UPPCS प्रारंभिक परीक्षा 2017 : रिजल्ट होगा फिर से जारी

UPPCS प्रारंभिक परीक्षा 2017 : रिजल्ट होगा फिर से जारी : यूपी के लोक सेवा आयोग ( UPPSC) की अपर अधीनस्थ सेवाओं (PCS) के लिए 2017 में हुई प्रारंभिक परीक्षा की कॉपियां फिर से जांची जाएंगी। इलाहाबाद हाईकोर्ट ने UPPSC को कॉपियों को फिर से जांचने का आदेश दिया है। कोर्ट ने इस मामले में कई याचिकाओं की सुनवाई करते हुए यह आदेश दिया।

विदित हो कि पीसीएस प्रारंभिक परीक्षा का रिजल्ट 19 जनवरी 2018 को घोषित हुआ था। इसमें 14032 अभ्यर्थियों को लोक सेवा आयोग ने मुख्य परीक्षा के लिए सफल घोषित किया था। प्री परीक्षा 24 सितम्बर 2017 को हुई थी। पीसीएस के 677 पदों के लिए 455297 अभ्यर्थियों ने आवेदन किया था और 246654 अभ्यर्थी पीसीएस प्री में शामिल हुए थे।

 

UPPCS प्रारंभिक परीक्षा 2017 : रिजल्ट होगा फिर से जारी

इलाहाबाद हाईकोर्ट ने उत्तर प्रदेश लोक सेवा आयोग (UPPSC) को अपर अधीनस्थ सेवाओं की प्रारंभिक परीक्षा की उत्तर पुस्तिकाओं का पुनर्मूल्याकन करने का निर्देश जारी किया है। न्यायमूर्ति पंकज मिथाल और न्यायमूर्ति सरल श्रीवास्तव की पीठ उन सैंकड़ों अभ्यर्थियों द्वारा दायर एक दर्जन से अधिक याचिकाओं पर सुनवाई कर रही थी जिन्होंने आरोप लगाया था कि कई सवालों के जवाब गलत थे। संपूर्ण रिकार्ड देखने और दलीलें सुनने के बाद अदालत ने पाया, “इस मामले में हम यह उचित नहीं पाते कि आयोग को नए सिरे से परीक्षा कराने का निर्देश दिया जाए, बल्कि हमें लगता है कि न्याय तभी मिलेगा जब इन रिट याचिकाओं का कुछ निर्देशों के साथ निपटान हो।”

कोर्ट ने कहा कि ए, बी, सी और डी सीरीज के प्रश्न संख्या 67, 140, 44 और 106 को डिलीट किया जाए। ए, बी, सी व डी सीरीज के प्रश्न संख्या 121, 44, 98 व 10 में जिन अभ्यर्थियों ने सी या डी उत्तर दिया है, उन्हें पूरे अंक दिए जाएं। साथ ही ए, बी, सी व डी सीरीज के प्रश्न संख्या 56, 129, 33 व 105 में जिन अभ्यर्थियों ने डी उत्तर दिया है, उन्हें पूर्ण अंक दिए जाएं।

अदालत ने निर्देश दिया कि आयोग सभी अभ्यर्थियों की उत्तर पुस्तिकाओं का पुनर्मूल्यांकन करे। अदालत ने यह निर्देश भी दिया, “इस पुनर्मूल्यांकन के परिणामस्वरूप प्रारंभिक परीक्षा में क्वालीफाई करने वाले अभ्यर्थी मुख्य परीक्षा में शामिल होने के पात्र होंगे। वहीं दूसरी ओर, जिन अभ्यर्थियों ने पूर्व में आयोजित प्रारंभिक परीक्षा उत्तीर्ण की है लेकिन पुनर्मूल्यांकन के बाद वे प्रारंभिक परीक्षा क्वालीफाई करने में विफल रहते हैं तो उनकी उम्मीदवारी निरस्त मानी जाएगी और वे इस चयन प्रक्रिया में आगे हिस्सा लेने के पात्र नहीं होंगे।”

UPPSC सिविल सेवा भर्ती परीक्षा से संबंधित अधिक जानकारी के लिए हमसे जुड़े रहें। UPPSC सिविल सेवा परीक्षा में उत्कृष्टता प्राप्त करने के लिए सर्वश्रेष्ठ UPPSC परीक्षा तैयारी एप नि:शुल्क डाउनलोड करें।

Best Exam Preparation App OnlineTyari

1 REPLY

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.