SSC JE स्टडी प्लान और परीक्षा 2017 की स्ट्रेटजी | 20 दिन में पाएं सफलता

SSC JE स्टडी प्लान और परीक्षा 2017 की स्ट्रेटजी | 20 दिन में पाएं सफलता –  कर्मचारी चयन आयोग (STAFF SELECTION COMMISSION) कई सरकारी विभागों में जूनियर इंजीनियर्स की भर्ती के लिए परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। SSC JE परीक्षा 2017 का आयोजन 22 जनवरी 2018 को किया जाना है।

जूनियर इंजीनियर परीक्षा में शामिल होने अभ्यर्थियों के लिए हम यानी “OnlineTyari.com” की रिसर्च टीम स्टडी प्लान और तैयारी के लिए स्ट्रेटजी प्लान दे रहे हैं। इस आर्टिकल के जरिए हम बचे हुए दिनों में आपको स्टडी को और नियोजित करने के बारे में टिप्स उपलब्ध कराएंगे। उम्मीद है कि SSC JE एक्जाम में शामिल होने वालों को सफलता तक पहुंचने की सीढ़ी और आसान हो जाएगी। यहां SSC जूनियर इंजीनियर्स परीक्षा 2017 के स्टडी प्लान के साथ तैयारी के लिए बेहतर स्ट्रेटजी को शेयर कर रहे हैं।

 

SSC जूनियर इंजीनियर : 20 दिन में पेपर- I  की तैयारी के लिए टिप्स

यहां आपको कर्मचारी चयन आयोग  JE एक्जाम में सफलता पाने के लिए सभी सेक्शन को समेटते हुए स्टडी प्लान दे रहे हैं। आगे आपके साथ हर सेक्शन के अनुसार विस्तार वाला तैयारी प्लान भी डिस्कस करेंगे।

हम सब जानते हैं कि SSC जूनियर इंजीनियर्स परीक्षा में एक पखवाड़े से कम ही समय बचा है। इन आखिरी सप्ताह में अभ्यर्थियों को स्टडी को और ज्यादा प्लान्ड तरीके से करनी होगी तभी सफलता के दरवाजे तक पहुंचा जा सकता है। इस समय कड़ी मेहतन के साथ हर दिन करीब 4 घंटे से ज्यादा तैयारी करने वाले अभ्यर्थी के पास 80 घंटे से भी कम का स्टडी का समय बचा है।

परीक्षा के लिए शेष समय  20 दिन
प्रतिदिन अध्ययन समय (घंटे) 4 घंटे
जनरल इंजीनियरिंग की तैयारी 27 घंटे
जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग सेक्शन 26 घंटे
जनरल अवेयरनेस सेक्शन की तैयारी 27 घंटे

SSC JE एक्जाम में पेपर्स की तैयारी सेक्शन के हिसाब से करने की चर्चा हम अगले चरण में करेंगे। एक्जाम पैटर्न और जरूरी टॉपिक्स के बारे में जानकारी हासिल करने के बाद परीक्षा का स्टडी प्लान तैयार करना ज्यादा आसान हो जाएगा।

 

SSC जूनियर इंजीनियर्स एक्जाम पैटर्न 2017

कर्मचारी चयन आयोग  JE एक्जाम की लिखित परीक्षा में दो पेपर्स यानी पेपर-I और पेपर-II होते हैं। पेपर-I में अभ्यर्थी को कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) से गुजरना होगा। जबकि JE एक्जाम में पेपर-II में लिखित परीक्षा देनी होगी। SSC ने जूनियर इंजीनियर्स परीक्षा 2017 में इंटरव्यू राउंड को हटा दिया गया है।

SSC जूनियर इंजीनियर्स एक्जाम पेपर-I का पैटर्न

SSC ने जूनियर इंजीनियर्स परीक्षा के पेपर-I बहु विकल्पीय (Multiple Choice) प्रश्नों के उत्तर देने होंगे। परीक्षा का पेपर-I कुल 200 अंकों का होगा। पेपर-I की परीक्षा कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट होगी। इसको हल करने के लिए अभ्यर्थियों को 120 मिनट (2 घंटे) का समय मिलेगा

सेक्शन अंक
जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग 50
जनरल अवेयरनेस 50
पार्ट- A जनरल इंजीनियरिंग (सिविल और स्ट्रक्चरल) या

पार्ट- B जनरल इंजीनियरिंग (इलैक्ट्रिकल) या

पार्ट- C जनरल इंजीनियरिंग (मैकेनिकल)

100

पेपर-I परीक्षा में बैठने से पहले जरूर ध्यान रखें कि इसमें निगेटिव मार्किंग होती है। हर गलत जवाब देने पर 0.25 अंक कम करने का प्रावधान है। जनरल इंजीनियरिंग में अभ्यर्थियों के पास यह च्वाइस रहेगी कि वो सिविल/ इलैक्ट्रिकल/  मैकेनिकल इंजीनियरिंग में से किसी एक को चुन सकते हैं। पेपर-I में सफलता मिलने पर ही अगले दौर यानी पेपर-II में शामिल होने का मौका मिलेगा। इसका मतलब है कि अगर इसमें सफलता हासिल करनी है तो कंप्यूटर बेस्ड टेस्ट (CBT) को पास करना जरूरी है।

 

SSC जूनियर इंजीनियर्स स्टडी प्लान : 20 दिन 

अब अगले चरण में हम SSC जूनियर इंजीनियर्स परीक्षा के 2017 के लिए हर सेक्शन के हिसाब से चर्चा करेंगे। परीक्षा में सफलता सुनिश्चित करने के लिए हम विस्तार से परीक्षा स्ट्रैटजी के साथ स्टडी प्लान को अभ्यर्थियों की सुविधा के लिए मुहैया करा रहे हैं।

SSC JE परीक्षा जनरल अवेयरनेस सेक्शन का स्टडी प्लान

इस सेक्शन में बेहतर तैयारी के लिए इसको प्लान तरीके से तैयार कर सफलता तक पहुंचा जा सकता है। नीचे हम अभ्यर्थियों की हेल्प के लिए जनरल अवेयरनेस सेक्शन का स्टडी प्लान दे रहे हैं।

टॉपिक संभावित प्रश्न तैयारी के घंटे (कुल 27)
करेंट अफेयर्स 10  30 मिनट (प्रतिदिन)
स्टेटिक अफेयर्स 20 10
जनरल साइंस 5  3
विविध/अन्य 15 4

इस प्रैक्टिस चार्ट के जरिए यह बता रहे हैं कि जनरल अवेयरनेस को एक दिन में तैयार नहीं किया जा सकता है इसीलिए प्लान्ड तरीके से इसको इंप्रूव किया जा सकता है। जनरल अवेयरनेस सेक्शन में खुद को इंप्रूव/अपडेट रखने के लिए एक घंटे की तैयारी अभ्यर्थी को जरूर करनी होगी तभी अपेक्षित रिजल्ट की उम्मीद की जा सकती है।

SSC JE  एक्जाम जनरल इंटेलिजेंस और रीजनिंग का स्टडी प्लान

SSC JE  परीक्षा 2017 की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को रीजनिंग की तैयारी में यह ध्यान रखना होगा कि इसमें कॉमन सेन्स का ज्यादा इस्तेमाल करने से बेहतर नतीजा हासिल किया जा सकता है। ज्यादा अवेयर तरीके से सवालों का जवाब देने से अपने स्कोर को इंप्रूव करने की स्ट्रेटजी पर कैंडिडेट्स को ध्यान देना होगा। SSC JE  एक्जाम 2017 के अवेयरनेस इंटेलिजेंस और रीजनिंग सेक्शन की तैयारी के लिए विस्तार वाला प्लान नीचे देख सकते हैं।

टॉपिक संभावित प्रश्न तैयारी का समय घंटे में
सीटिंग प्लान संबंधी (सर्कुलर/  लीनियर) 10 3
विजुअल रीजनिंग  12-15  5
तर्क संगत कैटेगरी के सवाल/ सिलोजिस्म  5  3
डाटा सफिसिएंसी से जुड़े सवाल  5  3
रिश्तों/  ब्लड रिलेशन से जुड़े सवाल  3-5  3
अक्षर अनुक्रम  5-7  2
कोडिंग-डिकोडिंग से जुड़े सवाल 5-7  3
दिशा सूचक से जुड़े सवाल  3-5  2
रैंकिंग/ ऑर्डर से जुड़े सवाल  2-3  2

ऊपर दिए गए टॉपिक्स को तैयारी में शामिल करते हुए इनके लिए समयसीमा बांधने की बजाए इनके नियमित तौर पर करने की कोशिश करें। अपनी तैयारी को और बेहतर और इंप्रूव करने के लिए हर टॉपिक से जुड़े 30-40 सवालों को हल करने की कोशिश करें।

SSC JE  एक्जाम जनरल इंजीनियरिंग (संबंधित विषय) का स्टडी प्लान

SSC JE  परीक्षा 2017 की तैयारी कर रहे अभ्यर्थियों को अपने संबंधित विषय यानी इंजीनियरिंग के स्पेशलाइजेशन को खास तौर पर तैयार करना चाहिए। इस परीक्षा का करीब आधा हिस्सा यानी 50 फीसदी सवाल आपके स्पेशलाइजेशन यानी सिविल/ मैकेनिकल/  इलैक्ट्रिकल इंजीनियर विषयों से जुड़े होंगे। सिविल/ मैकेनिकल/  इलैक्ट्रिकल इंजीनियरिंग में डिप्लोमा कर चुके इस परीक्षा में हिस्सा ले सकते हैं। परीक्षा में इंजीनियरिंग के बारे में सामान्य और मिडियम स्तर का जानकारियों को जांचने वाले सवाल पूछे जा सकते हैं। अपनी तैयारी को कैसे बेहतर तरीके से कर सकते हैं इसको नीचे दिए स्टेप्स के जरिए समझ सकते हैं।

  • अपने ट्रेड से जुड़े पिछले सालों के पेपर्स को और सिलबेस को प्राथमिकता से पढ़े।
  • इंजीनियरिंग स्पेशलाइजेशन वाले टॉपिक्स पर ध्यान दें।
  • टेक्निकल पार्ट की तैयारी पर जरूर ध्यान दें।
  • करीब 27 घंटे की तैयारी के समय के हिसाब से हर टॉपिक को भी उसी हिसाब से समय दें।
  • स्पेशलाइजेशन के कंसेप्टस को समझकर, प्रैक्टिस और उसमें अपनी जानकारी अपडेट रखें।
  • तैयारी में समय का खास ध्यान रखते हुए हर रोज का टाइम मैनेजमेंट जरूर रखें।
  • जिस सेक्शन में थोड़ा कम तैयारी है उसे भी साथ-साथ अपडेट करते हुए आगे बढ़ें।
  • प्रैक्टिस के दौरान स्पीड को इंप्रूव करने का ध्यान जरूर रखें। इसके लिए हर बार टाइम नोट कर अगली बार की प्रैक्टिस में इसके इंप्रूव किया जा सकता है।
  • पिछले साल के पेपर्स को हल करने के बाद खुद जांच सकते हैं कि कितनी तैयारी अभी बाकी है, अपने को टेस्ट करने की बढ़िया स्ट्रैटजी हो सकती है।

सबसे महत्वपूर्ण है – “आपकी तैयारी तब तक गंभीर नहीं हो सकती जबतक कि आप स्वयं अपनी तैयारी को गंभीरता से नहीं ले लेते।”

SSC जूनियर इंजीनियर भर्ती 2017 के बारे में अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। SSC परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ SSC परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.