Bookmark Bookmark

दुनिया की पहली इलेक्ट्रॉनिक उड़ान

दुनिया की पहली इलेक्ट्रॉनिक उड़ान

दुनिया में पहली पूरी तरह से इलेक्ट्रॉनिक उड़ान ने 10 दिसंबर 2019 को सफलतापूर्वक अपनी परीक्षण उड़ान पूरी की। यह उड़ान कनाडा के वैंकूवर, पास के द्वीपों से संचालित होगी।

प्रमुख बिंदु:

  • कंपनी ने इस विमान की मोटर को डिज़ाइन किया और हार्बर एयर के साथ साझेदारी में काम किया।
  • इस शून्य-उत्सर्जन इलेक्ट्रॉनिक उड़ान ने साबित कर दिया कि सभी-इलेक्ट्रिक वाणिज्यिक विमानन संभव है।
  • डिजाइन किया गया विद्युत विमान एक 6-सीटर सीप्लेन था जिसे एक इलेक्ट्रिक मोटर के साथ रेट्रोफिट किया गया था।
  • पहली उड़ान 15 मिनट तक चली।
  • भारत इलेक्ट्रिक वाहनों के उपयोग को बढ़ावा और प्रोत्साहित भी कर रहा है।

फेम-इंडिया योजना:–

  • भारी उद्योग विभाग ने योजना बनाई जिसका उद्देश्य भारत में (फेम इंडिया) योजना वर्ष 2015 के तहत  इलेक्ट्रिक और हाइब्रिड वाहन प्रौद्योगिकी के विनिर्माण और स्थायी विकास सुनिश्चित करने के लिए तेजी से इस्तेमाल को बढ़ावा देना है।
  • इस योजना का चरण- I शुरू में 2 साल की अवधि के लिए शुरू किया गया था जो 1 अप्रैल 2015 से शुरू हुआ था। इसे बाद में समय-समय पर बढ़ाया गया था, और अंतिम विस्तार को 31 मार्च 2019 तक की अनुमति दी गई थी।

फेम इंडिया योजना का पहला चरण चार फोकस क्षेत्रों के माध्यम से लागू किया गया था:–

1. मांग निर्माण

2. प्रौद्योगिकी मंच

3. पायलट प्रोजेक्ट और

4. इंफ्रास्ट्रक्चर को चार्ज करना।

5. मांग प्रोत्साहन के माध्यम से बाजार निर्माण सभी वाहन खंडों को प्रोत्साहित करने के उद्देश्य से किया गया था जो कि 2-व्हीलर्स, पैसेंजर 4-व्हीलर वाहन, 3-व्हीलर्स ऑटो, लाइट कमर्शियल व्हीकल और बसें हैं।

  • ईंधन की बचत और CO2 कमी के प्रमुख मापदंडों के समग्र परिणाम है।

You might be interested:

लौह संघ 12

लौह संघ 12 'लौह संघ12', संयुक्त अरब अमीरात और संयुक्त राज्य अमेरिका के जमीनी बलो ...

4 महीने पहले

जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक

जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन सूचकांक भारत इस वर्ष के जलवायु परिवर्तन प्रदर्शन ...

4 महीने पहले

रूस अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों से चार साल के प्रतिबंधित

रूस अंतरराष्ट्रीय खेल आयोजनों से चार साल के प्रतिबंधित विश्व डोपिंग रोधी ए ...

4 महीने पहले

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस

अंतर्राष्ट्रीय पर्वतीय दिवस 2003 से प्रति वर्ष 11 दिसंबर को अंतर्राष्ट्रीय पर् ...

4 महीने पहले

एंटी-मैरीटाइम बिल

एंटी-मैरीटाइम बिल एंटी-मैरीटाइम पाइरेसी बिल 2019 का उद्देश्य भारत के समुद्री व ...

4 महीने पहले

पौधों और जानवरों की 1,840 नई प्रजातियों पर अस्तित्व का संकट, आइयूसीएन ने जारी की सूची

पौधों और जानवरों की 1,840 नई प्रजातियों पर अस्तित्व का संकट, आइयूसीएन ने जारी की ...

4 महीने पहले

Provide your feedback on this article: