Bookmark Bookmark

गूगल ने कैंसर का पता लगाने वाले एआर-पॉवर्ड माइक्रोस्कोप को विकसित किया

गूगल ने कैंसर का पता लगाने वाले एआर-पॉवर्ड माइक्रोस्कोप को विकसित किया:

गूगल ने नयी प्रौद्योगिकी के इस दौर में कैंसर जैसी खतरनाक बीमारी का कम समय में पता लगाने के लिए एक ऐसे माइक्रोस्कोप को विकसित किया है जोकि मानव ऊतक की जांच करते समय की यह पता लगा लेगा कि कैंसर कहां से शुरू हुआ है व इससे शरीर का कितना भाग प्रभावित है।

इस तकनीक के माध्यम से कैंसर से ग्रस्त ऊतक को आऊटलाइन किया जा सकेगा, जिससे बहुत ही कम समय में कैंसर की जड़ को समझने व उसका इलाज करने में चिकित्सक को आसानी होगी।

प्रमुख तथ्य:

शिकागो, इलिनोइस में अमेरिकन एसोसिएशन फॉर कैंसर रिसर्च (एएसीआर) की वार्षिक बैठक में, गूगल ने एक प्रोटोटाइप ऑगमेंटेड रियलिटी माइक्रोस्कोप (एआरएम) प्लेटफॉर्म का प्रदर्शन किया था। माना जा रहा है कि इस तकनीक से छोटी लैब्स व क्लीनिक्स में भी कैंसर से ग्रसित ऊतक का पता लगाने में मदद मिलेगी।

इस माइक्रोस्कोप के जरिए मानव ऊतक में कैंसर का पता लगाते समय मरीज के अभिभावक स्क्रीन पर इसे रियल टाइम में देख सकेंगे जिससे उन्हें भी इस बीमारी से जुड़े शरीर के हिस्सों को समझने में मदद मिलेगी। इसके अलावा डॉक्टर को भी इसके जरिए मरीज की मौजूदा हालत समझने में मदद मिलेगी।

अब तक कैंसर का पता लगाने के लिए पहले बाइलोजिकल्स ट्श्यिू की जांच की जाती है।

गूगल ने बताया है कि इसे डीप लर्निंग टूल्स, आर्टिफिशियल इंटैलीजैंस व आर्गुमैंट रिएलिटी की मदद से बनाया है। यह तकनीक ह्यूमन ट्श्यिू में न्यूरल नैटवर्क के जरिए कैंसर सैल्स का पता लगा कर उन्हें आऊट-लाइन कर देती है जिससे सीधे ही इसके बढऩे से पहले प्रभावित क्षेत्र का इलाज कर पाना संभव है।

गूगल की टीम ने वर्तमान में इसके जरिए ब्रैस्ट व प्रोस्टेट कैंसर के होने की गुंजाइश का पता लगाया है। असाइनमैंट के दौरान इस सिस्टम ने बिल्कुल ठीक कैंसर का पता लगाया है व सटीक जानकारी को डिलीवर किया है।

गूगल ने बताया है कि आने वाले समय में इससे इन्फैक्शन से जुड़ी अन्य बीमारियों जैसे मलेरिया और ट्यूबरक्लोसिस के लक्षणों का भी पहले ही पता लगाने में मदद मिलेगी।

व्यक्तिगत फीड्स देखें

लॉग इन करें और व्यक्तिगत होयें

Attempt Mock Test

View all

मॉक टेस्ट प्रयास करें

Attempt Free Mock Tests

Daily articles on app in Hindi

Daily articles on app in Hindi

You might be interested:

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 20 अप्रैल 2018

उपराष्ट्रपति ने असम में अटल अमृत अभियान शुरू किया: उपराष्ट्रपति वेंकैया नायडू ने गुवाहटी में 18 ...

एक महीने पहले

आयुष्मान भारत - हेल्थ केयर एंड हेल्थ प्रोटेक्शन

  प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वाकांक्षी ‘आयुष्मान भारत’ योजना पर काम शुरू हो चुका ह ...

एक महीने पहले

राजस्थान क्लर्क और जूनियर असिस्टेंट भर्ती 2018 : 12वीं पास के लिए 11000 से ज्यादा वैकेंसी !

क्लर्क और जूनियर असिस्टेंट भर्ती 2018 :12वीं पास के लिए 11000 से ज्यादा वैकेंसी – राजस्थान अधीनस्थ ...

एक महीने पहले

हरियाणा पुलिस कांस्टेबल और सब इंस्पेक्टर भर्ती 2018 : 12वीं पास युवाओं के लिए है मौका !

हरियाणा पुलिस कांस्टेबल और सब इंस्पेक्टर भर्ती 2018 : 12वीं पास युवाओं के लिए है मौका – हरियाणा स् ...

एक महीने पहले

सामान्य विज्ञान महत्त्वपूर्ण प्रश्न : रेलवे, एसएससी, पुलिस और अन्य परीक्षाओं के लिए

सामान्य विज्ञान महत्त्वपूर्ण प्रश्न : रेलवे, एसएससी, पुलिस और अन्य परीक्षाओं के लिए : भारतीय रेल ...

एक महीने पहले

केंद्र ने तटीय विनियमन क्षेत्र के मानदंडों को सरल बनाने का प्रस्ताव दिया

केंद्र ने तटीय विनियमन क्षेत्र के मानदंडों को सरल बनाने का प्रस्ताव दिया: केंद्र सरकार ने तटीय ...

एक महीने पहले

Provide your feedback on this article: