Bookmark Bookmark

बाली यात्रा उत्सव

बाली यात्रा उत्सव

ओडिशा के कटक में बाली यात्रा उत्सव मनाया जा रहा है। यह महोत्सव हर साल राज्य के समृद्ध समुद्री इतिहास की याद में आयोजित किया जाता है।

प्रमुख बिंदु:

  •   दिन को चिह्नित करने के लिए हर साल महानदी नदी के तट पर उत्सव का आयोजन किया जाता है जब प्राचीन काल में ओडिशा के नाविक बाली, जावा, सुमात्रा, बोर्नियो और श्री लंका आदि सुदूर प्रदेशों की यात्रा व्यापार तथा सांस्कृतिक प्रसार के लिए करते थे।
  •   ओडिशा विधानसभा अध्यक्ष एसएन पात्रो ने महोत्सव का उद्घाटन किया।
  •   आठ दिवसीय त्योहार मनाने के लिए राज्य और राज्य के बाहर से पारंपरिक वस्तुओं, खाद्य पदार्थों, कला, घरेलू शिल्प का प्रदर्शन करने के लिए 1000 से अधिक स्टॉल आए हैं।
  •   इतिहास में पहली बार, बाली यात्रा उत्सव में एक समुद्री कोने है जो प्राचीन समुद्री व्यापारियों की समुद्री यात्रा के मॉडल को प्रदर्शित करता है, जो व्यापार और संस्कृति विस्तार के लिए दक्षिण-पूर्व एशिया के विभिन्न हिस्सों की यात्रा कर रहे थे।

महोत्सव की मुख्य विशेषताएं:

  •   यह ओडिशा के सबसे बड़े त्योहारों में से एक है, बाली जात्रा में हर साल लगभग तीन लाख पर्यटक आते हैं।
  •   इस त्यौहार में एक राष्ट्रीय स्तर का पल्लीश्री मेला भी शामिल है जिसमें भारत के 24 राज्यों के पारंपरिक वस्तुएं शामिल हैं।

You might be interested:

केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण डेटा के अनुसार भारत की विद्युत डिमांड 12 साल के निचले स्तर पर है

केंद्रीय विद्युत प्राधिकरण डेटा के अनुसार भारत की विद्युत डिमांड 12 साल के न ...

9 महीने पहले

भारत और रूस में साइबर सुरक्षा स्थापित करने के लिए

भारत और रूस में साइबर सुरक्षा स्थापित करने के लिए हाल ही में, कुडनकुलम परमाण ...

9 महीने पहले

नई राष्ट्रीय जल नीति का मसौदा तैयार करने के लिए मिहिर शाह समिति

नई राष्ट्रीय जल नीति का मसौदा तैयार करने के लिए मिहिर शाह समिति केंद्रीय जल ...

9 महीने पहले

ग्रामीण और कृषि वित्त पर 6 वीं विश्व कांग्रेस

ग्रामीण और कृषि वित्त पर 6 वीं विश्व कांग्रेस ग्रामीण और कृषि वित्त पर 6 वीं व ...

9 महीने पहले

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत भारत के मुख्य न्यायाधीश का कार्यालय

सुप्रीम कोर्ट का फैसला: सूचना के अधिकार अधिनियम के तहत भारत के मुख्य न्यायाध ...

9 महीने पहले

विधायकों के मामले में अयोग्यता: सुप्रीम कोर्ट का फैसला

विधायकों के मामले में अयोग्यता: सुप्रीम कोर्ट का फैसला 13 नवंबर 2019 को सुप्रीम ...

9 महीने पहले

Provide your feedback on this article: