UPSC IAS बनाम UPPSC परीक्षा – परीक्षा पैटर्न, पात्रता मानदंड

UPSC IAS बनाम UPPSC परीक्षा: सिविल सेवा परीक्षा (CSE), भारत सरकार की विभिन्न सिविल सेवाओं और भारतीय प्रशासनिक सेवाओं (IAS) में उम्मीदवारों की भर्ती के लिए संघ लोक सेवा आयोग द्वारा देशभर में आयोजित की जाने वाली प्रतियोगी परीक्षा है। ये देश में सबसे प्रतिष्ठित और मुश्किल परीक्षाओं में से एक है। आवेदन भरने वाले उम्मीदवारों में सिर्फ़ 0.1 – 0.3 फ़ीसद के उम्मीदवारों के सफ़ल होने के अनुपात के कारण इस परीक्षा में उत्तीर्ण होना बहुत मुश्किल है। UPSC IAS परीक्षा 2017 के लिए, पूरे देश में 980 रिक्तियां निकाली गई हैं।

वहीं दूसरी ओर, उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) एक राज्य एजेंसी है जो कि उत्तर प्रदेश की सिविल सेवाओं में प्रवेश स्तरीय नियुक्तियों के लिए सिविल सेवा परीक्षा के आयोजन की उत्तरदायी है।

IAS All India Prelims Test Series

ओरिएंट आईएएस ऑल इंडिया आईएएस प्रीलिम्स टेस्ट सीरीज 2017

IAS परीक्षाओं की तैयारी हेतु अग्रणी संस्थान ओरिएंट आईएएस द्वारा ‘ऑल इंडिया आईएएस प्रीलिम्स टेस्ट सीरीज 2017’ को तैयार किया गया है। इस पुस्तक में 100 प्रश्नों वाले 16 टेस्ट सीरीज IAS प्रारंभिक परीक्षा के अनुरूप तैयार किए गए हैं। टेस्ट सीरीज में परम्परागत प्रश्न के साथ-साथ नवीन समसामयिकी को भी सम्यक स्थान दिया गया है। अभ्यर्थियों में उत्तर लेखन विकसित करने हेतु प्रत्येक प्रश्न का विश्लेषण सहित व्याख्यात्मक हल भी प्रदान किया गया है।

कुछ प्रश्नों का प्रयास करने के लिए यहां क्लिक करें

IAS Prelims Mock Test Series 2017

क्रॉनिकल ऑल इंडिया आईएएस प्रीलिम्स टेस्ट सीरीज 2017

क्रॉनिकल प्रकाशन सिविल सेवा परीक्षाओं की तैयारी के लिए एक जाना हुआ नाम है। प्रत्येक वर्ष काफी प्रश्न इसकी पुस्तकों से पूंछे जाते हैं।ऑल इंडिया आईएएस प्रीलिम्स टेस्ट सीरीज 2017’ इसी श्रेणी में एक अन्य पुस्तक हैं जो IAS परीक्षा 2017 को ध्यान में रखकर तैयार तैयार किया गया है। इस पुस्तक में NCERT आधारित, विषय विशेष और समसामयिकी आधारित टेस्ट पेपर रखा गया है और प्रत्येक टेस्ट सीरीज में 100 प्रश्न सम्मिलित किये गए है।

सामान्य अध्ययन पेपर-I के 9 टेस्ट और सीसेट पेपर-II के 5 टेस्ट भी सम्मिलित किये गए है। अभ्यर्थी में उत्तर लेखन विकसित करने हेतु प्रत्येक प्रश्न का विश्लेषण सहित व्याख्यात्मक हल भी प्रदान किया गया है।

कुछ प्रश्नों का प्रयास करने के लिए यहां क्लिक करें

दोनों का ही अपना महत्व है, दोनों में अंतर इतना है कि UPSC राष्ट्र स्तरीय परीक्षा है वहीं, UPPSC एक राज्य स्तरीय परीक्षा है। इस वर्ष, संयुक्त राज्य / उच्च अधीनस्थ सेवाओं के पदों के लिए कुल 251 रिक्त पद हैं। अब हम UPSC IAS बनाम UPPSC: परीक्षा पैटर्न और पात्रता मानदंड पर चर्चा करेंगे।

UPSC IAS बनाम UPPSC परीक्षा: परीक्षा पैटर्न

इस लेख में हम UPSC IAS और UPPSC परीक्षाओं में मूलभूत भिन्नताओं पर चर्चा करेंगे। हमारे ब्लॉग के पहले राउंड में उम्मीदवारों को UPSC और UPPSC परीक्षाओं के पैटर्न की भिन्नता के विषय में पता चलेगा। अब हम UPSC IAS प्रारंभिक परीक्षा के परीक्षा पैटर्न के साथ शुरू करेंगे।

IAS प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न

UPSC अधिसूचना के अनुसार, सिविल सेवा प्रारंभिक परीक्षा वस्तुनिष्ठ प्रकार की है। आधुनिक IAS परीक्षा पैटर्न 2017 के अनुसार, IAS प्रारंभिक परीक्षा 2017 में दो वस्तुनिष्ठ प्रकार के पेपर शामिल होंगे। वे हैं:

  1. जनरल स्टडीज़ पेपर-1
  2. जनरल स्टडीज़ पेपर-2 (CSAT)

इन दोनों पेपरों में से सिर्फ़ जनरल स्टडीज़ पेपर-1 में अर्जित अंक ही गिने जाएंगे। CSAT या सिविल सेवा एप्टिट्यूड टेस्ट एक क्वॉलिफ़ाइंग पेपर है और उम्मीदवार को क्वॉलिफ़ाई करने के लिए UPSC द्वारा निर्धारित न्यूनतम अंक प्राप्त करने होंगे। प्रत्येक पेपर 200 अंकों का होगा।

CSAT 2017 को पास करने के लिए न्यूनतम क्वॉलिफ़ाइंग अंक क्या हैं? सिविल सेवा एप्टिट्यूड टेस्ट क्वॉलिफ़ाइंग पेपर होगा जिसमें न्यूनतम क्वॉलिफ़ाइंग अंक 33 फ़ीसद हैं।

जनरल स्टडीज़ पेपर-2 में न्यूनतम क्वॉलिफ़ाइंग अंक 33 फ़ीसद और सिविल सेवा (प्रारंभिक) परीक्षा के जनरल स्टडीज़ पेपर-1 में कुल क्वॉलिफ़ाइंग अंकों के मानदंड के आधार पर ही UPSC सिविल सेवा मुख्य परीक्षा के लिए पात्र उम्मीदवारों की सूची जारी करेगी।

*कृपया ध्यान दें कि चुने गए उम्मीदवारों की अंतिम सूची बनाते समय, प्रारंभिक परीक्षा में उम्मीदवारों द्वारा अर्जित अंकों को नहीं गिना जाएगा।

अब हम आगामी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के परीक्षा पैटर्न पर एक नज़र डालेंगे।

UPPSC प्रारंभिक परीक्षा में तीन चरण शामिल हैं जो इस प्रकार हैं:

  • प्रारंभिक परीक्षा (वस्तुनिष्ठ प्रकार और बहुविकल्पीय)
  • मुख्य परीक्षा (परंपरागत प्रकार यानि लिखित परीक्षा)
  • मौखिक टेस्ट (व्यक्तित्व परीक्षण)

यहां हम सिर्फ़ UPPSC प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न पर ध्यान केंद्रित करेंगे। नीचे UPPSC प्रारंभिक परीक्षा का परीक्षा पैटर्न दिया गया है। परीक्षा पैटर्न को अच्छे से पढ़ें और दोनों में भिन्नता खोजें.

UPPSC प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 2017

प्रारंभिक परीक्षा में दो अनिवार्य पेपर शामिल हैं। उम्मीदवारों को अपने उत्तर OMR शीट पर चिन्हित करने होंगे। प्रत्येक पेपर 200 अंकों का होगा और परीक्षाओ को हल करने के लिए कुल आवंटित समय 2 घंटे है। दोनों ही पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के MCQ प्रारूप पर आधारित होंगे।

अनिवार्य विषय अंक
जनरल स्टडीज़ पेपर-1 200
जनरल स्टडीज़ पेपर-2 200

  • प्रारंभिक परीक्षा का पेपर-2 क्वॉलिफ़ाइंग होगा जिसे पास करने के लिए न्यूनतम क्वॉलिफ़ाइंग अंक 33 फ़ीसद होंगे।
  • उम्मीदवारों के मूल्यांकन के लिए प्रारंभिक परीक्षा के दोनों पेपरों को देना होगा। इसलिए, यदि कोई उम्मीदवारों दोनों पेपरों में से एक भी नहीं देता है तो उसे अयोग्य घोषित किया जाएगा।
  • प्रारंभिक परीक्षा के पेपर-1 में प्राप्त अंकों के आधार पर उम्मीदवारों की मेरिट तैयार की जाएगी।

जनरल स्टडीज़ पेपर-1 और पेपर-2:

प्रत्येक पेपर 200 अंकों का होगा और दो घंटों में हल करना होगा। दोनों ही पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे जिसमें पेपर-1 में 150 प्रश्न और पेपर-2 में 100 प्रश्न पूछे जाएंगे। पेपर-1 का समय 9.30 बजे से 11.30 बजे तक का है और पेपर-2 का समय 2.30 से 4.30 तक का है।

अब आप UPPSC प्रारंभिक परीक्षा के पैटर्न से भलीभांति परिचित हैं, अब हम अपने लेख के दूसरे राउंड की ओर बढ़ेंगे यानि UPSC IAS बनाम UPPSC: पात्रता मानदंड।

UPSC IAS बनाम UPPSC: पात्रता मानदंड

अब हम इन दोनों परीक्षाओं के पात्रता मानदंड पर चर्चा करेंगे। इसमें कुछ नियम तय किए गए हैं जिनके आधार पर उम्मीदवार को परीक्षा के लिए पात्र या अपात्र घोषित किया जाता है। नीचे UPSC बनाम UPPSC के लिए विभिन्न पात्रता नियमों का उल्लेख किया गया है।

UPSC IAS पात्रता मानदंड

आयु सीमा: IAS पात्रता के लिए, उम्मीदवार की श्रेणी के अनुसार एक आयु सीमा निर्धारित की गई है। साथ ही IAS परीक्षा देने के प्रयासों की संख्या भी निश्चित की गई है। सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के लिए आयु सीमा 21-32 वर्ष है।

अब हम UPSC IAS के लिए प्रयासों की संख्या पर बात करेंगे।

UPSC IAS के लिए प्रयासों की संख्या: UPSC परीक्षा में, निम्नलिखित आधार पर उम्मीदवार UPSC परीक्षा देने के योग्य है:

  1. सामान्य श्रेणी: 6
  2. OBC श्रेणी: 9
  3. SC / ST श्रेणी: असीमित

अब हम UPPSC के पात्रता मानदंट की ओर बढेंगे।

UPPSC पात्रता मानदंड

आयु सीमा: उम्मीदवार 21 वर्ष के तो हो ही गए होंगे और 1 जुलाई 2017 तक 40 वर्ष की आयु के निश्चित ही नहीं होंगे यानि उन्हें 2 जुलाई 1977 से पहले और 1 जुलाई 1996 के बाद जन्म नहीं लिया होना चाहिए।

प्रयासों की संख्या: UPPSC परीक्षा को असीमित संख्या तक दिया जा सकता है।

यहां हम UPSC IAS बनाम UPPSC की मूलभूत भिन्नताओं पर इस लेख को विराम देते हैं। UPSC सिविल सेवा भर्ती परीक्षा 2017 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। सिविल सेवा परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

3 REPLIES

    1. Ajay K. Tripathi

      अगर आप प्रारंभिक परीक्षा की बात कर रहें हैं तो वह एक ही दिन होते हैं। और अगर आप मुख्य परीक्षा की बात कर रहे हैं तो वह अलग-अलग दिन आयोजित की जाएगी।

      Reply

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.