X

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 की सम्पूर्ण तैयारी कैसे करें : जानें आवश्यक टिप्स !

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 की सम्पूर्ण तैयारी कैसे करें – अधिकतम युवाओं का सपना होता है कि वह वर्दी वाली नौकरी करें। इस सपना को सच बनाने हेतु , आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से बताएंगे कि किस तरह ये सपना पूरा करना सम्भव है। आज कल पुलिस कि भर्ती हेतु तैयारी तो सभी करते है परन्तु यह सपना सच कुछ ही लोगो का हो पाता है। इस सपना को पूरा करने के लिए तैयारी करने के कुछ टिप्स बताएं जा रहें जिनसे आपको सफलता प्राप्त होगी।

UP पुलिस कॉन्स्टेबल भर्ती 2018 (UP Police Recruitment 2018) के तहत इस वर्ष, पुलिस कांस्टेबल के लिए 49568 रिक्तियां हैं। आपको यह याद रखना होगा कि सफलता एक दिन में नहीं मिलती इसके लिए आपको पर्याप्त परिश्रम करना होगा। हम आपकी कोशिश को टिप्स से मार्गदर्शन कर थोड़ा आसान बना सकते हैं।

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 की सम्पूर्ण तैयारी कैसे करें ?

इस लेख के तहत सभी उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा से लेकर शारीरिक परीक्षा के टिप्स प्रदान किए जायेंगे। लिखित परीक्षा के टिप्स से पहले सभी उम्मीदवारों को लिखित परीक्षा के पैटर्न और पाठ्यक्रम से परिचित हो लेना आवश्यक है। आपकी बड़ी समस्या तभी समाप्त हो जाती है जब आपको पता हो कि परीक्षा के लिए आपको क्या पढ़ना है।

पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा पैटर्न 2018 (CBT-कंप्यूटर आधारित परीक्षा)

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 में सम्मिलित होने जा रहे सभी उम्मीदवार सबसे पहले परीक्षा पैटर्न और पाठ्यक्रम से परिचित हो लें और उसके पश्चात अपनी तैयारी शुरू करें-

क्रम संख्या विषय प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक समयावधि
1 सामान्य ज्ञान

(General Knowledge)

38 76 2 घंटे
2 मानसिक अभिरुचि , बुद्धिलब्धि एवं तार्किक क्षमता

(Mental Aptitude, IQ & Reasoning Ability)

38 76
3 संख्यात्मक एवं मानसिक योग्यता

(Numerical & Mental Ability)

37 74
4 सामान्य हिंदी

(General Hindi)

37 74
कुल 150 300
  • प्रति प्रश्न 2 अंक और नेगेटिव मार्किंग: 0.5 अंक अथार्त 1/4 अंक।
  • परीक्षा प्रश्न पत्र हिंदी और अंग्रेजी दोनों भाषा में उपलब्ध होगा। अभ्यर्थी अपनी सुविधानुसार भाषा का चयन कर सकता है।
  • सभी प्रश्न बहुविकल्पी प्रकृति (MCQ) के होंगे।
UP पुलिस कांस्टेबल परीक्षा 2018: मॉक टेस्ट सीरीज़
UP पुलिस कांस्टेबल परीक्षा 2018 में निश्चित सफलता के लिए ऑनलाइन मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी अवश्य जांचे और जानें आप दूसरे तैयारी कर रहे उम्मीदवारों से कितने पीछे है और अभी आपको कितने परिश्रम की आवश्यकता है-
UP पुलिस कांस्टेबल परीक्षा 2018: मॉक टेस्ट सीरीज़
कुल (15) फुल लेंथ  (15) फ्री टेस्ट अटेम्प्ट करें !

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा पाठ्यक्रम 2018

परीक्षा में सम्मिलित होने जा रहे उम्मीदवारों के लिए UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती परीक्षा 2018 का पाठ्यक्रम (Syllabus for UP Police Constable Recruitment Exam 2018) यहाँ दिया जा रहा है।

  • सामान्य ज्ञान (General Knowledge)

सामान्य विज्ञान, भारत का इतिहास, भारतीय संविधान, भारतीय अर्थव्यवस्था एवं संस्कृति, भारतीय कृषि, वाणिज्य एवं व्यापार, जनसंख्या, पर्यावरण एवं नगरीकरण, भारत का भूगोल तथा विश्व भूगोल और प्राकृतिक संसाधन, उ0प्र0 की शिक्षा संस्कृति और सामाजिक प्रथाओं के सम्बन्ध में विशिष्ट जानकारी, उ0प्र0 में राजस्व, पुलिस व सामान्य प्रशासनिक व्यवस्था, मानवाधिकार, आंतरिक सुरक्षा तथा आतंकवाद, भारत और उसके पड़ोसी देशों के बीच सम्बन्ध, राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय महत्व के समसामयिक विषय, राष्ट्रीय तथा अन्तर्राष्ट्रीय संगठन, साइबर क्राइम, वस्तु एवं सेवाकर, पुरस्कार और सम्मान, देश/राजधानीं/मुद्रायें, महत्वपूर्ण दिवस, अनुसंधान एवं खोज, पुस्तक और उनके लेखक, सोशल मीडिया कम्युनिकेशन।

  • सामान्य हिन्दी (General Hindi)

1. हिन्दी और अन्य भारतीय भाषायें, 2. हिन्दी व्याकरण का मौलिक ज्ञान- हिन्दी वर्णमाला, तद्भव-तत्सम, पर्यायवाची, विलोम, अनेकार्थक, वाक्यांशों के स्थान पर एक शब्द, समरूपी भिन्नार्थक शब्द, अशुद्ध वाक्यों को शुद्ध करना, लिंग, वचन, कारक, सर्वनाम, विशेषण, क्रिया, काल, वाच्य, अव्यय, उपसर्ग, प्रत्यय, सन्धि, समास, विराम-चिन्ह, मुहावरे एवं लोकोक्तियां, रस, छन्द, अलंकार आदि, 3. अपठित बोध, 4-प्रसिद्ध कवि, लेखक एवं उनकी प्रसिद्ध रचनायें, 5-हिन्दी भाषा में पुरस्कार, 6. विविध

  • संख्यात्मक एवं मानसिक योग्यता (Numerical and Mental Ability)

A. संख्यात्मक योग्यता (Numerical Ability)- संख्या पद्धति (Number System), सरलीकरण (Simplification),दशमलव और भिन्न( Decimals and Fraction), महत्तम समापवर्तक और लघुत्तम समापवर्तक (Highest common factor-HCF and lowest common multiple-LCM), अनुपात और समानुपात (Ratio and Proportion), प्रतिशतता (Percentage), लाभ और हानि (Profit and Loss), छूट (Discount,साधारण ब्याज (Simple interest), चक्रवृद्धि ब्याज (Compound interest,भागीदारी (Partnership),औसत (Average), समय और कार्य (Time and Work), समय और दूरी (Time and Distance),सारणी और ग्राफ का प्रयोग ( Use of Tables and Graphs),मेन्सुरेशन (Mensuration), अंकगणितीय संगणना व अन्य विश्लेषणात्मक कार्य (Arithmetical computations and other analytical functions), विविध (Miscellaneous)

B. मानसिक योग्यता (Mental Ability)- तार्किक आरेख (Logical Diagrams)- संकेत–सम्बन्ध विश्लेषण (Symbol Relationship Interpretation),प्रत्यक्ष ज्ञान बोध ( Perception Test),शब्द रचना परीक्षण ( Word formation Test), अक्षर और संख्या श्रृंखला (Letter and number series), शब्द और वर्णमाला में आंशिक समरूपता (Word and alphabet Analogy),व्यावहारिक ज्ञान परीक्षण ( Common Sense Test), दिशा ज्ञान परीक्षण (Direction sense Test),आंकड़ो का तार्किक विश्लेषण ( Logical interpretation of data),प्रभावी तर्क ( Forcefulness of argument), अंतर्निहित भावों का विनिश्चय करना (Determining implied meanings)

  • मानसिक अभिरूचि, बुद्धिलब्धि एवं तार्किक क्षमता (Mental Aptitude, I.Q. and Reasoning Ability)

A- मानसिक अभिरूचि (Mental Aptitude)- निम्नलिखित के प्रति दृष्टिकोणः जनहित (Public Interest),कानून एवं शांति व्यवस्था ( Law and order), साम्प्रदायिक सद्भाव (Communal harmony), अपराध नियंत्रण (Crime Control), विधि का शासन (Rule of law), अनुकूलन की क्षमता, (Ability of Adaptability),व्यावसायिक सूचना (बेसिक स्तर की) [Professional Information (Basic level)],पुलिस प्रणाली ( Police System), समकालीन पुलिस मुद्दे एवं कानून व्यवस्था (Contemporary Police Issues & Law and order),व्यवसाय के प्रति रूचि ( Interest in Profession),मानसिक दृढ़ता ( Mental toughness), अल्पसंख्यकों एवं अल्प अधिकार वालों के प्रति संवेदनशीलता (Sensitivity towards minorities and underprivileged), लैंगिक संवेदनशीलता (Gender sensitivity),
B- बुद्धिलब्धि (I.Q.)- सम्बन्ध व आंशिक समानता परीक्षण (Relationship and Analogy Test), असमान को चिन्हित करना (Spotting out the dissimilar), श्रृंखला पूरी करने का परीक्षण (Series Completion Test), संकेत लिपि और सांकेतिक लिपि को समझना (Coding and Decoding Test), दिशा ज्ञान परीक्षण (Direction Sense Test),रक्त सम्बन्ध (Blood Relation), वर्णमाला पर आधारित प्रश्न ( Problems based on alphabet), समय–क्रम परीक्षण (Time sequence test), वेन आरेख और चार्ट सदृश परीक्षण (Venn Diagram and chart type test),गणितीय योग्यता परीक्षण ( Mathematical ability Test),क्रम में व्यवस्थित करना (Arranging in order)
C- तार्किक क्षमता (Reasoning Ability)-समरूपता (Analogies), समानता (Similarities),भिन्नता ( Differences), खाली स्थान भरना (Space visualization), समस्या को सुलझाना (Problem solving), विश्लेषण निर्णय (Analysis judgement), निर्णायक क्षमता (Decision-making), दृय स्मृति (Visual memory), विभेदन क्षमता (Discrimination), पर्यवेक्षण (Observation), सम्बन्ध (Relationship), अवधारणा (Concepts), अंकगणितीय तर्क (Arithmetical reasoning), शब्द और आकृति वर्गीकरण (Verbal and figure classification), अंकगणितीय संख्या श्रृंखला (Arithmetical number series)

UP पुलिस कांस्टेबल भर्ती 2018 में सफलता प्राप्त करने के लिए अभ्यर्थियों को निम्नलिखित तीन स्तरीय पड़ाव पार करने होंगे तभी उनका चयन अनंतिम रूप से कांस्टेबल पद के लिए किया जायेगा। तीन स्तरीय पड़ाव निम्न प्रकार हैं-

परीक्षा की तैयारी तीन पड़ाव में होती है-
1. लिखित परीक्षा
2. फिजिकल परीक्षा
3. इंटरव्यू

UP पुलिस कांस्टेबल लिखित परीक्षा की तैयारी टिप्स

सामान्य ज्ञान (General Knowledge)

  • रोज़ एक समाचार पत्र पढ़ें क्योंकि ये आपके GK और अंग्रेज़ी सेक्शन के लिए सहायक होगा।
  • रेलवे परीक्षा में विगत वर्षों में पूछे गए प्रश्न पत्रों को हल करें। इससे आपको पूछे जाने वाले प्रश्नों के प्रकार और कठिनाई स्तर का पता चलेगा।
  • GK और समसामयिक विषयों के लिए Onlinetyari एप डाउनलोड करें और उसे नियमित फॉलो करें।
  • रेलवे में पूछे जाने वाले प्रश्न सरल और सीधे-सीधे पूछे जाते हैं। इसलिए बुनियादी बातों की सामान्य जानकारी से भी आप अच्छे अंक प्राप्त कर सकते हैं।
  • स्थैतिक सामान्य अध्ययन अथार्त इतिहास, संस्कृति, भूगोल, आर्थिक परिदृश्य, जनरल नीति और वैज्ञानिक अनुसंधान सम्बंधित विषयों के पाठ्यक्रम को कम समय में कवर करना भी एक चुनौती के समान है, क्योंकि इसका सिलेबस काफी बड़ा होता है, इसलिए आपको यह सुनिश्चित करना होगा की आप केवल उन विषयों पर ध्यान केंद्रित करें जो परीक्षा के लिए ज़रूरी हों।
  • अधिक पढ़ने के चक्कर में महत्त्वपूर्ण टॉपिक को पढ़ना न भूलें।
  • पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों का विश्लेषण करने से पता चलता है कि कई प्रश्न दोहराए जाते हैं लेकिन विभिन्न प्रकारों से। इसलिए इस केस में भी पिछले वर्षों के प्रश्न पत्रों को हल करना आपके लिए लाभदायक हो सकता है।
  • कोशिश करें कि जो आपने सीखा है, उसे दोहराने के लिए कुछ समय दें। ये सबसे महत्वपूर्ण सुझाव है, जो कोई भी दे सकता है।

सहायक अध्ययन सामग्री

सामान्य हिन्दी (General Hindi)

इस सेक्शन को आपको GA/GK के बाद अटेम्प्ट करना है। इस सेक्शन को कम-से-कम समय में हल करने का प्रयास करना चाहिए। इस सेक्शन को अगर ध्यान से देखें तो विगत वर्षों में इस सेक्शन के तहत पूछे गए प्रश्नों के प्रकार में काफी परिवर्तन दिखाई पड़ता हैं। इसी कारण अनेक छात्र पूछते हैं कि इस सेक्शन में हाई स्कोर कैसे लाया जा सकता है?

  • एक तरह से देखा जाये तो छोटा दिखने वाला ये सिलेबस बहुत बड़ा हो जाता है। परीक्षा के लिए अब ज्यादा समय शेष नहीं है। अतः अब परीक्षार्थियों को बहुत सही ध्यान से चयनात्मक तरीके से अधिक परिश्रम करना होगा। क्योंकि अगर परीक्षार्थी पूरा सिलेबस पढ़ने कि कोशिश करते है, तो असंभव है। सबसे सही तरीका चयनात्मक पढ़ाई होगी। इसके लिए सही और सार्थक मार्दर्शन कि जरुरत होगी।
  • सबसे पहले सभी छात्रों को यह समझना होगा कि हिंदी विषय नहीं हैं अपितु यह एक भाषा है। इस पर पकड़ बनाने के दो मार्ग हैं – आपकी व्याकरण कि समझ और शब्दावली अच्छी हो।
  • आप अपने शब्द भंडार को डेली स्टडी से इम्प्रूव कर सकते हैं।
  • प्रतिदिन नए शब्द सीखें, उनका व्यवहारगत प्रयोग कर सही उपयोग सीखें। क्योंकि शब्द याद करने से नहीं बल्कि प्रयोग करने से ही आपके लिए सहज बन जाते हैं और आपको हमेशा याद रहते हैं। पढ़ते समय भी शब्दों का उच्चारण शुद्ध रूप से करें। इससे शुद्ध शब्दों को भी आप सरलता से आप पहचान पाएंगे।
  • व्याकरण के लिए आप नियमों को समझ कर याद करें फिर उसपर आधारित अभ्यास प्रश्नों को हल करें। डेली मॉक टेस्ट के द्वारा आप अपनी व्याकरण की समझ को जांच सकते हैं।
  • अभ्यर्थी की हिंदी भाषा पर पकड़ अच्छी करनी होगी। अभ्यर्थी को हिंदी भाषा में पकड़ बनाने के लिए पाठ्यक्रम में दिए गए प्रत्येक टॉपिक पारंगत होना पड़ेगा ताकि हिंदी की परीक्षा में अधिक अंक स्कोर कर सकें।

सहायक अध्ययन सामग्री

  • सामान्य हिंदी-लुसेंट
  • सामान्य हिंदी-अरिहंत

संख्यात्मक एवं मानसिक योग्यता

  • अगर आप इस सेक्शन में कमजोर हैं तो हमारी आपको सलाह है कि आप इसे सबसे बाद में सॉल्व करने का प्रयास करें। इस सेक्शन के लिए 40 मिनट बचा कर रखें। परीक्षा में आपको 17-18 प्रश्न सीधे सूत्र आधारित मिलेंगे, आपका प्रयास पहले उन्हें हल करने का होनी चाहिए। उसके बाद आपको जटिल या हल करने में लम्बे प्रश्नों कि तरफ बढ़ना चाहिए।
  • गणित के प्रश्नों को हल करते समय शोर्ट ट्रिक्स का उपयोग समय बचाने के लिए करें, इससे आप कम समय और अल्प मेहनत में आसानी से प्रश्न को हल कर सकते हैं।
  • प्रत्येक प्रश्न को तयशुदा समय में हल करने का प्रयास करें, अगर किसी प्रश्न में अधिक समय लगना हो तो उसे बाद में हल करें। किसी भी प्रश्न पर अधिक समय बर्बाद न करें।
  • परीक्षा में पूछे गए प्रश्न का पैटर्न और कठिनाई स्तर समझने के लिए विगत वर्ष के प्रश्न पत्रों को हल करें।
  • तनाव मुक्त होकर परीक्षा दें,सकारात्मक रुख से परीक्षा देने से आप अच्छा कर सकते हैं। आसान प्रश्नों को पहले हल करें, इससे आप तनाव में नहीं आयेंगे। अपने आप को सहज बनाए रखें इससे आपको पढ़ा हुआ स्वतः याद आने लगेगा।

सहायक अध्ययन सामग्री

  • आर. एस अग्रवाल की गणित
  • किरन पब्लिकेशन से भी तैयारी करें

मानसिक अभिरूचि, बुद्धिलब्धि एवं तार्किक क्षमता

  • इस सेक्शन को आपको हिंदी के बाद अटेम्प्ट करना है। जिन्होंने इस सेक्शन को समझ कर अभ्यास किया है वो इस सेक्शन में पूछे जाने वाले प्रॉब्लम को आसानी से सॉल्व कर सकते हैं।
  • रीजनिंग या तर्कशक्ति के सवालो में प्रतियोगियों को कई मुश्किलों का सामना करना पड़ता है। जबकि रीजनिंग इतनी मुश्किल नही है जितना समझा जाता है। रीजनिंग के सवालो को हल करते समय केवल ट्रिक्स का ध्यान रखना ही महत्त्वपूर्ण नही है बल्कि स्वयं की समझ ज्यादा महत्त्वपूर्ण है। सबसे पहले हमें कुछ अच्छी स्तरीय पुस्तकों जैसे आर० एस० अग्रवाल आदि का अच्छी तरह से अध्ययन करना चाहिए ताकि जिन प्रश्नों को समझने में हमें बहुत समय लगता है, उन्हें कुछ ट्रिक्स के माध्यम से कुछ सेकंडो में हल किया जा सके।
  • कुछ प्रश्नों के जवाब देते समय ग्राफ आदि का प्रयोग सवाल को काफी सरल बना देता है , जैसे – दिशा सम्बन्धी प्रश्न, रिश्तो पर आधारित प्रश्न , बैठक व्यवस्था पर आधारित प्रश्न आदि।
  • अंग्रेजी वर्णमाला पर आधारित शब्दों को भी ट्रिक्स के माध्यम से हल जल्दी से किया जा सकता है। जैसे – अंग्रेजी के वर्णों का क्रम E J O T -5 ,10,15, 20। इन प्रश्नों की ट्रिक्स के माध्यम से हम कोडिंग- डिकोडिंग के सवालो को भी हल कर सकते है। प्रत्येक अंग्रेजी के वर्ण को एक संख्या का क्रम दिया जाता है , जैसे – A- को 1, B को 2 से Z को 26 तक। सांकेतिक भाषा के प्रश्नों को हल करते समय प्रत्येक अक्षर के विपरीत अक्षर की भी जरुरत पड़ती है। जिसे याद करना जरुरी होता है।
  • शब्द कोडिंग वाले प्रश्न में थोड़ी सी समझ की जरुरत पड़ती है । जैसे –यदि बादल को काला, सफ़ेद को हवा, हवा को नीला, नीले को पानी, पानी को बिजली कहा जाये तो बताएं बताये पक्षी कहाँ उड़ेंगे ?
    हल- सामान्यतः पक्षी हवा में उड़ते है और इसमें हवा को नीला कहा गया है । अतः इसका उत्तर नीला होगा ।
  • प्रत्येक टॉपिक के विभिन्न प्रकार के प्रश्न प्रकार को समझ कर तैयारी करें इससे रीजनिंग पर आपकी पकड़ मजबूत होगी। जिन टॉपिक्स पर आपकी पकड़ कमजोर है उनकी प्रतिदिन प्रैक्टिस करें। रीजनिंग सेक्शन के लिए डेली मॉक टेस्ट और विगत वर्ष के प्रश्न पत्र अवश्य हल करें , इससे आपकी तैयारी बेहतर बनेगी।

सहायक अध्ययन सामग्री

  • किरन पब्लिकेशन
  • आर एस अग्रवाल की रीजनिंग पुस्तक

लिखित परीक्षा में सफल होने के लिए तैयारी हेतु मॉडल पेपर और परीक्षा उपयोगी पुस्‍तकों का प्रयोग करना आवश्यक होता है। तैयारी नियमित रूप से करनी चाहिए। हो सके तो ज्‍यादा से ज्‍यादा ऑनलाइन मॉक टेस्ट से प्रश्नों का अध्‍ययन करें।

शारीरिक दक्षता परीक्षण की तैयारी टिप्स

यूपी कांस्टेबल भर्ती-2018 की परीक्षा में लिखित व शारीरिक दोनो समान रूप से आवश्यक हैं। दस्तावेजों की संवीक्षा एवं शारीरिक मानक परीक्षण में सफल पाये गये अभ्यर्थियों से शारीरिक दक्षता परीक्षण में सम्मिलित होना होगा। यह परीक्षा अर्हकारी प्रकृति (qualifying in nature) की होगी।

→ पुरूष अभ्यर्थियों हेतु 4.8 कि0मी0 की दौड़ अधिकतम 25 मिनट में पूरी करनी आवश्यक होगी।

→ महिला अभ्यर्थियों हेतु 2.4 कि0मी0 की दौड़ अधिकतम 14 मिनट में पूरी करनी आवश्यक होगी।

वे अभ्यर्थी जो विहित समय के भीतर दौड़ पूरी नहीं करते है, भर्ती के लिए पात्र नहीं होंगे।

शारीरिक परीक्षा की तैयारी कैसे करें?

  • अक्‍सर यह देखा जाता है कि लिखित परीक्षा को सफल बनाने के बाद युवा फिजिकल टेस्ट में असफल हो जाते हैं। इसीलिए फिजिकल टेस्ट की तैयारी पूरी लगन से करनी चाहिए जिससे परीक्षा में सफल हो सकें।
  • शारीरिक परीक्षा में पास होने हेतु अभ्यर्थी का स्वास्थ्य सामान्य से बेहतर होना चाहिए।
  • व्यायाम, कसरत करने से तैयारी आसान हो जाती है।
  • प्रतिदिन दौड़ लगाएं और धीरे-धीरे अपनी दूरी को बढ़ाते रहें। पुरुष अभ्यर्थी 25 मिनट में 5.5 किमी दौड़ का लक्ष्य लेकर तैयारी करें और महिला उम्मीदवार 14 मिनट में 3 किमी दौड़ का लक्ष्य लेकर तैयारी करें। दौड़ के अंतिम 10 मिनट का उपयोग करना सीखें।
  • व्यायाम और दौड़ हेतु यूट्यूब पर वीडियो देखें व रोज़ाना निर्देशों का पालन करें।

लिखित व शारीरिक परीक्षा पास करने के बाद अभ्यर्थियों को मेडिकल के लिए आमंत्रित किया जायेगा। इस चरण में भी सफल रहने वाले उम्मीदवारों को अनंतिम रूप से कांस्टेबल पद के लिए चयनित किया जायेगा।

TyariPLUS जॉइन करें !
अपनी आगामी सभी SSC परीक्षाओं की तैयारी के लिए अब सिर्फ TyariPLUS की सदस्यता लें और वर्ष भर अपनी तैयारी जारी रखें-
TyariPLUS सदस्यता के फायदे
  • विस्तृत और मासिक परफॉरमेंस रिपोर्ट
  • 1500+ मॉक टेस्ट से करें प्रैक्टिस
  • टॉपिकवाइज टेस्ट से बढ़ाएं टॉपिक विशेष की समझ
  • विशेषज्ञों द्वारा नि: शुल्क परामर्श
  • मुफ्त मासिक करेंट अफेयर डाइजेस्ट
  • विज्ञापन-मुक्त अनुभव और भी बहुत कुछ

परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवार अपनी परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें और मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी को जांचते रहें। अनलिमिटेड मॉक टेस्ट से अभ्यास करने के लिए अभी TyariPLUS जॉइन करें।

TyariPLUS पर क्रिसमस हेतु सेंटा द्वारा लाएं गए गिफ्ट 50% +20% छुट का लाभ उठाएं। सभी प्रतियोगी छात्र इस छुट का लाभ कूपन कोड XMAS22 का प्रयोग कर उठा सकते हैं। *ऑफर 26 दिसंबर तक वैध है, जल्दी करें !

उपरोक्त दी गई जानकारी से आपको पुलिस की भर्ती हेतु अवश्य ही सहायता प्राप्त होगी। इस आर्टिकल से आप पुलिस कांस्टेबल की नौकरी पाने में सफल होंगे, और बेहतर करियर की शुरुआत कर सकेंगे। यदि अभी भी आपके मन में करियर से रिलेटेड कोई सवाल है तो आप कमेंट बॉक्स के माध्यम से अपने सवालों को पूछ सकते हैं, आपके सवालों, प्रतिक्रिया और सुझाव का हमें हमेशा इंतज़ार रहेगा।

UP कांस्टेबल परीक्षा 2018 से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। पुलिस परीक्षाओं में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ पुलिस भर्ती परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Ajay K. Tripathi :
© 2010-2018 Next Door Learning Solutions