RPSC ग्रेड-1 शिक्षक परीक्षा पैटर्न | पेपर-1 और पेपर-2

RPSC ग्रेड-1 शिक्षक परीक्षा पैटर्न: राजस्थान पब्लिक सर्विस कमीशन (RPSC) इस वर्ष मई के महीने में RPSC ग्रेड-1 स्तर के लेक्चरर पद की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित करेगा। परीक्षा मई के आख़िरी सप्ताह में आयोजित होने की संभावना है। परीक्षा के लिए अभी कोई तिथि तय नहीं हो सकी है। RPSC ग्रेड-1 स्तर के शिक्षक पद से जुड़ी परीक्षा में सफल होने के लिए हमारी सलाह है कि दोनों परीक्षाओं के स्वरूप और पैटर्न को सावधानीपूर्वक समझने की कोशिश करें।

 

RPSC ग्रेड-1 शिक्षक परीक्षा का पैटर्न

शिक्षकों और लेक्चरर की भर्ती के लिए RPSC ग्रेड-1 लेक्चरर परीक्षा के अंतर्गत 2 परीक्षाएं आयोजित की जाएंगी।

  • RPSC ग्रेड-1 लेक्चरर (पेपर-1), 150 अंक की होगी।
  • RPSC ग्रेड-1 लेक्चरर (पेपर-2), 300 अंक की होगी।

दोनों पेपर के लिए कुल 450 अंक निर्धारित किए गए हैं। प्रश्न MCQ पैटर्न पर आधारित होंगे। आइए, हम RPSC ग्रेड-1 शिक्षक के पेपर पर गौर करें और जानें कि कैसे परीक्षा आयोजित की जाती है।

 

RPSC ग्रेड-1 शिक्षक परीक्षा का पैटर्न: पेपर-1

RPSC ग्रेड-1 स्तर के लिए आयोजित पेपर-1 सभी उम्मीदवारों के लिए अनिवार्य है। यह पेपर सिंगल नॉन-सेक्शनल टेस्ट होगा सामान्य ज्ञान और सामान्य अध्ययन विषय से जुड़े सवालों पर आधारित इस पहले पेपर में प्रश्नों की कुल संख्या 75 तय की गई है। हमने आपको पहले भी बताया है कि RPSC परीक्षा का पैटर्न MCQ आधारित प्रश्नों का होगा।

विषय

प्रश्नों की संख्या

अधिकतम अंक

राजस्थान का इतिहास और भारतीय इतिहास (भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन पर विशेष ज़ोर देते हुए)

15

30

  • मानसिक योग्यता टेस्ट, सांख्यिकी (माध्यमिक स्तर)
  • गणित (माध्यमिक स्तर)
  • भाषा ज्ञान टेस्ट: हिंदी, इंग्लिश

20

40

समसामयिक घटनाक्रम

10

20

सामान्य विज्ञान, भारतीय राजनीति और राजस्थान का भूगोल

15

30

शैक्षिक प्रबंधन, राजस्थान में शैक्षिक परिदृश्य, शिक्षा का अधिकार अधिनियम 2009

15

30

कुल

75

150

    • इस पेपर को हल करने के लिए 90 मिनट की समय अवधि दी गई है। मार्किंग स्कीम इस प्रकार होगी:
    • हर सही जवाब के लिए कुल स्कोर में 1 अंक जोड़ दिया जाएगा।
    • हर गलत जवाब पर कुल स्कोर से एक तिहाई अंक की कटौती की जाएगी।
    • कई विकल्पों को चुनने पर आपके प्रयास को गलत माना जाएगा।

    RPSC ग्रेड-1 टीचर के पेपर-1 का कुल अंक 150 है। पेपर-2 में आपके द्वारा पढ़ाए जाने वाले संबंधित विषय पर अधिक ध्यान केंद्रित किया जाएगा।

     

    RPSC ग्रेड-1 शिक्षक परीक्षा का पैटर्न: पेपर-2

    दूसरा पेपर विशिष्ट विषय के लिए आयोजित किया जाता है, जिसे आपने अध्यापन के लिए चुना है। मान लीजिए कि आपने संगीत के शिक्षक पद के लिए आवेदन किया हो तो दूसरा पेपर संगीत विषय पर ही आधारित होगा। इस पेपर में 150 प्रश्न शामिल होंगे। पेपर-1 की ही तरह इस पेपर में भी ऑब्जेक्टिव प्रश्नों का ही पैटर्न रहेगा।

    सेक्शन

    विषय

    प्रश्न

    अंक

    1.

    विषय संबंधी ज्ञानसीनियर सेकेंड्री स्तर

    55

    110

    2.

    विषय संबंधी ज्ञानस्नातक स्तर

    55

    110

    3.

    विषय संबंधी ज्ञानस्नातकोत्तर स्तर

    10

    20

    4.

    शैक्षिक मनोविज्ञान, शिक्षा शास्त्र, शिक्षण अधिगम सामग्री, कंप्यूटर के उपयोग और शिक्षण अधिगम में सूचना प्रौद्योगिकी

    30

    60

    कुल

    150

    300

    RPSC ग्रेड-1 स्तर के लेक्चरर पद के पेपर-2 के लिए 150 मिनट का समय निर्धारित किया गया है। पेपर-2 के लिए मार्किंग स्कीम थोड़ी अलग होती है। आइए इसे समझते हैं:

    • हर सही जवाब के लिए कुल स्कोर में 1 अंक जोड़ दिया जाएगा।
    • हर गलत जवाब पर कुल स्कोर से एक तिहाई अंक की कटौती की जाएगी।
    • कई विकल्पों को चुनने पर आपके प्रयास को गलत माना जाएगा।

    RPSC के पेपर-2 के लिए अधिकतम अंक 300 निर्धारित किया गया है। अंतिम मेरिट लिस्ट दोनों पेपरों के अर्जित अंकों के आधार पर तैयार की जाएगी। इसलिए दोनों पेपर की लिखित परीक्षा के लिए ध्यानपूर्वक और लक्ष्य को केंद्रित कर तैयारी करें।

    RPSC ग्रेड-1 लेक्चरर पद के सिलेबस के लिए कृपया हमारा यह ब्लॉग पढ़ें। किसी भी प्रकार के प्रश्न के लिए नीचे कॉमेंट सेक्शन में लिखें।

    1 REPLY

    Leave a Reply

    This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.