Bookmark Bookmark

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:11 December 2019

पौधों और जानवरों की 1,840 नई प्रजातियों पर अस्तित्व का संकट, आइयूसीएन ने जारी की सूची

इंटरनेशनल यूनियन फॉर कंजर्वेशन ऑफ नेचर (IUCN) ने पौधों और जानवरों के कैटलॉग में 1,840 नई प्रजातियों को जोड़ा है जो विलुप्त होने का जोखिम रखते हैं। सूची में अब ऐसी तीस हजार प्रजातियों के नाम हैं जो लुप्त होने की कगार पर हैं। जलवायु परिवर्तन के कारण प्रजातियों को कई खतरों का सामना करना पड़ता है।

एंटी-मैरीटाइम बिल

एंटी-मैरीटाइम पाइरेसी बिल 2019 का उद्देश्य भारत के समुद्री व्यापार की सुरक्षा और उसके चालक दल के सदस्यों की सुरक्षा को बढ़ावा देना है। विधेयक की धारा तीन में कहा गया है कि जो कोई भी चोरी का कार्य करता है, उसे आजीवन कारावास की सजा दी जाएगी; या मृत्यु के साथ, यदि ऐसा व्यक्ति चोरी का कार्य करता है, तो मृत्यु या उसके प्रयास का कारण बनता है।

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस

2003 से प्रति वर्ष 11 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस मनाया जाता है। इस वर्ष के अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस का विषय 'माउंटेन मैटर फॉर यूथ' है। थीम इस बात पर जोर देती है कि यह दिन उन ग्रामीण युवाओं को उजागर करने का मौका है जो पहाड़ों में रह रहे हैं और अपने जीवन की कठिनाइयों को दिखा रहे हैं।

रूस अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों से चार साल के प्रतिबंधित

विश्व डोपिंग रोधी एजेंसी (WADA) ने रूस को प्रमुख वैश्विक खेल आयोजनों में चार साल के लिए प्रतिबंधित कर दिया है जिसमें 2020 टोक्यो ओलंपिक और कतर में होने वाले फुटबॉल विश्व कप 2022 डोपिंग डेटाबेस में छेड़छाड़ की।

जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक

भारत इस वर्ष के जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक (सी.सी.पी.आई.) की दृष्टि से पहली बार शीर्ष 10 में शामिल है। भारत में प्रति व्यक्ति उत्सर्जन और ऊर्जा उपयोग का वर्तमान स्तर, उच्च श्रेणी के देशों में 9 वें स्थान पर है जो कि उत्सर्जन के तुलनात्मक रूप से निचले स्तर को दर्शाता है, और, महत्वाकांक्षी 2030 लक्ष्यों के साथ है। प्रदर्शन के मामले में स्वीडन (4 वें स्थान पर), डेनमार्क (5 वें स्थान पर) जैसे यूरोपीय संघ के कुछ देश सर्वोच्च उपलब्धि हासिल करने वाले थे।

लौह संघ 12

'लौह संघ12', संयुक्त अरब अमीरात और संयुक्त राज्य अमेरिका के जमीनी बलों के बीच एक संयुक्त सैन्य अभ्यास है, जो शुरू हो गया है।

दुनिया की पहली इलेक्ट्रॉनिक उड़ान

दुनिया में पहली पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक उड़ान ने 10 दिसंबर 2019 को सफलतापूर्वक अपनी परीक्षण उड़ान पूरी की। यह उड़ान कनाडा के वैंकूवर, पास के द्वीपों से संचालित होगी। इस शून्य-उत्सर्जन इलेक्ट्रॉनिक उड़ान ने साबित कर दिया कि सभी-इलेक्ट्रिक वाणिज्यिक विमानन संभव है।

भारत कौशल रिपोर्ट

भारत कौशल रिपोर्ट 2019-20 के अनुसार, लगभग 46.21 प्रतिशत छात्र 2019 में नौकरी पाने के लिए तैयार थे, और 2018 में 47.38 प्रतिशत थे। महिला रोजगार में इस साल 2017 में 47 फीसदी और 2018 में 46 फीसदी की बढ़ोतरी हुई।

You might be interested:

भारत कौशल रिपोर्ट

भारत कौशल रिपोर्ट भारत कौशल रिपोर्ट 2019-20 के अनुसार, लगभग 46.21 प्रतिशत छात्र 2019 मे ...

4 महीने पहले

दुनिया की पहली इलेक्ट्रॉनिक उड़ान

दुनिया की पहली इलेक्ट्रॉनिक उड़ान दुनिया में पहली पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक ...

4 महीने पहले

लौह संघ 12

लौह संघ 12 'लौह संघ12', संयुक्त अरब अमीरात और संयुक्त राज्य अमेरिका के जमीनी बलो ...

4 महीने पहले

जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक

जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक भारत इस वर्ष के जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन ...

4 महीने पहले

रूस अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों से चार साल के प्रतिबंधित

रूस अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों से चार साल के प्रतिबंधित विश्व डोपिंग रोधी ए ...

4 महीने पहले

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस 2003 से प्रति वर्ष 11 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय पर् ...

4 महीने पहले

Provide your feedback on this article: