SBI Clerk परीक्षा 2016: रद्द या नहीं ?

हाल ही में, भारतीय स्टेट बैंक SBI की लिपिक श्रेणी परीक्षा के तथाकथित तौर पर रद्द होने को लेकर कई लेख इंटरनेट पर दिखे। इनमें से अधिकांश के मुताबिक 25 मई 2016 को मद्रास उच्च न्यायालय में एक SBI उम्मीदवार ने एक जनहित याचिका दायर की थी। आइये समझने का प्रयास करें कि इस जनहित याचिका को दायर करने का मक़सद क्या था और इसमें क्या कहा गया है।

 

SBI Clerk परीक्षा रद्द होने संबंधी विवाद

अभी तक प्राप्त जानकारी के अनुसार मद्रास उच्च न्यायालय में एस. गुरुकृष्ण गोकुल नाम के SBI क्लर्क परीक्षा के एक उम्मीदवार ने 25 मई 2016 को SBI के विरुद्ध एक जनहित याचिका (PIL) दायर की। इसका मक़सद SBI द्वारा प्रकाशित क्लर्क परीक्षा संबंधी पात्रता की शर्तों में मौजूद ‘संदेहास्पद’ भ्रम की स्थिति को उजागर करना है।

SBI Clerk Notification 2016 के मुताबिक ऐसे उम्मीदवार क्लर्क की नौकरी के योग्य नहीं माने जाएंगे जिन्होंने कभी लिए गए किसी ऋण का भुगतान न किया हो।

SBI Clerk Loan Defaulter Issue

इसलिए, निम्नलिखित बातें उम्मीदवार को SBI क्लर्क परीक्षा 2016 के लिए अयोग्य घोषित करती हैं।

  • ऋण चुकाने में चूक अथवा क्रेडिट कार्ड संबंधी भुगतान न करने का रिकॉर्ड।
  • क्रेडिट इन्फरमेशन कंपनी द्वारा प्रतिकूल रिपोर्ट।
  • उम्मीदवार के चरित्र अथवा नैतिकता के विरुद्ध कोई प्रतिकूल रिपोर्ट।
  • एस. गुरुकृष्ण द्वारा दायर याचिका के अनुसार ये शर्तें और मानदंड आर्थिक और सामाजिक रूप से पिछड़े अनेक उम्मीदवारों को इन पदों के लिए अयोग्य बना देंगे। उनका यह भी कहना है कि ऐसे समय में जबकि बहुत से ग़रीब छात्र सरकारी और सार्वजनिक क्षेत्र की इकाईयों में नौकरियां तलाश रहे हैं, यह शर्तें उनको SBI क्लर्क परीक्षा के लिए अपात्र बना देंगी।
  • गोकुल द्वारा सुझाया समाधान यह है कि यदि ऐसी चूक करने वाले उम्मीदवार परीक्षा पास कर लेते हैं तो ऋण भी चुका सकेंगे। उसका यह भी कहना है कि उम्मीदवारों को नौकरी देकर ऋण चुकाने में सक्षम बनाने की बजाए बैंक ऐसी शर्तें लगाकर ऐसे व्यक्तियों की संख्या बढ़ा रहा है जो अपना शिक्षा ऋण नहीं चुका पाते।

19 अप्रैल 2016 को द न्यू इंडियन एक्सप्रेस में छपे एक लेख में पी.एम.के. संस्थापक एस. रामादौस ने SBI की इस भर्ती प्रक्रिया को असंवैधानिक बताया।

इसलिए, SBI क्लर्क परीक्षा 2016 संबंधी मौजूदा पात्रता शर्तों को लेकर कुछ भ्रम पैदा हो गया है। गोकुल ने न्यायालय से मांग की है कि वो SBI को यह परीक्षा रद्द करके नए दिशा-निर्देश जारी करने का आदेश दे ताकि और उम्मीदवार आवेदन कर सकें।

अभी तक प्राप्त सूचना यही है और हम आपको आश्वस्त करते हैं कि अभी तक SBI क्लर्क परीक्षा 2016 को रद्द करने संबंधी कोई अंतिम निर्णय नहीं लिया गया है इसलिए घबराए नहीं और 4 और 5 जून को होने वाली SBI लिपिक प्रारंभिक परीक्षा 2016 की तैयारी जारी रखें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.