SSC CGL 2016: ऐसे करें क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी

क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड के लिए कैसे करें तैयारी­: हर साल कर्मचारी चयन आयोग ग्रुप बी और सी के विभिन्न पदों पर उम्मीदवारों की भर्ती के लिए SSC संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा का आयोजन करता है। चयन प्रक्रिया सामान्यत: 2-टियर या 3-टियर होती है और यह आवेदन किए गए पद पर निर्भर करता है। वे उम्मीदवार जो टियर-1 की परीक्षा पार कर लेते हैं, टियर-2 की परीक्षा देने की पात्रता हासिल करते हैं। इसलिए हमारा प्राथमिक एजेंडा है – “SSC CGL 2016 में क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें?”

सबसे पहले हम SSC CGL  परीक्षा पैटर्न को समझेंगे और फिर SSC CGL टियर-1 परीक्षा के क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी की ओर कदम बढ़ाएंगे।

 

SSC CGL परीक्षा पैटर्न 2016

SSC संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा का परीक्षा पैटर्न इस प्रकार है:

टियर-1 में 4 विषय होंगे – जनरल इंटेलिजेंस, क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड, जनरल अवेयरनेस और अंग्रेज़ी

प्रत्येक सेक्शन में 50 बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे और प्रत्येक प्रश्न एक अंक का होगा। इसलिए कुल 200 अंक होंगे। प्रत्येक ग़लत जवाब के लिए उस प्रश्न के आवंटित कुल अंक में से एक चौथाई या 0.25 अंक काटे जाएंगे। टियर-1 परीक्षा की अवधि 2 घंटे की होगी।

टियर-2 में 2 सेक्शन होंगे – अंग्रेज़ी और क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड

क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड में 100 बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे और प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होगा। इस परीक्षा की अवधि 2 घंटे होगी। इस परीक्षा में गलत जवाब के लिए 0.50 अंक काटे जाएंगे।

अंग्रेज़ी सेक्शन में भी 100 बहुविकल्पीय प्रश्न होंगे और प्रत्येक प्रश्न 2 अंक का होगा। इस परीक्षा की अवधि 2 घंटे होगी। इसमें प्रत्येक ग़लत जवाब के लिए 0.25 अंक काटे जाएंगे।

टियर-3 परीक्षा में कम्प्यूटर प्रवीणता टेस्ट / कौशल टेस्ट (जो भी लागू होगा) और दस्तावेज सत्यापन शामिल है

साक्षात्कार को हटा दिया गया है। इसलिए इस बार कोई साक्षात्कार नहीं होगा।

 

SSC CGL: क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी

SSC CGL के टियर 1 और टियर 2 के प्रश्न पत्रों के विश्लेषण से साफ़ देखा जा सकता है कि क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड और अंग्रेज़ी का वेटेज जनरल स्टडीज़ और जनरल इंटेलिजेंस से अधिक है।

किसी भी कॉम्पटेटिव परीक्षा में अंतिम कट ऑफ़ अंक प्राप्त करने के लिए आपको प्रत्येक सेक्शन में अच्छे अंक हासिल करने होंगे। ऐसा करने के लिए आपके पास एक स्पष्ट विचार होना चाहिए कि आप प्रत्येक सेक्शन को कैसे हैंडल करेंगे। यहां हम आपको कुछ महत्वपूर्ण बातें बताएंगे कि आप SSC CGL (संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा) में क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड के लिए तैयारी कैसे करें।

क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड को प्रतियोगी परीक्षाओं में सबसे ज्यादा समय बर्बाद करने वाला सेक्शन में से एक माना जाता है पर साथ ही इसे सबसे ज़्यादा स्कोरिंग भी माना जाता है। इस सेक्शन में अच्छे अंक हासिल करने के लिए आपको कड़ी मेहनत की ज़रूरत है।

शुरुआत में आपका यह जानना ज़रूरी है कि CGL टियर-1 परीक्षा के लिए SSC किन विषयों पर विचार कर रहा है। इस चीज़ को 2014 और 2015 के CGL परीक्षा प्रश्नों के विश्लेषण से आसान बनाया जा सकता है।

SSC CGL क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड विषय

2015

2014

अंकगणित (Arithmetic)

13-15

8-10

बीजगणित (Algebra)

7-9

9-11

त्रिकोणमिति (Trigonometry)

5-7

8-10

ज्यामिति (Geometry)

11-13

15-17

नम्बर सिस्टम (Number System)

3-5

4-6

डेटा इंटरप्रिटेशन (Data Interpretation)

4-6

6-8

हम पूरे SSC संयुक्त स्नातक स्तरीय परीक्षा टियर-1 के सिलेबस को देखेंगे और सभी महत्वपूर्ण विषयों को जानेंगे।

 

SSC CGL के क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड का विषयवार सिलेबस

SSC CGL टियर-1 में क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड के सबसे महत्वपूर्ण विषय इस प्रकार हैं:

  • अंकगणित : नम्बर सिस्टम, प्रतिशत, लाभ और हानि, सिंपल इंट्रेस्ट, कम्पाउंड इंट्रेस्ट, एवरेज, रेश्यो, प्रपोर्शन, पार्टनरशिप, मिक्शर और एलीगेशन, समय और काम, पाइप्स और सिस्टर्न्स, समय, गति और दूरी, ट्रेन पर सवाल और नाव व स्ट्रीम पर सवाल।
  • ज्यामिति : ज्यामिति की मूल बातें, त्रिभुज, पॉलिगन, सर्किल और मिश्रित।
  • क्षेत्रमिति : त्रिभुज, चतुर्भुज, आयत, आयत में मार्ग, स्केवयर रॉम्बस, ट्रेपेज़ियम, सर्किल, सेमि-सर्किल, रिंग (छायांकित क्षेत्र), सर्किल का सेक्टर, क्यूब, क्यूबॉयड, सिलेंडर, कोन, स्फियर, अर्ध-स्फियर, फ्रस्टम, सही प्रिज़्म, पिरामिड और चतुर्पाश्वीय (Tetrahedron).
  • डेटा इंटरप्रिटेशन : मूल कॉन्सेप्ट, बार ग्राफ़, पाई चार्ट, टेबल चार्ट और लाइन ग्राफ़।
  • त्रिकोणमिति : त्रिकोणमितिय अनुपात की पहचान, समान कोणों के लिए त्रिकोणमितिय मूल्य, त्रिकोणमितिय अनुपात का साइन, त्रिकोणमितिय अनुपात की रेंज, msinƟ ± ncosƟ , विभिन्न त्रिकोणमितिय सीरीज़ का मूल्य, बहु कोण और यौगिक कोण का अनुपात।
  • ऊंचाई और दूरी : ऊंचाई का कोण, अवसाद का कोण और मिश्रित।

अन्य सेक्शनों का सिलेबस जानने के लिए इस लिंक पर जाएं। अब जब आप QA के लिए महत्वपूर्ण विषयों और सिलेबस को जान चुके हैं तो अब हम जानेंगे SSC CGL 2016 में क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी के लिए टिप्स। तैयारी के प्रत्येक बिंदु पर ग़ौर करें।

 

SSC CGL 2016: क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड की तैयारी कैसे करें

क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड सेक्शन में अपने संपूर्ण कौशल को सशक्त करने के लिए यह आवश्यक है कि आप इन सभी अध्ययन बिंदुओं पर ग़ौर करें।

  1. समय प्रबंधन

जैसा कि आप सभी जानते हैं कि किसी भी प्रतियोगी परीक्षा में समय प्रबंधन एक महत्वपूर्ण कारक है। इसलिए गणना करने के लिए आपके पास अधिक समय नहीं है। शीघ्र गणना करने के लिए आपको सभी टेबल्स, स्क्वेयर, क्यूब और स्केवयर रूट याद होने चाहिए।

  1. मूल बातें, सबसे पहले!

जब आप अपनी तैयारी शुरू करें तो शॉर्टकट तरीकों का प्रयोग ना करें। आपको सभी पाठों के सभी बुनियादी सिद्धांतों और फॉर्म्यूले याद होने चाहिए। यदि आपको मूल बातें स्पष्ट नहीं हैं तो आप सवालों को हल नहीं कर पाएंगे।

  1. नोट्स बनाएं

अपने कक्षा नोट्स का सारांश बनाकर एक संक्षिप्त संस्करण बनाएं। मुख्य बातों और कॉन्सेप्ट को चिन्हित करें और सुनिश्चित करें कि आप उन्हें समझेंगे। आपकी कक्षा, पुस्तकों और कोर्स सिलेबस में पढ़ाए गए विषयों से आप मुख्य बातों और कॉन्सेप्ट को पहचान सकते हैं।

  1. आगे की योजना बनाएं

प्रत्येक विषय को अभ्यास के लिए हरेक दिन की योजना बनाएं। नियमित रूप से निरंतर अभ्यास के लिए कम-से-कम 3 घंटे का समय समर्पित करें।

  1. अभ्यास और अभ्यास

एक बार जब आप बुनियादी बातों से परिचित हो चुके हैं तो पिछले वर्षों के सैंपल प्रश्नों के साथ जितना संभव हो सके अभ्यास करें।

  1. पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र

पिछले 3 – 4 सालों से त्रिकोणमिति से प्रश्न ज़्यादा-से-ज़्यादा आ रहे हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात कि इसी तरह के प्रश्न साल-दर-साल दोहराए जा रहे हैं। इसलिए पिछले वर्षों के प्रश्न पत्र हल करें। त्रिकोणमिति के सभी मूल फॉर्म्यूले याद कर लें।

  1. शॉर्टकट का सही तरीके से प्रयोग करें

क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड में शॉर्ट ट्रिक्स का प्रयोग आपके लिए समय रक्षक सिद्ध हो सकता है। यदि आप श़ॉर्ट ट्रिक्स को सही तरीके से अपनाते हैं तो यह सेक्शन आपके लिए सरल साबित हो सकता है।

  1. तेज़ गति से गणना करने के तरीके सीखें

अपने दिमाग में ही गणना करने की कोशिश करें। आपको जटिल गणनाओं को भागों में विभाजित करने की ज़रूरत होगी और इन्हें पेपर पर करने के बजाय अपने मस्तिष्क में ही हल करें। इसी तरीके से अव्वल छात्र जटिल गणनाओं को हल करते हैं। इस समय आपके लिए इसका प्रयोग करना मुश्किल होगा लेकिल अभ्यास के साथ आप किसी भी कठिन गणना को चंद सेकेण्ड में हल कर सकेंगे।

पिछले 2-3 सालों से समय और काम, समय और दूरी, डेटा इंटरप्रिटेशन, साधारण ब्याज और चक्रवृद्धि ब्याज, परीक्षकों के कुछ पसंदीदा विषय हैं। ये विषय अत्यंत ही स्कोरिंग हैं। इसलिए इन विषयों पर अभ्यास आपको अच्छे अंक हासिल करने में मदद करेगा। SSC CGL टियर-1 परीक्षा की तैयारी के लिए आपके काम की कुछ पुस्तकें दी गई हैं:

  • क्वॉन्टिटेटिव एप्टिट्यूड – आर एस अग्रवाल
  • SSC (Maths solved papers from 1997)
  • क्विकर मैथ्स – एम टायर
  • प्लैटफ़ॉर्म की SSC एडवांस मैथ्स
  • लूसेंट SSC हायर मैथेमेटिक्स – रिषिकेश कुमार

अंत में दृढ़ संकल्प, निरंतरता और ईमानदारी आपको आपके लक्ष्य तक पहुंचा सकती है। आपको ढेरों शुभकामनाएं और SSC CGL टियर-1 में अपने स्कोर को बढ़ाने के लिए निरंतर प्रयास करते रहिए।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.