Bookmark Bookmark

एनएमपीबी जर्मप्लाज्म संरक्षण के लिए आईसीएआर के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करता है

एनएमपीबी जर्मप्लाज्म संरक्षण के लिए आईसीएआर के साथ समझौता ज्ञापन पर हस्ताक्षर करता है

आयुष मंत्रालय के अधीनस्‍थ राष्ट्रीय औषधीय पादप बोर्ड (एनएमपीबी) और कृषि अनुसंधान एवं शिक्षा विभाग के अधीनस्‍थ आईसीएआर-राष्ट्रीय पादप आनुवांशिक संसाधन ब्यूरो (एनबीपीजीआर) ने 6 जुलाई, 2020 को एक समझौता ज्ञापन (एमओयू) पर हस्‍ताक्षर किए हैं।

प्रमुख बिंदु:-

  • समझौता ज्ञापन का उद्देश्य एक लंबी अवधि के लिए आईसीएआर-एनबीपीजीआर के निर्दिष्ट स्थान पर और/या मध्यमकालिक भंडारण मॉड्यूल के लिए क्षेत्रीय स्टेशन पर औषधीय एवं सुगंधित पादप आनुवांशिक संसाधनों (एमएपीजीआर) का संरक्षण करना है।
  • संरक्षण नेशनल जीन बैंक में दीर्घकालिक भंडारण मॉड्यूल और या क्षेत्रीय स्टेशन पर मध्यम भंडारण भंडारण मॉड्यूल में उपलब्धता के आधार पर किया जाएगा।
  • इसका एक अन्‍य उद्देश्‍य एनएमपीबी के कार्यदल के लिए पादप जर्मप्लाज्म के संरक्षण की तकनीकों पर व्यावहारिक व क्रियाशील प्रशिक्षण प्राप्त करना है।
  • एमओयू का उद्देश्य आर्थिक और सामाजिक सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए जर्मप्लाज्म की लागत को प्रभावी ढंग से और सुरक्षित रूप से संरक्षित करना है।
  • आईसीएआर की ओर से अधिकृत संस्थान एनएमपीबी और आईसीएआर-एनबीपीजीआर दरअसल एमएपीजीआर के बीज भंडारण के लिए विस्तृत विधियां विकसित करेंगे और समय-समय पर अपने संबंधित संगठनों को प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे।
  • संरक्षण का उद्देश्य कुछ ऐसे वि‍शिष्‍ट तरीकों से प्राकृतिक संसाधनों की रक्षा और उपयोग करते हुए सतत विकास करना है जिससे कि जीन और प्रजातियों की विविधता में कोई भी कमी नहीं आए।

You might be interested:

इजरायल ने सफलतापूर्वक जासूसी उपग्रह 'ओफेक16' का प्रक्षेपण किया

इजरायल ने सफलतापूर्वक जासूसी उपग्रह 'ओफेक16' का प्रक्षेपण किया इज़राइल के रक ...

एक महीने पहले

एमएसएमई हेतु विश्व बैंक और भारत सरकार द्वारा 750 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्ताक्षर

एमएसएमई हेतु विश्व बैंक और भारत सरकार द्वारा 750 मिलियन डॉलर के समझौते पर हस्त ...

एक महीने पहले

पश्चिम बंगाल का पहला प्लाज्मा बैंक कोलकाता मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्थापित किया गया

पश्चिम बंगाल का पहला प्लाज्मा बैंक कोलकाता मेडिकल कॉलेज अस्पताल में स्थापि ...

एक महीने पहले

गुणवत्ता सेवा के आधार पर सड़कों को एनएचएआई द्वारा स्थान दिया जाएगा

गुणवत्ता सेवा के आधार पर सड़कों को एनएचएआई द्वारा स्थान दिया जाएगा सड़कों क ...

एक महीने पहले

‘भारतीय रेलवे 2030 तक खुद को ज़ीरो’कार्बन उत्सर्जन वाले जन परिवहन नेटवर्क के रूप में बदल देगा

‘भारतीय रेलवे 2030 तक खुद को ज़ीरो’कार्बन उत्सर्जन वाले जन परिवहन नेटवर्क ...

एक महीने पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 07 जुलाई 2020

अर्थव्यवस्था यह ट्रेड एक्सचेंज 10 जुलाई से एक आधारभूत परिसंपत्ति के रूप में ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: