Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिया

भारत ने पाकिस्तान से मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिया

पुलवामा में सीआरपीफ पर आतंकी हमले के बाद भारत सरकार ने फरवरी 15, 2019 को पाकिस्तान पर कूटनीतिक वार के साथ ही कारोबारी झटका देते हुए उससे 'मोस्ट फेवर्ड नेशन' का दर्जा वापस ले लिया है।

यह निर्णय प्रधान मंत्री नरेन्द्र मोदी के अध्यक्षता में हुए मंत्रिमडल की सुरक्षा समिति के बैठक के बाद लिया गया।

इसके अलावा भारत अंतर्राष्ट्रीय मंच पर भी पुरजोर कोशिश करेगा की पाकिस्तान विश्व कुटनीतिक सर्किल में अलग-थलग पड़ जाए।

आखिर यह एमएफएन का दर्जा होता क्या है और इसे वापस लिए जाने से पाकिस्तान पर क्या हो सकता है असर। आइए जानते हैं ऐसे ही कई अहम सवालों के जवाब।

क्या होता है मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा?

विश्व व्यापार संगठन (WTO) में शामिल वे देश जो उसके जनरल अग्रीमेंट ऑन टैरिफ्स ऐंड ट्रेड (GATT) का हिस्सा हैं, एक दूसरे को कस्टम ड्यूटी में राहत के लिहाज से यह दर्जा देते हैं। इस शब्दावली से ऐसा लगता है कि जैसे यह दर्जा मित्र देशों को दिया जाता है, लेकिन यह पूरी तरह से कारोबार से जुड़ा मसला है और इसका आपसी संबंधों से कोई लेना-देना नहीं है।

भारत ने पाकिस्तान को MFN का दर्जा कब दिया?

भारत और पाकिस्तान विश्व व्यापार संगठन का हिस्सा हैं, दोनों को एक-दूसरे और अन्य साझेदार देशों को एमएफएन का दर्जा देने की आवश्यकता है। भारत ने पाकिस्तान को वर्ष 1996 में एमएफएन का दर्जा दिया, हालाँकि, पाकिस्तान ने अब तक भारत को एमएफएन का दर्जा नहीं दिया है।

क्या पाकिस्तान को लगेगा झटका?

निश्चित तौर पर मोस्ट फेवर्ड नेशन का दर्जा वापस लिए जाने से पाकिस्तान को थोड़ा झटका लगेगा। इस स्टेटस को वापस लिए जाने का अर्थ यह है कि पाक से आने वाले सामान पर कस्टम ड्यूटी को भारत अब किसी भी स्तर तक बढ़ा सकता है। पाकिस्तान से भारत सीमेंट, लेदर, केमिकल्स, फलों और मसालों का आयात करता है।

हालांकि भारत यदि पाकिस्तान से आने वाले सामानों पर बहुत अधिक ड्यूटी लगाता है, तब भी उस पर ज्यादा असर नहीं होगा। इसकी वजह यह है कि दोनों देशों के बीच कारोबार ही काफी कम है। भारत और पाक के बीच 37 अरब डॉलर तक के कारोबार की क्षमता है, लेकिन दोनों देशों के बीच सिर्फ 2 अरब डॉलर का ही व्यापार है।

You might be interested:

संयुक्त राष्ट्र ने चंद्रमौली रामनाथन को प्रबंधन रणनीति विभाग में एएसजी के रूप में नियुक्त किया

संयुक्त राष्ट्र ने चंद्रमौली रामनाथन को प्रबंधन रणनीति विभाग में एएसजी के ...

3 महीने पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 661

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 661 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने ...

3 महीने पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:14 February 2019

कैबिनेट ने केंद्र की जनजातीय कल्याण योजनाओं को जारी रखने की मंजूरी दीकेन्‍ ...

3 महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे : 15 फरवरी 2019

राष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह -2019 इस तारिख को किया गया था -12 से 18 फरवरी ...

3 महीने पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट : 15 फरवरी 2019

राष्ट्रीय राष्ट्रीय उत्पादकता सप्ताह -2019 इस तारिख को किया गया था -12 से 18 फरवरी ...

3 महीने पहले

पटना रेल मेट्रो परियोजना को कैबिनेट की मंजूरी

पटना रेल मेट्रो परियोजना को कैबिनेट की मंजूरी बिहार की राजधानी पटना शहर में ...

3 महीने पहले

Provide your feedback on this article: