Bookmark Bookmark

ई-सिगरेट पर प्रतिबंध, निर्मला सीतारमण ने कैबिनेट ब्रीफिंग में की घोषणा

-सिगरेट पर प्रतिबंध, निर्मला सीतारमण ने कैबिनेट ब्रीफिंग में की घोषणा

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने घोषणा की कि सरकार ने ई-सिगरेट पर पूर्ण प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है। इसका मतलब है कि ई-सिगरेट के उत्पादन, बिक्री, विनिर्माण और विज्ञापन पर प्रतिबंध लगा दिया जाएगा।

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि 300 मिलियन अमेरिकी नागरिक ई-सिगरेट का उपयोग कर रहे हैं और अमेरिका में हाई स्कूल के छात्रों के बीच ई-सिगरेट के उपयोग में 78 प्रतिशत की वृद्धि हुई है।

केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि सरकार इस मुद्दे पर अंकुश लगाने की कोशिश कर रही है और हमें उम्मीद है कि अगली संसद की बैठक में इसे उठाया जाएगा।

वित्त मंत्री ने कैबिनेट ब्रीफिंग में घोषणा की कि पहली बार उल्लंघन करने वालों को एक साल तक की कैद और एक लाख रु0 जुर्माना।

साथ ही, दोहराए गए अपराधी को तीन साल तक का कारावास और 5 लाख रु0का जुर्माना।

-सिगरेट क्या है?

ई-सिगरेट को आमतौर पर बैटरी चालित उपकरणों के रूप में जाना जाता है जो निकोटीन मिश्रित समाधान को गर्म करके वाष्प उत्पन्न करते हैं, जो कि दहनशील सिगरेट में नशीला पदार्थ होता है।

You might be interested:

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 20 सितंबर 2019

अर्थव्यवस्था सामाजिक सुरक्षा संस्थाओं को कॉर्पोरेट रूप देने के लिए, केंद् ...

2 साल पहले

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:18 September 2019

अंजलि सिंह भारत की पहली महिला सैन्य राजनयिक बनींविंग कमांडर अंजली सिंह विद ...

2 साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 19 सितंबर 2019

दिन विशेष विश्व बांस दिवस - 18 सितंबर रक्षा 16 सितंबर 2019 को Su-30 MKI द्वारा हवा से हवा ...

2 साल पहले

एनुअल 'ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड' से पीएम मोदी को सम्मानित करेंगे माइक्रोसॉफ्ट बिल गेट्स

एनुअल 'ग्लोबल गोलकीपर अवॉर्ड' से पीएम मोदी को सम्मानित करेंगे माइक्रोसॉफ्ट ...

2 साल पहले

केंद्र सरकार ने आपका खोया हुआ या चोरी हुआ मोबाइल फोन खोजने के लिए वेब पोर्टल लॉन्च किया

केंद्र सरकार ने आपका खोया हुआ या चोरी हुआ मोबाइल फोन खोजने के लिए वेब पोर्टल ...

2 साल पहले

इलाहाबाद बैंक बोर्ड ने इंडियन बैंक के साथ विलय को मंजूरी दी

इलाहाबाद बैंक बोर्ड ने इंडियन बैंक के साथ विलय को मंजूरी दी 16 सितंबर को इलाहा ...

2 साल पहले

Provide your feedback on this article: