अनुदेशात्मक ऑब्जेक्टिव्स को लिखने के टिप्स

अनुदेशात्मक उद्देश्य लेखन के टिप्स: हालांकि अपने विषय क्षेत्र से भलीभांति अवगत होना ज़रूरी है लेकिन आवश्यक कुशलताओं और सिद्धांतों को प्रेषित कर पाना अत्यंत महत्वपूर्ण है। कई लोग इस बात को मानते हैं कि शिक्षा का मूल उद्देश्य है सीखना। कई ये मानेंगे कि शिक्षा तब अधिक प्रभावी होती है जब शिक्षक इस बात को लेकर स्पष्ट होते हैं कि अभ्यर्थी क्या सीखना चाहते हैं।

आज के लेख में, हम अनुदेशात्मक उद्देश्य लेखन के टिप्स पर चर्चा करेंगे। इस विषय के बारे में अधिक जानने के लिए नीचे पढ़ें। साथ ही हम कुछ महत्वपूर्ण टिप्स भी साझा करेंगे। अब हम अनुदेशात्मक उद्देश्य की परिभाषा के साथ शुरू करेंगे।

अनुदेशात्मक उद्देश्य क्या हैं?

अनुदेशात्मक उद्देश्य एक प्रमाणित वाक्य है जो कि यह बताता है कि सीखने वाला सूचना ग्रहण करने के बाद क्या करने में सक्षम होगा। अनुदेशात्मक उद्देश्य (इन्हें स्वभाव संबंधी उद्देश्य या सीखने के उद्देश्य भी कहा जाता है) आमतौर पर प्रमाणित वाक्य हैं जो कि स्पष्टता से प्रत्याशित परिणाम के बारे में बताते हैं।

  • अनुदेशात्मक उद्देश्य स्पष्ट, मापने योग्य, लघुकालिक, प्रत्यक्ष विद्यार्थी व्यवहार हैं।
  • एक उद्देश्य, सीखने वाले के प्रदर्शन का विवरण है जो कि आप चाहते हैं कि सक्षम होने से पहले वह प्रदर्शित करे।
  • एक उद्देश्य, किसी अनुदेश की अपनी प्रक्रिया के बजाय किसी भी अनुदेश का उद्दिष्ट परिणाम बताता है।
अनुदेशात्मक उद्देश्य का मुख्य उद्देश्य है:
  1. अनुदेशात्मक प्रक्रिया के लिए दिशा प्रदान करना वो भी स्पष्ट रूप से सीखने के परिणामों को घोषित करते हुए।
  2. शिष्यों, अभिभावकों और शैक्षिक संस्थाओं को अनुदेश का उद्देश्य संप्रेषित करना।
  3. उस प्रदर्शन को बताना जिससे शिष्य के सीखने की प्रक्रिया का अवलोकन किया जा सके।

उद्देश्य क्या है?

एक स्वभाव संबंधी उद्देश्य “एक उद्देश्य है जो कि एक प्रमाणित वाक्य द्वारा बताया जाता है जो कि एक शिष्य में प्रस्तावित बदलाव के बारे में बताता है – एक प्रमाणित वाक्य कि एक शिष्य कैसा होगा या होना चाहिए यदि वह सीखने का अनुभव पूरा करता है” (मैगर, 1975)। या स्वभाव संबंधी उद्देश्य प्रत्यक्ष व्यवहार का प्रमाणित वाक्य है कि सीखने वाले को कार्यक्रम के अंत या सीखने के सत्र में क्या प्रदर्शित करना है। दूसरे शब्दों में, स्वभाव संबंधी उद्देश्य प्रस्तावित व्यवहार का विवरण है जो कि एक शिक्षक सीखने वाले में लाना चाहता है – संज्ञानात्मक, मनोप्रेरक या सीखने के प्रभाव से संबंधित हो सकता है। पाठ के उद्देश्य शिष्यों के साथ साझा किए जाते हैं ताकि उन्हें पता चले कि उनसे क्या अपेक्षित है।

प्रदर्शन उद्देश्य एक तीन भाग का प्रमाणित वाक्य है, यानि शिष्य को व्यवहार में उस्तादी हासिल करनी है। एक सच्चे प्रदर्शन उद्देश्य के तीन पहचाने जाने योग्य भाग होते हैं: 1) व्यवहार का विवरण, 2) वे परिस्थितियां जिनमें व्यवहार का अवलोकन किया जाएगा 3) वो प्रक्रिया जो कि यह बताती है कि व्यवहार कितना अच्छा प्रदर्शित किया जाना चाहिए ताकि उसे उत्कृष्ट कहा जा सके।

उद्देश्यों के प्रकार

संज्ञानात्मक

ये उद्देश्य व्यक्ति के ज्ञान को बढ़ाने के लिए तैयार किए गए हैं। ये उद्देश्य समझ, जागरूकता और अंतर्दृष्टि को ध्यान में रखकर बनाए जाते हैं (उदाहरण के लिए, किसी ग्रह का विवरण दीजिए और विद्यार्थी को मौखिक तौर पर या लेखन में उस ग्रह को पहचानना होगा या विद्यार्थी सूर्य मंडल के उदय के विभिन्न सिद्धांतों के बारे में बताएगा, अपनी तुलना करने की क्षमता के आधार पर मौखिक तौर पर या लेखन में प्रत्येक सिद्धांत की कमज़ोरियों और सशक्त पक्ष को बताते हुए)। इसमें ज्ञान या सूचना स्मरण, समझ या सैद्धांतिक समझ, ज्ञान को परिणत करने की क्षमता, परिस्थिति को जांचने की क्षमता या किसी परिस्थिति से जानकारी लेने की क्षमता और कुछ नया बनाने की क्षमता शामिल होती है।

मनोप्रेरक

मनोप्रेरक उद्देश्य भौतिक कौशल का निर्माण करने के लिए तैयार किए जाते हैं (उदाहरण के लिए, एक विद्यार्थी बिना किसी मदद के दो पहिया की साइकिल चलाने में सक्षम होगा जैसा कि जिम क्लास में दिखाया गया हो)। वे कार्य जो सूक्ष्म प्रेरक कौशल जैसे सूक्ष्मता उपकरण का प्रयोग या वे कार्य जो कुल प्रेरक कौशल जैसे नृत्य या भाग-दौड़ में शरीर के उपयोग पर निर्भर करते हैं, ये उद्देश्य इन्हीं भौतिक कौशलों का निर्माण करने के लिए ही बनाए जाते हैं।

उत्तेजित

ये उद्देश्य व्यक्ति का दृष्टिकोण बदलने के उद्देश्य से तैयार किए जाते हैं। ये दृष्टिकोण, प्रशंसा और संबंधों से संबंधित होते हैं (उदाहण के लिए, यदि एक टीम में काम करने का अवसर दिया जाए जिसमें विभिन्न वर्गों के लोग हों, तो एक विद्यार्थी वर्ग के प्रति निरपेक्ष दृष्टिकोण के साथ काम करेगा जैसा कि ग़ैर टीम सदस्यों द्वारा पूरी की गई चेकलिस्ट में नापा जाएगा।

अनुदेशात्मक उद्देश्य लेखन के टिप्स

उद्देश्य कितने स्पष्ट और विवरणात्मक होंगे?

यह निर्भर करता है कि वे किसके लिए प्रयोग किए जाते हैं। एक इकाई योजना को बनाने के लिए उद्देश्य सामान्य होने चाहिए बजाय किसी पाठ योजना का स्पष्टीकरण देते हुए।

  • उद्देश्य लेखन को मुश्किल, तुच्छ, समय बर्बादी या मशीनी ना बनाएं। उन्हें सरल, स्पष्ट और सीखने की कुंजी के रूप में लिखें।
  • उद्देश्यों का लक्ष्य स्वच्छंदता को बाधित करना या अनुशासन में शिक्षा के दृष्टिकोण को नदारद करना नहीं है लेकिन यह सुनिश्चित करना है कि सीखने की प्रक्रिया इस पर केंद्रित हो कि शिक्षक और शिष्य को ये पता हो कि क्या चल रहा है।
  • उन्हें विद्यार्थी के प्रदर्शन, व्यवहार और उपलब्धि के आधार पर प्रदर्शित करें न कि शिक्षक की क्रिया के आधार पर।

अनुदेशात्मक उद्देश्य के तीन घटक:

  1. उस क्रिया को पहचानें जिसमें क्षमता की आवश्यकता है।
  2. वो प्रक्रिया या मानदंड निर्धारित करें जिससे क्रिया में क्षमता का मूल्यांकन किया जा सकेगा।
  3. वे परिस्थितियां जो कि उद्देश्यों को पूरा करने के लिए विद्यार्थी को पता होनी चाहिए (उदा. …आपकी प्रयोगशाला में सामग्रियों के साथ काम करने के लिए दो क्लास पीरियड दिए गए हों)।

उद्देश्य लिखने में, प्रश्न का उत्तर दें: प्रतिभागी क्या करने में सक्षम होने चाहिए?”

  1. उद्देश्य स्पष्ट और प्राप्य होने चाहिए।
  2. ज्ञान पर ध्यान दें।
  3. एक अनुशंसित शब्द प्रारूप है: “इस क्रिया के पूरा होने पर प्रतिभागियों को यह करने में सक्षम होना चाहिए कि…” यह वाक्यांश किसी विशिष्ट प्रदर्शन क्रिया और अपेक्षित परिणाम के बाद आएगा।

अनुदेशात्मक उद्देश्य लेखन की A B C D

A – ऑडियन्स: कौन। “विद्यार्थी यह करने में सक्षम होगा कि…”

B – बिहेवियर: शिष्य से जो अपेक्षित हो कि वह ये कर सकता है। व्यवहार प्रत्यक्ष होना चाहिए।

C – कन्डिशन: वे महत्वपूर्ण परिस्थितियां जिसमें प्रदर्शन होना है।

D – डिग्री: स्वीकार योग्य प्रदर्शन की प्रक्रिया। एक शिष्य को कितना अच्छा प्रदर्शन करना है ताकि प्रदर्शन को स्वीकारा जा सके।

यहां हम अनुदेशात्मक लेखन टिप्स पर इस लेख को विराम देते हैं। उम्मीद करते हैं कि कुछ नया सीखने को मिला होगा। टीचिंग भर्ती से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमारे साथ बने रहिए। टीचिंग परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ टीचिंग परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.