Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

आईआईएससी शोधकर्ताओं ने पीने के पानी को सुरक्षित बनाने के लिए कॉपर-लेपित झिल्ली का विकास किया

आईआईएससी शोधकर्ताओं ने पीने के पानी को सुरक्षित बनाने के लिए कॉपर-लेपित झिल्ली का विकास किया:

बेंगलुरु स्थित इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ साइंस (आईआईएससी) में शोधकर्ताओं की एक टीम ने पीने के पानी को सुरक्षित बनाने के लिए तांबे (कॉपर) के आयनों के साथ एक जल निस्पंदन (वॉटर-फिल्टर) करने वाली झिल्ली को विकसित किया है। टीम का नेतृत्व डिपार्टमेंट ऑफ़ मैटेरियल इंजीनियरिंग, आईआईएससी से प्रोफेसर सूर्यासारथी बोस ने किया था और इस अध्ययन के परिणाम नैनोस्केल नामक पत्रिका में प्रकशित किये गए।

शोधकर्ताओं ने बायोफ़ाउलिंग को रोकने और जीवाणुओं को मारने के लिए आमतौर पर इस्तेमाल किए जाने वाले पॉलीविनाइलीडिन फ्लोराइड (पीवीडीएफ) को जल निस्पंदन झिल्ली के रूप में विकसित कर दिया।

प्रक्रिया:

ऐसा करने के लिए शोधकर्ताओं ने पहले एक बहुलक (स्टायरीन मैलिक एनहाइड्राइड या एसएमए) के साथ सम्मिश्रण करके निष्क्रिय पीवीडीएफ झिल्ली को कार्यात्मक बनाया।

इसके बाद शोधकर्ताओं ने कॉपर आयनों की नियंत्रित रिलीज़ के लिए एक जैव-संगत पॉलीमर (पॉलीफोस्फॉस्टर या पीपीई) को कॉपर ऑक्साइड के साथ लेपित किया ताकि यह 1.3 पीपीएम का उल्लंघन न करे और विषाक्त न हो।

अंत में झिल्ली की कोटिंग के लिए उन्होंने बहुलक के साथ लेपित कॉपर ऑक्साइड की छिद्रपूर्ण जेल की तरह की संरचना का इस्तेमाल किया। कॉपर की कोटिंग के लिए इस्तेमाल किया गया बहुलक एंटी-फॉउलिंग गुण प्रदर्शित करता है।

झिल्ली पर लेपित एसएमए पॉलिमर, जो पानी के संपर्क में आंशिक रूप से हाइड्रोलाइज्ड हो जाता है, जीवाणुओं की बाहरी सतह के संपर्क में आकर डिस्क आकार के ढांचे का निर्माण करता है। बैक्टीरिया से जारी यह एंजाइम कॉपर ऑक्साइड पर पायी जाने वाली बहुलक कोटिंग को साफ करता है जिसके परिणामस्वरूप पानी में झिल्ली से कॉपर के आयनों की नियंत्रित रिलीज़ की जाती है।

जब बैक्टीरिया की बहुत उच्च एकाग्रता वाले पानी का उपयोग किया गया था, तो चार घंटे के बाद में पानी में कॉपर आयनों की मात्रा 1.6 पीपीएम थी, जो कि डब्ल्यूएचओ सीमा से अधिक है। उच्च एकाग्रता में पाए जाने वाले बैक्टीरिया को मारने के लिए कॉपर आयनों की क्षमता चार घंटे के अंत में चार आयामों के उच्चतम स्तर पर थी।

Take a quiz on what you read Start Now

You might be interested:

मॉर्निंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 21 अगस्त 2017

बिग बेन की ऐतिहासिक आर्टन लाइट को अस्थायी रूप से बंद किया गया: एलिजाबेथ टॉवर ...

2 साल पहले

SSC CGL टियर 1 परीक्षा विश्लेषण 2017, संभावित कटऑफ़ : 20 अगस्त

SSC CGL टियर 1 परीक्षा विश्लेषण 2017, संभावित कटऑफ़ : 20 अगस्त- कर्मचारी चयन आयोग ने आ ...

2 साल पहले

20 अगस्त SSC CGL परीक्षा 2017: प्रश्नों के उत्तर (वास्तविक पेपर)  

20 अगस्त SSC CGL परीक्षा 2017: प्रश्नों के उत्तर (वास्तविक पेपर): कर्मचारी चयन आयोग न ...

2 साल पहले

भारत सरकार के राष्ट्रीय स्ट्रीट लाइटिंग कार्यक्रम ने 50,000 किलोमीटर लंबी भारतीय सड़कों को रोशन किया

भारत सरकार के राष्ट्रीय स्ट्रीट लाइटिंग कार्यक्रम ने 50,000 किलोमीटर लंबी भारत ...

2 साल पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 20 अगस्त 2017

विश्व फोटोग्राफी दिवस: 19 अगस्त 2017 विश्व भर में 19 अगस्त को विश्व फोटोग्राफी दि ...

2 साल पहले

नासा ने सफलतापूर्वक अगली पीढ़ी के ट्रैकिंग एंड डेटा रिले सैटेलाइट (टीडीआरएस-एम) को कक्षा में स्थापित किया

नासा ने सफलतापूर्वक अगली पीढ़ी के ट्रैकिंग एंड डेटा रिले सैटेलाइट (टीडीआरए ...

2 साल पहले

Provide your feedback on this article: