Bookmark Bookmark

डीसीजीआई द्वारा अनुमोदित सबसे पहले पूरी तरह से स्वदेशी रूप से विकसित न्यूमोकोकल पॉलीसैकराइड कंजुगेट टीके को बाजार में बेचने की मंजूरी

डीसीजीआई द्वारा अनुमोदित सबसे पहले पूरी तरह से स्वदेशी रूप से विकसित न्यूमोकोकल पॉलीसैकराइड कंजुगेट टीके को बाजार में बेचने की मंजूरी

भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने पहली बार पूरी तरह से स्‍वदेशी तरीके से विकसित न्यूमोकोकल पॉलीसैकराइड कंजुगेट टीके को बाजार में बेचने की मंजूरी दे दी है। यह टीका शिशुओं में "स्ट्रेप्टोकोकस न्यूमोनिया" के कारण होने वाले रोग और निमोनिया के खिलाफ सक्रिय टीकाकरण अभियान के लिए उपयोग किया जाता है।

प्रमुख बिंदु:

  • न्यूमोकोकल पॉलीसैकराइड कंजुगेट वैक्सीन को इंट्रामस्क्युलर तरीके से प्रशासित किया जाता है।
  • वैक्सीन का विकास भारत के सीरम संस्थान, पुणे में हुआ है।
  • भारत सीरम संस्थान ने देश में सबसे पहले न्यूमोकोकल पॉलीसैकराइड कंजुगेट वैक्सीन के चरण I, चरण II और चरण III के नैदानिक ​​परीक्षणों के लिए डीसीजीआई से स्वीकृति प्राप्त की थी। स्‍वीकृति मिलने के बाद से ये परीक्षण देश के भीतर किए जा रहे हैं।
  • कंपनी ने पश्चिम अफ्रीका के एक देश जांबिया में भी परीक्षण किया है जिसके बाद वैक्सीन के निर्माण के लिए कंपनी ने इस टीके को बनाने की अनुमति के लिए आवेदन किया। 
  • निमोनिया के इलाज के लिए स्‍वेदशी तकनीक से विकसित यह अपने किस्‍म का पहला टीका है। इससे पहले तक देश में ऐसे टीकों की मांग आयात के जरिए पूरी की जाती रही, क्‍योंकि ऐसा टीका बनाने वाली सभी कंपनियां विदेशों में थीं।

टिपण्णी:

  • डीसीजीआई केंद्रीय औषधि मानक नियंत्रण संगठन के तहत कार्यरत एक विभाग है और दवाओं की निर्दिष्ट श्रेणियों के लाइसेंस को मंजूरी देने की प्रमुख जिम्मेदारी रखता है।
  • डीसीजीआई स्वास्थ्य और परिवार कल्याण मंत्रालय के तहत काम करता है और भारत में दवाओं के विनिर्माण, बिक्री, वितरण और आयात के लिए मानक निर्धारित करता है।

You might be interested:

10 साल से कम अर्हकारी सेवा देने वाले सशस्त्र बल कार्मिक व्यक्ति अमान्य पेंशन के लिए पात्र हैं

10 साल से कम अर्हकारी सेवा देने वाले सशस्त्र बल कार्मिक व्यक्ति अमान्य पेंशन ...

4 हफ्ते पहले

पीसीबीएस के तहत पीएसबी द्वारा खरीदे जाने वाले 14,667 करोड़ रुपये के एनबीएफसी बांड

पीसीबीएस के तहत पीएसबी द्वारा खरीदे जाने वाले 14,667 करोड़ रुपये के एनबीएफसी बा ...

4 हफ्ते पहले

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने आईआईटी दिल्ली द्वारा दुनिया की सबसे सस्ती कोविड-19 डायग्नोस्टिक किट लॉन्च की

केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री ने आईआईटी दिल्ली द्वारा दुनिया की सबसे स ...

4 हफ्ते पहले

भारतीय सशस्त्र बलों को 300 करोड़ रुपये तक की तत्काल पूंजी अधिग्रहण की शक्ति दी गयी

भारतीय सशस्त्र बलों को 300 करोड़ रुपये तक की तत्काल पूंजी अधिग्रहण की शक्ति दी ...

4 हफ्ते पहले

इंफाल में एनएसटीआई, एक्सटेंशन सेंटर का उद्घाटन

इंफाल में एनएसटीआई, एक्सटेंशन सेंटर का उद्घाटन राष्ट्रीय कौशल प्रशिक्षण सं ...

4 हफ्ते पहले

पानी की गुणवत्ता की निगरानी के लिए आईआईटी कानपुर द्वारा विकसित वर्णमापक

पानी की गुणवत्ता की निगरानी के लिए आईआईटी कानपुर द्वारा विकसित वर्णमापक भा ...

4 हफ्ते पहले

Provide your feedback on this article: