MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण (GS-1) एवं संभावित कटऑफ़ 2016

MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण: मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग (MPSSC) ने 31 मई 2016 को MP राज्य सेवा परीक्षा का आयोजन किया। ज़ाहिर है कि यह मध्य प्रदेश की सबसे प्रतिष्ठित परीक्षाओं में से एक है और बड़ी संख्या में उम्मीदवारों ने इसकी प्रारंभिक परीक्षा दी। इस लेख में, हम आपको MPSSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण के जनरल स्टडीज़ पेपर-1 की विस्तृत जानकारी देंगे।

MPPSC भर्ती के लिए प्रारंभिक परीक्षा में वस्तुनिष्ठ प्रकार (objective type) के दो पेपर शामिल होते हैं।

पेपर-1 जनरल स्टडीज़ 200 अंक
पेपर-2 जनरल एप्टीट्यूड 200 अंक

प्रत्येक पेपर में कुल 100 प्रश्न पूछे जाते हैं। यहां हम पेपर-1 यानि कि जनरल स्टडीज़ पेपर पर एक संक्षिप्त नज़र डालेंगे।

 

MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 2016 

पिछले वर्ष के विपरीत, प्रश्न पत्र का कठिनाई स्तर अपेक्षाकृत आसान था। जैसे कि उम्मीद थी, पूछे गए 100 प्रश्नों में से 29 प्रश्न मध्य प्रदेश पर आधारित थे। अब हम सभी विषयों में प्रश्नों के वितरण पर एक नज़र डालेंगे।

MPPSC-Prelims-Exam-Analysis

ज़ाहिर है सभी विषयों में प्रश्नों का उचित वितरण किया गया है। हालांकि, यह देखा जा सकता है कि सामान्य ज्ञान और भूगोल पर आधारित प्रश्नों की संख्या अच्छी थी। कुल 53 प्रश्न मात्र इन्हीं दो सेक्शन्स में से थे। MPPSC प्रारंभिक परीक्षा के प्रत्येक सेक्शन का सिलसिलेवार तरीके से विश्लेषण इस प्रकार है।

 

सामान्य ज्ञानः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

ऊपर दिए गए ग्रॉफ़ से स्पष्ट है कि सामान्य ज्ञान से अधिक प्रश्न पूछे गए थे। यह सलाह दी जाती है कि जब हम सामान्य ज्ञान कहते हैं तो इसका तात्पर्य सभी विषयों से है जैसे- करंट अफ़ेयर्स, स्टैटिक अफ़ेयर्स, मध्य प्रदेश से संबंधित सामान्य जानकारी और कम्प्यूटर ज्ञान।

अब इन विषयों में प्रश्नों के वितरण पर एक नज़र डालते हैं।

General-Science-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

स्पष्ट है कि स्टैटिक अफ़ेयर्स से पूछे गए प्रश्नों की संख्या अधिक थी। हालांकि, मध्य प्रदेश से संबंधित सामान्य ज्ञान पर आधारित प्रश्नों की संख्या भी अच्छी थी।

  • करंट अफ़ेयर्स : 8 प्रश्न
  • स्टैटिक अफ़ेयर्स : 12 प्रश्न
  • सामान्य जानकारी (मध्य प्रदेश) : 9 प्रश्न
  • कम्प्यूटर ज्ञान : 4 प्रश्न

भूगोलः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

MPPSC प्रारंभिक परीक्षा 2016 के जनरल स्टडीज़ पेपर-1 में भूगोल से 20 प्रश्न पूछे गए थे। हम इन प्रश्नों को तीन श्रेणियों में विभाजित कर सकते हैं।

  • भारतीय भूगोल
  • विश्व भूगोल
  • MP का भूगोल

इन सेक्शन में वितरित प्रश्नों की संख्या पर एक नज़र डालते हैं।

Geography-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

स्पष्ट है, प्रश्नों का 50% यानि, 20 में से 10 प्रश्न मध्य प्रदेश के भूगोल से ही पूछे गए थे। हालांकि, प्रश्नों के कठिनाई का स्तर पिछले वर्ष के MPPSC पेपरों की तुलना में काफ़ी आसान था। हम भूगोल में 13 से 16 प्रश्नों को करने का औसत प्रयास करने की अपेक्षा कर सकते हैं।

राजनीतिः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

हैरानी की बात है कि, इस वर्ष, राजनीति से पूछे गए प्रश्न मात्र 2 मुख्य सेक्शन में बांटे गए थे।

पूछे गए प्रश्नों की कुल संख्या 12 थी।

Polity-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

ऊपर दिए गए चित्र से स्पष्ट है कि अधिकांश प्रश्न बिल और अधिनियम पर आधारित थे। विशेष रूप से, पूछे गए प्रश्न, निम्नलिखित टॉपिक्स पर आधारित थेः

  • अनुसूचित जाति और अनुसूचित जनजाति अधिनियम 1989
  • भूमि अधिग्रहण अधिनियम
  • मानव अधिकार अधिनियम 

विज्ञान और प्रौद्दयोगिकीः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

इस सेक्शन से कुल 13 प्रश्न पूछे गए। ऐसी ही विभिन्न समान परीक्षाओं और UPSC IAS परीक्षा की तुलना में पूछे गए प्रश्नों का कठिनाई स्तर आसान था।

इस सेक्शन के अधिकांश प्रश्न उच्चतर माध्यमिक स्तर जीव विज्ञान पर आधारित थे। भौतिकी और रासायनिक विज्ञान में भी प्रश्नों का उचित वितरण किया गया था।

Science-and-Technology-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

कुल मिला के जीव विज्ञान से 6 प्रश्न, भौतिकी विज्ञान से 3 और रासायनिक विज्ञान से 4 प्रश्न पूछे गए थे।

इतिहासः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

इतिहास में पूछे गए प्रश्नों का सामान्य रूप से प्राचीन, मध्यकालीन और आधुनिक रूप में वर्गीकरण किया जाता है। लेकिन, MPPSC 2016 में प्राचीन इतिहास से एक भी प्रश्न नहीं पूछा गया था। अब हम इन सेक्शन में वितरित प्रश्नों की संख्या पर नज़र डालते हैं।

History-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

पूछे गए प्रश्नों में से 5 प्रश्न मध्य प्रदेश के इतिहास पर आधारित थे, 4 प्रश्न मध्यकालीन इतिहास और 4 प्रश्न राष्ट्रीय व अंतर्राष्ट्रीय के आधुनिक इतिहास पर आधारित थे।

पर्यावरणः MPPSC प्रारंभिक परीक्षा विश्लेषण 

इस सेक्शन से 9 प्रश्न पूछे गए थे। जब इस श्रेणी के वर्गीकरण की बात आती है तो मुख्य रूप से इसे दो विषयों में विभाजित किया गया है, जैव विविधता (Biodiversity) और जलवायु परिवर्तन (Climate Change)।

Environment-MPPSC-Prelims-Exam-Analysis-2016

ऊपर दिए गए चित्र में दर्शाया गया है कि 3 प्रश्न जैव विविधता पर आधारित थे और 6 प्रश्न जलवायु परिवर्तन पर आधारित थे।

जैसा कि हम जानते ही हैं कि MPPSC प्रारंभिक परीक्षा एक क्वॉलिफ़ाइंग पेपर है। एक सामान्य वर्ग के छात्र का 40% अंक हासिल करना आवश्यक है और एक अनुसूचित जाति/जनजाति वर्ग के छात्र का 33% अंक हासिल करना आवश्यक है।

यदि आप MPPSC प्रारंभिक परीक्षा के विषय में अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते हैं और अपने कोई प्रश्न पूछना चाहते हैं तो नीचे दिए गए टिप्पणी अनुभाग में हमें बताएं।

नीचे दिए गए सेक्शन में आप अपने प्रश्नों को हमसे साझा कर सकते हैं। बेहतर प्रतिक्रिया OnlineTyari Community में अपने प्रश्नों का ज़िक्र करें।

Doubts-Hindi--Recovered

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.