UPTET 2015 परीक्षा को कैसे पास किया जाये: तैयारी के लिए सुझाव (टिप्स), महत्वपूर्ण विषय

यू.पी.टेट (UPTET) 2015 परीक्षा केवल एक महीने दूर है।अधिकांश उम्मीदवारआगामी परीक्षाकी अच्छी तैयारी के सुझावों और अध्ययन गाइड के लिए इंटरनेटका उपयोगकर रहे हैं|लेकिन अब आपको इस बारे में औरचिंताकरने की जरूरत नहीं है|यहलेख पूरी तरह से यू.पी.टेट (UPTET) 2015 की तैयारी के बारे में है|प्रत्येक बिंदु को ध्यान से पढ़ें और शेष समयकोकैसे अच्छे से अच्छे तरीके से उपयोगकर सकते हैं, इसे समझें| हमप्रत्येक अनुभाग में उन कुछ विषयों का भी उल्लेख करेंगे जो यू.पी.टेट(UPTET) 2015 को पास करने के लिए बेहदजरूरी हैं|

लेकिन सबसे पहले, हमपरीक्षा और इसकी मार्किंग पैटर्न को समझते हैं।

UPTET (यू.पी.टेट) 2015परीक्षा के पैटर्न को समझना

जैसाकीहम पिछले पोस्ट से यह जानते हैं कि इसमें दो अलग-अलग परीक्षाहोगी|एक प्राथमिक शिक्षक के लिए और दूसरी उच्च प्राथमिक शिक्षक के लिए|यू.पी.टेट(UPTET) के विभिन्नभागशिक्षाशास्त्र,भाषा (अंग्रेजी, हिंदी, उर्दू), गणित, विज्ञान, सामाजिक अध्ययन और पर्यावरण अध्ययन हैं|

यू.पी.टेट (UPTET) 2015 – पेपर- I

विषय प्रश्नों की संख्या अंकों की संख्या
शिक्षाशास्त्र 30 30
हिंदी 30 30
अंग्रेजी/उर्दू 30 30
गणित 30 30
पर्यावरण अध्ययन 30 30

UPTET (यू.पी.टेट) 2015 – पेपर- II    

विषय प्रश्नों की संख्या अंकों की संख्या
        शिक्षाशास्त्र 30 30
हिंदी 30 30
अंग्रेजी/उर्दू 30 30
गणित और विज्ञान/सामाजिक अध्ययन 60 60

मार्किंग पैटर्न,दोनों परीक्षाओं में प्रश्नों की कुल संख्या और समय समानहैं।उम्मीदवार को 150 मिनट में 150 प्रश्न हल करने होंगे |कोईनकारात्मकमार्किंग नहीं है|अधिक जानकारी के लिए,आप यू.पी.टेट (UPTET)2015 परीक्षा के सिलेबस और पैटर्न के बारे में हमारा पिछला लेख पढ़ सकते हैं|

यहांयू.पी.टेट(UPTET) 2015 की तैयारीके लिएकुछसुझाव (टिप्स)और ट्रिक्स दी गयी हैं जिसका अनुसरणहर उम्मीदवार को करना चाहिए|

UPTET (यू.पी.टेट) 2015 की तैयारी के लिएसुझाव (टिप्स)

समय पर अपने यू.पी.टेट(UPTET)तैयारी को पूरा करने और बेहतर अंक पाने के लिएइन सरल सुझावों और अध्यन करने के तरीकों का पालन करें|

  1. आप क्या जानते हैं, यह समझें

आप सब कुछ नहीं जान सकते लेकिन आप निश्चित रूप से कुछ तो जानते हैं| यू.पी.टेट(UPTET) की तैयारियों केसुझाव (टिप्स) की सूची में, आपको यहीं से शुरुआत करनी चाहिए|जहां आपनेयू.पी.टेट(UPTET)के सभी टॉपिक्स को लिख रखा है और अब तक उन पर पकड़ बना ली है, उन सबको अंकित करें|आपका ध्यान मुख्य रूप से सबसे फायदेमंदसेक्शन पर होना चाहिए।

  1. यू.पी.टेट(UPTET) के पिछले वर्षों केप्रश्न पत्रों को हल करें

यू.पी.टेट (UPTET )2015 में, एक ही आधार या स्थिति के प्रश्नों की संख्या काफी हो सकती है|इस तरह के प्रश्नों को हल करने की विधि को जानने के बाद आपनिश्चित रूप से कुलप्राप्तांको में सुधार करेंगे|इसलिए, पुराने प्रश्न पत्रों को हल करना महत्वपूर्ण है।अधिकांश उम्मीदवार इसकी अनदेखी कर देते हैंमगर यह तैयारी करने के लिए एक अत्यंत महत्वपूर्ण सुझाव (टिप) है|

  1. अपने प्रदर्शन का विश्लेषण करें

प्रतियोगिता कठिन है।यदि सुधार करने की कोईभी संभावना भी है तो आपको उसकी ओर ध्यान देना चाहिये|यू.पी.टेट (UPTET)प्रारूप पर प्रत्येकमॉक टेस्ट या प्रश्न बैंक को हल करने के बाद अपने प्रदर्शन का विश्लेषणकरें|इससे आपको यह समझने में मदद मिलेगी कि कौन से क्षेत्र में अधिक मेहनत करने की जरूरत है,और आप किस जगहपर सबसे ज्यादा गलतियां कर रहे हैं|

  1. हार्ड वर्क नहीं,स्मार्ट वर्ककरें

कड़ी मेहनत एक रास्ता है|लेकिन सिर्फ तभी जबकि आपके पास बहुत समय हो|देर से शुरुआत करने वाले जिन्हें लगता है कि सब खो दिया गया है, आपको बता दें कि ऐसा भी नहीं है।सिर्फ महत्वपूर्ण विषयों पर जायें और जितनाहो सके उतने प्रश्नों को हल करें|यू.पी.टेट(UPTET),यू.पी.एस.एस.सी (UPSSC)और आई.बी.पी.एस पी.ओ (IBPS PO) की तुलना में अपेक्षाकृत आसान है।

  1. बाल विकास और अध्यापन –इसे बिल्कुल नहीं छोड़ें

यह सेक्शन आवश्यक है।यदि आप UPTET (यू.पी.टेट) 2015 पासकरना चाहते हैं तो आपको बाल विकास और शिक्षण तकनीकोंमें रुचि लेनी होगी|यह अनुभागकिताबी ज्ञान से ज्यादा आप किस तरह से सोचते हैं, के बारे में अधिक है|इसके लिए उचित अध्ययन सामग्री और पुस्तकों को देखें/पढ़ें|

  1. सटीकता और प्रयास

यू.पी.टेट(UPTET) तैयारी संबंधी सुझावों काअंतिम बिंदु|हम सभी जानते हैं कि यहांकोई नेगेटिव मार्किंग नहीं हैं|लेकिन फिर भीआपको हर सवाल को हल करने का प्रयास करने की जगह सटीकता पर अधिक ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है|उन सेक्शनों से शुरुआत करें, जिन पर आपको सबसे ज्यादा भरोसाहै और फिर एक सेक्शन से दूसरे सेक्शनमें जाएं| जब आपके पास अधिक समय बचा हो तभी उन प्रश्नों को हल करें, जिसके बारे में आपको पता नहीं है|

यू.पी.टेट(UPTET) की तैयारी संबंधीसुझाव यही थे।अब हम यू.पी.टेट(UPTET) 2015 के तहत महत्वपूर्ण विषयों के बारे में बात करते हैं|

 

UPTET (यू.पी.टेट) 2015महत्वपूर्ण विषय

  1. शिक्षा शास्त्र

यह अनुभाग आवश्यक है।दुर्भाग्य से, यहचुनौतीपूर्ण भी है|चूंकि यह सेक्शनबाल विकास और सबसे अच्छे तरीके से याद करने और अध्यापन की आदतों के बारे में है, इसलिए आपको प्रत्येक विषय को गौर से देखने की जरूरत है|

महत्वपूर्ण विषय:सीखने की अवधारणा,सबसे अच्छी शिक्षण गतिविधियां,विविध शिक्षार्थियों को समझना (पिछड़ी जाति के,मानसिक रूप से मंद, विकलांगआदि)राष्ट्रीय पाठ्यचर्या की रूपरेखा 2005

और शिक्षण अधिगम प्रक्रिया|

 

  1. भाषा (अंग्रेजी/हिंदी/उर्दू)

ज्यादातर प्रश्न प्राथमिक शिक्षा पर होंगे|आपको बुनियादी बातों पर अधिक ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है।अगले 1 महीने तक दैनिक आधार पर समझने वाली भाषा में अखबार और लेख पढ़ें।गति और सटीकतादोनोंआवश्यक है।

महत्वपूर्ण विषय: अंग्रेजी शिक्षण,अंग्रेजी भाषा शिक्षण के लिए संप्रेषणीय दृष्टिकोण, भाषागत कठिनाइयां और विकार,अनदेखे गद्य और गद्यांश|

 

  1. गणित

यह अनुभाग समस्या पैदा कर सकता है। इसकासिलेबस काफी बड़ा और फैला हुआ है|लेकिन पूछे जाने वाले प्रश्नों के कठिनाईयों का स्तरआसान से मध्यम रहेगा|अतः आपको कम से कम सभी सूत्र सीखने होंगे|

महत्वपूर्ण विषय: संख्या प्रणाली,गणितीयगतिविधियां,भाषा गणित,ज्यामिति,प्रतिशत,क्षेत्रमिति,मूल्यांकन के औपचारिक और अनऔपचारिक तरीके,त्रुटि विश्लेषण और उपचारात्मक शिक्षण।

 

 

  1. पर्यावरण अध्ययन

इसमें कई विषयों को एक साथ रखा गया है।यू.पी.टेट (UPTET)सिलेबस के अलावा,परिवार, रिश्ते और सामाजिक दुर्व्यवहार को हल करते हुए आपको अपने विचार रखने होंगे|एनसीईआरटी(NCERT) की पुरानी किताबेंमददगार होंगी|

महत्वपूर्ण विषय:गृह निर्माण,उपभोक्तासंरक्षण,त्योहार,सामान्य रोग,परिवहन और संचार, विभिन्नप्रजातियों का संरक्षण,ऊर्जा के नवीकरणीय और अनवीकरणीयस्रोत और पर्यावरण अध्ययन का महत्व।

 

  1. विज्ञान

विज्ञान से अपनेप्राप्त अंकों को बढ़ाएं|अधिकांश प्रश्नआसानी से हल किए जा सकते हैं|फिर से,पुरानी एनसीईआरटी (NCERT)किताबें अच्छी रहेंगी|अन्य विषयों के लिए,ऑनलाइन अध्ययन सामग्री जैसे ई-बुक्स और डॉक्यूमेंटदेखें।

महत्वपूर्ण विषय:खाद्यके घटक और स्रोत,प्राकृतिक संसाधन और घटना,कैसे होता हैकाम,विज्ञान को समझना,नवाचार और संज्ञानात्मक मूल्यांकन।

 

  1. सामाजिक अध्ययन

इस सेक्शन में सब कुछ है|यहांइतिहास, भूगोल, सामाजिक और राजनीतिक जीवन पर प्रश्न पूछे जाएंगे|कठिनाई का स्तर काफी अलग है।यहां अध्ययन के अलावा,राजनीति से जुड़े सवालों को सामाजिक मुद्दों की अपनी समझ से हलकरसकते हैं|

महत्वपूर्ण विषय:प्राचीन भारत,प्रमुख राजा और रानियां,उपनिवेशवाद और जनजातीय समाज,1857 का विद्रोह, राष्ट्रवादी आंदोलन,आजादी के बाद भारत,कृषि, मानव पर्यावरण,जल,सरकार संरचना को समझना,लिंग और सामाजिक न्याय,विविधता,लोकतंत्र और तर्कपूर्ण सोच का विकास।

हम आशा करते हैं कि यू.पी.टेट (UPTET) संबंधीसुझावोंवाला यह लेख आपकी मदद करेगा|यदि इससे संबंधित कोई प्रश्न हो तो,कृपयानीचे दिये गये कॉमेंट पार्ट में उसका उल्लेख करें|

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.