Bookmark Bookmark

एमएसएमई के वित्तीय समाधान के लिए विशेषज्ञ समिति का होगा गठन

एमएसएमई के वित्तीय समाधान के लिए विशेषज्ञ समिति का होगा गठन

आरबीआई ने 5 दिसंबर को सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यम (एमएसएमई) क्षेत्र के आर्थिक व वित्तीय स्थायित्व के लिए कारणों की पहचान करने के लिए विशेषज्ञों की एक समिति गठित करने की घोषणा की है।

इसके अलावा अगले वित्त वर्ष से एमएसएमई के लिए बैंकों द्वारा फ्लोटिंग ब्याज दर के लिए एक नया बाह्य बेंचमार्क बनाया जाएगा।

चालू वित्त वर्ष में केंद्रीय बैंक की पांचवीं मौद्रिक समीक्षा बैठक के नतीजों की घोषणा करते हुए एक प्रेसवार्ता में आरबीआई के डिप्टी गवर्नर बी. पी. कानूनगो ने कहा, "विशेषज्ञों की समिति का गठन इस महीने के अंत तक किया जाएगा, जबकि समिति जून 2019 तक अपनी रिपोर्ट सौंपेगी।"

आरबीआई ने घोषणा की है कि बैंक प्राइम लेंडिंग रेट (पीएलआर), बेंचमार्क प्राइम लेंडिंग रेट (बीपीएलआर), बेस रेट और मार्जिनल कॉस्ट ऑफ फंड बेस्ड लेंडिंग रेट (एमसीएलआर) जैसे, मौजूदा आंतरिक बेंचमार्क के बदले अपने फ्लोटिंग रेट वाले कर्ज के लिए बाहरी बेंचमार्क का इस्तेमाल करेंगे।

You might be interested:

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एसटीआई फंड के लिए 50 करोड़ रुपये की मंजूरी दी

गुजरात के मुख्यमंत्री विजय रूपाणी ने एसटीआई फंड के लिए 50 करोड़ रुपये की मंजू ...

एक साल पहले

महाराष्ट्र ने कृषि व्यवसाय, ग्रामीण परिवर्तन के लिए ‘’स्मार्ट’’ पहल की शुरुआत की

महाराष्ट्र ने कृषि व्यवसाय, ग्रामीण परिवर्तन के लिए ‘’स्मार्ट’’ पहल ...

एक साल पहले

अमेरिका ने सोमालिया में 27 वर्षों में पहली बार स्थायी राजनयिक मिशन को फिर से स्थापित किया

अमेरिका ने सोमालिया में 27 वर्षों में पहली बार स्थायी राजनयिक मिशन को फिर से स ...

एक साल पहले

आरबीआई ने डिजिटल लेनदेन के लिए लोकपाल योजना को लागू किया गया

आरबीआई ने डिजिटल लेनदेन के लिए लोकपाल योजना को लागू किया गया भारतीय रिजर्व ...

एक साल पहले

2018 के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार की घोषणा

2018 के लिए साहित्य अकादमी पुरस्कार की घोषणा हिन्दी की प्रसिद्ध लेखिका चित्रा ...

एक साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ़ द डे : 7 दिसम्बर 2018

राष्ट्रीय पहला भारत-एशियान इनोटेक शिखर सम्मेलन भारत के इस राज्य में आयोजित ...

एक साल पहले

Provide your feedback on this article: