लान !

हम उम्मीद करते हैं कि अब तक, आपने IBPS RRB ऑफिसर स्केल मुख्य परीक्षा से सम्बंधित पाठ्यक्रम की बुनियादी समझ विकसित कर लिया होगा। यह परीक्षा प्रश्न पत्र हिन्‍दी और अंग्रेजी भाषा में आयोजित किया जाएगा, जिसमें आप अपनी खुद की पसंद की भाषा के प्रश्नपत्र का चयन कर सकते हैं।

IBPS RRB मुख्य परीक्षा 2018 में सफलता प्राप्त करने के लिए आवश्यक टिप्स-

1. पाठ्यक्रम की जानकारी

किसी भी प्रतियोगी परीक्षा की तैयारी के लिए आपको सबसे पहले उस परीक्षा का पाठ्यक्रम देखना चाहिए। उम्मीदवारों को अपनी तैयारी करते समय पाठ्यक्रम में वर्णित सभी टॉपिक-सब टॉपिक को पहले कवर कर लेना चाहिए। और इस पर अपनी बुनियादी समझ विकसित कर लेनी चाहिए। फिर सभी टॉपिक और सब टॉपिक पर अपनी समझ को जांचने के लिए मॉक टेस्ट या ऑल इंडिया टेस्ट को एटेम्पट कर ऑल इंडिया रैंक से अपना स्व-विश्लेषण कर लेना चाहिए। जिससे आप जान सकें की आपका तैयारी स्तर क्या है और अभी आपको कितने अध्ययन की जरुरत है।

नीचे परीक्षा प्रश्न पत्र में पूछे जाने वाले सेक्शनवार से कुछ महत्वपूर्ण सुझाव और महत्वपूर्ण टॉपिक दिए गए हैं। आपको इन विषयों पर अधिक अभ्यास करने पर अपना ध्यान केंद्रित करने की आवश्यकता है।

2. सेक्शनल टिप्स 

i. मात्रात्मक योग्यता

• मात्रात्मक सेक्शन पूरी तरह से अभ्यास पर आधारित है। उम्मीदवारों को प्रश्नों को हल करने की स्पीड पर ध्यान देना चाहिए और एक्यूरेसी पर फोकस करना चाहिए।
• गति बढ़ाने के लिए त्वरित गणना की महत्वपूर्ण भूमिका है इसलिए मानसिक गणना और शोर्टट्रिक से तेजी से गणना करने पर अधिक ध्यान केंद्रित करना चाहिए।
• अवधारणाओं को जानें और प्रत्येक टॉपिक की शुरुवार सरल टॉपिक से करें।
• सबसे पहले, प्रश्न को हल करने के लिए मूल प्रक्रिया को समझने का प्रयास करें, फिर आप शोर्टट्रिक्स का अभ्यास करें।
• क्वांटिटेटिव ऐप्टिटूड सेक्शन में अधिकतम अंक स्कोर करने के लिए ट्रिक द्विघात समीकरण, सरलीकरण और सन्निकटिकरण (Approximation) टॉपिक को पहले अभ्यास करें और फिर नंबर सीरीज़ के प्रश्नों को हल करें।
• इसके बाद, डाटा इंटरप्रिटेशन हल करें क्योंकि यह वह विषय है जिसमें लगभग उपरोक्त टॉपिक शामिल हैं। पेपर में 50% भाग यह कवर करता है। इसके अलावा, अब जो DI पूंछा जा रहा है वह अंकगणितीय विषयों पर आधारित है, इसलिए समय और कार्य, समय, गति और दूरी, साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज जैसे कुछ अंकगणितीय विषयों पर पकड़ होना महत्वपूर्ण हो जाता है।
• शेष प्रश्न साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज , समय और कार्य, पाइप, और टंकी, साझेदारी, संभावना, ज्यामिति, आदि जैसे विविध विषयों से होंगे। तो यदि आप विविध विषयों पर भी पकड़ बनाना चाहते हैं तो इन्हें भी हल कर सकते हैं।
• साधारण से बात पर अत्यंत महत्त्वपूर्ण कि आप प्रश्नों को सिर्फ समझ कर न छोड़े। बल्कि समझने के बाद अभ्यास अवश्य करें।
महत्वपूर्ण विषय हैं:
डाटा इंटरप्रिटेशन | समय और कार्य | संख्या श्रृंखला | संभाव्यता | प्रतिशत |

ii. रीजनिंग क्षमता

• यदि आप मूलभूत बातों पर फोकस करते हैं और इस सेक्शन में अच्छा प्यास करते हैं तो अधिकतम स्कोर कर सकते हैं।
• न्यूनतम समय में रीजनिंग सेक्शन में अधिकतम प्रश्नों को हल करने का प्रयास करना चाहिए और सबसे अंत में पज़ल हल करना चाहिए।
• रीजनिंग में सबसे पहले सिल्गोगिज्म, कोडिंग डिकोडिंग, असमानता, इनपुट-आउटपुट, और श्रृंखला आधारित प्रश्न हल करना चाहिए। इससे पेपर में 4-5 प्रश्नों का सेट होता ही है, यदि आप इन टॉपिक्स में निपुणता प्राप्त करते हैं तो आप सुरक्षित स्कोर आसानी से स्कोर कर सकते हैं।
• इसके बाद आपको पहेली (पज़ल) शुरू का अभ्यास करना चाहिए, यह प्रश्न सरल दिखाई देते हैं। इनको हल करने के लिए आपको सरल-से-कठिन प्रश्नों को हल करने की तरफ बढ़ना चाहिए। तो इस तरह आप इस सेक्शन को मैनेज कर सकते हैं।
• अधिक से अधिक पहेली (पज़ल) की प्रैक्टिस करें क्योंकि प्रश्न पत्र में पज़ल के प्रश्नों का वेटेज अधिक है। लगभग प्रत्येक वर्ष प्रश्न पत्र में पज़ल और बैठक-व्यवस्था से 4-5 सेट पूछे जाते हैं और प्रत्येक सेट में 4-5 प्रश्न होते हैं। तो, पेपर में कुल 50% प्रश्न पहेली (पज़ल) और बैठने की व्यवस्था से शामिल हैं।
• वास्तविक परीक्षा में किसी भी प्रश्न में बहुत हडबडाहट में न आएं क्योंकि आपके पास हल करने के लिए अन्य प्रश्न भी हैं। अगर आपको लगता है कि कोई प्रश्न अधिक समय लेगा, तो उन्हें बाद के लिए छोड़ने का स्मार्ट विकल्प अपनाएँ।महत्वपूर्ण विषय हैं:
पहेली और बैठक व्यवस्था | इनपुट-आउटपुट | कोडिंग डिकोडिंग | सिल्गोगिज्म | लॉजिकल रीजनिंग।

iii. हिंदी

• हिंदी एक विषय नहीं है अपितु एक भाषा है और किसी भाषा में सहज होने के लिए उचित समय देने की जरुरत होती है। इसलिए प्रत्येक छात्र के पास इस में अच्छा स्कोर करने की अपनी रणनीति होती है।
• जैसा कि हम जानते हैं कि बैंकिंग परीक्षाओं में पूछी जानी वाली अंग्रेजी आपके पढ़ने के कौशल पर आधारित होती है तो इसे दैनिक रूप से सुधारें।
• अब व्याकरण में सहजता हासिल करने के बजाय परीक्षा उपयोगी टॉपिक कवर करें क्योंकि अब समय काफी कम बचा है।
• यदि आपका शब्दकोष और रीडिंग स्किल अच्छी है तो पहले अपठित गद्यांश को हल करने का प्रयास करें और उसके बाद मुहावरों का अर्थ और अन्य विविध विषयों जैसे त्रुटि जांच, शुद्ध-अशुद्ध शब्द, वाक्यांश प्रतिस्थापन, वाक्य पूर्णता इत्यादि के साथ आगे बढ़ें।
• लेकिन यदि आप व्याकरण में सहज महसूस करते हैं, तो अंत में अपठित गद्यांश को हल करने का प्रयास करें।
अपठित गद्यांश को भी हल करते समय प्रयास यह होना चाहिए कि शब्दकोष और मुहावरे और वाक्यांश आधारित प्रश्न पहले हल करें फिर उन प्रश्नों को हल करें जिनके लिए गहन पैराग्राफ अध्ययन की आवश्यकता है।
• इसके अतिरिक्त अन्य महत्त्वपूर्ण टॉपिक रिक्त स्थान की पूर्ति, शुद्ध/अशुद्ध शब्द, और वाक्य त्रुटि पहचान आदि हैं। ये विषय आपको कुछ अन्य प्रश्न हल करने में भी मदद कर सकते हैं जो व्याकरण पर आधारित होंगे।
महत्वपूर्ण विषय हैं:
अपठित गद्यांश | रिक्त स्थान की पूर्ति | त्रुटि जांच | मुहावरे और वाक्यांश | शुद्ध-अशुद्ध शब्द | वाक्य पूर्णता |

iv. कंप्यूटर ज्ञान 

  • विगत वर्षों के कंप्यूटर ज्ञान पर आधारित अधिकतम प्रश्न पत्र, मॉडल प्रश्न पत्र, संभावित प्रश्न पत्र, टेस्ट पेपर आदि में सम्मिलित हों।
  • प्रत्येक दिन एक-एक टॉपिक तय करके पढ़ें।
  • शॉर्ट नोट्स बनायें जिससे कि अंतिम समय में रिविज़न किया जा सके।
  • मुख्य परीक्षा में कंप्यूटर जागरूकता एक महत्वपूर्ण हिस्सा है। कंप्यूटर की बुनियादी समझ जटिल समस्या को सुलझाने में आपकी मदद करेगी, इसलिए आपको परीक्षा से पहले कंप्यूटर के मौलिक तत्वों को पढ़ना होगा।
  • इस क्षेत्र में विकसित कई तकनीकों पर छात्रों को नजर रखनी पड़ेगी और उससे अपडेट रहने की आवश्यकता है।
  • इसमें सम्मिलित नए प्रकार के प्रश्न सिर्फ विषय की समझ की मांग करते हैं। अतः सावधानीपूर्वक प्रश्नों को पढ़ें और उसके  अनुसार प्रश्न हल करें।

महत्वपूर्ण विषय हैं:
कंप्यूटर का इतिहास | हार्डवेयर और सॉफ्टवेर | नेटवर्किंग और सिक्यूरिटी इन्टरनेट और डाटाबेस| ऑपरेटिंग सिस्टम/ लैंग्वेज/ मेमोरी| MS ऑफिस| शोर्टकट की|

v. सामान्य ज्ञान  

  • दैनिक आधार पर अखबार पढ़ें ऐसा करना न केवल आपके सामान्य ज्ञान को बढ़ाने में मदद करेगा बल्कि इंग्लिश भाषा में भी सुधार करेगा। यह सबसे अच्छी आदत है कि लोग ज्ञान और शिक्षा के विभिन्न क्षेत्रों में जानकारी बढ़ाने के लिए दैनिक रूप से अखबार पढ़ते हैं। मुख्य पृष्ठ की खबरों पर विशेष ध्यान दें क्योंकि इसमें सबसे महत्वपूर्ण और नवीनतम जानकारी होती है।
  • पत्रिकाओं या ऑनलाइन पत्रिकाओं को नियमित रूप से पढ़ें जिसमें अर्थव्यवस्था, व्यापार से संबंधित व्यापारिक नीतियां, खेल, कला, साहित्य आदि के क्षेत्र में नवीनतम पुरस्कार प्राप्त करने वाले विभिन्न टॉपिक्स को शामिल किया गया हो।
  • अख़बारों पर निर्भर होने के बजाय विभिन्न ऑनलाइन साइटों पर उपलब्ध संदर्भित पुस्तकों की सहायता से तैयारी करें।
  • पिछले साल के पेपर्स को नियमित रूप से हल करें। यह प्रश्नों के पैटर्न को समझने में आपकी मदद करता है। इसके अलावा, आप पाठ्यक्रम में दिए गए प्रत्येक टॉपिक के लिए कठिनाई का स्तर से अवगत हो सकेंगे।
  • विभिन्न मॉक टेस्ट और प्रश्न बैंकों के साथ ऑनलाइन या विशेष पुस्तकों के माध्यम से अभ्यास करें। यह आपको समय और दक्षता के महत्व का आकलन करने में मदद करता है। टाइमर सेट करें और प्रश्नों को हल करने का प्रयास करें। ऐसा करने से आप प्रश्नों को हल करने में अपनी गति बढ़ा सकेंगे जिससे वास्तविक परीक्षा में आप तय समय-सीमा में सभी प्रश्नों को हल करने में सक्षम हो सकेंगे।
  • महत्वपूर्ण जानकारी के नोट्स बनाएं जिन्हें आप नियमित रूप से पढ़ें और संशोधित करते रहें।
  • सबसे महत्वपूर्ण, हमेशा सकारात्मक रहें और अपने आप में विश्वास रखें। सकारात्मक दृष्टिकोण को बनाए रखने से आप अपनी परीक्षाओं के तनाव को आसानी से दूर कर सकते हैं।

महत्वपूर्ण विषय हैं:
विगत 6 माह के करेंट अफेयर| बैंकिंग अवरेनेस (स्टैटिक और करेंट)| भारतीय बैंकिंग/वित्तीय प्रणाली| क्रेडिट और मोनेटरी पॉलिसी| सरकारी पहल, नीति| महत्त्वपूर्ण राष्टीय और अंतर्राष्टीय संगठन|

IBPS RRB मुख्य परीक्षा 2018 के लिए: दिवस-वार अध्ययन योजना

दिन  सेक्शन      मॉक टेस्ट्स 
रीजनिंग  क्वांट  हिंदी कंप्यूटर सामान्य ज्ञान
दिन  1 न्याय कथन (Syllogism) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) मुहावरें एवं लोकोक्तियाँ कंप्यूटर की सामान्य जानकारी विगत 6 माह के करेंट अफेयर Sectional Test
दिन 2 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) संख्या पद्धति (Number Series) रिक्त स्थान की पूर्ति सॉफ्टवेर और हार्डवेयर की जानकारी बैंकिंग अवरेनेस (स्टैटिक और करेंट बैंकिंग अवेयरनेस)
दिन 3 नए पैटर्न पर आधारित कोडिंग-डिकोडिंग (Coding Decoding) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) अपठित गद्यांश नेटवर्किंग और सिक्यूरिटी स्टैटिक जनरल अवरेनेस Mock 1
दिन 4 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) डाटा पर्याप्तता (Data Sufficiency) वाक्य शुद्धि एमएस ऑफिस सूट और शॉर्टकट की भारतीय बैंकिंग प्रणाली का इतिहास
दिन 5 डाटा पर्याप्तता (Data Sufficiency) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) अपठित गद्यांश महत्त्वपूर्ण शॉर्टकट और संक्षिप्तिकी भारतीय वित्तीय प्रणाली पर एक नजर Sectional Test
दिन 6 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) क्वांटिटी I और II(Quantity I & Quantity II) वर्तनी अशुद्धियाँ इन्टरनेट क्रेडिट और मोनेटरी पॉलिसी
दिन 7 इनपुट-आउटपुट (Input-Output) डाटा पर्याप्तता (Data Sufficiency) अपठित गद्यांश डेटाबेस बैंकिंग और वित्तीय शब्दावली और संक्षिप्तिकी Mock 2
दिन 8 लॉजिकल रीजनिंग (Logical Reasoning) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) पर्यायवाची कंप्यूटर का इतिहास और भविष्य महत्त्वपूर्ण भारतीय नीति और पहल, महत्त्वपूर्ण सबमिट, बैंकिंग सेक्टर के नए परिवर्तन और बदलाव, महत्त्वपूर्ण बैंकिंग टर्म Sectional Test
दिन 9 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) विविध टॉपिक (Miscellaneous Topics) व्याकरण कंप्यूटर की सामान्य जानकारी महत्त्वपूर्ण बैंकिंग संस्थान जैसे RBI, SEBI, IRDA, FSDC आदि और महत्त्वपूर्ण अंतर्राष्टीय संगठन जैसे IMF, विश्व बैंक, ADB, UN आदि Sectional Test
दिन 10 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) व्याकरण कंप्यूटर मेमोरी स्टैटिक जनरल अवरेनेस
दिन 11 रक्त सम्बन्ध, दिशा बोध और अनुक्रम और रैंकिंग (Blood Relation, Direction Sense, Order and Ranking) विविध टॉपिक (Miscellaneous Topics) वाक्यक्रम व्यवस्थापन ऑपरेटिंग सिस्टम भारतीय वित्तीय प्रणाली पर एक नजर Mock 3
दिन 12 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) विपरीतार्थक शब्द कंप्यूटर लैंग्वेज भारतीय बैंकिंग प्रणाली का इतिहास Mock 4
दिन 13 नया पैटर्न सीरीज (New Pattern Series) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) वाक्यांश के लिए एक शब्द सॉफ्टवेर और हार्डवेयर की जानकारी विगत 6 माह के करेंट अफेयर Sectional Test
दिन 14 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) विविध टॉपिक (Miscellaneous Topics) गुढार्थी (क्लोज टाइप) प्रकार का गद्यांश कंप्यूटर की सामान्य जानकारी महत्त्वपूर्ण भारतीय नीति और पहल, महत्त्वपूर्ण सबमिट, बैंकिंग सेक्टर के नए परिवर्तन और बदलाव, महत्त्वपूर्ण बैंकिंग टर्म
दिन 15 पजल और बैठक व्यवस्था (Puzzle And Seating Arrangement) डाटा व्याख्या (Data Interpretation) वाक्यों में रिक्त-स्थानों की पूर्ति ऑपरेटिंग सिस्टम रीविजन Mock 5

4. पढ़ाई पर फोकस कैसे करें?

अभ्यर्थियों को यह सलाह दी जाती है कि वे पूरे तैयारी में विषयों की अवधारणाओं को समझने पर ध्यान दें। यह आपको समय की एक लंबी अवधि के लिए अवधारणाओं को याद करने में मदद करेगा। अवधारणाओं की स्पष्ट समझ के साथ, उम्मीदवार आसानी से उन अवधारणाओं से संबंधित प्रश्नों को आसानी से संभाल सकते हैं। आप जो पढ़ रहे हैं उससे जुड़ें। यदि पढ़ते समय परेशानी आती है तो उसपर विशेषज्ञों के साथ चर्चा करें।

5. मॉडल, विगत वर्ष और मॉक टेस्ट के प्रश्न पत्र का अभ्यास करें

इस प्रकार प्रश्नपत्रों से अभयास करने से आप परीक्षा के पैटर्न को आसानी से समझ पायेंगे और आप विभिन्न प्रकार के सवालों और उन्हें सुलझाने की विधि सीख पाते हैं। यह आपको गति और सटीकता प्राप्त करने में भी सहायता करता है। इस तरह के परीक्षण करने के लिए अभ्यर्थी आनलाईन टेस्ट सीरीज का उपयोग कर सकते हैं।

उम्मीदवारों को पिछले साल के प्रश्नों को हल करने की सलाह दी जाती है क्योंकि ऐसा करने से आप परीक्षा में पूछे गए सवालों के स्तर को जान सकते हैं और कभी-कभी दोहराए गए प्रश्नों के बारे में भी पता चलता है और इससे उन्हें हल करने का समय कम हो जाता है।

TyariPLUS जॉइन करें !
अपनी आगामी सभी परीक्षाओं की तैयारी के लिए अब सिर्फ TyariPLUS की सदस्यता लें और वर्ष भर अपनी तैयारी जारी रखें-
TyariPLUS सदस्यता के फायदे

  • विस्तृत परफॉरमेंस रिपोर्ट
  • विशेषज्ञों द्वारा नि: शुल्क परामर्श
  • मुफ्त मासिक करेंट अफेयर डाइजेस्ट
  • विज्ञापन-मुक्त अनुभव और भी बहुत कुछ

परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवार अपनी परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें और मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी को जांचते रहें। अनलिमिटेड मॉक टेस्ट से अभ्यास करने के लिए अभी TyariPLUS जॉइन करें।
TyariPLUS

अगर आप को यह लेख पसंद आया हो तो इसे लाइक और शेयर करना न भूलें। 

IBPS RRB ऑफिसर स्केल मुख्य परीक्षा 2018 की नवीनतम जानकारियों के लिए हमसे जुड़े रहें। बैंकिंग की परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ बैंकिंग परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Exam Preparation App OnlineTyari

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.