SBI SO और IBPS SO: जॉब प्रोफाइल, परीक्षा पैटर्न, कार्य वातावरण

SBI SO और IBPS SO: जैसा कि आप सभी जानते हैं कि भारतीय स्टेट बैंक भारत की सबसे बड़ी सार्वजनिक क्षेत्र की बैंक हैं और इसीलिए भारतीय स्टेट बैंक में नौकरी प्राप्त करना बहुत से उम्मीदवारों के लिए एक सपने के सच होने की तरह होता है। प्रत्येक वर्ष, SBI द्वारा विशेषज्ञ अधिकारी की भर्ती के लिए ऑनलाइन परीक्षा का आयोजन किया जाता है। इसके अतिरिक्त, दूसरी महत्वपूर्ण परीक्षा IBPS SO है। SBI के समान ही, बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (IBPS) द्वारा विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में विशेषज्ञ अधिकारियों की भर्ती के लिए ऑनलाइन लिखित परीक्षा का आयोजन किया जाता है।

ये दोनों ही परीक्षाएं उन उम्मीदवारों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण हैं, जो बैंकिंग क्षेत्र में अपना कैरियर बनाना चाहते हैं। यहां हम दोनों प्रतियोगी नौकरियों की एक तुलना प्रदान कर रहे हैं अर्थात वेतन, जॉब विवरण, परीक्षा पैटर्न , भत्ते और अन्य लाभों तथा कार्य वातावरण के आधार पर SBI SO और IBPS SO।

SBI SO और IBPS SO: जॉब प्रोफाइल की तुलना

जब आप SO परीक्षा और साक्षात्कार में सफल हो जाते हैं, तो आपको एक विशेषज्ञ अधिकारी के रूप में नियुक्त किया जाता है। लेकिन एक बैंक SO के रूप में, आपको एक विशेष विभाग में नियुक्त किया जाता है। बैंक में प्रत्येक विभाग की अपनी स्वयं की कार्यपद्धति होती है। बैंक SO के रूप में आपकी जॉब का विवरण, आपको आवंटित किये गए  विभाग पर निर्भर करता है। विभिन्न विभाग और उनमें एक बैंक SO को आवंटित कार्य इस प्रकार हैं:

बैंक SO (IT अधिकारी)

IT विभाग में एक बैंक SO, मुख्य रूप से बैंकिंग सिस्टम के विभिन्न कार्यों के प्रबंधन, नियंत्रण और अनुकूलन के लिए जिम्मेदार होता है। IT विभाग में एक विशेषज्ञ अधिकारी के रूप में, आपको इनमें से किसी एक कार्य को संभालना पड़ सकता है:

  • डाटा केंद्र रख-रखाव और समर्थन
  • ATM से संबंधित प्रश्न
  • बैंक में कंप्यूटर प्रणालियों का रखरखाव
  • सॉफ्टवेयर और MIS रखरखाव
  • नेटवर्क सुरक्षा रखरखाव और क्वेरी प्रसंस्करण

बैंक SO (विपणन अधिकारी)

विपणन विभाग में एक बैंक SO का जॉब प्रोफाइल काफी व्यस्त हो सकता है। विपणन अधिकारी की प्राथमिक जिम्मेदारी यह होती है कि वह बैंक के लिए व्यापार के अधिक से अधिक अवसर लेकर आये और उसके लाभ को बढ़ाये। विपणन विभाग में एक विशेषज्ञ अधिकारी को सौंपे गए कुछ महत्वपूर्ण कार्य इस प्रकार हैं:

  • विज्ञापन देने के लिए एक लागत-प्रभावी बजट तैयार करे। इसके अतिरिक्त, वे समझौता-वार्ता टीम(negotiation team) का भी एक भाग हो सकते हैं।
  • विभिन्न विपणन चैनलों जैसे-पोस्टर, टीवी पर विज्ञापन, समाचारपत्र में विज्ञापन आदि को प्रबंधित करना। इस चैनलों के माध्यम से वितरित सामग्री की जांच-पड़ताल करना भी आवश्यक होता है।
  • सबसे महत्वपूर्ण बात, ग्राहकों और संभावित ग्राहकों के रूप में बैंक की एक सकारात्मक छवि को बढ़ाने के लिए बैंक PR विभाग के कुछ पहलुओं को प्रबंधित करना।

बैंक SO (HR अधिकारी)

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि, HR विभाग में एक विशेषज्ञ अधिकारी को मानव संसाधन गतिविधियों पर नज़र रखनी होगी। HR विभाग में एक बैंक SO के कुछ महत्वपूर्ण कार्य इस प्रकार है:

  • मौजूदा मानव संसाधन नीतियों का विश्लेषण करना। यदि आवश्यकता हो तो कुछ परिवर्तनों का सुझाव देना।
  • बैंक में कार्य कर रहे लोगों के बीच एक सकारात्मक दृष्टिकोण को बढ़ावा देने के लिए नई नीतियों को लागू करना।
  • दुराचार के ऐसे सभी मामलों को संभालना जिनमें HR विभाग के ध्यान देने की आवश्यकता है।
  • समय-समय पर, चयन और भर्ती समिति का एक भाग बनना।

बैंक SO ( विधि अधिकारी)

कानून विभाग में एक बैंक SO को बैंक के सभी कानूनी कार्यों को संभालना होता है। कानून विभाग में एक बैंक SO को आवंटित कुछ कार्य इस प्रकार हैं:

  • वर्तमान नीतियों को देखना और त्रुटियों का पता लगाना ( यदि कोई हो)
  • बैंक की विभिन्न प्रक्रियाओं के लिए कानूनी नोटिस और दस्तावेज बनाना।
  • बैंक धोखाधड़ी, आरोपों, आदि से संबंधित मुद्दों में कानूनी सहायता प्रदान करना।
  • बैंक की प्रतिष्ठा और प्रमाणिकता को बनाये रखना।

बैंक SO (कृषि क्षेत्र अधिकारी)

एक कृषि क्षेत्र अधिकारी के रूप में एक बैंक SO का कार्य काफी चुनौतीपूर्ण हो सकता है। एक कृषि क्षेत्र अधिकारी के रूप में एक बैंक SO को आवंटित कार्य इस प्रकार से हैं:

  • विभिन्न बैंकिंग प्रक्रियाओं और योजनाओं के बारे में सभी ग्राहकों को विस्तृत जानकारी प्रदान करना।
  • लोगों के लिए सरकार से संबंधित योजनाओं और लाभ योजना की व्याख्या करना।
  • वे सभी लोग तो बैंक के मानदंडों को पूरा करते हैं, उन्हें ऋण प्रदान करना।

बैंक SO (राजभाषा अधिकारी)

हिंदी हमारी राष्ट्रीय भाषा है। फिर भी मुख्य उद्योगों में अंग्रेजी का प्रभुत्व है। इसलिए, एक बैंक में हिंदी को बढ़ावा देने के लिए, एक बहुत ही योग्य उम्मीदवार को बैंक SO राजभाषा अधिकारी के पद पर नियुक्त किया जाता है। इस पद के अंतर्गत महत्वपूर्ण कार्य इस प्रकार है:

  • बैंक में वितरित सभी महत्त्वपूर्ण दस्तावेजों का अनुवाद करना और उन्हें संशोधित करना। यह दस्तावेज आंतरिक या आउटबाउंड हो सकते हैं। इस कार्य को कुशलतापूर्वक पूरा करना राजभाषा अधिकारी की जिम्मेदारी होती है।
  • अधिकतर ग्राहकों द्वारा बोली जाने वाली भाषा में बैंक कर्मियों को प्रशिक्षण देने के लिए कार्यशालाओं का आयोजन करना।
  • राजभाषा अधिकारी को यह भी सुनिश्चित कर लेना चाहिए कि बैंकिंग सरकारी संगठनों के मध्य भेजी गयी सरकारी सूचनाएं और निर्देश हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषाओं में होने चाहिए।

इसीलिए, ऊपर दी गयी सूचना से हम एक बात यह समझ सकते हैं कि एक बैंक SO के रूप में, आप केवल एक जॉब प्रोफाइल पर कार्य करेंगे जो कि केवल एक ही क्षेत्र में विशेषज्ञता प्रदान करती है। अब हम SBI SO vs IBPS SO के अगले दौर की ओर बढ़ते हैं, जिसमें हम वेतनमान की तुलना करेंगे।

SBI SO और IBPS SO: वेतनमान

यहां हम एक SBI SO और IBPS SO को दिए जाने वाले वेतनमान पर चर्चा करेंगे। तो, आइये, सबसे पहले SBI SO के वेतनमान से प्रारंभ करते हैं।

SBI SO: वेतनमान

ग्रेड-पे स्केल

JMGS I: 23700-980/7-30560-1145/2-32850-1310/7-42020

MMGS II: 31705-1145/1-32850-1310/10-45950

MMGS III: 42020-1310/5-48570-1460/2-51490

अधिकारी DA, HRA. CCA, PF, अंशदायी पेंशन फंड और संबंधित ग्रेड के लिए स्वीकार्य अनुलाभों के लिए भी पात्र होंगे। नियमों के अनुसार, समय-समय पर, JMGS I, MMGS II, MMGS III ग्रेड के लिए स्वीकार्य कुल वार्षिक मुआवजा क्रमश: लगभग 11.63 लाख रूपये, 15.09 लाख रूपये, 18.32 लाख रुपये होगा।

संविदा पद: मुआवजा पैकेज (CTC) में स्थिर और चर घटक शामिल होंगें लेकिन एक उपयुक्त उम्मीदवार के लिए ये एक सीमित कारक नहीं होंगे।

परिवीक्षा: बैंक निर्देशों के अनुसार/सक्षम प्राधिकारी द्वारा निर्धारित

IBPS SO: वेतनमान

IBPS SO के लिए वेतन की गणना, उन्हें प्रदान किये जाने वाले सभी भत्तों के आधार पर की जाती है। हालांकि, स्केल I के अंतर्गत एक SO को प्रदान किया जाता है- लगभग 14,500 रु. – 600/7 – 18,700 – 700/2 – 20,100 – 800/7 – 25,700/-। इसीलिए, हस्तगत नकद(cash-in-hand)  लगभग 24,000 रु. -32,000 रु. के आस-पास होगा।

स्केल II के अंतर्गत मूल वेतन दिया जाता है: लगभग 9,400 700/1- 20,100 – 800/10 – 28,100 रु.। नियुक्ति के दौरान, वेतन लगभग  34,000 रु.- 40,000 रु. होगा। एक वर्ष पूरा होने के पश्चात, मूल वेतन पर 700 रु. की एक वेतन वृद्धि देय होगी। उसके बाद अगले 10 वर्षों के लिए मूल वेतन पर 800 रु. की वेतन वृद्धि देय होगी।

SBI SO और IBPS SO के वेतनमान की विस्तृत जानकारी के बाद, अब आइये, SBI SO और IBPS SO के परीक्षा पैटर्न के बीच अंतर देखते हैं।

SBI SO और IBPS SO: परीक्षा पैटर्न

SBI SO या IBPS SO के रूप में नियुक्त होने के लिए, एक उम्मीदवार को, उत्तरदायी अधिकारियों द्वारा निर्धारित विभिन्न परीक्षा दौर में सफल होना पड़ता है। तो आइये SBI SO और IBPS PO के लिए ऑनलाइन परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालते हैं।

SBI SO परीक्षा पैटर्न

नीचे SBI विशेषज्ञ अधिकारी की भर्ती के लिए SBI SO परीक्षा पैटर्न प्रस्तुत किया गया है।

क्रम संख्या पद प्रश्नपत्र विषय प्रश्नों की संख्या अंक अवधि
1. सिस्टम, डेवलपर्स, टेस्ट लीड, टेस्टर और सांख्यिकीविद् प्रश्नपत्र 1 रीजनिंग 50 50* 90 मिनट
2. क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड 35 35*
3. इंग्लिश भाषा 35 35*
4. प्रश्नपत्र 2 प्रोफेशनल नॉलेज (PK) 50 100 45 मिनट
कुल 170 220

  • SBI विशेषज्ञ अधिकारी परीक्षा में दो प्रश्नपत्र शामिल होंगे।
  • प्रश्नपत्र 1 के लिए निर्धारित समयावधि 90 मिनट है।
  • प्रश्नपत्र 1 के लिए निर्धारित समयावधि 45 मिनट है।
  • परीक्षा में नेगेटिव मार्किंग का भी प्रावधान है।

* (स्टार) का तात्पर्य यह है कि ये क्वालीफाइंग हैं और मेरिट लिस्ट बनाते समय इन अंकों पर विचार नहीं किया जायेगा।

IBPS SO परीक्षा पैटर्न

उम्मीदवारों को IBPS SO के नए परीक्षा पैटर्न से अवगत होना चाहिए जिससे कि वे उसी के अनुसार तैयारी कर सकें। तो, आइये, IBPS SO के संशोधित परीक्षा पैटर्न को देखते हैं।

IBPS SO परीक्षा पैटर्न: विधि अधिकारी-स्केल I और राजभाषा अधिकारी स्केल I

सेक्शन का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक आवंटित समय
रीजनिंग  50  *  30 मिनट
इंग्लिश भाषा  50  *  25 मिनट
जनरल अवेयरनेस ( विशेषकर बैंकिंग के संदर्भ में)  50  *  30 मिनट
प्रोफेशनल नॉलेज  50  80  35 मिनट
 कुल  200  80  120 मिनट

आइये, कुछ महत्वपूर्ण बिंदुओं पर प्रकाश डालते हैं:

  • परीक्षा में कुल 200 प्रश्न शामिल होंगें।
  • प्रत्येक सेक्शन के लिए एक अलग टाइम स्लॉट आवंटित किया जायेगा। एक उम्मीदवार आवंटित टाइम स्लॉट से पहले दूसरे सेक्शन पर नहीं जा सकता है भले ही उसने अपना वर्तमान सेक्शन पूरा कर लिया हो।
  • IBPS SO परीक्षा के लिए कुल समयवधि 120 मिनट होगी।
  • प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे।
  • रीजनिंग, इंग्लिश भाषा और जनरल अवेयरनेस सेक्शन केवल क्वालीफाइंग होंगे।
  • प्रोफेशनल नॉलेज सेक्शन के लिए 50 प्रश्न निर्धारित किये गए हैं।
  • प्रोफेशनल नॉलेज सेक्शन के लिए कुल निर्धारित अंक 80 हैं।

* (स्टार) का तात्पर्य यह है कि ऊपर दिए गए सेक्शन केवल क्वालीफाइंग होंगे।

IBPS PO परीक्षा पैटर्न: IT अधिकारी स्केल I, कृषि क्षेत्र अधिकारी स्केल I, मानव संसाधन / कार्मिक अधिकारी स्केल I और विपणन अधिकारी स्केल I
सेक्शन का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक आवंटित समय
रीजनिंग  50  *  30 मिनट
इंग्लिश भाषा  50  *  25 मिनट
क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड  50  *  30 मिनट
प्रोफेशनल नॉलेज  50  80  35 मिनट
 कुल  200  80  120 मिनट

* (स्टार) का तात्पर्य यह है कि ऊपर दिए गए सेक्शन केवल क्वालीफाइंग हैं। साक्षात्कार के लिए मेरिट सूची बनाते समय इन अंकों की गणना नहीं की जायेगी।

  • परीक्षा में कुल 200 प्रश्न शामिल होंगें।
  • प्रत्येक सेक्शन के लिए एक अलग टाइम स्लॉट आवंटित किया जायेगा। एक उम्मीदवार आवंटित टाइम स्लॉट से पहले दूसरे सेक्शन पर नहीं जा सकता है भले ही उसने अपना वर्तमान सेक्शन पूरा कर लिया हो।
  • IBPS SO परीक्षा के लिए कुल समयवधि 120 मिनट होगी।
  • प्रश्न वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे।
  • रीजनिंग, इंग्लिश भाषा और क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड सेक्शन केवल क्वालीफाइंग होंगे।
  • प्रोफेशनल नॉलेज सेक्शन के लिए 50 प्रश्न निर्धारित किये गए हैं।
  • प्रोफेशनल नॉलेज सेक्शन के लिए कुल निर्धारित अंक 80 हैं।

तो, आइये, अब हमारे अगले दौर की बढ़ते हैं अर्थात SBI SO और IBPS SO: कार्य वातावरण की तुलना

SBI SO और IBPS SO: कार्य वातावरण की तुलना

भारत के अग्रणी बैंकिंग उद्योग में ये दोनों ही अत्यधिक प्रतिष्ठित नौकरियां हैं। तो, आइये कार्य के वातावरण के बारे में बात करते हैं।

SBI SO: कार्य का दबाव और वातावरण

भारतीय स्टेट बैंक, भारत की सबसे बड़ी और सबसे पुरानी प्रशासनिक बैंक है। इसकी शाखाएं, पूरे भारत भर में फ़ैली हुए हैं तथा इसके हर जगह विभिन्न ATM काउंटर हैं। तो यह स्पष्ट है कि किसी भी अन्य राष्ट्रीयकृत बैंक की तुलना में भारतीय स्टेट बैंक में सबसे अधिक ग्राहक होते हैं। इससे SBI की शाखाओं में कार्य का दबाव बढ़ जाता है। चूंकि यह भारत की सबसे पुरानी बैंक है, इसीलिए SBI, ग्राहकों के प्रति वफादार है, और इससे भी इसके विभागों में ग्राहकों की संख्या बढ़ जाती है।

IBPS SO: कार्य का दबाव और वातावरण

कुछ राष्ट्रीयकृत बैंकें ग्रामीण क्षेत्रों में सुलभ नहीं हैं, यहां तक कि हम कह सकते हैं कि वे भारत भर में सुलभ नहीं हैं और प्रत्येक स्थान पर उनके ATM काउंटर भी नहीं हैं। इसीलिए, अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों में, SBI की तुलना में, ग्राहकों की संख्या कम होती है। इसीलिए इन शाखाओं में कार्य का दबाव भी कम होता है।

हम उम्मीद करते हैं कि यह तुलना आपको SBI SO और IBPS SO के मध्य अंतर समझने में सहायता प्रदान करेगी।

एक बैंक विशेषज्ञ अधिकारी के रूप में अपना कैरियर आगे बढ़ाने में आप भ्रमित क्यों है? एक नज़र यहां देखिये:

बैंक SO के रूप में अपना कैरियर बनाने के लिए कारण

  • सरल जीवन
  • अच्छा वेतन, भत्ते और लाभ
  • कार्य के अच्छे स्थान (ज्यादातर मेट्रो शहर)
  • बहुत कम जॉब स्थानांतरण

सार्वजनिक क्षेत्र के बैंक भर्ती परीक्षा के संबंध में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़े रहें। बैंक परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ बैंक परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए, OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.