Bookmark Bookmark

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:22 September 2021

वित्त मंत्री ने 'बैड बैंक' के लिए 30,600 करोड़ रुपये की सरकारी गारंटी की घोषणा की

केंद्रीय मंत्रिमंडल ने राष्ट्रीय संपत्ति पुनर्निर्माण कंपनी (NARCL) के लिए 30,600 करोड़ रुपये की सरकारी गारंटी को मंजूरी दी, इस प्रकार 'बैड बैंक' (Bad Bank) के संचालन का मार्ग प्रशस्त हुआ। बैड बैंकों के निर्माण के प्रमुख विचारों में से एक बैंकों की बैलेंस शीट पर दबाव कम करना है।

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा MeghEA की पहल

मेघालय एंटरप्राइज आर्किटेक्चर प्रोजेक्ट (MeghEA) को इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय के तहत आईटी मंत्री श्री अश्विनी वैष्णव और मेघालय के मुख्यमंत्री श्री कॉनराड संगमा द्वारा लॉन्च किया गया। परियोजना का उद्देश्य डिजिटल प्रौद्योगिकियों की शक्ति का उपयोग करने वाले लोगों के लिए सेवा वितरण और शासन में सुधार करना है।

प्रतिष्ठित उपहारों की ई-नीलामी का तीसरा संस्करण पीएम मोदी को प्रस्तुत किया गया

भारत के प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी को प्रस्तुत प्रतिष्ठित और यादगार उपहारों की ई-नीलामी का तीसरा संस्करण 17 सितंबर से 7 अक्टूबर 2021 तक आयोजित किया जा रहा है। यह वेब पोर्टल https://pmmementos.gov.in के माध्यम से किया जा रहा है। नरेंद्र मोदी भारत के पहले प्रधानमंत्री हैं, जिन्होंने "नमामिगंगे" के माध्यम से देश की जीवन रेखा- गंगा नदी के संरक्षण के एक नेक काम के लिए मिलने वाले सभी उपहारों को नीलाम करने का फैसला किया है।

सिमिलीपाल टाइगर रिजर्व के काले बाघों का सुलझ गया रहस्य

नेशनल सेंटर फॉर बायोलॉजिकल साइंसेज (NCBS), बैंगलोर के वैज्ञानिकों की एक टीम ने सिमिलिपाल के तथाकथित काले बाघों के आनुवंशिक रहस्य को सुलझाया है। यह पाया गया कि इन बाघों में एक एकल आनुवंशिक उत्परिवर्तन के कारण काली धारियां चौड़ी हो गईं या तनी हुई पट्टी में फैल गईं। सफेद या सुनहरे रंग की हल्की पट्टी पर बाघों का एक गहरा धारी पैटर्न होता है।

JIGYASA का विस्तार भारत के 700 से अधिक जिलों में किया जाएगा

"JIGYASA" विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्रालय का एक छात्र-वैज्ञानिक कनेक्ट कार्यक्रम है। केंद्रीय मंत्री डॉ जितेंद्र सिंह ने घोषणा की कि इस कार्यक्रम को 1 वर्ष के अंदर भारत के 700 से अधिक जिलों के स्कूलों में शामिल किया जाएगा। यह केन्द्रीय विद्यालय संगठन के साथ संयुक्त रूप से क्रियान्वित है जो वर्तमान में देश के 170 जिलों में परिचालित है। कार्यक्रम का उद्देश्य स्कूली छात्रों और वैज्ञानिकों को जोड़ने के साथ-साथ छात्रों के कक्षा में सीखने को एक बहुत अच्छी तरह से नियोजित अनुसंधान प्रयोगशाला-आधारित शिक्षा में विस्तारित करना है।

You might be interested:

JIGYASA का विस्तार भारत के 700 से अधिक जिलों में किया जाएगा

JIGYASA का विस्तार भारत के 700 से अधिक जिलों में किया जाएगा संदर्भ: "JIGYASA" विज्ञान और प ...

8 महीने पहले

सिमिलीपाल टाइगर रिजर्व के काले बाघों का सुलझ गया रहस्य

सिमिलीपाल टाइगर रिजर्व के काले बाघों का सुलझ गया रहस्य संदर्भ: नेशनल सेंटर ...

8 महीने पहले

प्रतिष्ठित उपहारों की ई-नीलामी का तीसरा संस्करण पीएम मोदी को प्रस्तुत किया गया

प्रतिष्ठित उपहारों की ई-नीलामी का तीसरा संस्करण पीएम मोदी को प्रस्तुत किया ...

8 महीने पहले

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा MeghEA की पहल

इलेक्ट्रॉनिकी और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय द्वारा MeghEA की पहल संदर्भ: मेघा ...

8 महीने पहले

वित्त मंत्री ने 'बैड बैंक' के लिए 30,600 करोड़ रुपये की सरकारी गारंटी की घोषणा की

वित्त मंत्री ने 'बैड बैंक' के लिए 30,600 करोड़ रुपये की सरकारी गारंटी की घोषणा की स ...

8 महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 22 सितंबर 2021

महत्वपूर्ण दिवस वर्ष 2021 के 'अंतरराष्ट्रीय सर्पदंश जागरूकता दिवस' (19 सितंबर) क ...

8 महीने पहले

Provide your feedback on this article: