IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन 2018 की तैयारी कैसे करें !

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन 2018 की तैयारी कैसे करें –देश के विभिन्न सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों में क्लर्कों की भर्ती के लिए बैंकिंग कार्मिक संस्थान (IBPS) प्रतिवर्ष सामान्य भर्ती प्रक्रिया (CWE) आयोजित करता है और योग्य उम्मीदवारों को रिक्त पदों पर नियुक्ति प्रदान करता है। इस वर्ष IBPS के द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार क्लर्क हेतु कुल 7225 रिक्त पदों की घोषणा की है।

सबसे पहले हम प्रारंभिक परीक्षा के बारे में कुछ महत्वपूर्ण जानकारी प्रदान करेंगे। तो, आइसे सबसे पहले IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018 के परीक्षा पैटर्न से अवगत हो लेते हैं और उसके पश्चात IBPS क्लर्क परीक्षा में सफल होने के लिए कुछ टिप्स के बारे में जानते हैं।

 

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 2018

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा का आयोजन दिसंबर माह में किया जाना है। IBPS के माध्यम से क्लर्क के रिक्त पदों को  प्रारंभिक परीक्षा और मुख्य परीक्षा में सफल रहे उम्मीदवारों द्वारा भरा जाना है। परीक्षा में सफलता हेतु यह अत्यंत आवश्यक है कि सभी उम्मीदवार परीक्षा के पैटर्न से अवगत हों, अतः हम यहाँ इसी तथ्य को ध्यान में रखते हुए IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 2018 की जानकारी प्रदान कर रहे हैं :

IBPS क्लर्क टीयर I: प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 

कंप्यूटर आधारित होने वाली IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा वस्तुनिष्ठ (MCQ) प्रकृति पर आधारित होती है जिसमें 3 पेपर शामिल होते हैं – रीज़निंग एबिलिटी, क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड और इंग्लिश भाषा।

सेक्शन का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक
इंग्लिश भाषा 30 30
क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड 35 35
रीज़निंग एबिलिटी 35 35
कुल 100 100

तीनों पेपर के लिए आवंटित कुल समय 1 घंटा है। उम्मीदवारों को प्रत्येक सेक्शन के लिए IBPS द्वारा निश्चित कट-ऑफ़ अंक से पास करना होगा। प्रत्येक श्रेणी के लिए चुने गए उम्मीदवार जो IBPS द्वारा निर्धारित ज़रूरतों को पूरा करेंगे सिर्फ़ वे ही IBPS क्लर्क मुख्य परीक्षा देने के योग्य होंगे।

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018 से संबंधित कुछ आवश्यक विवरण इस प्रकार हैं:

  • प्रश्नों की कुल संख्या 100 होगी।
  • प्रश्न पत्र दृभाषा अथार्त हिंदी/अंग्रेजी में होगा।
  • प्रत्येक प्रश्न 1 अंकभार का होगा।
  • प्रश्न पत्र को हल करने की समयावधि 60 मिनट/1घंटे होगी।
  • उम्मीदवारों को अनुभागीय और संपूर्ण कटऑफ पार करना होगा।

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा में सफल होने के लिए उम्मीदवारों को IBPS द्वारा निर्धारित न्यूनतम कटऑफ अंक प्राप्त करने होंगे तभी वह मुख्य परीक्षा के लिए चयनित हो सकेंगे।

 

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन 2018 की तैयारी कैसे करें !

यह लेख मुख्य रूप से इस बात पर ध्यान केंद्रित किया गया है कि उम्मीदवार किस प्रकार से सर्वश्रेष्ठ ढंग से अपनी तैयारी कर सकते हैं, जिससे उन्हें परीक्षा में पूछे गए प्रश्नों को हल करने में आसानी हो।

इस लेख को पढ़ने के बाद प्रत्येक उम्मीदवार को निम्नलिखित प्रश्नों का उत्तर देने में सक्षम होना चाहिए।

  • मैं IBPS क्लर्क परीक्षा के रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन के तैयारी करना कैसे प्रारंभ करूं।
  • क्या मुझे IBPS क्लर्क परीक्षा के लिए रीजनिंग एबिलिटी की तैयारी टॉपिक वाइज करनी चाहिए?
  • IBPS क्लर्क परीक्षा के लिए रीजनिंग एबिलिटी में कौन से टॉपिक आसान हैं?
  • IBPS क्लर्क परीक्षा के लिए रीजनिंग एबिलिटी के लिए मुझे कितना समय देना चाहिए?

सर्वप्रथम उन टॉपिक्स पर ध्यान केंद्रित करें जिसमें आप सहज हों

IBPS क्लर्क परीक्षा का रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन काफी व्यापक है। इसीलिए, संभव है कि आप कुछ स्कोरिंग टॉपिक्स को छोड़ दें।

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा के रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन में निम्नलिखित टॉपिक्स पर आपकी पकड़ मजबूत होनी चाहिए:

  • डायरेक्शन सेंस (Direction Sense)
  • न्याय निर्णयन (Syllogism)
  • असमानता (Inequalities)
  • ब्लड रिलेशन (Blood Relation)
  • डाटा पर्याप्तता (Data Sufficiency)
  • कोडिंग और डिकोडिंग (Coding and Decoding)
  • आर्डर और रैंकिंग के प्रश्न (Order and Ranking Problems)
  • वर्णक्रम/वर्ण-संख्या अनुक्रम (Aphabet / Aphanumeric Series)
  • पहेली और बैठने की व्यवस्था (Puzzle & Seating Arrangement)

इन प्रश्नों के कम से कम समय में एकदम सटीक उत्तर होते हैं। इसीलिए यह सुनिश्चित करें कि IBPS क्लर्क परीक्षा 2018 के लिए तैयारी करते समय आपने इस टॉपिक्स को पर्याप्त समय दिया है।

यदि कोई उम्मीदवार क्वॉन्टिटेटिव एप्टीट्यूड के साथ बहुत सहज नहीं है, तो इस सेक्शन को अधिक समय आवंटित किया जा सकता है और ओवरऑल स्कोर को और अधिक बेहतर किया जा सकता है।

सीटिंग अरेंजमेंट और पज़ल टेस्ट की तैयारी के लिए समय दें

IBPS उम्मीदवारों को सीटिंग अरेंजमेंट और पज़ल टेस्ट पर आधारित प्रश्नों का निश्चित रूप से अभ्यास करना चाहिए क्योंकि यह प्रश्न IBPS CWE क्लर्क परीक्षा में प्रत्येक वर्ष 5 प्रश्नों के सेट के साथ पूछा जाता है।

  • सीटिंग अरेंजमेंट के प्रश्नों में शामिल होता है: एक गोल मेज के चारों ओर बैठे व्यक्ति “मेज के केंद्र की ओर मुंह करे हुए”, “मेज के केंद्र के विपरीत दिशा में मुंह करे हुए” तथा दोनों का संयोजन। आपको ऐसे प्रश्नों को हल करने का अभ्यास करने की आवश्यकता है।
  • इसके अतिरिक्त, सीटिंग अरेंजमेंट के प्रश्नों को हल करते समय, एक उम्मीदवार को स्वयं से यह प्रश्न पूछना चाहिए कि – क्या मैं इसे इष्टतम समय में हल कर सकता/सकती हूं?
  • पज़ल टेस्ट के प्रश्नों के लिए अत्यधिक अभ्यास की आवश्यकता होती है। एक उम्मीदवार को प्रश्न में कुल वेरिएबलों की संख्या का विश्लेषण करने में सक्षम होना चाहिए। उदाहरण के लिए: 2 वेरिएबल जैसे-नाम और व्यवसाय, 3 वेरिएबल- नाम, व्यवसाय और टी-शर्ट का रंग।
  • 2 वेरिएबल के प्रश्नों को हल करने के लिए दी गयी जानकारी को योजनाबद्ध तरीके से लिखें। यदि आपको 3 वेरिएबल का प्रश्न दिखता है, तो इसे हल करने के बजाय विकल्पों को हटाने का प्रयास करें।

इनपुट-आउटपुट और ऑर्डर बेस्ड प्रश्नों में पैटर्न की पहचान

इनपुट-आउटपुट प्रश्नों का अभ्यास करते समय अधिक से अधिक पैटर्न का निरीक्षण करें। पूर्व में हल किये गए प्रश्नों के आधार पर पैटर्न का अनुमान लगाने का प्रयास करें। अत: एक डायरी में पहचान किये गए पैटर्न पर शॉर्ट नोट्स बनाना आपकी सहायता कर सकता है।

  • वर्णमाला के क्रम में पैटर्न (स्वर और व्यंजन, प्रारंभ और अंत से अक्षर आदि)
  • संख्यात्मक मूल्यों के मामले में पैटर्न (सम-विषम, अभाज्य और संयुक्त संख्याएं, गुणांक आदि)

यदि आप पैटर्न को 2 मिनट से कम समय में पहचानने में सक्षम नहीं हैं, तो उस प्रश्न को छोड़ दें और आगे बढ़ें। प्रश्नों में समान पैटर्न को लिखने का प्रयास न करें। सोच-समझ कर इनका प्रयोग करें।

IBPS क्लर्क के रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन में कथन-आधारित प्रश्नों को हल करना

कथन-पूर्व धारणाएं, कथन-निष्कर्ष, कथन-तर्क, कथन-कार्यवाईयां-इन टॉपिक्स से आपको एक या दो प्रश्न मिल सकते हैं।

इन प्रश्नों के बारे में आप 100% यकीन से नहीं कह सकते, लेकिन इनका अभ्यास करके आपके द्वारा लिए गये निर्णय में गलतियों को निश्चित रूप से कम किया जा सकता है।

IBPS क्लर्क परीक्षा के पिछले वर्ष के प्रश्नपत्र और मॉक टेस्ट सीरीज़

यह सभी भर्ती परीक्षाओं के लिए लागू होता है। आप एक प्रश्नपत्र के बारे में तब तक पूरी तरह से आश्वस्त नहीं हो सकते जब कि आप उसे हल न कर लें तथा वास्तविक परीक्षा से पहले पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों को हल करना सबसे अच्छा अभ्यास होता है।

आपको सबसे पहले IBPS क्लर्क परीक्षा के पिछले वर्ष के प्रश्नपत्रों को हल करने की आवश्यकता है और आपका उद्देश्य इस प्रकार होना चाहिए:

  • यह जानिये कि IBPS क्लर्क परीक्षा में कौन-से टॉपिक प्रमुख थे?
  • क्या प्रश्न हल करने में सरल, मध्यम और कठिन थे?
  • प्रत्येक सेक्शन के लिए आपको कितना समय देने की आवश्यकता है?
  • प्रश्न-पत्र को हल करते समय आपका सही/गलत प्रश्नों का क्या अनुपात था?
  • आप उस वर्ष की IBPS क्लर्क परीक्षा के कटऑफ से कितना अधिक स्कोर करने में सक्षम हैं?

एक संपूर्ण विश्लेषण यह जानने में आपकी सहायता करेगा कि आप वास्तव में कहां है? इसीलिए, विश्लेषण को ध्यान में रखते हुए, आगे बढें और IBPS क्लर्क मॉक टेस्ट को हल करें और फिर केवल IBPS क्लर्क के रीजनिंग एबिलिटी सेक्शन पर ही नहीं अपितु पूरे प्रश्न-पत्र पर अपनी पकड़ को मजबूत करें।

हम उम्मीद करते हैं कि IBPS क्लर्क परीक्षा के लिए रीजनिंग एबिलिटी की तैयारी पर आधारित यह लेख IBPS CWE क्लर्क भर्ती परीक्षा में सफलता प्राप्त करने में आपकी सहायता करेगा।

IBPS क्लर्क प्रारंभिक परीक्षा 2018 के बारे में और अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। बैंकिंग परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ IBPS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.