UPSC IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का विश्लेषण: 6 दिसम्बर 2016

UPSC IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का विश्लेषण (6 दिसम्बर): UPSC IAS सिविल सेवा परीक्षा को देश की सबसे चुनौतीपूर्ण परीक्षाओं में से एक माना जाता है। प्रत्येक वर्ष, लाखों उम्मीदवार, सिविल सेवा परीक्षा के लिए उपस्थित होते हैं। UPSC ने IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का आयोजन 6 दिसम्बर 2016 को किया था।

इस लेख का मुख्य उद्देश्य, IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का विश्लेषण करना है। इसके साथ-साथ, हम IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 में पूछे गए सभी प्रश्नों पर विस्तार से चर्चा करेंगे।

IAS मुख्य परीक्षा का GS प्रश्नपत्र-3

UPSC ने IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का आयोजन 6 दिसम्बर को किया था। उम्मीदवार को 20 प्रश्नों के उत्तर, प्रत्येक लगभग 200 शब्दों में देने थे। प्रत्येक प्रश्न के लिए निर्धारित अंक 12.5 थे तथा संपूर्ण प्रश्नपत्र के लिए निर्धारित अंक 250 थे। तो, आइये, प्रश्नपत्र पर विस्तार से चर्चा करते हैं।

 IAS मुख्य परीक्षा का GS प्रश्नपत्र-3
  1. भारतीय अर्थव्यवस्था में वैश्वीकरण के परिणामस्वरूप औपचारिक क्षेत्र में रोजगार कैसे कम हुए? क्या बढ़ती हुई अनौपचारिकता देश के लिए हानिकारक है?
  2. भारत में महिला सशक्तिकरण के लिए जेंडर बजटिंग अनिवार्य है। भारतीय प्रसंग में जेंडर बजटिंग की क्या आवश्यकताएं और स्थिति है?
  3. प्रधानमंत्री जन-धन योजना (पी. एम. जे. डी. वाई.) बैंकरहितों को संस्थागत वित्त में लाने के लिए आवश्यक है। क्या आप सहमत हैं कि इससे भारतीय समाज के गरीब तबके के लोगों का वित्तीय समावेश होगा? अपने मत की पुष्टि के लिए तर्क प्रस्तुत कीजिये।
  4. ‘स्मार्ट शहरों’ से क्या तात्पर्य है? भारत के शहरी विकास में इनकी प्रासंगिकता का परीक्षण कीजिये। क्या इससे ग्रामीण और शहरी भेदभाव में बढ़ोत्तरी होगी? पी. यू. आर. ए. एवं आर. यूं. आर. बी.ए.एन. मिशन के संदर्भ में ‘स्मार्ट गांवों’ के लिए तर्क प्रस्तुत कीजिये।
  5. भारतीय अर्थव्यवस्था के विकास में एफ. डी. आई. की आवश्यकता की पुष्टि कीजिये। हस्ताक्षरित समझौता-ज्ञापनों तथा वास्तविक एफ. डी. आई. के बीच अंतर क्यों है? भारत में वास्तविक एफ. डी. आई. के लिए सुधारात्मक कदम सुझाइए।
  6. भारतीय संदर्भ में समावेशी विकास में निहित चुनौतियों, जिनमें बेकार और लापरवाह जनशक्ति शामिल है, पर टिप्पणी कीजिये। इन चुनौतियों का सामना करते के उपाय सुझाइए।
  7. जल-उपयोग दक्षता से आप क्या समझते हैं? जल-उपयोग दक्षता को बढ़ाने में सूक्ष्म सिंचाई की भूमिका का वर्णन कीजिये।
  8. एलिलोपैथी क्या है? सिंचित कृषि-क्षेत्रों की प्रमुख फसल पद्धतियों में इसकी भूमिका का वर्णन कीजिये।
  9. कृषि विकास में भूमि सुधारों की भूमिका की विवेचना कीजिये। भारत में भूमि सुधारों की सफलता के लिए उत्तरदायी कारकों को चिन्हित कीजिये।
  10. भारतीय कृषि की प्रकृति की अनिश्चितताओं पर निर्भरता के मद्देनज़र, फसल बीमा की आवश्यकता की विवेचना कीजिये और प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (पी. एम. एफ. बी. वाई.) की मुख्य विशेषताओं का उल्लेख कीजिये।
  11. देश में नवीकरणीय ऊर्जा के स्त्रोतों के संदर्भमें इनकी वर्तमान स्थिति और प्राप्त किये जाने वाले लक्ष्यों पर विचार दीजिये। प्रकाश उत्सर्जक डायोड (एल.ई.डी.) पर राष्ट्रीय कार्यक्रम के महत्व की विवेचना संक्षेप में कीजिये।
  12. अंतरिक्ष विज्ञान और प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों की चर्चा कीजिये। इस प्रौद्योगिकी का प्रयोग भारत के सामाजिक-आर्थिक विकास में किस प्रकार सहायक हुआ है?
  13. अतिसूक्ष्म प्रौद्योगिकी (नैनोटेक्नोलॉजी) 21वीं शताब्दी की प्रमुख प्रौद्योगिकियों में एक क्यों है? अतिसूक्ष्म विज्ञान और प्रौद्योगिकी पर भारत सरकार के मिशन की प्रमुख विशेषताओं तथा देश के विकास के प्रक्रम में इसके प्रयोग के क्षेत्र का वर्णन कीजिये।
  14. बड़ी परियोजनाओं के नियोजन के समय मानव बस्तियों का पुनर्वास एक महत्वपूर्ण पारिस्थितिक संघात है, जिस पर सदैव विवाद होता है। विकास की बड़ी परियोजनाओं के प्रस्ताव के समय इस संघात को कम करने के लिए सुझाये गए उपायों अपर चर्चा कीजिये।
  15. कई वर्षों से उच्च तीव्रता की वर्षा के कारण शहरों में बाढ़ की बारंबारता बढ़ रही है। शहरी क्षेत्रों में बाढ़ के कारणों पर चर्चा करते हुए इस प्रकार की घटनाओं के दौरान जोखिम कम करने की तैयारियों की क्रियाविधि पर प्रकाश डालिए।
  16. राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण (एन. डी. एम. ए.) के सुझावों के संदर्भ में, उत्तराखंड के अनेकों स्थानों पर हाल ही में बादल फटने की घटनाओं के संघात को कम करने के लिए अपनाये जाने वाले उपायों पर चर्चा कीजिये।
  17. ‘उग्र अनुसरण’ एवं ‘शल्यक प्रहार’ का प्रयोग प्राय: आतंकी हमलों के विरुद्ध सैन्य कार्यवाही के लिए किया जाता है। इस प्रकार की कार्यवाहियों के युद्धनीतिक प्रभाव की विवेचना कीजिये।
  18. “पिछले कुछ दशकों से आतंकवाद एक प्रतिस्पर्धात्मक उद्योग के रूप में उभरा है।” उपर्युक्त कथन का विश्लेषण कीजिये।
  19. दुर्गम क्षेत्र एवं कुछ देशों के साथ शत्रुतापूर्ण संबंधों के कारण सीमा प्रबंधन एक कठिन कार्य है। प्रभावशाली सीमा प्रबंधन की चुनौतियों एवं रणनीतियों पर प्रकाश डालिए।
  20. गैर-राज्य अभिकर्ताओं द्वारा इन्टरनेट एवं सोशल मीडिया का विध्वंशकारी गतिविधियों हेतु प्रयोग सुरक्षा के लिए एक बृहद चिंता का विषय है। हाल ही में इनका दुरूपयोग किस प्रकार हुआ है? उपर्युक्त खतरे को नियंत्रित करने के लिए प्रभावकारी सुझाव सुझाइए।

IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 को पूरी तरह से देखने के बाद, तो, आइये, अब IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 के विश्लेषण की ओर अपना ध्यान केंद्रित करते हैं।

IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 का विश्लेषण

यहाँ, पर, हम IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 के विश्लेषण को महत्वपूर्ण बिंदुओं के रूप में तैयार करने का प्रयास करेंगे। तो, आइये, प्रश्नपत्र का एक त्वरित विश्लेषण करते हैं:

  • IAS मुख्य परीक्षा के जनरल स्टडीज प्रश्नपत्र-3 में, वैश्वीकरण, स्मार्ट सिटी, FDI, अंतरिक्ष तथा विज्ञान और प्रौद्योगिकी, सर्जिकल स्ट्राइक आदि जैसे टॉपिक्स को कवर किया गया था।
  • IAS मुख्य परीक्षा के जनरल स्टडीज प्रश्नपत्र-3 में प्रश्नों में कई सब-सेक्शन थे ।

कुल मिलाकर हम यह निष्कर्ष निकालते हैं कि UPSC IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 (6 दिसम्बर 2016) में पूछे गए प्रश्नों का स्तर सरल से मध्यम था।

हम उम्मीद करते हैं कि यह लेख आपको IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 की एक बेहतर समझ प्रदान करेगा। यहां हम IAS मुख्य परीक्षा के GS प्रश्नपत्र-3 के विश्लेषण को समाप्त करते हैं।

UPSC सिविल सेवा भर्ती परीक्षा 2016 के संबंध में और अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए हमसे जुड़े रहें। सिविल सेवा परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए, सर्वश्रेष्ठ IAS परीक्षा तैयारी ऐप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best-Government-Exam-Preparation-App-OnlineTyari

अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.