Weekly English Grammar: NOUN को जानें !

आपको मालूम है SSC, बैंकिंग और अन्य परीक्षाओं और दैनिक जीवन में भी अंग्रेजी का काफी महत्त्व है। पर अगर आप का अंग्रेजी विषय कमजोर हैं तो आपको अब अंग्रेजी से और डरने की जरुरत नहीं है।

क्योंकि अब आप प्रतियोगी परीक्षा के लिए अंग्रेजी को OnlineTyari द्वारा चलाए जा रहे विकली इंग्लिश ग्रामर से पढ़कर बड़ी आसानी से समझ  सकते हैं और अंग्रेजी के ग्रामर को और मजबूत बना सकते हैं। आज हम आपको अंग्रेजी के Noun/संज्ञा के विषय में बताएँगे।

Weekly English Grammar: NOUN को जानें !

Noun की definition की बात करें तो आपको याद ही होगा की बचपन में आपके teachers ने आपको बताया था कि noun is a name, person, place or thing. But what about ‘ideas’, ‘feelings’, ‘emotions’? क्या ये Noun नहीं हैं?

I know it is very confusing but don’t worry इस लेख में हम बताएँगे कि आखिर Noun को define कैसे करे? इसी के साथ जानेंगे Noun सम्बंधित कुछ ग्रामर के Rules.

तो चलिए शुरू करते हैं:

Simple definition से लेकर complicated explanation तक “Noun” की बहुत सारी definitions हैं, लेकिन समझने का सबसे अच्छा तरीका है कि एक Noun करता क्या है? आखिर इसके काम क्या – क्या है?

  1. “Is this something you can feel, see, smell, taste or touch? If yes, तब ये definitely noun ही है।
  2. इनसे पहले articles ‘a’, ‘an’ और ‘The’ का use किया जाता है| e.g. a Dog, an umbrella etc.
  3. Noun को हमेशा adjective से describe किया जाता है। या दूसरे तरीके से कहें तो किसी भी sentence में adjective कि जगह हमेशा noun से पहले होती है। जैसे Red  Rose, Shinny Day ,या Hot Water यहाँ ये सभी Red, Day, Water को describe कर रहे है तो इस तरह Rose,Day,Water noun हैं।
  4. Noun को एक sentence  में object और Complements के रूप में भी use किया जाता है। for example : Madhuri is a good Doctor. यहाँ Doctor एक complement है, और sentence में object की जगह पर use किया गया है इस तरह से आपको पता चला कि कोई भी profession as a noun treat किया जाता है|
  5. Noun , subject  के रूप में भी  कार्य करती हैं। आमतौर पर, एक sentence का subject वह word है जो verb से ठीक पहले आता है। Marvella stole my pen. यहाँ Marvella, subject है और ये verb(stole) से पहले आती है। subject में हमेसा एक ही noun use  हो ऐसा जरूरी नहीं हैं कई बार subjet कि जगह phrasal verb का use किया जाता है जिसमे एक से ज्यादा noun हो सकते हैं।
  6. Gerund aur infinitive verb को भी कई बार as a subject use किया जाता है, तो ऐसी condition में Gerund aur infinitive verb भी as a noun treat किये जाते हैं।

e.g Cooking is a stress bustre for me. यहाँ Cooking as a subject use किया गया है so Cooking यहाँ Noun कि तरह काम कर रहा है।

7. All names of all things (cities, towns, counties, states, countries, buildings, monuments, rivers, mountains, lakes, oceans, streams, natural disasters, books, plays, articles, songs, etc.) सभी noun हैं।

8. Noun को five groups में classify किया जा सकता है –

  1. Proper Noun : Proper noun में कोई भी peson, place या thing आती है।

          E.g: Japan, Mumbai, Vibhav, The Ganga, etc.

b.  Common Noun: Same class या kind के प्रत्येक person या thing को एक ही नाम दिया जाता है और इसीलिए इन्हे common noun कहा जाता है। Tables अब चाहे वो  round table हो या square table चाहे वो three leg table ho ya four leg सभी  को table ही कहा जाता है।

c.  Collective Noun: जब एक जैसी चीजों या एक ही field से सम्बंधित चीजों को collect करके उन्हें एक नाम दे दिया जाता है या यूँ कहें की उनके group को एक particular नाम दे दिया जाता है तो इस तरह के नाम को common noun की तरह treat करते हैं। e.g. A bouquet of flowers. अब यहाँ जरूरी नहीं एक ही तरह के flower की बात हो रही हो but हैं तो सब flower ही ना, और इन के bunch को कहा bouquet गया है।

d. Material Noun:  Material Noun उस matter या substance को denote करती है जिससे वस्तु बनी हो | e.g: Iron, Silver, Milk, Silk  etc.

e.  Abstract Noun:  Abstract Noun is all about feelings, senses and qualities यानि की abstract noun भावनाओं को denote करती है। ऐसी चीजें जिन्हे आप देख या छू नहीं सकते जो बस महसूस कर सकते हैं, उन्हें abstract noun की तरह treat किया जाता है। e.g. Goodness, Hatred. Childhood etc.

Abstract Nouns को अक्सर Verbs,Adjectives और common nouns से बनाया जाता है

 e.g. Please एक verb है और इससे बनने वाला noun  Pleasure यानि सुख जो की एक feeling है।

इसी तरह से एक Honest एक adjective है और इससे बनाने वाला noun Honesty.

Friend एक adjective है और इससे बनाने वाला noun Friendship.

तो ये तो बात हो गयी Noun को कैसे पहचानें, अब बात करते हैं Noun के applications की यानि कि noun rules in grammar की –

अक्सर nouns में ‘s’ लगाकर plural बनाया जा सकता है, पर कुछ conditions में ऐसा नहीं होता – तो देखते हैं फिर क्या होता है –

Rule no. 1:   कुछ nouns जो s, z, x, ch or sh पर खत्म होते हैं, उनके last –es में लगाकर उनका Plural बनाया जाता है। e.g: Boss/Bosses, Brush/Brushes etc

Some words as stomach does not follow this rule.

Rule no. 2:   ऐसे nouns जिनका last letter ‘O’ होता है उनमें भी –es लगाकर plural बनाया जाता है। e.g: Potato/Potatoes , Zero/Zeroes

Rule no. 3:   ऐसे nouns जिनका last letter ‘F/Fe’ होता है उनमें F को V से replace करके ‘es’ लगा दिया जाता है Fe  के case में F को V से replace करके केवल ‘s’ लगाते है अर्थात ‘ves’ कर दिया जाता है। कुछ noun ऐसे भी हैं जिनमे ये rule follow नहीं करता जैसे: Serf/Serfs, Hoof/Hoofs, Dwarf/Dwarfs, Brief/Briefs, Roof/ Roofs

Rule no. 4:   यदि ‘Y’ किसी noun का last letter है और उसके तुरंत पहले एक consonant आता है तो ‘Y’ को ‘ies’ में बदल कर plural  बनाते हैं लेकिन अगर ‘Y’ से पहले एक vowel आता है तो ऐसे last में केवल ‘s’ लगाकर plural बनाते हैं।

e.g:  Spy/Spies, Play/Plays etc.

Rule no. 5:   कुछ nouns में –en लगाकर plural बनाये जाते है। e.g: ox/oxen

Rule no. 6:   कुछ nouns की singular और plural form same ही होती है। e.g: Pair, Score, Stone etc.

Rule no.7:   Hyphanated – nouns यानि ऐसे शब्द जिनके साथ नंबर जुड़ा होता है, plural form नहीं बनाते। e.g: Three-mango, Five-ton

Rule no. 8:  कुछ noun हमेशा plural noun की form में ही use होते हैं। e.g: Trousers, Assets, Vegetables etc.

Rule no. 9:   कुछ noun ऐसे होते हैं जो देखने में तो plural लगते हैं but होते singular है, कहने का मतलब है की इनके  साथ हमेशा plural verb ही use होती है। e.g: Physics, Innings,News etc.  अब यहाँ भी एक exception हैं कि अगर इन plural looking singular nouns को personalized या possessed form में देखा जाए तो ये plural noun की तरह use किये जाते हैं। e.g: The politics of our country are not good.

Rule no. 10:  Compound noun जैसे Father-in-law, Sister-in-law etc.  में main word में ‘s’ जोड़कर इनकी  plural form बनायीं जाती है।      e.g: Fathers-in-law

Rule no. 11:  ऐसे nouns जो -um पर end होते हैं उन्हें केवल ‘s’ लगाकर plural बनाया जाता है। e.g: Pendulum/pendulums, Forum/Forums etc.

Rule no. 12:   दूसरी language के English words को plural बनाने के कुछ अलग नियम हैं जैसे –um, -on, -is , -ex को respectively –a, -a, -e, -es में बदल दिया जाता है। e.g: Datum/Data, Crisis/Crises, Medium/Media etc

Rule no. 13:   कुछ noun के दो plural form होते हैं वो भी अलग-अलग meaning के साथ। e.g: Cloth   Cloths (piece of the cloth)

               Clothes (Garment, dress)

Rule no. 14:   कुछ noun को plural बनाने पर उनका अर्थ बदल जाता है।

e.g:  Force is Strength and Forces is military forces

Rule no. 15:  Noun + Preposition +Same noun, इस structure में noun हमेशा singular form  में मानी जाती है।

e.g:  Call after Call, Word for Word etc.

Rule no. 16:  Digits, Abbreviation में ‘s’ लगाकर इनके plural form बनाये जाते हैं। 90/90s, B.Sc/B.Scs etc.

Rule no. 17:  Abstract noun की plural form नहीं होती। e.g: Kindness, Happiness etc.

Rule no. 18: कुछ material nouns की भी plural form नहीं होती। e.g: Copper, Iron etc.

Lets talk about Noun-Cases:

चार  तरह के case  होते हैं-

  1. Nominative Case
  2. Possessive Case
  3. Dative Case
  4. Accusative Case

Rule no. 19:   Nominative Case: जब noun को subject की तरह किया जाता है तो इसे Nominative Case कहा जाता है इसिलए Subjective Case भी कहा जाता है। e.g: Anup is not behaving well.

Nominative Case में ‘than’ and ‘If’  के बाद pronoun का use करना चाहिए।

e.g: 1. Meera was beautiful than her. इस sentence में ‘her’ की जगह ‘she’ का use  होना चाहिए।

Rule no. 20:    Possessive Case: यदि noun के साथ किसी भी तरह का possession या relation show किया जाता है तो यह Possessive Case होता है।

e.g: Mahima’s Doll , Raghav’s book etc.

  • Possession दिखाने के लिए noun के साथ ‘of’ या apostrophe ‘s’ का use किया जाता है।
  • अब सवाल ये उठता है कि कहाँ apostrophe ‘s’ और कहाँ ‘of’ का किया जाता है ?

तो living things में possession/relation दिखाने के लिए apostrophe ‘s’,  non-living things में possession/relation दिखाने के लिए ‘of’ का use किया जाता है।

For example : Children’s Playground , Handle of chair

Rule no. 21:   अगर non-living things का personification कर दिया जाए  तब ‘of’ की जगह apostrophe ‘s’ का use किया जाता है।

e.g: Nature’s Love

कुछ और ऐसी conditions हैं जिनमे possession/relation दिखाने के लिए apostrophe ‘s’ का use किया जाता है।

जैसे: 1. Noun related to time/weight/Place

2. with respectable nouns

3. With Phrases

Rule no. 22:   किसी भी sentence में एक से ज्यादा बार apostrophe नहीं करते।

e.g: I saw my sister’s friend’s mother in the party.(wrong sentence)

I saw the mother of my sister’s friend in the party.(correct sentence)

Rule no. 23:    Dative Case: एक ऐसा  noun जो verb के लिए indirect object होता है तो वह dative case में कहलाता है। e.g: The Postman brought me a letter.

यहाँ “Me”  dative case में है।

Rule no. 24:     Accusative Case:  जब noun को object की तरह use  किया जाए तो ये Accusatic Case कहलाता है।

e.g: That Pen belongs to Neelam.

यहाँ Neelam as a object काम कर रही है। अतः ये Accusative Case है।                                 

So guys these are the rules and cases you need to learn to ace NOUN.

I know काफी सारे rules हैं पर आप जानते हैं ना ‘’Practise makes a man perfect’’ तो अब आपको करना ये है कि एक – एक rule को पकड़ें और फिर उस पर based questions को solve करें इस  तरह आप ये rules and cases  कभी भी नहीं भूलेंगे एक बात हमेशा याद रखें ‘’Learning  is a slow process’’

तो बिना किसी stress के बस keep practising.

‘’All the very best for your exams’’

TyariPLUS

Leave a Reply

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.