Bookmark Bookmark

ई-वॉलेट की तुलना में तेजी से बढ़ रहा यूपीआई

ई-वॉलेट की तुलना में तेजी से बढ़ रहा यूपीआई

UPI प्लेटफ़ॉर्म पर किए गए भुगतान ने अप्रैल से मार्च की अवधि में 400% से अधिक की उल्लेखनीय वृद्धि देखी गई, अप्रैल 2018 में 27,000 करोड़ से अधिक और मार्च 2019 में 1.35 लाख करोड़ से अधिक की वृद्धि देखी गई।

नेशनल पेमेंट्स कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (एनपीसीआई) ने अपने टि्वटर हैंडल पर बताया है कि दिसंबर 2018 में यूनिफाइड पेमेंट इंटरफेस (यूपीआई) के तहत ट्रांजैक्शन में 1 लाख करोड़ (620.17 मिलियन) से भी ज्यादा का इजाफा हुआ है, जबकि इससे एक महीने पहले नवंबर में यह आंकड़ा 524.94 मिलियन था। 2018 का कुल ट्रांजैक्शन देखें तो यह 3 अरब के आसपास है।

यूपीआई जिस दर से आगे बढ़ रहा है, उससे लगता है आने वाले वक्त में वह आईएमपीएस को पीछे छोड़ देगा।  पिछले वित्तीय वर्ष में आईएमपीएस से 8,92,500 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन हुआ था।

यूपीआई महज दो साल पहले बना है लेकिन जिस गति से यह आगे बढ़ रहा है, वह आने वाले समय में आईएमपीएस और एनईएफटी पेमेंट सिस्टम को काफी पीछे छोड़ देगा।

2018 में आईएमपीएस और एनईएफटी से मिलाकर 181 करोड़ का ट्रांजैक्शन हुआ था।

बाजार में यूपीआई की कई कंपनियां मौजूद हैं जैसे कि रिलायंस जियो, व्हाट्सअप, अमेजन पे और गूगल पे जिन्होंने एसबीआई, आईसीआईसीआई और एचडीएफसी बैंकों के पेमेंट को पछाड़ दिया है। दूसरी ओर सरकार का यूपीआई एप भारत इंटरफेस फॉर मनी (भीम) के ट्रांजैक्शन में गिरावट देखी जा रही है।  दिसंबर में भीम से 7,981.82 करोड़ रुपए का ट्रांजैक्शन हुआ।

You might be interested:

दैनिक समाचार डाइजेस्ट:15 April 2019

600,000 डॉक्टरों की कमी का सामना कर रहा भारत: अध्ययनभारत में अनुमानित तौर पर छह ला ...

2 साल पहले

बैंकिंग डाइजेस्ट, 16 अप्रैल 2019

अर्थव्यवस्था मार्च 2019 में भारत की वार्षिक थोक मूल्य मुद्रास्फीति - 3.18%. पर् ...

2 साल पहले

वन लाइनर्स ऑफ द डे, 16 अप्रैल 2019

पर्यावरण केंद्रीय समुद्री मत्स्यपालन अनुसंधान संस्थान (सीएमएफआरआई) ने इस ...

2 साल पहले

दैनिक समाचार: सूडान में तख्तापलट

दैनिक समाचार: सूडान में तख्तापलट चर्चा में: सूडान की सेना ने देश के सबसे लंबे ...

2 साल पहले

पीएम नरेंद्र मोदी को रूस का सर्वोच्‍च सम्‍मान

पीएम नरेंद्र मोदी को रूस का सर्वोच्‍च सम्‍मान प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ...

2 साल पहले

आर्द्रभूमि पर CMFRI-ISRO समझौता

आर्द्रभूमि पर CMFRI-ISRO समझौता चर्चा में क्यों: हाल ही में केंद्रीय समुद्री मात्स ...

2 साल पहले

Provide your feedback on this article: