Bookmark Bookmark

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: 21 जून

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस: 21 जून

अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस प्रतिवर्ष 21 जून को मनाया जाता है। पहली बार यह दिवस 21 जून 2015 को मनाया गया, जिसकी पहल भारत के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 27 सितम्बर 2014 को संयुक्त राष्ट्र महासभा में अपने भाषण से की थी। प्रधानमंत्री मोदी के इस प्रस्ताव को 90 दिन के अंदर पूर्ण बहुमत से पारित किया गया, जो संयुक्त राष्ट्र संघ में किसी दिवस प्रस्ताव के लिए सबसे कम समय है।

इस बार का मुख्य योग कार्यक्रम देवभूमि उत्तराखंड की राजधानी देहरादून में होगा और साल के इस सबसे लंबे दिन लोग अपने जीवन को अधिक से अधिक लंबा और स्वस्थ बनाए रखने का संकल्प लेंगे।

थीम: वर्ष 2018 के लिए अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस की थीम "योग फॉर पीस" है।

21 जून को ही क्यों मनाया जाता है योग दिवस?

21 जून के दिन को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के लिए चुनने की भी एक खास वजह है। यह दिन उत्तरी गोलार्द्ध का सबसे लंबा दिन है, जिसे ग्रीष्म संक्रांति भी कह सकते हैं। भारतीय संस्कृति के दृष्टिकोण से, ग्रीष्म संक्रांति के बाद सूर्य दक्षिणायन हो जाता है और सूर्य के दक्षिणायन का समय आध्यात्मिक सिद्धियां प्राप्त करने में बहुत लाभकारी है। इसी कारण 21 जून का दिन अंतरराष्ट्रीय योग दिवस मनाने के लिए निर्धारित किया गया था।

योग का इतिहास:

योग का इतिहास करीब 5000 वर्ष पुराना है। इतिहासकारों के मुताबिक प्राचीन काल की गुफाओं में ध्यान करने के प्रमाण मिलते हैं। मुंबई की एलीफैंटा केव से लेकर हिमालय पर्वत की गुफाएं इसके प्रमाण हैं की योग प्राचीन भारतीय ज्ञान का समुदाय है।

इसके अलावा तमिलनाडु से लेकर असम तक और बर्मा से लेकर तिब्बत तक के जंगलों की कंदराओं में आज भी वो गुफाएं मौजूद हैं, जहां पर योग और ध्यान किया जाता था।

योग की उत्पत्त‍ि योग संस्कृत धातु ‘युज’ से उत्‍पन्न हुआ है जिसका अर्थ है व्यक्तिगत चेतना या रूह से मिलन है। राजयोग के अन्तर्गत महिर्ष पतंजलि द्वारा बताए गए अष्टांग हैं यम, नियम, योगासन, प्राणायाम, प्रत्याहार, ध्यान, धारणा और समाधि।

योग का महत्त्व:

वर्तमान समय में अपनी व्यस्त जीवन शैली के कारण लोग संतोष पाने के लिए योग करते हैं। योग से न केवल व्यक्ति का तनाव दूर होता है बल्कि मन और मस्तिष्क को भी शांति मिलती है। योग बहुत ही लाभकारी है। योग न केवल हमारे दिमाग, मस्‍तिष्‍क को ही ताकत पहुंचाता है बल्कि हमारी आत्‍मा को भी शुद्ध करता है। आज बहुत से लोग मोटापे से परेशान हैं, उनके लिए योग बहुत ही फायदेमंद है। योग के फायदे से आज सब ज्ञात है, जिस वजह से आज योग विदेशों में भी प्रसिद्ध है।

You might be interested:

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे: 21 जून 2018

राष्ट्रीय इन्होंने नयी दिल्ली में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित 5 वें राष्ट्रीय ...

4 हफ्ते पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट: 21 जून 2018

राष्ट्रीय इन्होंने नयी दिल्ली में भारतीय उद्योग परिसंघ (सीआईआई) द्वारा आयोजित 5 वें राष्ट्रीय ...

4 हफ्ते पहले

नेशनल हेल्थ प्रोफाइल (एनएचपी), 2018 जारी

नेशनल हेल्थ प्रोफाइल (एनएचपी), 2018 जारी: केंद्रीय स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्री जे पी नड्डा न ...

4 हफ्ते पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 20 जून 2018 (PDF सहित)

‘धरोहर गोद लें’ योजना के तहत 3 सहमति पत्रों पर हस्ताक्षर किये गए: ‘धरोहर गोद लें’ योजना को ...

4 हफ्ते पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 490

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 490 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने के लिए यहां 5 नए शब्द ...

4 हफ्ते पहले

ई-कचरा प्रबंधन और इससे जुड़े कानून

ई-कचरा प्रबंधन और इससे जुड़े कानून: हाल के वर्षों में भारत ने प्लास्टिक प्रदूषण से निपटने के प्रय ...

4 हफ्ते पहले

Provide your feedback on this article: