Bookmark Bookmark

IBPS RRB अधिकारी स्केल-1 परीक्षा 2017 : रीजनिंग की तैयारी कैसे करें !

IBPS RRB अधिकारी स्केल-1 परीक्षा 2017 : रीजनिंग की तैयारी कैसे करें- IBPS RRB अधिकारी स्केल- 1 परीक्षा IBPS के आधिकारिक कैलेंडर के अनुसार 9, 10 और 16 सितंबर को आयोजित की जानी है। आज हम उम्मीदवारों को IBPS RRB की परीक्षा के लिए रीजनिंग सेक्शन (अनुभाग) की तैयारी कैसे करें हेतु महत्वपूर्ण सुझाव प्रदत्त करेंगे जिससे उम्मीदवार IBPS RRB परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए रीजनिंग अनुभाग में कुशलता प्राप्त कर वास्तविक परीक्षा में अधिक अंक प्राप्त कर सके।

IBPS RRB परीक्षा में सफलता प्राप्त करने के लिए रीजनिंग का महत्त्वपूर्ण योगदान है, क्योंकि इस अनुभाग से प्रारंभिक परीक्षा में 40 प्रश्‍न पूछे जाएंगे। अतः उम्मीदवारों को रीजनिंग सेक्शन (अनुभाग) की तैयारी सटीक रणनीति के तहत करनी चाहिए।

IBPS RRB प्रारंभिक प्ररीक्षा 2017: अधिकारी स्केल-1 परीक्षा पैटर्न

IBPS RRB परीक्षा में अधिकारी स्केल-1 के पद के लिए आवेदन करने वाले लगभग सभी उम्मीदवारों के मन में परीक्षा पैटर्न को लेकर एक भ्रम की स्थिति बनी हुई है। इसीलिए यह आवश्यक है कि हम सबसे पहले परीक्षा पैटर्न और सिलेबस से ही अवगत हो लेते हैं-

 

सेक्शन का नाम प्रश्नों की संख्या अधिकतम अंक
रीजनिंग एबिलिटी 40 40
क्वांटिटेटिव एप्टीट्यूड 40 40
कुल 80 80

 

IBPS RRB प्रारंभिक परीक्षा के लिए परीक्षा पैटर्न और मार्किंग स्कीम से संबंधित सबसे महत्वपूर्ण विवरण इस प्रकार है:

  • लिखित परीक्षा द्विभाषी अर्थात अंग्रेजी / हिंदी दोनों भाषाओं में होगी।
  • इसमें कुल 80 प्रश्न होंगे अर्थात प्रत्येक सेक्शन से 40 प्रश्न होंगे।
  • प्रत्येक प्रश्न के लिए 1 अंक दिया जायेगा अर्थात कुल स्कोर 80 होगा।
  • प्रत्येक गलत उत्तर के लिए 0.25 काटे जायेंगे।

अधिकारी स्केल-1 के लिए IBPS RRB प्रारंभिक परीक्षा के रिजल्ट की घोषणा के पश्चात, मुख्य परीक्षा के लिए चयनित सभी उम्मीदवारों की एक मेरिट सूची तैयार की जायेगी।

 

IBPS RRB अधिकारी स्केल-1 परीक्षा 2017 : रीजनिंग की तैयारी कैसे करें !

रीजनिंग को हल करने के लिए बुद्धि तत्परता (presence of mind) आवश्यक है और इस अनुभाग में अभ्यास द्वारा ही कौशल विकसित किया जा सकता है अतः इस अनुभाग में कटऑफ़ को पार करने के लिए रणनीति बनाना आवश्यक है-

 

टॉपिक का नाम   प्रश्नों की संख्या 
बैठने का क्रम (Seating Arrangement) 10
पजल (Puzzle) 15
युक्ति वाक्य (Syllogism) 5
दिशा बोध परिक्षण (Direction Sense Test) 2
डाटा दक्षता (Data Sufficiency) 3
कोडिंग-डिकोडिंग (Coding & Decoding) 5

 

गत वर्ष के परीक्षा विश्लेषण के आधार पर, हम निष्कर्ष निकाल सकते हैं कि रीजनिंग एबिलिटी के अधिकांश विषयों के प्रश्नों का कठिनाई स्तर कठिन स्तर के थे। अतः हमें पहले टॉपिक पर बुनियादी समझ विकसित कर फिर कठिन प्रश्नों को हल करने का अभ्यास करना चाहिए। अब IBPS RRB ऑफिसर स्केल 1 परीक्षा के लिए तैयारी रणनीति से अवगत होंगे।

पर उससे पहले हम आपको परीक्षा में रीजनिंग के तहत पूछे जाने वाले प्रश्नों के महत्वपूर्ण टॉपिक से रूबरू करा दें, जिससे निश्चित रूप से आपके स्कोर को अधिकतम करने में मदद मिलेगी:  

  • सीटिंग अरेंजमेंट
  • लॉजिकल रीजनिंग
  • टेबुलेशन
  • पज़ल
  • कोडिंग-डिकोडिंग
  • इनइक्वलिटीज
  • ब्लड रिलेशन
  • युक्ति वाक्य (सिलॉगिज्म)
  • इनपुट-आउटपुट
  • अल्फाबेटिक सीरीज
  • रैंकिंग/डायरेक्शन/अल्फाबेट टेस्ट
  • डाटा पर्याप्तता
  • एनालॉगी
  • ऑड फिगर
  • डिसिशन मेकिंग
  • कथन-कारण
  • फिगर सीरीज
  • शब्द गठन (वर्ड फार्मेशन)
  • कथन और निष्कर्ष (Statement and Conclusions)
  • कथन और अनुमान  (Statement and assumptions)
  • कथन और तर्क (Statement and arguments)
  • कथन और कार्यवाहियां (Statement and action’s courses)
  • परिच्छेद और निष्कर्ष (Passage and Conclusions)

उल्लेखित टॉपिक को हल करने के लिए हम यहाँ टिप्स दिए जा रहे हैं-

पहेली (Puzzles)

  • ज्यादातर 5 प्रश्न इस टॉपिक से पूछे जाते हैं।
  • इस खंड के प्रश्नों को कभी-कभी अन्य विषयों जैसे रक्त संबंध, दिशा, बैठने की व्यवस्था आदि के साथ मिलाया जाता है।
  • ज्यादातर लोगों को पहेली की लंबाई से डर लगता है और वे प्रश्न हल करने का प्रयास नहीं करते। लेकिन एक बार जब उम्मीदवारों पहेली हल करना शुरू करते हैं, तो धीरे-धीरे इसे हल करना बहुत आसान हो जाता है।
  • पहेली के 10 से 15 अलग-अलग सेटों का अभ्यास करने से उम्मीदवार इस अनुभाग में अच्छी तरह से स्कोर कर सकते हैं।

डेटा प्रवाह आरेख (Data Flow Diagram)

  • इनपुट / आउटपुट अनुभाग एक शब्द और संख्या व्यवस्था मशीन प्रश्न के साथ आता है, जब दिए गए शब्दों की एक इनपुट लाइन दी जाती है और प्रत्येक चरण में एक विशेष नियम के बाद उन्हें पुनर्व्यवस्थित किया जाता है।
  • इसमें बहुत संभावना है कि इस विषय में डबल-पक्षीय व्यवस्था के 3 प्रश्न शामिल होंगे।
  • इसलिए, एक उम्मीदवार को तदनुसार अभ्यास करने की सलाह दी जाती है।

कोडेड असमानता (Coded Inequality)

  • कम समय में असमानता आधारित प्रश्नों को सुलझाने का प्रयास करें ताकि आप अन्य वर्गों के लिए अधिक समय बचा सकें।
  • SBI PO मुख्य परीक्षा के अनुसार, यह उम्मीद की जाती है कि ये सवाल सीधे नहीं आएंगे (A>BD) लेकिन छिपे हुए फ़ॉर्म में (A@B$C*D)।

ब्लड रिलेशन (Blood relation)

  • रक्त संबंध विषय हल करने के लिए मजेदार है। बस प्रश्न में पूछी गई समस्या को अपने परिवार पर लागू कर प्रश्न की संरचना का पालन करें, आपको निश्चित रूप से कम समय में जवाब मिलेगा।
  • इस विषय के प्रश्न को किसी अन्य रूप में भी हेरफेर किया जा सकता है।
  • इस खंड से लगभग 3 से 4 प्रश्न पूछे जाते हैं।
  • उम्मीदवारों को इस विषय को कुशलतापूर्वक अभ्यास करना चाहिए क्योंकि इससे उन्हें कम समय में अधिक स्कोर करने में मदद मिलेगी।

विश्लेषणात्मक तर्क (Analytical Reasoning)

  • आम तौर पर टॉपिक कारण और प्रभाव, कथन और अवधारणा, कथन और निष्कर्ष, कार्रवाई, कथन और तर्क, विवेचनात्मक रीजनिंग आधारित प्रश्न इस खंड से पूछे जाते हैं।
  • आपको इस पर बुनियादी पकड़ बनानी होगी जिससे प्रश्न आसानी से त्वरित गति से आप समाधान करने में सक्षम हों।
  • इस अनुभाग में उत्कृष्टता का एकमात्र तरीका अधिक से अधिक अभ्यास करना है।
  • गत वर्ष इस खंड से 9 से 10 प्रश्न पूछे गए थे। इस साल भी हम इसी अनुपात की अपेक्षा कर सकते हैं।

कोडिंग डिकोडिंग (Coding and Decoding)

  • कोडिंग और डिकोडिंग का 'बैंक परीक्षाओं में महत्वपूर्ण महत्व है।
  • कोडिंग और डिकोडिंग के आधार पर प्रश्नों को हल करने के लिए आपको प्रश्न में दिए गए वर्णों या संख्याओं को देखने की आवश्यकता है।
  • जितनी अधिक आपकी तैयारी होगी, उतना ही बेहतर होगा कि आपका स्कोर।

डाटा दक्षता (Data Sufficiency)

  •  ये प्रश्न आम तौर पर आसान होते हैं लेकिन इन्हें हल करने में समय लगता है क्योंकि उम्मीदवारों को प्रश्न के तर्क को समझने में बहुत समय लगता है।
  • इसे नियमित अभ्यास से सुलझाया जा सकता है और इस विषय पर मॉक टेस्ट पेपर हल कर सकते हैं।
  • पिछले साल के पैटर्न के आधार पर, डेटा दक्षता से लगभग 3 से 5 प्रश्न पूछे गए थे

निर्णय लेना (Decision Making)

  •  निर्णय लेने वाले प्रश्नों में, उस विकल्प का चयन करें जिससे अधिकतर (बहुमत) का लाभ सम्मिलित हो। व्यक्तिगत निर्णय न दें।
  • यह छात्रों की सामान्य प्रवृत्ति है कि वह अपने स्वयं के मूल्य प्रणाली के आधार पर एक दृष्टिकोण धारण करते हैं। आम तौर पर इस खंड से 2 से 3 प्रश्न पूछे जाते हैं।

जो भी उम्मीदवार खुद को गणित में असहज महसूस करते हैं उनको इस परीक्षा में रीजनिंग में अधिक स्कोर हासिल करना पड़ेगा जिसके लिए उमीदवारों को अधिक अभ्यास करने की जरुरत है। रीजनिंग पर पकड़ बनाने के लिए निम्न युक्तियों का पालन करना चाहिए।

रीजनिंग विषयक रणनीति 

  • रीज़निंग अनुभाग में अधिकांश प्रश्‍न पहेली, बैठक अनुक्रम जैसे विषयों से होंगे। इन टॉपिक्स पर अच्छी तरह पकड़ बनाए। इन विषयों पर अधिकतम समय देने की कोशिश करें। कठिन प्रश्नों को हल करने से पहले पहेलियों और व्यवस्था आधारित प्रश्‍नों को हल करने के लिए बुनियादी दृष्टिकोण को समझें और फिर सरल से कठिन प्रश्नों की तरफ बढें। पहेलियाँ और बैठक व्यवस्था जैसे विषयों में परीक्षा में बहुत समय लगता है और उन्हें बड़ी संख्या में पूछा जाता है। इसलिए, दैनिक रुप से इस विषय से 5-10 प्रश्‍नों का अभ्यास करने की आदत डालें।
  • असमानता भी प्रमुख टॉपिक है। आपको बता दें कि असमानता रीजनिंग अनुभाग का सबसे आसान विषय है। इसलिए, इस विषय को हल करने के लिए गहन अध्ययन और करें। आप इसके आसानी से 5 प्रश्‍नों की उम्मीद कर सकते हैं।
  • युक्ति वाक्य या न्‍याय निगमन के प्रश्‍न नए और पुराने दोनों पैटर्न के आधार पर अभ्यास किए जाने चाहिए। यद्यपि प्रारम्‍भिक चरण में नए पैटर्न आधारित प्रश्‍न पूछे जाने की संभावना कम है, फिर भी, आपको इस तरह के प्रश्‍नों को हल करने का तरीका पता होना चाहिए।
  • कोडिंग-डिकोडिंग विषय के लिए भी यही है। यदि इसका अच्छी तरह से अभ्यास किया जाता है, तो यह विषय आपको परीक्षा में 4-5 अंक आसानी से अर्जित करायेगा।
  • रक्‍त संबंध और दिशा आधारित प्रश्‍न भी रीजनिंग अनुभाग के आसान विषय हैं। सबसे पहले, समझें कि रक्‍त संबंध और दिशा ज्ञान के प्रश्‍नों को कैसे हल करें और फिर अपना अभ्यास शुरू करें। रक्‍त संबंध आधारित पहेली प्रश्‍नों को भी हल करने का प्रयास करें। रक्‍त संबंध के प्रश्नों को अपने पारिवार से जोड़ कर हल करें, इससे गलती होने की सम्भावना काफी कम हो जाएगी।
  • RRB परीक्षाओं में शब्‍दसंख्‍या श्रृंखला/वर्णमाला परीक्षण से प्रश्‍न अक्सर पूछे जाते हैं। ये विषय कम समय लेते हैं और आसानी से हल किए जा सकते हैं।
  • इसके अतिरिक्त प्रत्येक टॉपिक ख़त्म होने पर उससे सम्बंधित मॉक टेस्ट से प्रैक्टिस अवश्य करें और देखें की आप कितनी आसानी से प्रश्नों को हल कर रहे हैं, और क्या आपको और अधिक अभ्यास की जरुरत है, यदि हाँ, तो अभ्यास करें। मॉक परीक्षणों का विश्‍लेषण करते रहें। जब आप मॉक परीक्षणों में अपने प्रदर्शन का विश्‍लेषण करते हैं, तो आप अपनी गलतियों को बेहतर पहचान सकते हैं, और अंततः यह परीक्षा में आपकी सहायता करेगा।

फ्री मॉक टेस्ट का अभ्यास करने के लिए निम्न लिंक को क्लिक करें-

IBPS रीजनिंग योग्यता : फ्री मॉक टेस्ट सीरीज

IBPS RRB रीजनिंग एबिलिटी :  फ्री प्रैक्टिस टेस्ट सीरीज 

हम आपको IBPS RRB ऑफिसर स्केल -1 प्रारंभिक परीक्षा 2017 के संदर्भ में अन्य गतिविधियों से आगे भी अवगत कराते रहेंगे, अतः हमसे जुड़े रहें। अगर अभी भी आपके मन में किसी प्रकार की कोई शंका या कोई प्रश्न है तो कृपया नीचे दिए गए कमेंट सेक्शन में उसका ज़िक्र करें और बेहतर प्रतिक्रिया के लिए OnlineTyari Community पर अपने प्रश्नों को हमसे साझा करें।

Attempt Mock Test

View all

मॉक टेस्ट प्रयास करें

Attempt Free Mock Tests

Daily articles on app in Hindi

Daily articles on app in Hindi

You might be interested:

UIIC सहायक पद के लिए जॉब प्रोफाइल, वेतनमान और करियर संभावनाएं

UIIC सहायक पद के लिए जॉब प्रोफाइल, वेतनमान और करियर संभावनाएं : यूनाइटेड इंडिया इंश्योरेंस कंपन ...

2 महीने पहले

IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर-1 के 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स | वनाग्नि एवं आर्थिक क्षति

IAS मुख्य परीक्षा GS पेपर-1 के 10 महत्वपूर्ण टॉपिक्स | वनाग्नि एवं आर्थिक क्षति - IAS मुख्य परीक्षा 2017 ...

2 महीने पहले

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 274

Vocab Express (शब्दावली एक्सप्रेस)- 274 प्रिय उम्मीदवार, आपकी शब्दावली को बढ़ाने के लिए यहां 5 नए शब्द ...

2 महीने पहले

आईआईएससी शोधकर्ताओं ने पीने के पानी को सुरक्षित बनाने के लिए कॉपर-लेपित झिल्ली का विकास किया

आईआईएससी शोधकर्ताओं ने पीने के पानी को सुरक्षित बनाने के लिए कॉपर-लेपित झिल्ली का विकास किया: ब ...

2 महीने पहले

मॉर्निंग न्यूज़ डाइजेस्ट: 21 अगस्त 2017

बिग बेन की ऐतिहासिक आर्टन लाइट को अस्थायी रूप से बंद किया गया: एलिजाबेथ टॉवर के शीर्ष पर एक लैंप ...

2 महीने पहले

SSC CGL टियर 1 परीक्षा विश्लेषण 2017, संभावित कटऑफ़ : 20 अगस्त

SSC CGL टियर 1 परीक्षा विश्लेषण 2017, संभावित कटऑफ़ : 20 अगस्त- कर्मचारी चयन आयोग ने आज 12वें दिन SSC CGL टियर 1 ...

2 महीने पहले

Provide your feedback on this article: