JSSC CGL अध्ययन योजना और तैयारी के लिए गाइड 2016

JSSC CGL अध्ययन योजना और तैयारी के लिए गाइड 2016: संयुक्त स्नातक स्तरीय (CGL) परीक्षा, झारखंड कर्मचारी चयन आयोग (JSSC) द्वारा नियंत्रित और आयोजित की जाती है। यह झारखंड राज्य के पब्लिक सेक्टर में आयोजित होने वाली परीक्षाओं में सबसे प्रतिष्ठित परीक्षा है।

इस वर्ष लगभग 5 लाख उम्मीदवारों ने परीक्षा के लिए आवेदन भरा था। परीक्षा की तिथि दिन-पर-दिन पास आ रही है और परीक्षा के लिए एक महीना भी नहीं बचा है। उम्मीदवारों को अब कमर कस लेनी चाहिए और एक सुनियोजित तरीके से अंतिम कुछ हफ़्तों के दौरान तैयारी शुरू कर दें।

हम यहां आपके लिए प्रचुर मात्रा में विषय-वार तरीके से तैयारी के टिप्स देंगे और परीक्षा केंद्रित तरीका भी बताएंगे जो कि उम्मीदवारों को उनके प्रयत्नों में लाभदायक होगा। इस लेख के माध्यम से, हम आपको JSSC CGL के लिए एक उचित अध्ययन योजना और तैयारी के टिप्स देंगे ताकि आप परीक्षा में अच्छे अंक प्राप्त कर सकें। लेकिन पहले, हम JSSC CGL प्रारंभिक परीक्षा के पैटर्न पर चर्चा करेंगे।

झारखंड SSC प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न 2016

झारखंड SSC CGL परीक्षा में 6 विषय शामिल होते हैं जो कुल 450 अंक के होते हैं। परीक्षा के लिए आवंटित समय 2 घंटे (120 मिनट) है। परीक्षा MCQ वस्तुनिष्ठ प्रकार की होगी।

क्रम विषय कुल प्रश्न कुल अंक आवंटित समय
1. जनरल स्टडीज़ 40 120 120 मिनट
2. झारखंड सामान्य ज्ञान 30 90
3. सामान्य गणित 20 60
4. सामान्य विज्ञान 20 60
5. मेंटल एबिलिटी 20 60
6. कम्प्यूटर ज्ञान 20 60
  कुल 150 450

JSSC CGL 2016 के लिए पूरे सिलेबस और परीक्षा पैटर्न को जानने के लिए इस लिंक पर जाएं। अब, JSSC CGL के लिए तैयारी करने के दौरान ध्यान देने योग्य बातों पर विचार करेंगे।

JSSC CGL 2016 को पास करने के लिए महत्वपूर्ण टिप्स

JSSC CGL के लिए एक उचित अध्ययन योजना की ओर बढ़ने से पहले, कुछ बातों का विशेष ध्यान रखें। हमने कुछ महत्वपूर्ण टिप्स को सूचिबद्ध किया है जिससे आप JSSC CGL परीक्षा सफलतापूर्वक पास कर पाएंगे।

  • उम्मीदवारों को ध्यान देना होगा और शांत मन – बुद्धि के साथ पढ़ना होगा। कुछ भी शुरू करने से पहले, हम सभी उम्मीदवारों को सलाह देंगे कि वे पिछले वर्षों के टेस्ट पेपर पढ़ें और हाल ही में पूछे गए विषयों और प्रश्नों को हल करें।
  • साथ ही, कोशिश करें कि एक विषय को 2-3 दिन से अधिक समय ना दें।
  • 150 प्रश्नों को हल करने के लिए आवंटित समय 120 मिनट है, जिसका अर्थ है कि एक उम्मीदवार के पास एक प्रश्न का विश्लेषण और हल करने के लिए कुछ 48 सेकेण्ड हैं जो बहुत कम हैं। इसलिए, उम्मीदवार को अपनी गति पर काम करने की ज़रूरत है साथ ही सटीकता के साथ कोई समझौता ना करें।
  • समीक्षा करते रहें और जो कुछ आपने पढ़ा है उसके नोट्स बनाएं।
  • जितने हो सकें उतने मॉक टेस्ट हल करें।

JSSC CGL अध्ययन योजना 2016

एक बार जब आप JSSC परीक्षा के सिलेबस से अवगत हो जाते हैं तो आपको एक परीक्षा रणनीति बनाने की ज़रूरत है। यहां सिलेबस की विषय-वार तरीके से सूची दी गई है जो कि आपको JSSC CGL के लिए एक कुशल और प्रभावी अध्ययन योजना तैयार करने में मदद करेगी।

जनरल स्टडीज़

यह प्रश्न और अंकों की संख्या के संबंध में सबसे मुख्य विषय है। यह परीक्षा का प्राथमिक हिस्सा है और किसी भी उम्मीदवार की सफलता या असफलता इसी पर निर्भर करती है। इसलिए, इस सेक्शन में स्कोर करना बहुत ज़रूरी है।

  • झारखंड राज्य से संबंधित विषयों पर विशेष ध्यान दें। विषयों में झारखंड पर आधारित भूगोल, इतिहास, राजनीति, पर्यावरण, कला और संस्कृति से प्रश्न पूछे जा सकते हैं।
  • साथ ही भारतीय स्वतंत्रता संग्राम के विषय को भी पढ़ें। हालांकि, इस विषय से अधिक प्रश्न नहीं पूछे जाते लेकिन, जब भी पूछे जाते हैं तो इनका कठिनाई स्तर काफ़ी ऊंचा होता है। इसलिए, आपको पहले से ही इसकी तैयारी करनी होगी।
  • चूंकि ये विषय सैद्धांतिक है, नियमित रूप से पढ़ते रहें क्योंकि जो कुछ भी आपने पढ़ा है उसे याद रखना आवश्यक है।

सामान्य ज्ञान

उम्मीदवार इस विषय से काफ़ी भयभीत रहते हैं क्योंकि यह अत्यंत मुश्किल है। आपको सभी मुख्य राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं और संभावनाओं से परिचित होना चाहिए जो अपने आप में बहुत व्यापक है। यह दूसरा महत्वपूर्ण विषय है।

  • तैयारी करने के सबसे बेहतर तरीक़ा यही है कि आप महीने के अनुसार घटी राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय घटनाओं की सूची बनाएं।
  • समसामयिक विकासों पर ध्यान केंद्रित करें जो पिछले 6 महीनों में हुए हों।
  • साथ ही वैज्ञानिक विकास, राष्ट्रीय पुरस्कार, पुस्तकों और लेखकों पर भी ध्यान दें।
  • इस विषय को निरंतर पढ़ने की ज़रूरत है। अपने रोज़ के दिनचर्या में इस विषय के लिए भी समय निकालें क्योंकि सामान्य ज्ञान एक रात में नहीं पढ़ा जा सकता।

सामान्य गणित और मेंटल एबिलिटी

इन दोनों विषयों से लगभग प्रश्नों की संख्या एक ही होती है। प्रश्नों को हल करने की तक़नीक और नियमित अभ्यास इस सेक्शन में स्कोर करने के सबसे बड़े हथियार हैं।

  • गणित और मेंटल एबिलिटी से संबंधित प्रश्नों को हल करें।
  • गुणा, वर्गमूल, घन, घनमूल, आदि के लिए शॉर्टकट तक़नीक का प्रयोग करें। इससे आपके समय की बचत होगी जो अधिकतर गणना में व्यर्थ होता है। इससे आप लाभांवित होंगे।
  • उन प्रश्नों को हल करने का प्रयास ना करें जिनमें लंबी गणना की ज़रूरत हो।

सामान्य विज्ञान और कम्प्यूटर ज्ञान

ये विषय भी कुल अंकों में महत्वपूर्ण स्थान रखते हैं। उचित तरीक़े से समझना अत्यंत ज़रूरी है और यदि आप सब याद करने का प्रयास करते हैं तो इससे आप सिर्फ़ भ्रमित होंगे।

  • ये सभी स्थिर विषय हैं जो कि संबंधों और उदाहरणों के ज़रिए याद करने होंगे। इसलिए, हमेशा इन्हें अपनी रोज़मर्रा की ज़िंदगी से जोड़ने का प्रयास करें और फिर समझें। इससे याद करने की प्रक्रिया आसान हो जाएगी।
  • इस स्तर पर आकर कुछ नया पढ़ने की कोशिश ना करें बल्कि जो आपको पता है उस पर ध्यान केंद्रित करें।

हम उम्मीद करते हैं कि JSSC CGL अध्ययन योजना और तैयारी के लिए टिप्स पर यह लेख आपके लिए सहायक सिद्ध होगा। यह आपको आगामी परीक्षाओं के लिए बेहतर तरीके से तैयारी करने में मदद करेगा। हम उम्मीदवारों को उनकी तैयारी औऱ JSSC CGL परीक्षा में उनके प्रदर्शन के लिए शुभकामनाएं देते हैं।

JSSC CGL 2016 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। SSC CGL भर्ती परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप निःशुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कॉमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.