SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें !

0
613
SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें !

SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें: केंद्रीय पुलिस संगठन (CPO) भर्ती परीक्षा जून माह में SSC द्वारा देशभर में आयोजित की जानी है। SSC CPO देश की सबसे लोकप्रिय पुलिस भर्ती परीक्षाओं में से एक है और इस परीक्षा में सफलता के लिए उम्मीदवारों को कठिन अभ्यास की आवश्यकता है।

कर्मचारी चयन आयोग द्वारा सब इंस्पेक्टर के 1223 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए थे। आवेदन की अंतिम तिथि  13 अप्रैल थी और स्नातक कर चुके अभ्यर्थी इसके लिए आवेदन कर सकते थे। आवेदन कर चुके अभ्यर्थी को अब तैयारी शुरू कर देनी चाहिए।

SSC CPO टियर I परीक्षा 2018: फ्री पैक (हिंदी माध्यम)

OnlineTyari ने SSC CPO टियर I परीक्षा 2018 की तैयारी कर रहे छात्रों की तैयारी में सहायता करने और उनकी तैयारी के स्तर को जांचने के लिए SSC CPO टियर I परीक्षा से संबंधित इस फ्री पैकेज का संकलन किया है। यह पैकेज विषय के अनुभवी विशेषज्ञों द्वारा परीक्षा के पाठ्यक्रम और परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाई स्तर के अनुरूप निर्मित किया गया। इस संपूर्ण पैकेज में 1 फ्री परीक्षा अनुरूप मॉक टेस्ट और 4 सेक्शनल टेस्ट हैं। अनुभवी टीम द्वारा तैयार यह मॉक सीरीज SSC CPO टियर I परीक्षा की तैयारी कर रहे हर उम्मीदवारों के लिए बहुत उपयोगी है।

अभ्यास करने के लिए यहाँ क्लिक करें !

  SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें !

SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें विषयक जानकारी की तरफ बढ़ने ससे पहले आइयें हम SSC CPO टियर 1 परीक्षा के पैटर्न पर नज़र डाल लेते हैं-

एसएससी सीपीओ 2018 परीक्षा पैटर्न

पेपर I

पार्ट विषय प्रश्नों की संख्या कुल अंक समय सीमा
I सामान्य बुद्धि और तर्क 50 50 02 घंटे
II सामान्य ज्ञान और सामान्य जागरूकता 50 50
III क्वांटेटिव एप्टीटुड 50 50
IV अंग्रेजी समझ 50 50

SSC CPO SI परिक्षा के तहत उम्मीदवारों की इस क्षमता का परीक्षण किया जाएगा की वह संख्याओं को कितना जानता है। और संख्याओं का कितना उपयुक्त प्रयोग करता है। इसे जांचने के लिए निम्न क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड के तहत निम्न टॉपिक से प्रश्न पूछे जाएंगे :-

पूर्णांक शंख्याओं की गणना (computation of whole numbers), दशमलव (decimals), भिन्न (खंड) और संख्याओं के बीच परस्पर संबंध (fractions and relationships between numbers), प्रतिशतता (Percentage), भागफल और अनुपात (Ratio and Proportion), वर्गमूल (Square roots), औसत (Averages), ब्याज (Interest), लाभ और हानि (Profit & Loss), छूट या बट्टा (Discount), साझेदारी व्यापार (Partnership Business), मिश्रण और मिलावट (Mixture and Allegation), समय और दूरी (Time and distance), समय और काम (Time & work), स्कूली बीजगणित एवं प्रारम्भिक करणी के बीजगणितीय ज्ञान
(Basic algebraic identities of School Algebra and Elementary surds), रैखिय समीकरणों के ग्राफ Graphs of Linear Equations), त्रिकोण और उसके विभिन्न प्रकार के केंद्र (Triangle and its various kinds of centres), त्रिकोणों की समरूपता और समानता (Congruence and similarity of triangles), वृत्त एवं उसकी जीवा (Circle and its chords), स्पर्शरेखाएं (Tangents), वृत्त की जीवाओं द्वारा अंतरित कोण (Angles subtended by chords of a circle), दो या अधिक वृत्तों की समान स्पर्श रेखाएँ (common tangents to two or more circles), त्रिकोण (Triangle), चतुर्भुज (Quadrilaterals),
समभुज कोणीय बहुभुज (Regular Polygons) वृत्त (Circle), समप्रिज्म (Right Prism), सम गोलाकार शंकु (Right Circular Cone), सम गोलाकार बेलन (Right Circular Cylinder), गोला (Sphere), गोलार्ध (Hemispheres), आयताकार समानांतरपिपी (समांतरषटफलक) (Rectangular Parallelepiped), त्रिकोणीय अथवा वर्गाकार आधार वाला समभुज कोणीय सम पिरामिड (Regular Right Pyramid with triangular or square base), त्रिकोणमितीय अनुपात (Trigonometric ratio), डिग्री और रेडियन माप (Degree and Radian Measures), मानक सहरूप्यता (Standard Identities), अनुपूरक कोण (Complementary angles), ऊंचाई और दूरी (Heights and Distances), हिस्टोग्राम (Histogram), आवर्ती बहुभुज (Frequency polygon), बार आरेख और पाई चार्ट (Bar diagram & Pie chart)

अब जब आप SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड के लिए महत्वपूर्ण टॉपिक्स को जान चुके हैं तो अब हम SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी टिप्स से अवगत होंगे।

SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी के टिप्स

SSC CPO परीक्षा 2018 : क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड तैयारी के लिए महत्वपूर्ण टिप्स निम्न हैं-

  1.  सिलेबस की जानकारी : प्रत्येक परीक्षा के गणित सेक्शन का सिलेबस आपको पता होना चाहिए। सिलेबस से अवगत रहने से आपको अपने मजबूत और कमज़ोर पक्षों की जानकारी होती है।
  2. फॉर्मूलों को याद  रखें :  मैथ के प्रस्नो को हल करने के लिए फॉर्मूलों का याद होना अति आवश्यक है। इसलिए फॉर्मूले याद करे।
  3. रीडिंग नही प्रैक्टिस करे : कई छात्र ऐसे होते है जो गणित के प्रश्नों को पढ़ते है। यह गणित सिखने का सबसे गलत तरीका है। गणित विषय पर आपकी पकड़ तभी बन सकती है। आप इसकी ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करे। क्योकि गणित विषय को आपको रटना या याद करना नही पड़ता। इसलिए गणित विषय की ज्यादा से ज्यादा प्रैक्टिस करे।
  4. प्रश्नों को हल करने की गति पर ध्यान दें : गणित पेपर को हल करने के लिए सबसे महत्वपूर्ण टिप है कि आप अपनी गति को सुधारें। गणित में आपकी गति तभी ठीक होगी जब आप नियमित अभ्यास की आदत बनायेंगे और साथ ही अभ्यास प्रश्नों को समय प्रबंधन करना सुनिश्चित करने में आप कामयाब हों।
  5. विगत वर्ष के प्रश्न पत्र हल करें : पिछले वर्षों के पेपर हल करें। इससे प्रश्नों के पैटर्न को समझने में और उन्हें हल करने में काफ़ी मदद मिलती है। इससे आप प्रत्येक विषय की कठिनाई का स्तर भी जान पाएंगे।
  6. पहाड़े, वर्ग और घन मूल जैसे बुनियादी तथ्यों को याद करें : 25 तक पहाड़े, 50 तक के वर्गमूल, 15 तक के घन, 15 तक के घन मूल और बुनियादी एल्जेब्रा के फॉर्मूले याद कर लें। साथ ही जरुरत है की आपको दो संख्या के बीच की अभाज्य संख्या निकालना, भाज्यता की जांच, भिन्न शांत है या अशांत, लघुत्तम, महत्तम जैसे बुनियादी बातें आना आवश्यक है।
  7. बुनियादी कॉन्सेप्ट अवश्य समझे : उन विषयों के बुनियादी कॉनसेप्ट को समझें जिनका उल्लेख सिलेबस में किया गया है। यदि आप कहीं किसी विषय पर अटक जाते हैं तो संदर्भ पुस्तकों का सहारा लें और इसके लिए आप किसी शिक्षक की मदद ले सकते हैं या कोई अच्छे प्रकाशक की पुस्तक अवश्य पढ़ें । कोई भी विषय ना छोड़ें तब भी जब आपको लगे कि अपेक्षाकृत अधिक महत्वपूर्ण नहीं है क्योंकि प्रश्न कहीं से भी पूछे जा सकते हैं।
  8. शॉर्टकट तरीके का अधिक उपयोग करें : कोशिश करें कि अपने ही शॉर्टकट तरीके अपनाएं। अंकगणित के लिए आप वैदिक गणित, शॉर्टकट तरीके से प्रश्न हल सिखाने वाली पुस्तक आदि का सहारा लें। जिससे अंकगणित में गणना करना आसान हो जाये।
  9. ऑनलाइन मॉक टेस्ट से अभ्यास करें : जहाँ तक सम्भव हो बाजार या ऑनलाइन उपलब्ध मॉक टेस्ट और प्रश्न बैंक को हल करें। इससे आपको पता चलता है कि किस प्रकार प्रश्नों को सेट किया जाता है। नए ट्रिक्स और याद करने के स्मार्ट तरीके अपनाएं ताकि आप समय और परिश्रम का कुशल प्रयोग कर सकें।
  10. गलतियों को दूर करें : परीक्षा पूर्व आप उन गलतियों को जरुर दूर करने की कोशिश करें जिसमे आप अपने आपको असहज महसूस करते हों और इसके लिए यह आवश्यक है कि अपनी सभी गलतियों की एक लिस्ट बनायें। करणी पर आधारित सवालों में अक्सर छात्र गलती करते हैं, साथ ही बीजगणित में अचर और चर को लोग जोड़ने की गलती भी करते दिखते हैं। द्विघात समीकरण के सवाल में भी दो मूल लेने के बजाय कई बार एक धनात्मक मूल लेने की भूल कर अपने अंक गँवा लेते है ऐसी अनेकों गलतियों से आप सावधानीपूर्वक बच सकते हैं।
  11. त्रिकोणमिति के मान कण्ठस्य करें : त्रिकोणमिति के सभी सूत्र और कोणों के मान – 30, 45, 60, 90 का मान सभी निष्पति – sin, cos, tan, cot, sec, cosec के लिए याद कर लें। साथ ही पाइथागोरस ट्रिक (3,4,5), (6,8,10), (7, 24, 25), (8, 15,17), (9, 40, 41)… याद करें जिससे त्रिकोणमिति के सूत्र निकालने में आपको आसानी होगी।
  12. अधिक ध्यान दें : अंकगणित में आप  लाभ और हानि, साधारण और चक्रवृद्धि व्याज, समय, दूरी और काम, लघुत्तम, सांख्यिकी, प्रायिकता जैसे ऐसे सवाल हैं जो परीक्षा में अवश्य आते है और इन्हें थोड़ा सा ध्यान देकर सीखा जा सकता है।
  13. मेंसुरेशन के सूत्र याद रखें : क्षेत्रमिति के सवाल अधिकांशतः सूत्र पर आधारित होते है जिसके लिए किसी विशेष योग्यता की आवश्यकता नहीं है, अगर आपको सूत्र में पकड़ है और आप थोड़ी सी सावधानी बरतें तो अवश्य ही इस प्रकार के प्रश्नों को हल कर पाएंगे।

SSC CPO परीक्षा 2018 के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। SSC परीक्षाओं में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ SSC परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

OnineTyari Plus

NO COMMENTS

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.