SSC CGL 2016: परीक्षा पैटर्न में हो सकता है बदलाव 

SSC CGL परीक्षा-2016 के पैटर्न में बदलाव होने वाला है। कर्मचारी चयन आयोग (SSC) यह फैसला नकलचियों पर रोक लगाने के उद्देश्य से करने जा रही है। अब तक मिली जानकारी के अनुसार SSC CGL परीक्षा-2016 के पहले चरण को क्वॉलिफाइंग घोषित किया जाएगा। जबकि दूसरे चरण की परीक्षा को ऑनलाइन कराया जाएगा।

SSC CGL परीक्षा-2016 के पैटर्न में बदलाव होने के कारण कर्मचारी चयन आयोग 8 और 22 मई को प्रस्तावित CGL टियर-I की परीक्षा की तिथि को आगे भी बढ़ा सकती है। CGL परीक्षा पैटर्न में किया जाने वाला यह बदलाव आयोग की अन्य परीक्षाओं में भी लागू किया जा सकता है। इस संबंध में जल्द ही आदेश जारी होने की संभावना है।

SSC CGL परीक्षा-2016 के पैटर्न में बदलाव के तहत टियर-I की परीक्षा ऑब्जेक्टिव टाइप होगी। चूंकि पहला चरण क्वॉलीफाइंग होगा, ऐसे में इस चरण के अंक को चयन में शामिल नहीं किया जाएगा। SSC की मानें तो पहले चरण में स्क्रीनिंग होने के बाद दूसरे चरण की परीक्षा को ऑनलाइन किए जाने से नकल पर लगाम लगेगी।

केंद्र सरकार की ओर से असिस्टेंट ऑडिटर नाम के एक नए पद को शामिल किए जाने के बाद इसके लिए एक नया प्रश्नपत्र भी जोड़ा गया है। इस नए व चौथे प्रश्नपत्र में फाइनेंस एवं अकाउंट्स से 80 अंकों के प्रश्न जबकि इकॉनमिक्स एवं गर्वनेंस से 120 अंकों के प्रश्न पूछे जाएंगे।

SSC CGL परीक्षा-2016 के पैटर्न में बदलाव के तहत अब साक्षात्कार हटाकर लिखित परीक्षा के अंकों के आधार पर ही चयन किया जाएगा। आपको बता दें कि इस परीक्षा में पूरे देश में लगभग 35 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे।

SSC CGL परीक्षा-2016 की अधिसूचना में भी आयोग ने परीक्षा पैटर्न में संभावित बदलाव की ओर आगाह किया था।

नोट: अभी तक SSC की वेबसाइट पर इसके बारे में किसी भी तरह की घोषणा नहीं की गई है। राष्ट्रीय स्तर की मीडिया कंपनी अमर उजाला की खबर के हवाले से हम यह जानकारी आप तक पहुंचा रहे हैं। जैसे ही SSC इस संबंध में कोई घोषणा करती है, वह जानकारी भी यथाशीघ्र आप तक पहुंचाई जाएगी।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.