MP पटवारी पुन: भर्ती परीक्षा 2017 हेतु प्रवेश पत्र हुए जारी !

MP पटवारी पुन: भर्ती परीक्षा 2017 हेतु प्रवेश पत्र हुए जारी –व्यावसायिक परीक्षा मंडल (PEB) के तहत पटवारी भर्ती परीक्षा में जिन अभ्यर्थियों के फिंगर प्रिंट का मिलान नहीं हुआ था, उनको दोबारा व्यापमं परीक्षा में शामिल होने के लिए प्रवेश पत्र जारी कर दिया गया है।

इसके तहत 9 दिसंबर की पहली पाली यानि सुबह 9 से 11 बजे वाले समय में जो छात्र परीक्षा देने से वंचित रह गए थे, वे अब 10 जनवरी 2018 को पुन: परीक्षा दे सकेंगे।

 

MP पटवारी पुन: भर्ती परीक्षा 2017 हेतु प्रवेश पत्र हुए जारी !

10 जनवरी से होने वाली इस परीक्षा में करीब 2500 परीक्षार्थी शामिल होंगे। इस बार प्रदेश के सभी परीक्षा केंद्रों पर आधार से वेरीफिकेशन के लिए बायोमेट्रिक मशीन के साथ आई स्कैनर भी रखा गया है। दरअसल, पटवारी परीक्षा में करीब साढ़े तीन हजार अभ्यर्थी अंगूठे के निशान का मिलान नहीं होने से इसमें शामिल होने से वंचित रह गए थे।

बोर्ड द्वारा पटवारी के करीब 9500 पदों के लिए 9 से 29 दिसंबर तक भर्ती परीक्षा आयोजित की गई थी। इस परीक्षा के लिए 10 लाख से भी ज्यादा आवेदन आए थे। इनमें से करीब 1.53 लाख परीक्षार्थी परीक्षा नहीं दे सके थे। बोर्ड के अनुसार एेसे करीब 2500 परीक्षार्थी हैं, जिनकी पहचान अंगूठे में पसीना आने या अन्य कारणों से नहीं हो सकी है। बोर्ड ने इन सभी के लिए अलग से परीक्षा आयोजित कराने का निर्णय लिया है।

डायरेक्ट लिंक से प्रवेश पत्र डाउनलोड करें : MP व्यापम पटवारी पुनः प्रवेश पत्र

उम्मीदवार इमेज/लिंक पर क्लिक कर अपनी एप्लीकेशन संख्या और जन्म तिथि को दर्ज कर अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड कर सकते हैं। समस्त उम्मीदवार अपने प्रवेश पत्र की एक प्रति अवश्य प्राप्त कर लें। बिना प्रवेश पत्र के उम्मीदवार को प्रवेश परीक्षा कक्ष में जाने की अनुमति नहीं प्रदान की जाएगी।

 MP पटवारी परीक्षा (9 -13 दिसंबर) विश्लेषण से परिचित होने के लिए नीचे दिए गए इमेज पर क्लिक करें-MP Patwari Overall Exam Analysis, Paper Review 2017 (9-13 December)

MP पटवारी भर्ती परीक्षा 2017 के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। पटवारी परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.