Bookmark Bookmark

ई-कचरा पूरी दुनिया में तेजी से जमा हो रहा है: यूएन रिपोर्ट

ई-कचरा पूरी दुनिया में तेजी से जमा हो रहा है: यूएन रिपोर्ट

संयुक्त राष्ट्र ने चेतावनी दी है कि मोबाइल फोन, लैपटॉप और रेफ्रिजरेटर जैसे डिस्कार्ड किए गए इलेक्ट्रॉनिक्स सामान से बना कचरा दुनियाभर में जमा हो रहा है, और साथ ही खतरनाक कचरे की बेहतर रीसाइक्लिंग (पुनर्चक्रीकरण) के लिए आग्रह किया है।

इस रिपोर्ट को संयुक्त राष्ट्र विश्वविद्यालय, अंतरराष्ट्रीय दूरसंचार संघ और अंतरराष्ट्रीय ठोस कचरा संगठन ने मिलकर तैयार किया है।

रिपोर्ट से जुड़े प्रमुख तथ्य:

रिपोर्ट के अनुसार, 2016 में विश्व भर में 447 लाख टन ई-कचरा निकला था और इनमें से महज 20 प्रतिशत का ही पुनर्चक्रीकरण किया गया था।

वर्ष 2021 तक, इस तरह के कचरे का 52.2 मिलियन टन का भंडार पूरा दुनिया में फैला हुआ होगा।

रिपोर्ट में कहा गया है, यह कचरा, जोकि मानव स्वास्थ्य और पर्यावरण के लिए गंभीर खतरा हो सकता है, शायद ही कभी पुनर्नवीनीकृत किया जा सके।

पिछले साल उत्पन्न सभी ई-कचरे का केवल 20 प्रतिशत, या 8.9 टन, ठीक से पुनर्नवीनीकरण के रूप में प्रलेखित (डॉक्युमेंटेड) किया गया था।

भारत के संबंध में:

भारत में ई-कचरा के पुनर्चक्रीकरण से जुड़े लोगों के कम पढ़े-लिखे होने के कारण देश में स्वास्थ्य के प्रति कई जोखिमें हैं और पर्यावरण को गंभीर नुकसान हुआ है। संयुक्त राष्ट्र की ‘वैश्विक ई-कचरा निगरानी 2017’ रिपोर्ट के अनुसार, भारत का इलेक्ट्रॉनिक उद्योग विश्व के सबसे तेजी से बढ़ते उद्योगों में है और घरेलू ई-कचरा में बड़ी भूमिका निभाता है। इससे 2016 में बीस लाख टन ई-कचरा तैयार हुआ था।

चीन 72 लाख मीट्रिक टन के साथ ई-कचरे का सबसे बड़ा उत्पादक रहा था। रिपोर्ट में कहा गया, ‘‘दक्षिणी और दक्षिणी-पूर्वी एशिया में भारत अधिक आबादी के कारण ई-कचरा के घरेलू उत्पादन में बड़ी हिस्सेदारी रखता है। वर्ष 2016 में भारत में बीस लाख टन ई-कचरा का उत्पादन हुआ था। इसके अलावा भारत विकसित देशों से भी ई-कचरा का आयात करता है।’’

रिपोर्ट में आगे कहा गया, ‘‘हालांकि देश में असंगठित पुनर्चक्रीकरण काफी समय से हो रहा है और 10 लाख से अधिक गरीब लोग इसमें सक्रिय हैं। इनमें से अधिकांश का शिक्षास्तर बेहद कम है और उन्हें ई-कचरा के पुनर्चक्रीकरण के बारे में काफी कम जागरूकता है।’

Take a quiz on what you read Start Now

व्यक्तिगत फीड्स देखें

लॉग इन करें और व्यक्तिगत होयें

Attempt Mock Test

View all

मॉक टेस्ट प्रयास करें

Attempt Free Mock Tests

Daily articles on app in Hindi

Daily articles on app in Hindi

You might be interested:

RRB NTPC परीक्षा 2017 सफलता की कहानी : आशीष मीणा (गुड्स गार्ड)

RRB NTPC परीक्षा 2017 सफलता की कहानी : हाल ही में, रेलवे भर्ती बोर्ड (RRB) ने सहायक स्टेशन मास्टर, गुड्स रक ...

4 महीने पहले

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईएनएस कलवरी राष्‍ट्र को समर्पित की

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आईएनएस कलवरी राष्‍ट्र को समर्पित की: प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र म ...

4 महीने पहले

इवनिंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 14 दिसंबर 2017

केंद्र सरकार ने 1,581 राजनेताओं के खिलाफ मामलों के निपटारे के लिए विशेष अदालतों का प्रस्ताव किया: ...

4 महीने पहले

SSC JE सिविल इंजीनियरिंग परीक्षा 2017 में सुरक्षित अंक कैसे प्राप्त करें

SSC JE सिविल इंजीनियरिंग परीक्षा 2017 में सुरक्षित अंक कैसे प्राप्त करें : कर्मचारी चयन आयोग द्वारा ...

4 महीने पहले

SSC CPO टियर 2 परीक्षा 2017 के इंग्लिश सेक्शन की तैयारी कैसे करें

SSC CPO टियर 2 परीक्षा 2017 के इंग्लिश सेक्शन की तैयारी कैसे करें : कर्मचारी चयन आयोग द्वारा 15 दिसंबर (श ...

4 महीने पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 357

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 357 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने के लिए यहां 5 नए शब्द ...

4 महीने पहले

Provide your feedback on this article: