UPPSC परीक्षा पैटर्न और प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस 2018

UPPSC परीक्षा पैटर्न और प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस 2018 : उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग जिसे UPPSC भी कहा जाता है, ने संयुक्त राज्य/उच्च सब-ऑर्डिनेट सेवा परीक्षा से संबंधित UPPSC भर्ती 2018 के लिए अधिकारिक अधिसूचना जारी की है। वर्ष 2018 में सभी राज्यों के लिए UPPSC ने संयुक्त सेवा पदों के लिए 831 रिक्तियां घोषित की हैं। UPPSC आवेदन प्रक्रिया शुरू हो चुकी है और ऑनलाइन आवेदन भरने की अंतिम तिथि 02 जुलाई, 2018 है। इसलिए, यदि आप UPPSC 2018 में आवेदन भरने के इच्छुक हैं, तो आपको ऑनलाइन पोर्टल के ज़रिए आवेदन भरना होगा।

उम्मीदवारों को परीक्षा प्रारूप से अवगत कराने के लिए, हम UPPSC प्रारंभिक परीक्षा सिलेबस, परीक्षा पैटर्न और संरचना को साझा करने जा रहे हैं।

UPPSC परीक्षा पैटर्न और प्रारंभिक परीक्षा का सिलेबस 2018

हम आगामी उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग के परीक्षा पैटर्न और संरचना पर एक नज़र डालेंगे।

UPPSC परीक्षा में तीन स्तर होते हैं:

  • प्रारंभिक परीक्षा (वस्तुनिष्ठ प्रकार और बहुविकल्पीय प्रश्न)
  • मुख्य परीक्षा (लिखित परीक्षा)
  • मौखिक परीक्षण (व्यक्तित्व परीक्षण)

UPPSC परीक्षा 2018 का पैटर्न

प्रारंभिक परीक्षा में दो अनिवार्य पेपर शामिल होंगे। उम्मीदवारों को अपने उत्तर OMR शीट पर देने होंगे। दोनों ही पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के MCQ प्रारूप में पूछे जाएंगे।

प्रश्न पत्र प्रश्न अंक
सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 1

 

150 प्रश्न 200 अंक
सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र 2 150 प्रश्न 200 अंक

जनरल स्टडीज़ पेपर-1 और पेपर-2

इसमें दोनो ही पेपर वस्तुनिष्ठ प्रकार के होंगे और 2 घंटे के समय में कुल 150 प्रश्न हल करने होंगे।

  1. प्रारम्भिक परीक्षा: सम्मिलित राज्य/ प्रवर अधीनस्थ सेवा (सामान्य चयन/दिव्यांगजन-बैकलॉग/विशेष चयन) परीक्षा तथा सहायक वन संरक्षक/ क्षेत्रीय वन अधिकारी सेवा परीक्षा हेतु प्रारम्भिक परीक्षा दो अनिवार्य प्रश्नपत्रों की होगी। जिनके उत्तर पत्रक ओ.एम.आर. सीट के रूप में होंगे। सम्मिलित राज्य/ प्रवर अधीनस्थ सेवा (सामान्य चयन/ दिव्यांगजन-बैकलॉग/विशेष चयन) परीक्षा तथा सहायक वन संरक्षक/ क्षेत्रीय वन अधिकारी सेवा परीक्षा हेतु प्रारम्भिक परीक्षा के लिए पाठ्यक्रम में उल्लिखित है। प्रत्येक प्रश्न-पत्र 200 अंकों के तथा दो -दो घण्टे की अवधि के होंगे। दोनों प्रश्न पत्र वस्तुनिष्ठ व बहुविकल्पीय प्रकार के होंगे जिनमें क्रमशः व प्रश्न होंगे। प्रथम प्रश्न पत्र पूर्वाहन: बजे 9:30 से 11:30 बजे तक तथा द्वितीय प्रश्नपत्र अपराह्व 2:30 बजे से सायं 4:30 बजे तक।

नोटः (i) प्रारम्भिक परीक्षा का द्वितीय प्रश्नपत्र अर्हकारी होगा जिसमें न्यूनतम 33% अंक प्राप्त किया जाना अनिवार्य होगा।

(ii) मूल्यांकन के उद्देश्य से अभ्यर्थियों को प्रारम्भिक परीक्षा के दोनों प्रश्नपत्रों में सम्मिलित होना बाध्यकारी है। अतएव यदि कोई अभ्यर्थी दोनों प्रश्नपत्रों में सम्मिलित नहीं होता है तो वह अनर्ह (disqualify) हो जायेगा।

(iii) अभ्यर्थियों के योग्यताक्रम (Merit) का निर्धारण उनके प्रारम्भिक परीक्षा के प्रथम प्रश्नपत्र में प्राप्त अंको के आधार पर किया जायेगा।

मुख्य (लिखित) परीक्षा:  सम्मिलित राज्य/ प्रवर अधीनस्थ सेवा (सामान्य चयन/दिव्यांगजन – बैकलॉग/विशेष चयन परीक्षा) हेतु मुख्य (लिखित) परीक्षा के लिए निर्धारित विषय: मुख्य परीक्षा में निम्नलिखित अनिवार्य तथा वैकल्पिक विषय होंगे। अभ्यर्थियों को मुख्य परीक्षा हेतु वैकल्पिक विषयों की सूची में से कोई एक विषय चुनना होगा जिसके दो प्रश्न-पत्र होंगे।

विषय अंक परीक्षावधि
A. अनिवार्य विषय
सामान्य हिन्दी 150 अंक 3 घंटे
निबन्ध 150 अंक 3 घंटे
सामान्य अध्ययन, प्रथम प्रश्न-पत्र 200 अंक 3 घंटे
सामान्य अध्ययन, द्वितीय प्रश्न-पत्र 200 अंक 3 घंटे
सामान्य अध्ययन, तृतीय प्रश्न-पत्र 200 अंक 3 घंटे
सामान्य अध्ययन, चतुर्थ प्रश्न पत्र 200 अंक 3 घंटे
B. वैकल्पिक विषय
वैकल्पिक विषय- प्रथम प्रश्न-पत्र 200 अंक 3 घंटे
वैकल्पिक विषय- द्वितीय प्रश्न-पत्र 200 अंक 3 घंटे
व्यक्तित्व परीक्षा/मौखिक परीक्षा 100 अंक

अनिवार्य विषयों यथा सामान्य हिन्दी, निबन्ध तथा सामान्य अध्ययन-प्रथम प्रश्न पत्र, द्वितीय प्रश्न पत्र, तृतीय प्रश्न पत्र एवं चतुर्थ प्रश्न- पत्र परम्परागत (Conventioal) प्रकार के होगें। इन प्रश्न-पत्रों के हल करने की अवधि 3 घन्टे होगी। इसके अतिरिक्त वैकल्पिक विषय के प्रश्न-पत्रों हेतु 3 घन्टे का समय निर्धारित हैं। वैकल्पिक विषय का प्रत्येक प्रश्न पत्र 200 अंको का होगा।

नोट : (1) 3 घण्टे वाले प्रश्नपत्र का परीक्षा समय पूर्वान्ह 9.30 बजे से 12.30 बजे तक तथा अपरान्ह 2 बजे से सायं 5 बजे तक होगा। अभ्यर्थी से सामान्य हिन्दी के अनिवार्य प्रश्न-पत्र में न्यूनतम अंक प्राप्त करने की अपेक्षा की जायेगी जो यथा स्थिति, शासन या आयोग द्वारा अवधारित किये जायेंगे। वैकल्पिक विषय के सभी प्रश्न-पत्रों में 2 खण्ड होंगे। प्रत्येक खण्ड में चार-चार प्रश्न होंगे। अभ्यर्थियों को कुल पाँच प्रश्नों के उत्तर लिखने होंगे। प्रत्येक खण्ड से कम से कम दो-दो प्रश्न हल करना आवश्यक है।

वैकल्पिक विषय
विषय विषय विषय
कृषि विधि अंग्रेजी साहित्य
प्राणी विज्ञान पशुपालन एवं पशु चिकित्सा उर्दू साहित्य
रसायन विज्ञान विज्ञान अरबी साहित्य
भौतिक विज्ञान सांख्यिकी हिंदी साहित्य
गणित रक्षा अध्ययन फारसी साहित्य
भूगोल प्रबंधन संस्कृत साहित्य
अर्थशास्त्र राजनीती विज्ञान एवं अंतर्राष्ट्रीय सम्बन्ध वाणिज्य एवं लेखांकन
समाजशास्त्र इतिहास लोक प्रशासन
दर्शनशास्त्र समाज कार्य कृषि अभियांत्रिकी
भू-विज्ञान नृ-विज्ञान चिकित्सा विज्ञान
मनोविज्ञान सिविल अभियांत्रिकी
वनस्पति विज्ञान विद्युत अभियांत्रिकी

3. व्यक्तित्व परीक्षा/मौखिक परीक्षा (कुल अंक 100) : यह परीक्षा अभ्यर्थियों की सामान्य जागरूकता, बुद्धि, चरित्र, अभिव्यक्ति की क्षमता, व्यक्तित्व एवं सेवा के लिए सामान्य उपयुक्तता को दृष्टि में रखते हुये सामान्य अभिरूचि के विषयों से सम्बन्धित होगी।

पैकेज नवीनतम पैटर्न पर अनुभवी विषय एवं परीक्षा विशेषज्ञों द्वारा परीक्षा पाठ्यक्रम और परीक्षा में पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाई स्तर के अनुरूप निर्मित किया गया है। अतः इस पैकेज को अपनी तैयारी का हिस्सा बना कर आप परीक्षा में आने वाले प्रश्नों से परिचित हो सकेंगे साथ ही परीक्षा प्रबंधन भी कर सकेंगे। प्रश्न पत्र का अभ्यास कर ही सफलता प्राप्त की जा सकती है। 

UPPSC प्रारंभिक परीक्षा 2018 का सिलेबस

अब हम अपने लेख के दूसरे पड़ाव पर चलते हैं जो कि UPSC प्रारंभिक परीक्षा 2018 का सिलेबस है। विस्तृत जानकारी के लिए नीचे पढ़ें:

सामान्य अध्ययन-I (200 अंक): 2 घंटे 

  • राष्ट्रीय और अंतर्राषट्रीय महत्व की समसामयिक घटनाएं
  • भारत और राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास
  • भारतीय और वैश्विक भूगोल – भारत और विश्व का भौतिक, सामाजित और आर्थिक भूगोल
  • भारतीय राजनीति और शासन – संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोक नीति, अधिकार आदि मामले।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास – सतत विकास ग़रीबी समावेश, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल आदि।
  • पर्यावरण परिस्थितिकी, जैव-विविधता और मौसम परिवर्तन पर सामान्य मुद्दे जिन्हें विषयों की विशेषज्ञता नहीं चाहिए।
  • सामान्य विज्ञान

सामान्य अध्ययन-II (200 अंक) : 2 घंटे 

  • संचार कुशलताओं सहित पारस्परिक समझ का कौशल
  • तार्किक रीज़निंग और विशलेष्णात्मक क्षमता
  • निर्णय लेना और समस्या हल करना
  • सामान्य मेंटल एबिलिटी
  • कक्षा 10 तक की प्राथमिक गणित
  • कक्षा 10 तक की सामान्य अंग्रेज़ी
  • कक्षा 10 तक की सामान्य हिंदी
  • काम्प्रिहेन्सन (विस्तारीकरण)

सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र -I : पाठ्यक्रम विवरण 

  • राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय महत्त्व की समसामयिक घटनाएं: उम्मीदवारों के पास समसामयिक घटनाओं की पूरी जानकारी होनी चाहिए।
  • भारत और राष्ट्रीय आंदोलन का इतिहास: इतिहास में आप भारतीय इतिहास के सामाजिक, आर्थिक और राजननीतिक परिदृश्य को समझने का प्रयास करेंगे। भारतीय राष्ट्रीय आंदोलन में, उम्मीदवारों को स्वतंत्रता आंदोलन की प्रकृति और चरित्र, राष्ट्रीयता का विकास और स्वतंत्रता की प्राप्ति  का संयुक्त अवलोकन करना होगा।
  • भारतीय एवं विश्व का भूगोल (भारत और विश्व का भौतिक, सामाजिक और आर्थिक भूगोल): भारत एवं विश्व का भौतिक, सामाजिक एवं आर्थिक भूगोलः विश्व भूगोल में भारत एवं विश्व का भूगोलः विषय की केवल सामान्य जानकारी की परख होगी।
  • भारतीय राजनीति और शासन (संविधान, राजनीतिक व्यवस्था, पंचायती राज, लोक नीति, अधिकार संबंधी मामले आदि): भारतीय राज्य व्यवस्था, अर्थव्यवस्था एवं संस्कृति के अन्तर्गत देश के पंचायती राज तथा सामुदायिक विकास सहित राजनीतिक प्रणाली के ज्ञान तथा भारत की आर्थिक नीति के व्यापक लक्षणों एवं भारतीय संस्कृति की जानकारी पर प्रश्न होंगे।
  • आर्थिक और सामाजिक विकास (सतत विकास, ग़रीबी अन्तर्विष्ट, जनसांख्यिकी, सामाजिक क्षेत्र की पहल आदि): उम्मीदवारों से आबादी, पर्यावरण और नगरीकरण की समस्याओं तथा उनके सम्बन्धों के परिप्रेक्ष्य में प्रश्न पूछे जाएंगे।
  • पर्यावरण एवं पारिस्थितिकी सम्बन्धी सामान्य विषय जैव विविधता एवं जलवायु परिवर्तनः विषय विशेषज्ञता की आवश्यकता नहीं है। अभ्यर्थियों से विषय की सामान्य जानकारी अपेक्षित है।
  • सामान्य विज्ञान के प्रश्न दैनिक अनुभव तथा प्रेक्षण से सम्बन्धित विषयों सहित विज्ञान के सामान्य विज्ञानः सामान्य परिबोध एवं जानकारी पर आधारित होंगे, जिसकी किसी भी सुशिक्षित व्यक्ति से अपेक्षा की जा सकती है, जिसने वैज्ञानिक विषयों का विशेष अध्ययन नहीं किया है।

नोट: उम्मीदवारों के पास उपर्युक्त विषयों की समझ उत्तर प्रदेश के विशेष संदर्भ में होनी चाहिए।

सामान्य अध्ययन प्रश्न पत्र -II: पाठ्यक्रम विवरण 

कक्षा 10 तक की प्राथमिक गणित

  1. अंकगणित

(i) संख्या पद्धति: प्राकृतिक, पूर्णांक, परिमेय-अपरिमेय एवं वास्तविक संख्यायें, पूर्णांक संख्याओं के विभाजक एवं अविभाज्य पूर्णांक संख्यायें। पूर्णांक संख्याओं का लघुत्तम समापवर्त्य एवं महत्तम समापवर्त्य तथा उनमें सम्बन्ध; (ii) औसत; (iii) अनुपात एवं समानुपात; (iv) प्रतिशत; (v) लाभ-हानि; (vi) ब्याज-साधाारण एवं चक्रवृद्धि; (vii) काम तथा समय; (viii) चाल, समय तथा दूरी

  1. बीजगणित

(i) बहुपद के गुणनखण्ड, बहुपदों का लघुत्तम समापवर्त्य एवं महत्तम समापवर्त्य एवं उनमें सम्बन्ध, शेषफल प्रमेय, सरल युगपत समीकरण, द्विघात समीकरण; (ii) समुच्चय सिद्धांत समुच्चय, उप-समुच्चय, उचित उप-समुच्चय, रिक्त समुच्चय, समुच्चयों के बीच संक्रियायें (संघ, प्रतिछेद, अन्तर, समिमित अन्तर), बेन-आरेख

  1. रेखागणित

(i) त्रिभुज, आयत, वर्ग, समलम्ब चतुर्भुज एवं वृत्त की रचना एवं उनके गुण सम्बन्धी प्रमेय तथा परिमाप एवं उनके क्षेत्रफल; (ii) गोला, समकोणीय वृत्ताकार बेलन, समकोणीय वृत्ताकार शंकु तथा धान के आयतन एवं पृष्ठ क्षेत्रफल।

  1. सांख्यिकी

आंकड़ों का संग्रह, आंकड़ों का वर्गीकरण, बारम्बारता, बारम्बारता बंटन, सारणीयन, संचयी बारम्बारता, आंकड़ों का निरूपण, दण्डचार्ट, पाई चार्ट, आयत चित्र, बारम्बारता बहुभुज, संचयी बारम्बारता वक्र, केन्द्रीय प्रवृत्ति की माप- समान्तर माधय, माधियका एवं बहुलक।

कक्षा 10 तक की सामान्य अंग्रेज़ी

  • Comprehension
  • Active voice and passive voice
  • Parts of speech
  • Transformation of sentences
  • Direct and Indirect Speech
  • Punctuation and Spellings
  • Word meanings
  • Vocabulary and usage
  • Idioms and phrases
  • Fill in the blanks

कक्षा 10 तक की सामान्य हिंदी

  • हिंदी वर्णमाला, विराम चिन्ह
  • संधि, समास
  • क्रियाएं
  • अनेकार्थी शब्द
  • विलोम शब्द
  • पर्यायवाची
  • मुहावरे एवं लोकोक्तियां
  • त्तसम एवं तद्भव देशज विदेशी (शब्द भंडार)
  • वर्तनी
  • अर्थबोध
  • हिंदी भाषा के प्रयोग में होने वाली अशुद्धियां
  • उत्तर प्रदेश की मुख्य बोलियां
  • शब्द रचना, वाक्य रचना, अर्थ 

यहां हम UPPSC प्रारंभिक परीक्षा के सिलेबस और पैटर्न 2018 पर इस लेख को विराम देते हैं। उम्मीदवार उपर्युक्त सिलेबस और पैटर्न को पढ़ सकते हैं और आगामी परीक्षा के लिए तैयारी कर सकते हैं। अगर आप को यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें। 

परीक्षा के लिए आवेदन करने वाले सभी उम्मीदवार अपनी परीक्षा के लिए तैयारी जारी रखें और मॉक टेस्ट से अपनी तैयारी को जांचते रहें। अनलिमिटेड मॉक टेस्ट से अभ्यास करने के लिए अभी TyariPLUS जॉइन करें। और अगर आप को यह लेख पसंद आया हो तो इसे शेयर करना न भूलें। 

UPPSC भर्ती परीक्षा से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। राज्य परीक्षाओं में उत्कृष्टता हासिल करने के लिए सर्वश्रेष्ठ राज्य परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Government Exam Preparation App OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.