Bookmark Bookmark

आईआईटी के शोधकर्ताओं ने पौधों के अर्क (रस), ऊष्मा (उच्च ताप) का प्रयोग त्वचा कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए किया

आईआईटी के शोधकर्ताओं ने पौधों के अर्क (रस), ऊष्मा (उच्च ताप) का प्रयोग त्वचा कैंसर की कोशिकाओं को मारने के लिए किया:

एक भारतीय औषधीय पौधे एंथोसेफलस कदंबा के क्लोरोफिल से समृद्ध बायोमोलेक्युलर अर्क का नैनोपार्टिकल संरूपण (नैनोपार्टिकल फॉर्मुलेशन) जब एक निकट-अवरक्त (नियर इंफ्रारेड) डाई के साथ मिलाया जाता है तो यह सम्मिश्रण त्वचा कैंसर (स्किन कैंसर) की कोशिकाओं को मारने में सक्षम होता है।

पौधों का अर्क कैंसर कोशिकाओं के लिए विशेष रूप से विषैला होता है क्यूंकि इसके प्रयोग के बाद रिएक्टिव ऑक्सीजन स्पीशीज (आरओएस) का उत्पादन बढ़ा हुआ पाया गया जबकि डाई फोटोथर्मल थेरेपी के माध्यम से कैंसर कोशिकाओं के विनाश में मदद करती है। नैनोफॉर्म्यूलेशन को गर्म करने के लिए निकट-अवरक्त प्रकाश का उपयोग किया गया था।

इस शोध के परिणाम बायोलॉजिकल मैक्रोमोलेक्युल्स के इंटरनेशनल जर्नल में प्रकाशित किए गए थे।

इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (आईआईटी) हैदराबाद और आईआईटी बॉम्बे की ओर से एक साथ काम करने वाली दो टीमों ने त्वचा कैंसर सेल लाइनों का उपयोग करके आशाजनक परिणाम हासिल किए हैं।

जबकि पौधे का अर्क हाइड्रफोबिक है इसलिए कोशिकायें इस धीरे धीरे ग्रहण करेंगी परन्तु अर्क का नैनोफॉर्म्यूलेशन इसे कम हाइड्रोफोबिक बनाता है जिससे कि जैव उपलब्धता में काफी वृद्धि होती है।

नैनोफॉर्म्यूलेशन का निर्माण करने के लिए एक एफडीए अनुमोदित पॉलिमर में अर्क और डाई को एक साथ रखा जाता है। फोटोथर्मल प्रभाव के लिए एनआईआर डाई (आईआर -780) का इस्तेमाल किया गया है। यह किसी भी रसायन को इमेजिंग एजेंट रिडण्डेण्ट बनाता है।

निकट-अवरक्त प्रकाश (नियर इंफ्रारेड) के साथ विकिरत किए जाने पर, डाई गरम हो जाती है और बहुलक झिल्ली (पॉलीमर मेम्ब्रेन) से अर्क को निकालने की सुविधा प्रदान करती है। 4-5 मिनट के विकिरण के बाद, लगभग 80% कैंसर कोशिकाओं को मारा जा सकता है।

विकिरण के बाद, नैनोकणों (नैनोपार्टिकल) का तापमान जिसमें डाई और अर्क को मिलाया गया था, 51 डिग्री सेन्ट्रीग्रेड हो गया। 42 डिग्री सेन्ट्रीग्रेड से अधिक गरम होने पर कोशिकाएं मर जाती हैं।

Take a quiz on what you read Start Now

You might be interested:

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 22 अक्टूबर 2017

प्रधानमंत्री मोदी ने घोघा और दाहेज के बीच 'रोल ऑन, रोल ऑफ (रो-रो)' नौका सेवा के पहले चरण का शुभारंभ ...

4 हफ्ते पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे: 22 अक्टूबर 2017

राष्ट्रीय राज्यसभा टीवी के एडिटर-इन-चीफ (आरएसटीवी) के पद के लिए उम्मीदवार का चयन करने के लिए इस स ...

4 हफ्ते पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट: 22 अक्टूबर 2017

राष्ट्रीय राज्यसभा टीवी के एडिटर-इन-चीफ (आरएसटीवी) के पद के लिए उम्मीदवार का चयन करने के लिए इस स ...

4 हफ्ते पहले

विश्व की सबसे गहरी झील "बैकाल झील" प्यूट्रिड (दुर्गन्धित) शैवाल, प्रदूषण की वजह से संकट की स्थिति में पहुंची

विश्व की सबसे गहरी झील "बैकाल झील" प्यूट्रिड (दुर्गन्धित) शैवाल, प्रदूषण की वजह से संकट की स्थिति ...

4 हफ्ते पहले

भारत में प्रदूषण की वजह से सबसे अधिक मौतें: लैंसेट रिपोर्ट

भारत में प्रदूषण की वजह से सबसे अधिक मौतें: लैंसेट रिपोर्ट साल 2015 में भारत में प्रदूषण जनित बीमा ...

4 हफ्ते पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 21 अक्टूबर 2017

केंद्र ने पंजीकृत मूल्‍यांकक द्वारा मूल्‍यांकन से जुड़े कम्‍पनी अधिनियम, 2013 की धारा 247 की शुर ...

4 हफ्ते पहले

Provide your feedback on this article: