Guest
Welcome, Guest

Login/Register

महत्त्वपूर्ण लिंक

हमसे सम्पर्क करें

Bookmark Bookmark

दैनिक समाचार: भारत में विश्व विरासत स्थल

दैनिक समाचार: भारत में विश्व विरासत स्थल

विश्व के सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थलों को विरासतों के रूप में संरक्षित रखने के लिए यूनेस्को द्वारा हर साल 18 अप्रैल को 'व‌र्ल्ड हेरिटेज डे' मनाया जाता है।

इस दिन की शुरुआत 1982 में हुई थी। हालांकि यूनेस्को ने इसे साल 1983 में मान्यता दी थी।

विश्व धरोहर

यूनेस्को विश्व विरासत स्थल ऐसे खास स्थानों (जैसे वन क्षेत्र, पर्वत, झील, मरुस्थल, स्मारक, भवन, या शहर इत्यादि) को कहा जाता है, जो विश्व विरासत स्थल समिति द्वारा चयनित होते हैं।

यह समिति इन स्थलों की देखरेख यूनेस्को के तत्वाधान में करती है।

इस कार्यक्रम का उद्देश्य विश्व के ऐसे स्थलों को चयनित एवं संरक्षित करना होता है जो विश्व संस्कृति की दृष्टि से मानवता के लिए महत्वपूर्ण हैं।

कुछ खास परिस्थितियों में ऐसे स्थलों को इस समिति द्वारा आर्थिक सहायता भी दी जाती है।

वर्ष 2006 तक पूरी दुनिया में लगभग 830 स्थलों को विश्व विरासत स्थल घोषित किया जा चुका है जिसमें 644 सांस्कृतिक, 24 मिले-जुले और 138 अन्य स्थल हैं।

प्रत्येक विरासत स्थल उस देश विशेष की संपत्ति होती है, जिस देश में वह स्थल स्थित हो; परंतु अंतर्राष्ट्रीय समुदाय का हित भी इसी में होता है कि वे आनेवाली पीढियों के लिए और मानवता के हित के लिए इनका संरक्षण करें।

यूनेस्को

यूनेस्को (UNESCO) 'संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन का लघुरूप है।

संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक तथा सांस्कृतिक संगठन (यूनेस्को) संयुक्त राष्ट्र का एक घटक निकाय है।

इसका कार्य शिक्षा, प्रकृति तथा समाज विज्ञान, संस्कृति तथा संचार के माध्यम से अंतराष्ट्रीय शांति को बढ़ावा देना है।

संयुक्त राष्ट्र की इस विशेष संस्था का गठन 16 नवम्बर 1945 को हुआ था।

इसका उद्देश्य शिक्षा एवं संस्कृति के अंतरराष्ट्रीय सहयोग से शांति एवं सुरक्षा की स्थापना करना है, ताकि संयुक्त राष्ट्र के चार्टर में वर्णित न्याय, कानून का राज, मानवाधिकार एवं मौलिक स्वतंत्रता हेतु वैश्विक सहमति बन पाए।

यूनेस्को के 195 सदस्य देश हैं और सात सहयोगी सदस्य देश और दो पर्यवेक्षक सदस्य देश हैं।

इसका मुख्यालय पेरिस (फ्रांस) में है।

भारत के 37 विश्व धरोहर स्थल

  1. एलिफेंटा की गुफाएं
  2. महान चोल मंदिर
  3. पत्तदकल के स्मारकों का समूह
  4. सुंदरबन राष्ट्रीय उद्यान
  5. नंदा देवी राष्ट्रीय उद्यान
  6. सांची का बौद्ध स्तूप
  7. हुमायूं का मकबरा, दिल्ली
  8. कुतुब मीनार, दिल्ली
  9. भारत के पहाड़ी रेलवे
  10. बोध गया का महाबोधी मंदिर परिसर
  11. भीमबेटका पाषाण आश्रय
  12. चंपानेर– पावागढ़ पुरातत्व उद्यान
  13. छत्रपति शिवाजी टर्मिनस (पहले विक्टोरिया टर्मिनस)
  14. लाल किला परिसर (दिल्ली)
  15. जंतर– मंतर, जयपुर
  16. पश्चिमी घाट
  17. राजस्थान के पहाड़ी किले
  18. रानी– की– वाव (रानी की बावड़ी) पाटण, गुजरात
  19. ग्रेट हिमालयन राष्ट्रीय उद्यान
  20. नालंदा महाविहार (नालंदा विश्वविद्यालय), बिहार
  21. कंचनजंगा राष्ट्रीय उद्यान
  22. कैपिटल कॉम्प्लेक्स, चंडीगढ़
  23. अहमदाबाद
  24. मुंबई की ‘विक्टोरियन गोथिक’ और ‘आर्ट डेको’
  25. आगरा का किला
  26. अजंता की गुफाएं
  27. एलोरा की गुफाएं
  28. ताज महल
  29. महाबलीपुरम के स्मारकों का समूह
  30. सूर्य मंदिर कोणार्क
  31. काजीरंगा राष्ट्रीय उद्यान
  32. केवलादेव राष्ट्रीय उद्यान
  33. मानस वन्यजीव अभयारण्य
  34. गोवा के चर्च और आश्रम (कॉन्वेंट)
  35. फतेहपुर सीकरी
  36. हंपी में स्मारकों का समूह

37.खजुराहो के स्मारकों का समूह

You might be interested:

चुनाव में महिलाओं की हिस्सेदारी पुरुषों की तुलना में बढ़ी

चुनाव में महिलाओं की हिस्सेदारी पुरुषों की तुलना में बढ़ी चुनाव में महिलाओं ...

8 महीने पहले

वैज्ञानिकों ने पहली बार 3डी प्रिटिंग की मदद से बनाया कोशिकाओं और धमनियों वाला दिल

वैज्ञानिकों ने पहली बार 3डी प्रिटिंग की मदद से बनाया कोशिकाओं और धमनियों वाल ...

8 महीने पहले

विश्व धरोहर दिवस 2019

विश्व धरोहर दिवस 2019 विश्व के सांस्कृतिक-ऐतिहासिक स्थलों को विरासतों के रूप म ...

8 महीने पहले

अप्रैल-जून तिमाही में मिलेगा 8% का ब्याज

अप्रैल-जून तिमाही में मिलेगा 8% का ब्याज केंद्र सरकार ने चालू वित्त वर्ष 2019-2020 क ...

8 महीने पहले

दूसरा मार्शल अर्जन सिंह मेमोरियल इंटरनेशनल हॉकी टूर्नामेंट 2019 चंडीगढ़ में शुरू

दूसरा मार्शल अर्जन सिंह मेमोरियल इंटरनेशनल हॉकी टूर्नामेंट 2019 चंडीगढ़ में ...

8 महीने पहले

आईएन- वीपीएन बीआईएलएटी ईएक्स का दूसरा संस्करण

आईएन- वीपीएन बीआईएलएटी ईएक्स का दूसरा संस्करण भारत और वियतनाम के बीच बढ़ते ...

8 महीने पहले

Provide your feedback on this article: